Thursday, September 1, 2022

एजीएम के बाद प्रेस कांफ्रेंस में बीपीसीएल के चेयरमैन व प्रबंध निदेशक (सीएमडी) का भाषण

बीपीसीएल की 69वीं वार्षिक आम सभा के अवसर पर आपके समक्ष अपनी बातें रखते हुए मुझे खुशी हो रही है ।

सबसे पहले, मैं आपको बताना चाहूँगा कि हाल ही में भारत ओमान रिफाइनरीज लिमिटेड और भारत गैस रिसोर्सेज लिमिटेड का बीपीसीएल के साथ विलय होने से, कंपनी भारी लाभ पाने की स्थिति में आ गई है और एकीकरण का यह लाभ कर-कुशलता, लॉजिस्टिक्स और मानवशक्ति सहक्रिया के साथ-साथ पूँजी संरचना संबंधी अर्थव्यवस्था और परिचालन संबंधी लचीलेपन के रूप में होगा।

मुझे यकीन है, आप 2021-22 में बीपीसीएल के प्रदर्शन से वाकिफ हैं। मैं आपके साथ कुछ महत्वपूर्ण बातें साझा करता हूँ :

  • भौतिक मोर्चे पर, बीपीसीएल ने वर्ष 2021-22 में क्रमश: 38.74 एमएमटी और40 एमएमटी की तुलना में स्टैंडअलोन आधार पर 42.51 एमएमटी और क्रूड की प्रवाह क्षमता की 30.07 एमएमटी की बेहतर बिक्री दर्ज की। बीपीसीएल ने सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियों के बीच बाजार बिक्री वृद्धि में नंबर 1 स्थान हासिल किया है।
  • वित्तीय मोर्चे पर, स्टैंडअलोन आधार पर हमारा कर पश्चात लाभ, ₹8,789 करोड़ रहा, जबकि पिछले वर्ष का करोपरांत लाभ ₹19,042 करोड़ रुपये था। यह कमी वर्ष 2021-22 में मुख्य रूप से नुमालीगढ़ रिफाइनरी लिमिटेड में हिस्सेदारी की बिक्री से हुए एकमुश्त लाभ के कारण है। इसके अलावा, वर्ष के दौरान उच्च रिफाइनिंग मार्जिन की भरपाई कम मार्केटिंग मार्जिन और कम इन्वेंट्री लाभ से हो गई और इस कारण हमारा मुनाफा कम हो गया।
  • शेयरधारकों को पुरस्कृत करने की अपनी परंपरा जारी रखते हुए, निदेशक मंडल ने वर्ष के लिए ₹31 प्रति शेयर की कमाई पर 16 प्रति शेयर का कुल लाभांश घोषित किया।

कोविड महामारी के अभूतपूर्व उथल-पुथल के बाद, वैश्विक अर्थव्यवस्था और विशेष रूप से ऊर्जा क्षेत्र पिछले कुछ महीनों से एक अलग किस्म और परिमाण की चुनौतियों का सामना कर रहा है। हाल के भू-राजनैतिक तनावों के कारण बढ़ी हुई मुद्रास्फीति वैश्विक स्तर पर विकास की गति को प्रभावित कर रही है। देश के लिए, विशेष रूप से घरेलू तेल विपणन कंपनियों की वित्तीय स्थिति जबरदस्त दबाव में रही है।

