Saturday, August 6, 2022

इस बार कांग्रेस की अलग ही रणनीति

नेशनल हेराल्ड मामले में सोनिया औऱ राहुल गांधी पर कसते शिकंजे के बीच आज कांग्रेस ने देशभर में अपनी ताकत दिखाई। महंगाई, जीएसटी और केंद्र सरकार की नीतियों के बहाने पार्टी ने सुबह से ही संसद से सड़क तक विरोध प्रदर्शन किया। इस बार कांग्रेस की अलग ही रणनीति दिखी। सबसे पहले सोनिया ने कांग्रेसी सांसदों के साथ संसद में काले कपड़े पहनकर जमकर नारेबाजी की। उसके बाद राहुल संसद से राष्ट्रपति भवन तक मार्च निकालने के लिए निकले, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक दिया और हिरासत में ले लिया। इसके बाद पार्टी मुख्यालय में मौजूद प्रियंका गांधी ने मोर्चा संभाला। वे पार्टी सांसदों के साथ पीएम आवास घेरने के लिए निकलीं, लेकिन यहां भी पुलिस ने उन्हें आगे नहीं बढ़ने दिया। नतीजन, वे सड़क पर ही घरने पर बैठ गईं। पुलिस ने उन्हें भी हिरासत में ले लिया। उनके साथ अजय माकन, सचिन पायलट, हरीश रावत, अविनाश पांडे सहित कांग्रेस के सभी बड़े नेताओं को हिरासत में ले लिया गया। कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन की हलचल विभिन्न प्रदेशों में भी देखने को मिली। राजस्थान के कई शहरों में कांग्रेसियों ने बारिश के बावजूद जोरदार प्रदर्शन किया। इधर, पटना में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने राजभवन मार्च निकाला। मार्च कुछ दूर ही निकला था कि पुलिस ने कर उसे रोक दिया। इसके बाद हंगामा शुरू हो गया। कार्यकर्ता सड़क पर नारेबाजी करने लगे। पुलिस ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा को हिरासत में ले लिया। कार्यकर्ताओं ने पुलिस गाड़ी को घेर लिया और विरोध करने लगे। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में भी कांग्रेस ने सड़क पर विरोध प्रदर्शन किया। प्रदेशभर के जिलों से आए जिला स्तर के नेताओं के अलावा प्रदेश कांग्रेस के तमाम नेता इस विरोध प्रदर्शन में शामिल हुए। अंबेडकर चौक में धरना देने के बाद प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम समेत कुछ कांग्रेस नेताओं का प्रतिनिधिमंडल राज भवन पहुंचा और राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। इससे पहले, सुबह राहुल गांधी ने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, क्या आप तानाशाही का मजा ले रहे हैं, यहां रोज लोकतंत्र की हत्या हो रही है। इस सरकार ने 8 साल में लोकतंत्र को बर्बाद कर दिया। मीडिया से बात करने के दौरान राहुल अपने बाजू पर काली पट्टी बांधे थे। इस अवसर पर गृहमंत्री का बयान आया है कि आज राम मंदिर के उद्घाटन का दिन है और इस दिन काले कपड़े पहन कर विरोध प्रदर्शन करना कांग्रेस की तुष्टिकरण की मानसिकता को प्रदर्शित करती है। 

इस मुद्दे पर अनिल दूत- पूर्व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य भाजपा किसान मोर्चा एवं सह चुनाव प्रभारी 2019 लोकसभा चुनाव राजस्थान ने कहा कि जैसा की सर्वविदित है नेशनल हेराल्ड केस में गांधी परिवार अपने आप को भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरता हुआ महसूस कर रहा है और उन्हें मालूम भी है कि उन्होंने इस देश को भ्रष्टाचार की कठपुतली बना दिया था इसलिए कांग्रेस अपने बचाव में महंगाई को मुद्दा बनाकर केंद्र सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है परंतु मैं भारतीय जनता पार्टी की तरफ से सभी लोगों का ध्यान आकर्षित करवाना चाहता हूं की राजस्थान के मुख्यमंत्री से मैं यह मांग करता हूं कि डीजल, पेट्रोल तथा पेट्रोकेमिकल पदार्थों पर आपने भारत में सबसे ज्यादा टैक्स लगाया हुआ है। गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर भी भारत में सबसे ज्यादा टैक्स लेने वाले राज्यों में राजस्थान अव्वल है इसलिए मैं राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी से अनुरोध करता हूं कि आप भारत में अपने राज्य में सबसे कम महंगाई करके इस देश को एक उदाहरण के रूप में अपने आप को प्रस्तुत करके राहुल गांधी जी के साथ दिल्ली जाकर प्रेस कॉन्फ्रेंस कीजिए जनता तब आपको समझने की कोशिश करेगी। जब भारत के लोगों ने भगवान राम को अपना इष्ट देव माना तथा राम मंदिर के नाम पर इस देश में क्रांति हुई एवं भारतीय जनता पार्टी के प्रयासों से अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू करने का कार्यक्रम तय हुआ आज के दिन भगवान श्री राम जी के पावन मंदिर का 5-8-2020 को भूमि पूजन था। कांग्रेस के युवराज श्री राहुल गांधी जी स्वयं को जनेऊ धारी ब्राह्मण के रूप में मीडिया के सामने प्रस्तुत किया। आज उन्हीं की देखरेख में आज के पावन दिन कांग्रेस पार्टी ने काले कपड़े पहन कर सनातन धर्म का अपमान किया है! कांग्रेस पार्टी आजादी के समय से ही सनातन धर्म का अपमान करते आ रही है भारतीय जनता पार्टी की ओर से मैं इसका विरोध करता हूं।

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...