Saturday, August 6, 2022

पानी की टंकी में गिरा मंदबुद्धि युवक





 -- शुक्रवार की रात ही गिर गया था टंकी में, टंकी में था करीब 5 फिट पानी

-- सुबह कर्मचारी को उसके चिल्लाने की आवाज से चला पता, बाहर निकाला 

नवीन कुमावत
किशनगढ़ रेनवाल। कस्बे की बाग की ढाणी ( गार्डन कॉलोनी ) स्थित जलदाय विभाग कार्यालय परिसर में बनी एक पानी की सीडबल्यूआर टंकी में शुक्रवार की देर रात को एक युवक गिर गया। शनिवार को सुबह ड्यूटी पर आए जलदाय विभाग के कर्मचारी ने उसके चिल्लाने की आवाज सुनकर उसे आसपास के निवासियों की मदद सीढ़ी और रस्सी के सहारे से बाहर निकाला। इसके बाद उसे प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। इसकी सूचना पाकर रेनवाल थाना पुलिस भी स्वास्थ्य केंद्र पहुंची और घटना के बारे में जानकारी हासिल की।
जानकारी के अनुसार बाग की ढाणी स्थित जलदाय विभाग कार्यालय परिसर में बनी सीडबल्यूआर में शुक्रवार की रात एक युवक गिर गया था। लेकिन वहां किसी कर्मचारी आदि के नहीं होने से वो बाहर नहीं निकल पाया। इस टंकी के ऊपर लगी जाली टूटी हुई है। वहीं ऊपर लगा ढक्कन भी खुला रहता है। युवक का नाम कमल रैगर है, उसकी मानसिक हालत ठीक नहीं होने की कारण वो टंकी में गिर गया। गनीमत रही कि टंकी में पानी का स्तर कम था। वरना उसकी जान भी जा सकती थी। युवक रातभर टंकी में एक लोहे के पाइप को पकड़कर खड़ा रहा। सुबह जलदाय विभाग के कर्मचारी श्यामलाल कुमावत के ड्यूटी पर आने पर उसे युवक के चिल्लाने की आवाज आई, तो उसने टंकी पर चढ़कर अंदर देखा। जहां बदहवास हालत में एक युवक दिखाई दिया। कर्मचारी ने सबसे पहले आसपास के निवासियों को आवाज लगाई। इस पर पास ही स्थित सरकारी संस्कृत स्कूल के अध्यापक एवं अन्य ग्रामीण मौके पर पहुंचे। इसके साथ ही ठेकेदारकर्मी रघुनाथ यादव भी तुरंत मौके पर पहुंचा। यादव ने शीघ्रता दिखाते हुए टंकी में उतरकर अन्य लोगों की मदद से उस युवक को बाहर निकाला। गौरतलब है की इस युवक के पिताजी का देहांत हो चुका है। युवक को बाहर निकालने के दौरान बड़ी संख्या में आसपास के निवासी जमा हो गए। युवक को बाहर निकालने के बाद उसे प्राथमिक उपचार के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। 
सीडब्ल्यूआर टंकी के सुरक्षा नहीं : 
बाग की ढाणी स्थित जलदाय विभाग के पंप हाउस में बनी सीडब्ल्यूआर टंकी में सुरक्षा मानक सही नहीं हैं। टंकी के ऊपर लगी रोशनदान की जाली टूटी हुई है। वहीं टंकी के ऊपर लगा लोहे की चद्दर का ढक्कन भी जर्जर है। टंकी का पानी भी गंदा है, हालांकि इस पानी की सप्लाई नहीं होना बताया जा रहा है।
इनका कहना है :
घटना की जानकारी आपके द्वारा ही मिली है। टंकी की सफाई करवाकर जाली सही कराई जाएगी, जिससे अन्य कोई घटना न हो। हालांकि इस टंकी से पानी की सप्लाई नहीं होती है।
--- जग्गाराम वर्मा, एईएन, जलदाय विभाग सांभरलेक वृत्त

No comments:

Post a Comment

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...