Friday, September 2, 2022

एक्सिस म्युचुअल फंड ने ‘एक्सिस सिल्वर ईटीएफ' और 'एक्सिस सिल्वर फंड ऑफ फंड' लॉन्च किया

मुंबई, 02 सितंबर 2022: भारत की अग्रणी परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनियों में से एक, एक्सिस म्युचुअल फंड ने आज एक्सिस सिल्वर ईटीएफ (सिल्वर की घरेलू कीमत को दोहराने/ट्रैक करने वाली ओपन एंडेड स्कीम) और एक्सिस सिल्वर फंड ऑफ फंड (एक्सिस सिल्वर ईटीएफ की इकाइयों में निवेश करने वाली ओपन एंडेड फंड ऑफ फंड स्कीम) लॉन्च किया। कमोडिटीज के फंड मैनेजर, प्रतीक टिबरेवाल एक्सिस सिल्वर ईटीएफ का प्रबंधन करेंगे। आवेदन की न्यूनतम राशि प्रति आवेदन 500 रुपये और उसके बाद 1/- रुपये के गुणकों में होगी। फिक्स्ड इनकम के फंड मैनेजर, आदित्य पगारिया एक्सिस सिल्वर एफओएफ का प्रबंधन करेंगे। ईटीएफ में आवेदन की न्यूनतम राशि 500 रुपये और उसके बाद 1/- रुपये के गुणकों में होगी तथा एफओएफ में आवेदन की न्यूनतम राशि 5,000 और उसके बाद 1/- रुपये के गुणकों में होगी। दोनों फंड्स की बेंचमार्किंग एलबीएमए सिल्वर डेली स्पॉट एएम फिक्सिंग प्राइस के अनुसार होगी। दोनों एनएफओ सब्सक्रिप्शन के लिए 02 सितंबर 2022 को खुलेंगे और 15 सितंबर 2022 को बंद होंगे।


एक बहुमूल्य धातु के रूप में, चांदी का हमेशा से भारतीय संस्कृति में एक महत्वपूर्ण स्थान रहा है। समय के साथ क्षरण, सुरक्षा, धातु की शुद्धता, तरलता जोखिम आदि की दृष्टि से, फिजिकल सिल्वर (चांदी के भौतिक रूप) में निवेश चुनौतीपूर्ण हो सकता है। शुक्र है कि निवेशक ईटीएफ (एक्सचेंज ट्रेडेड फंड) के माध्यम से कीमती धातु में निवेश का विकल्प चुन सकते हैं जिसका उद्देश्य घरेलू कीमतों में भौतिक चांदी के प्रदर्शन के अनुरूप रिटर्न उत्पन्न करना है, जो ट्रेसिंग त्रुटि के अधीन है। जिन निवेशकों के पास डीमैट अकाउंट नहीं है, वे सिल्वर एफओएफ (फंड ऑफ फंड) में निवेश करके एक्सपोजर हासिल कर सकते हैं।

सिल्वर मार्केट के मूलभूत वाहक
बहुपयोगी धातु, चांदी का कई क्षेत्रों में व्यापक रूप से उपयोग होता है, जिससे निवेशकों के लिए एक अनूठा अवसर पैदा हुआ है। इसके बढ़ते महत्व का एक प्रमाण यह है कि वैश्विक चुनौतियों को हल करने में आधुनिक प्रौद्योगिकियों को शक्ति प्रदान करने हेतु बायो फार्मा और चिकित्सा प्रौद्योगिकियों, विद्युत उत्पादन और स्वच्छ ऊर्जा, और इलेक्ट्रिक व्हीकल्स एवं मोबिलिटी टेक्नोलॉजीज जैसे उद्योगों में भी इसका अधिकाधिक उपयोग होने लगा है। इसके अलावा, चांदी न केवल पोर्टफोलियो को विविधीकरण प्रदान करती है, बल्कि मुद्रास्फीति से बचाने की क्षमता भी रखती है। चांदी के आर्थिक परिदृश्य को आशाजनक बनाने वाले प्रमुख कारकों में से एक यह भी है कि आगे इसकी आपूर्ति की तुलना में इसकी मांग बढ़ने का अनुमान है।
एक्सिस सिल्वर ईटीएफ और एक्सिस सिल्वर एफओएफ की मुख्य विशेषताएं:
• फंड्स, 999 पार्ट्स पर 1000 फाइनेस के इंडस्ट्री मानक 30 किलो फिजिकल सिल्वर बुलियन में निवेश करेंगे
• न्यूनतम व्यापार लागत और गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिष्ठित संस्थानों और सर्राफा व्यापारियों के साथ चांदी की खरीद/बिक्री
• डीमैट रूप में परेशानी-मुक्त स्वामित्व/एमएफ यूनिट्स*
• एक्सिस एएमसी द्वारा सिल्वर के भंडारण, परिवहन और बीमा संबंधी परेशानियों का समाधान
• एक्सचेंज लिक्विडिटी – निवेशक अपनी सुविधानुसार एनएसई पर ईटीएफ इकाइयों को खरीद और बेच सकते हैं