दुनिया भर में पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों से दूर स्वच्छ ऊर्जा समाधानों की ओर एक बदलाव चल रहा है। ऊर्जा परिदृश्य में बदलाव के रूप में विविधता लाने और अतिरिक्त राजस्व का प्रवाह पैदा करने की आवश्यकता को स्वीकार करते हुए, बीपीसीएल ने 2021-22 के दौरान स्वच्छ ऊर्जा व्यवसाय और उपभोक्ता खुदरा व्यापार को केंद्रित तरीके से आगे बढ़ाने के लिए दो नई व्यावसायिक इकाइयों, नवीकरणीय ऊर्जा और नव व्यवस्याओं की शुरुआत की। यह पहल भविष्य के विकास के छह स्तंभों में हमारी समग्र रणनीति का हिस्सा है जिसे हमने अपने सभी हितधारकों के लिए स्थायी मूल्य बनाने के लिए चिन्हित किया है, जबकि तेल और गैस कारोबार में किसी भी गिरावट के जोखिम के खिलाफ बचाव की भी व्यवस्था की है। ये छह स्तंभ हैं - पेट्रोकेमिकल्स, गैस, रिन्यूएबल्स, न्यू बिजनेस यानी कंज्यूमर रिटेलिंग, -मोबिलिटी और अपस्ट्रीम। पेट्रोलियम उत्पादों के शोधन और विपणन का मुख्य व्यवसाय स्थिरता और बैंडविड्थ के लिए फंडिंग प्रदान करना जारी रखेगा।

इन छह स्तंभों के बारे में विस्तार से बताते हुए, मैं इस बात पर प्रकाश डालना चाहूँगा कि पेट्रोकेमिकल्स क्षेत्र में उपस्थिति बढ़ाना बीपीसीएल की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस दिशा में, हमने बीना रिफाइनरी में एथिलीन क्रैकर परियोजना और कोच्चि रिफाइनरी में पॉलीप्रोपाइलीन परियोजना की योजना बनाई है। इसके लिए व्यवहार्यता अध्ययन और अन्य पूर्व-परियोजना गतिविधियाँ चल रही हैं। एक बार पर्यावरण मंजूरी मिलने के बाद परियोजनाओं को पूरा होने में लगभग चार साल लगने की संभावना है और 2026-27 तक इसके चालू होने की उम्मीद है। चालू हो जाने के बाद कंपनी के उत्पाद पोर्टफोलियो में पेट्रोकेमिकल्स की हिस्सेदारी मौजूदा लगभग 1% से बढ़कर लगभग 8% हो जाएगी।

प्राकृतिक गैस व्यवसाय के सिटी गैस वितरण खंड में बीपीसीएल के पास अब 25 जीए में एकल आधार पर सीजीडी नेटवर्क विकसित करने और संयुक्त उद्यमों सहित कुल 50 जीए के लाइसेंस हैं। सीजीडी बोली के पिछले कुछ दौरों में सफलता ने बीपीसीएल को देश के शीर्ष 3 सीजीडी खिलाड़ियों में से एक के रूप में उभरते हुए देखा है। इसके अलावा, वर्ष 2021-22 के दौरान 8 नए जीए में वाणिज्यिक संचालन शुरू हो गया है, जबकि अन्य जीए में काम अच्छी तरह से प्रगति कर रहा है।

जलवायु स्थिरीकरण में योगदान करते हुए और राष्ट्रीय प्राथमिकताओं के साथ गठबंधन करते हुए, बीपीसीएल ने वर्ष 2040 तक स्कोप 1 और स्कोप 2 में शुद्ध-शून्य उत्सर्जन प्राप्त करने की अपनी आकांक्षा की घोषणा की है, जो पीएसयू तेल विपणन कंपनियों में पहली बार है और इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए एक ऊर्जा संक्रमण परिषद का गठन किया गया है। यात्रा के विभिन्न चरणों में प्राप्त किए जाने वाले महत्वपूर्ण मील के पत्थर सहित एक विस्तृत रोडमैप तैयार किया जा रहा है। अक्षय ऊर्जा व्यवसाय इकाई, अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में वाणिज्यिक उद्यम करते समय कंपनी हरित पहल के लिए एक प्रमुख चालक और योगदानकर्ता होगी। बीपीसीएल ने अपने अक्षय ऊर्जा पोर्टफोलियो को मौजूदा 50 मेगावाट से कम के स्तर से वर्ष 2025 तक 1 गीगावाट और 2040 तक 10 गीगावाट तक बढ़ाने की योजना बनाई है और इस दिशा में विभिन्न जैविक और अकार्बनिक अवसरों की खोज शुरू कर दी है। राष्ट्रीय जैव ईंधन कार्यक्रम में पूरे दिल से भाग लेते हुए, बीपीसीएल ने हाल ही में पेट्रोल में इथेनॉल का 10% सम्मिश्रण हासिल किया है और सरकार द्वारा निर्धारित रोडमैप के अनुरूप सम्मिश्रण प्रतिशत बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है।

