Thursday, September 1, 2022

मुथूट समूह ने शांतिग्राम प्रोजेक्ट में ग्रामीण विकास कार्यक्रम के तहत मंडावर में 10 गांवों के लगभग 20,000 लोगों को किया सपोर्ट

नई दिल्ली, 1 सितंबर 2022- मुथूट समूह ने अपने ग्रामीण विकास कार्यक्रम शांतिग्राम प्रोजेक्ट के तहत हरियाणा की सोहना तहसील में मंडावर और उसके आसपास के 10 गांवों के लगभग 20,000 निर्धन और वंचित निवासियों की जीवन शैली में परिवर्तन लाने का प्रयास किया है। इस एकीकृत ग्रामीण विकास कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, मुथूट समूह ने ईस्ट और मलंकारा मेट्रोपॉलिटन के परम पावन बेसिलियोस मार्थाेमा मैथ्यूज थर्ड कैथोलिकोस की उपस्थिति में एक महिंद्रा स्कॉर्पियो कार भी प्रदान की। यह आयोजन शनिवार, 27 अगस्त 2022 को हरियाणा के सोहना तहसील के मंडावा स्थित मलंकारा ओर्थोडोक्स चर्च के दिल्ली डायोसिस में हुआ।

शांतिग्राम प्रोजेक्ट सोफिया सोसाइटी के तत्वावधान में कार्यरत मलंकारा ओर्थोडोक्स चर्च के दिल्ली डायोसिस की एक सामुदायिक विकास परियोजना है। मलंकारा ओर्थोडोक्स चर्च को एक नई महिंद्रा स्कॉर्पियो कार प्रदान करने के पीछे मुख्य उद्देश्य उनकी दिन-प्रतिदिन की महत्वपूर्ण और कल्याणकारी गतिविधियों को बेहतर तरीके से क्रियान्वित करने में सहायता प्रदान करना था। यहां यह उल्लेखनीय है कि समाज के वंचित और जरूरतमंद वर्गों की भलाई के लिए सामाजिक और सामुदायिक सेवा करने में मुथूट समूह हमेशा सबसे आगे रहा है।

शांतिग्राम प्रोजेक्ट के बारे में जानकारी देते हुए मुथूट ग्रुप के ज्वाइंट मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अलेक्जेंडर जॉर्ज मुथूट ने कहा, ‘‘हमारे पूर्व अध्यक्ष स्वर्गीय श्री एम जी जॉर्ज मुथूट के विजन के अनुरूप मुथूट समूह ने एक जिम्मेदार कॉर्पाेरेट नागरिक बनने का प्रयास किया है। वे हमेशा समाज को वापस देने में विश्वास करते थे। हमने देखा कि पिछले 2 साल महामारी के कारण सभी के लिए बहुत चुनौतीपूर्ण रहे हैं, और इस दौर में हमारे समाज के हाशिए पर रहने वाले वर्गों के लोग सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए, हम शांतिग्राम कार्यक्रम को सपोर्ट कर रहे हैं, जो मुख्य रूप से समाज के जरूरतमंद और वंचित वर्गों की मदद करने वाली सामुदायिक सेवाओं पर केंद्रित है।’’

मुथूट समूह अपनी सीएसआर गतिविधियों के तहत समाज के वंचित वर्ग के लिए विभिन्न कल्याणकारी पहल भी कर रहा है। कुछ उल्लेखनीय गतिविधियाँ इस प्रकार हैं-

  • स्वास्थ्य सेवा- कोविड-19 के दौरान 94,000 लोगों की सहायता की गई और कानपुर पुलिस के लिए 16-बेड वाला कोविड अस्पताल स्थापित किया, और 15 अन्य अस्पतालों को चिकित्सा उपकरणों के साथ मदद की गई।
  • भोजन और राशन वितरण- 2.67 लाख से अधिक वंचित लोगों को पका हुआ भोजन और सूखा राशन प्रदान किया।
  • पर्यावरण- हरित पहल के तहत, समूह ने 24केवी सोलर पैनल नेशनल एसोसिएशन ऑफ ब्लाइंड, नई दिल्ली को प्रदान दिया है। समूह ने महाराष्ट्र के पालगर जिले में 50 आदिवासी किसानों को 500 फलों के पौधे भी प्रदान किए।
  • शिक्षा- मुंबई के कुर्ला उपनगर में झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले बच्चों में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए 500 स्कूल बैग वितरित किए गए। समूह ने प्रयागराज, उत्तर प्रदेश में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के भूगोल विभाग में एक स्मार्ट क्लासरूम भी प्रदान किया, जिससे हर साल 5000 से अधिक छात्र लाभान्वित हो रहे हैं।
  • दिव्यांग लोगों को सहायता- सीएसआर पहल के तहत 500 दिव्यांग बच्चों को शिक्षा किट वितरित किए गई। मुंबई के 40 दृष्टिबाधित छात्रों को एक फाइल बनाने की मशीन भी दान की गई।
  • सतत आजीविका को सपोर्ट- स्व-रोजगार प्रथाओं और स्थायी आजीविका को बढ़ावा देने के लिए, मुथूट समूह ने हाल ही में देहरादून में महिला लाभार्थियों को 25 सिलाई मशीनें और दिल्ली में वंचित लोगों को 30 मैनुअल ट्राइसाइकिल गाड़ियां प्रदान की हैं।

No comments:

Post a Comment

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वी 5 जी डिजिटल ट्विन पर दिल्ली मेट्रो टनल साईट के मजदूरों से की बातचीत; इस डिजिटल ट्विन को भारत में मजदूरों की सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है

03   अक्टूबर ,2022:   भविष्य   की   ओर   कदम   बढ़ाते   हुए   वोडाफ़ोन   आइडिया   लिमिटेड   ने   आज   देश   की   राजधानी   में   इंडिया   मोबा...