Saturday, September 24, 2022

मंगलम इंडस्ट्रियल फाइनैंस लिमिटेड ने वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड के लो एवं हाई स्पीड इलेक्ट्रिक वाहनों को फाइनैंस करने के लिए उनके साथ एमओयू साईन किया

वड़ोदरा, 24 सितम्बर, 2022: देश भर में हरित परिवहन को बढ़ावा देने के दृष्टिकोण के साथ इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के ब्राण्ड ‘जॉय ई-बाईक’ के अग्रणी निर्माता वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड (बीएसई कोडः 538970) ने इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद को आसान बनाने के लिए आरबीआई पंजीकृत एनबीएफसी मंगलम इंडस्ट्रियल फाइनैंस लिमिटेड (बीएसई कोडः 537800) के साथ हाथ मिलाया है। इस साझेदारी के तहत मंगलम वार्डविज़र्ड के हाई एवं लो स्पीड इलेक्ट्रिक दोपहिया वाहनों के लिए ऑटो लोन उपलब्ध कराएगा। 

मंगलम इंडस्ट्रियल फाइनैंस लिमिटेड ने बाज़ार से मिली प्रतिक्रिया और अपने अनुभवों के आधार पर प्रस्तावित खरीददारों के लिए वाहनों की फाइनैंस योजनाएं पेश की हैं, पहले एवं दूसरे स्तर के शहरों में जॉय-ई बाईक के 50 से अधिक डीलरों और डिस्ट्रीब्यूटरों ने इन योजनाओं में रूचि दिखाई है। ताकि वे गारंटर के रूप में अपने उपभोक्ताओं को इलेक्ट्रिक वाहनों के फाइनैंस की आसान सुविधाएं उपलब्ध करा सकें। कंपनी ने जॉय ई-बाईक के डिस्ट्रीब्यूटरों एवं खरीददारों को सहयोग प्रदान करने के लिए अपनी फाइनैंस सुविधाओं को विस्तारित का फैसला लिया है।

इस साझेदारी पर अपने विचार व्यक्त करते हुए श्री वेंकट रमन रेवुरू, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, मंगलम इंडस्ट्रियल फाइनैंस लिमिटेड ने कहा, ‘‘इलेक्ट्रिक वाहन तेज़ी से विकसित होता उद्योग है, यहां फाइनैंस सेक्टर में भी अपार संभावनाएं हैं। हमें उनमें भरोसा करना होगा और अपना सहयोग प्रदान करना होगा, ताकि एक साथ मिलकर हम विकसित हो सकें और बाज़ार में अपनी मौजूदगी को सशक्त बना सकें। मंगलम में हम राष्ट्र निर्माण की यात्रा में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध हैं और आने वाले समय में अन्य ईवी निर्माताओं के साथ भी इस तरह की साझेदारियां करते रहेंगे।’’

लो स्पीड वाहन, भारतीय ईवी सेक्टर में बड़ा मार्केट शेयर बनाते हैं। ये मुख्य रूप से कामकाजी वर्ग जैसे डिलीवरी पर्सन, छात्रों आदि को अपनी सेवाएं प्रदान करते हैं, जिन्हें आजीविका कमाने या अन्य ज़रूरतों के लिए वाहन की आवश्यकता होती है। यह पहल इस सेगमेन्ट को सशक्त बनाने तथा पर्यावरण में कार्बन फुटप्रिन्ट को कम करने में कारगर साबित होगी।

इस मौके पर बात करते हुए श्री यतिन गुप्ते, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड ने कहा, ‘‘देश भर में हमारे 500 से अधिक टचपॉइन्ट्स से मिली प्रतिक्रिया के आधार पर हमने पाया है कि लो स्पीड वाहनों के खरीददारों को त्वरित फाइनैंस सुविधाओं की ज़रूरत होती है ताकि वे बिना किसी रूकावट के अपनी आजीविका शुरू कर सकें। मैं मंगलम मैनेजमेन्ट के प्रति आभारी हूं, जिन्होंने हमारे डीलरों और उपभोक्ताओं को फाइनैंस सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए हाथ बढ़ाया है। अपनी शुरूआत से ही वार्डविज़र्ड ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी है और यह पहल भी इस दिशा में नया बदलाव लेकर आएगी।’

यह साझेदारी बेहद महत्वपूर्ण कदम है क्योंकि हाल ही में वार्डविज़र्ड ने विश्वस्तरीय ईवी प्रोडक्ट्स के निर्माण के लिए सनकनेक्ट के साथ साझेदारी में सिंगापुर में अपना पहला ग्लोबल आर एण्ड डी सेंटर खोला था। गुजरात सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने से कुछ महीने पहले कंपनी ने ईवी क्लस्टर के विकास के लिए 90 एकड़ से अधिक ज़मीन का अधिग्रहण किया और दुनिया के सभी हिस्सों से कम्पोनेन्ट निर्माताओं को आमंत्रित कर रही है। 

वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड के बारे में: वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड, ब्राण्ड जॉय ई-बाईक के तहत इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेन्ट में अग्रणी ऑटो निर्माता कंपनी है। यह अपने ब्राण्ड व्योम इनोवेशन्स के माध्यम से होम अप्लायन्स बाज़ार की ज़रूरतों को भी पूरा करता है। इलेक्ट्रिक वाहन के निर्माण के क्षेत्र में बीएसई पर पहली सूचीबद्ध कंपनी होने के नाते, यह मुख्य रूप से भारत के इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेन्ट को बढ़ावा देने तथा परिवहन के स्वच्छ एवं हरित विकल्पों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयासरत है, जो पर्यावरण में सकारात्मक बदलाव ला सकें। जॉय ई-बाईक्स के माध्यम से कंपनी ईंधन पर चलने वाले पारम्परिक वाहनों का हरित विकल्प उपलब्ध कराती है। वहीं दूसरी ओर व्योम इनोवेशन्स उपभोक्ताओं के लिए उर्जा प्रभावी होम अप्लायन्सेज़ पेश करती है, इसका उद्देश्य भी हरित प्रणाली को बढ़ावा देना ही है। कंपनी का फुटप्रिन्ट भारत के 25 प्रमुख शहरों में फैला है और यह देश भर में अपने विस्तार के लिए तत्पर है।

No comments:

Post a Comment

मंगलयान और चंद्रयान ने दिखाए बच्चों को अंतरिक्ष तक पहुंचने के सपने

-जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में हुआ तीन दिवसीय इसरो एग्जिबिशन का समापन - प्रिंसिपल मीट का हुआ आयोजन  जयपुर। जेईसीआरसी यूनिवर्सिटी में तीन दिवसीय ...