कंज्यूमर रिटेलिंग देश में तेजी से बढ़ने वाला सेगमेंट है और हम इस बिजनेस की फिर से कल्पना करके नए कदम उठा रहे हैं। छोटे शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों पर प्रारंभिक ध्यान देने के साथ, हाल ही में बनाई गई व्यावसायिक इकाई न्यू बिजनेस ने ग्रामीण महिलाओं की भागीदारी के माध्यम से भारतीय बाजार के सबसे निचले तबके को ईंधन और गैर-ईंधन की पेशकश करने के लिए एक अद्वितीय, डिजिटल रूप से सक्षम ओमनी-चैनल व्यवसाय मॉडल विकसित किया है। इसमें ग्रामीण महिला उद्यमियों को जोड़ा गया है और इन्हें "ऊर्जा देवी" कहा जाता है। अपने गठन के पहले वर्ष में, व्यवसाय ने तहसीलों में पहले ही 30 "इन एंड आउट स्टोर" खोले हैं और ग्रामीण क्षेत्रों में 300 ऊर्जा देवियों का नामांकन किया है। वर्ष 2022-23 में कंपनी 1,500 इन और आउट स्टोर बनाने और 15,000 ऊर्जा देवियों को जोड़ने की दिशा में काम कर रही है।

इलेक्ट्रिक मोबिलिटी स्पेस में, चार पहिया वाहनों से संबंधित रेंज की चिंता को दूर करने की दिशा में, हमने हाईवे फास्ट चार्जिंग कॉरिडोर की एक नई अवधारणा पेश की है। चेन्नई-त्रिची-मदुरै राजमार्ग, (एनएच-45) के 900 किलोमीटर के हिस्से पर सफल प्रयोग के बाद हम वर्ष 2022-23 में इस सुविधा को लगभग 2,000 रिटेल आउटलेट्स के साथ 200 हाईवे कॉरिडोर में बढ़ाने की योजना बना रहे हैं। इसके अलावा, हम ईवी भागीदारों के साथ गठबंधन में अपने रिटेल आउटलेट्स पर चार्जिंग सुविधा प्रदान कर रहे हैं। साथ ही बैटरी स्वैपिंग जैसे ईवी मूल्य श्रृंखला के सभी क्षेत्रों में अवसरों की खोज कर रहे हैं। हम मध्यम से दीर्घ अवधि में लगभग 7,000 पारंपरिक रिटेल आउटलेट्स को ऊर्जा स्टेशनों में परिवर्तित करने और इस तरह ईंधन के कई विकल्प मुहैया करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

अपस्ट्रीम व्यवसाय के बारे में बात करूँ तो हमारी पूर्ण स्वामित्व वाली अपस्ट्रीम सहायक कंपनी, भारत पेट्रो रिसोर्सेज लिमिटेड ने ब्राजील में अपनी सबसे बड़ी अन्वेषण संपत्तियों में से एक - बीएम सील 11 कन्सेशन के विकास में एक प्रमुख मील का पत्थर हासिल किया, जिसमें कंसोर्टियम ने दिसम्बर 2021 में तेल और गैस की खोज के लिए वाणिज्यिकता घोषणा प्रस्तुत की। बीपीसीएल को हाल ही में संपत्ति में लगभग 1.6 बिलियन अमरीकी डालर के प्रस्तावित निवेश के लिए आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति की मंजूरी मिली है। क्षेत्र विकास योजना प्रस्तुत करने और अंतिम निवेश निर्णय शीघ्र ही होने की संभावना है, जिसके बाद निर्माण शुरू हो जाएगा। मोजाम्बिक में, जहाँ बीपीआरएल अन्य कंसोर्टियम सदस्यों के साथ टू-ट्रेन एलएनजी परियोजना विकसित कर रहा है, सुरक्षा स्थिति में सुधार हो रहा है और कंसोर्टियम परियोजना को जल्द से जल्द फिर से शुरू करने की दिशा में काम कर रहा है।

