Thursday, October 27, 2022

आईडीबीआई बैंक - वित्तीय वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही के वित्तीय परिणाम

अब तक का सबसे अधिक तिमाही शुद्ध लाभ 828 करोड़सालाना आधार पर 46% की वृद्धि,

परिचालन लाभ 2,208 करोड़ सालाना वृद्धि 64%,

शुद्ध उधारी 1,46,752 करोड़सालाना आधार पर 17% की वृद्धि,

वित्त वर्ष 2023 की दूसरी तिमाही के लिए मुख्य विशेषताएं

शुद्ध लाभ 828 करोड़सालाना आधार पर 46% और तिमाही आधार पर 10% की वृद्धि।

परिचालन लाभ 2,208 करोड़सालाना आधार पर 64% और तिमाही आधार पर 8% की वृद्धि।

शुद्ध ब्याज आय (NII)  2,738 करोड़सालाना आधार पर 48% और तिमाही आधार पर 10% की वृद्धि।

शुद्ध ब्याज मार्जिन सालाना आधार पर 135 बीपीएस बढ़कर 4.37% पर और तिमाही आधार पर 35 बीपीएस की वृद्धि।

42.29% पर आय अनुपात की लागतसालाना आधार पर 1014 बीपीएस और तिमाही आधार पर115 बीपीएस की कमी।

कासा अनुपात सालाना आधार पर 156 बीपीएस बढ़कर 56.19%, और 54 बीपीएस तिमाही में बढ़ा।

आस्तियों पर रिटर्न (आरओए) 1.09% पर,  सालाना आधार पर 30 बीपीएस और तिमाही आधार पर 6 बीपीएस की वृद्धि।

15.21% पर इक्विटी (आरओईपर रिटर्नसालाना आधार पर 230 बीपीएस और तिमाही में 41 बीपीएस की वृद्धि।

1.15% पर शुद्ध एनपीएसालाना आधार पर 56 बीपीएस की कमी और तिमाही में 10 बीपीएस की कमी।

सकल एनपीए 16.51% परसालाना आधार पर 534 बीपीएस  और तिमाही में 339 बीपीएस घटा।

30, 21 सितंबर को 97.27 फीसदी और 30 जून, 22 जून को 97.79 फीसदी के मुकाबले पीसीआर 97.86 फीसदी रहा।

ऑपरेटिंग प्रदर्शन:

दूसरी तिमाही-2023 के लिए शुद्ध लाभ 46% बढ़कर 828 करोड़ हो गयाजबकि दूसरी तिमाही -2022 के लिए 567 करोड़ का शुद्ध लाभ हुआ था। पहली तिमाही-2023 के लिए शुद्ध लाभ 756 करोड़ था।

दूसरी तिमाही 2-2023 के लिए टैक्स से पहले लाभ 85% बढ़कर 1,437 करोड़ हो गयाजबकि दूसरी तिमाही-2022 के लिए 775 करोड़ था। पहली तिमाही मंे-2023 के लिए यह 1,093 करोड़ था।

दूसरी तिमाही-2023 के लिए परिचालन लाभ 64% बढ़कर 2,208 करोड़ हो गयाजबकि दूसरी तिमाही-2022 के लिए 1,346 करोड़ था। पहली तिमाही -2023 के लिए परिचालन लाभ  2,052 करोड़ था।

दूसरी तिमाही-2023 के लिए शुद्ध ब्याज आय में 48% सुधार हुआ 2,738 करोड़ जबकि दूसरी तिमाही-2022 के लिए 1,854 करोड़ था। पहली तिमाही -2023 के लिए NII  2,488 करोड़ था।

दूसरी तिमाही-2023 के लिए शुद्ध ब्याज मार्जिन (NIM) 4.37% (IT रिफंड पर ब्याज को छोड़कर 4.22%) थाजबकि दूसरी तिमाही-2022 के लिए 3.02% था। पहली तिमाही 2023 के लिए NIM 4.02% (IT रिफंड पर ब्याज को छोड़कर 3.73%) पर रहा।