एक्सिस एएमसी के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, चंद्रेश निगम ने कहा,"चांदी का यह दिलचस्प प्रस्ताव कि यह एक औद्योगिक वस्तु के साथ-साथ बहुमूल्य धातु के रूप में कार्य कर सकती है, ऐसा प्रमुख कारक है जिससे इसका महत्व बढ़ेगा। अब जब निवेशकों के पास ईटीएफ के माध्यम से सिल्वर में निवेश करने की पहुंच है, तो यह भविष्य में एक आशाजनक परिसंपत्ति वर्ग के रूप में धातु के मूल्य को और बढ़ाएगा। एक्सिस सिल्वर ईटीएफ और एक्सिस सिल्वर एफओएफ के लॉन्च के साथ, हमारा लक्ष्य निवेश रणनीति के साथ बाजार के उपलब्ध अवसरों को मूल रूप से एकीकृत करना है जिससे निवेशकों को धातु के विशिष्ट एक्सपोजर का लाभ मिल सके। नई स्कीम हमारी सोच के अनुरूप है और हमें विश्वास है कि यह हमारे उत्पादों के पोर्टफोलियो में उल्लेखनीय स्थान हासिल करेगी।"

* एक्सिस स्लाइवर ईटीएफ इकाइयां केवल डिमटेरियलाइज्ड यूनिट फॉर्म में उपलब्ध होंगी

** एक्सिस सिल्वर एफओएफ एक्सिस सिल्वर ईटीएफ में अपनी अधिकांश परिसंपत्तियों का निवेश करेगा और निवेशकों को एमएफ इकाइयों को आवंटित किया जाएगा जिन्हें एएमसी के साथ सीधे लेनदेन किया जा सकता है, जो लागू निकासी शुल्क, अधिभार और करों के अधीन है। एक्सिस सिल्वर एफओएफ की इकाइयों को एक्सचेंज प्लेटफॉर्म पर सूचीबद्ध नहीं किया जाएगा।

स्रोत: एएमएफआई, एक्सिस एमएफ रिसर्च

प्रोडक्ट लेबलिंग और रिस्कोमीटर:

ध्यान दें:निवेशकों को यदि इस बात को लेकर संदेह हो कि यह उत्पाद उनके लिए उपयुक्त है या नहीं, तो उन्हें चाहिए कि वो अपने वित्तीय सलाहकारों से परामर्श करें।

न्यू फंड ऑफर के दौरान दी गई प्रोडक्ट लेबलिंग, स्कीम की विशेषताओं या मॉडल पोर्टफोलियो के आंतरिक मूल्यांकन पर आधारित है और वास्तविक निवेश किए जाने पर एनएफओ के बाद भिन्न हो सकता है।

निवेशक स्कीम्स से जुड़े अन्य खर्च के अलावा स्कीम के आवर्ती खर्चों को वहन करेंगे जिसमें फंड ऑफ फंड्स स्कीम्स निवेश करती है

No comments:

Post a Comment

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वी 5 जी डिजिटल ट्विन पर दिल्ली मेट्रो टनल साईट के मजदूरों से की बातचीत; इस डिजिटल ट्विन को भारत में मजदूरों की सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है

03   अक्टूबर ,2022:   भविष्य   की   ओर   कदम   बढ़ाते   हुए   वोडाफ़ोन   आइडिया   लिमिटेड   ने   आज   देश   की   राजधानी   में   इंडिया   मोबा...