डिजिटलीकरण की शक्ति का लाभ उठाते हुए, हम अपने 'प्रोजेक्ट अनुभव' के तहत अपनी डिजिटल परिवर्तन यात्रा पर आगे बढ़ रहे हैं , जिसने असाधारण विशेषताओं के साथ अभिनव अनुप्रयोग और समाधान प्रदान किए हैं, जिससे पारदर्शिता और दक्षता में सुधार करते हुए हमारे सम्मानित ग्राहकों के लिए विश्वास, सुविधा और वैयक्तिकरण में वृद्धि हुई है। हेलोबीपीसीएल, आईआरआईएस, ऊर्जा, यूफिल, एडवांस्ड लॉयल्टी प्रोग्राम और सेल्सबडी जैसे ऐप्लिकेशन आज शक्तिशाली ब्रांड बन गए हैं और दिन-ब-दिन इनका उपयोग बढ़ रहा है।

बीपीसीएल के लिए, सामुदायिक विकास हमारे कॉर्पोरेट दर्शन का एक अभिन्न अंग रहा है और हमारी कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) पहल समुदायों के साथ हमारी एकता की अभिव्यक्ति को समाहित करती है। बीपीसीएल, एक कर्तव्यनिष्ठ कॉर्पोरेट नागरिक के नाते हमेशा समाज और राष्ट्र निर्माण की सेवा में सबसे आगे रहा है, जिसमें कोविड काल भी शामिल है। महामारी के खिलाफ देश की लड़ाई में, हम अपनी रिफाइनरियों से ऑक्सीजन प्रदान करने और सरकारी स्वास्थ्य प्रणाली पर बोझ कम करने के लिए आसपास के क्षेत्र में कोविड-देखभाल सुविधाओं की स्थापना सहित विभिन्न तरीकों से पूरे दिल से योगदान दे रहे हैं।

कच्चे तेल की प्रचलित उच्च कीमतों और वैश्विक अर्थव्यवस्था में देखी गई तरलता के मद्देनजर, बीपीसीएल उभरती स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहा है, अपनी प्रतिक्रियाओं को पुन: व्यवस्थित कर रहा है, और निरंतर मजबूत वित्तीय स्वास्थ्य सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई व पहल कर रहा है। इसके लिए  दक्षता में सुधार, क्षमता निर्माण और प्रौद्योगिकी को आगे बढ़ाने का काम चल रहा है।

बीपीसीएल, एक अत्यंत अनुकूल, व्यावहारिक और दक्ष संगठन के रूप में अपने सभी हितधारकों के लिए उत्कृष्ट मूल्य बनाने के लिए आने वाले वर्षों में अपनी यात्रा में कर्मठतापूर्वक नए शानदार अध्याय जोड़ना जारी रखेगा।

No comments:

Post a Comment

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वी 5 जी डिजिटल ट्विन पर दिल्ली मेट्रो टनल साईट के मजदूरों से की बातचीत; इस डिजिटल ट्विन को भारत में मजदूरों की सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है

03   अक्टूबर ,2022:   भविष्य   की   ओर   कदम   बढ़ाते   हुए   वोडाफ़ोन   आइडिया   लिमिटेड   ने   आज   देश   की   राजधानी   में   इंडिया   मोबा...