दूसरी तिमाही-2023 के लिए जमा की लागत 16 बीपीएस घटकर 3.44% हो गईजबकि दूसरी -2022 के लिए यह 3.60% थी। जमा की लागत पहली तिमाही-2023 के लिए 3.36% थी।

दूसरी तिमाही-2023 के लिए फंड की लागत 16 बीपीएस घटकर 3.72% हो गईजबकि दूसरी तिमाही-2022 के लिए यह 3.88% थी। पहली तिमाही-2023 के लिए फंड की लागत 3.61% थी।

व्यापार वृद्धि

कासा 30 सितंबर, 2022 को बढ़कर 1,29,407 करोड़ हो गयाजबकि 30 सितंबर, 2021 को 1,21,995 (वर्ष-दर-वर्ष वृद्धि 6%) कासा 30 जून, 2022 तक 1,25,356 करोड़ था।

कुल जमा में कासा की हिस्सेदारी 30 सितंबर, 2022 तक बढ़कर 56.19% हो गईजबकि 30 सितंबर, 2021 को यह 54.63% और 30 जून, 2022 को 55.65% थी।

30 सितंबर, 2022 तक शुद्ध अग्रिम 17% सालाना आधार पर बढ़कर 1,46,752 करोड़ हो गया।

सकल अग्रिम पोर्टफोलियो में कॉर्पोरेट बनाम खुदरा की संरचना 30 सितंबर, 2022 को 35:65 थीजबकि 30 जून, 2022 को 37:63 थी।

एसेट क्वालिटी

30 सितंबर, 2022 को सकल एनपीए अनुपात 16.51% थाजबकि 30 सितंबर, 2021 को 21.85% था। सकल एनपीए 30 जून, 2022 तक 19.90% था।

30 सितंबर, 2021 को 1.71% के मुकाबले 30 सितंबर, 2022 को शुद्ध एनपीए अनुपात 1.15% हो गया। 30 जून, 2022 तक शुद्ध एनपीए अनुपात 1.25% था।

प्रावधान कवरेज अनुपात (तकनीकी राइट-ऑफ सहित) 30 सितंबर, 2022 को 97.86% हो गयाजो 30 सितंबर, 2021 को 97.27% था। 30 जून, 2022 तक पीसीआर 97.79% था।

पूंजी की स्थिति

30 सितंबर, 2022 को टियर 1 में सुधार होकर 17.05% हो गयाजबकि 30 सितंबर, 2021 को 14% और 30 जून, 2022 को 17.13% था।

सीआरएआर 30 सितंबर, 2022 को बढ़कर 19.48% हो गयाजबकि 30 सितंबर, 2021 को 16.59% और 30 जून, 2022 को 19.57% था।

जोखिम भारित आस्तियां (आरडब्ल्यूए) 30 सितंबर, 2022 को 1,57,840 करोड़ थीजबकि 30 सितंबर, 2021 को 1,52,028 करोड़ थी। 30 जून, 2022 तक कुल आरडब्ल्यूए 1,53,832 करोड़ था। क्रेडिट जोखिम भारित संपत्ति 30 सितंबर, 2022 को 1,25,250 करोड़ थीजबकि 30 सितंबर, 2021 को 1,20,644 करोड़ थी। 30 जून, 2022 तक क्रेडिट आरडब्ल्यूए 1,21,798 करोड़ था।

मुंबई, 21 अक्टूबर, 2022: आईडीबीआई बैंक लिमिटेड (आईडीबीआई बैंकके निदेशक मंडल ने आज मुंबई में बैठक की और 30 सितंबर, 2022 को समाप्त तिमाही के वित्तीय परिणामों को मंजूरी दी।

No comments:

Post a Comment

जेके सीमेंट लिमिटेड ने मध्य भारत में अपनी उत्पादन क्षमता का किया विस्तार - उज्जैन, मध्य प्रदेश में आगामी ग्राइंडिंग यूनिट की आधारशिला रखी

उज्जैन, 05 दिसम्बर 2022: जेके सीमेंट लिमिटेड भारत में ग्रे सीमेंट के अग्रणी निर्माताओं और दुनिया के सबसे बड़े व्हाइट सीमेंट निर्माताओं में स...