Tuesday, August 23, 2022

महाराष्ट्र में चंद्रपुर स्थित अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन के औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान को सर्वश्रेष्ठ औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान के रूप में मिली मान्यता

मुंबई, 23 अगस्त, 2022- अंबुजा सीमेंट्स की सीएसआर शाखा अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन द्वारा महाराष्ट्र में चंद्रपुर में संचालित औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान को व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण निदेशालय द्वारा सर्वश्रेष्ठ औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) के तौर पर सम्मानित किया गया है।

महाराष्ट्र के कौशल विकास और उद्यमिता विभाग ने कौशल विकास क्षेत्र में असाधारण प्रदर्शन के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान को सम्मानित किया। पुरस्कार के लिए चयन के लिहाज से तीन चरण की कड़ी प्रक्रिया को अपनाया गया और इन्फ्रास्ट्रक्चर, ट्रेनिंग परफॉर्मेंस, प्रवेश और अन्य कौशल संबंधी गतिविधियों के आधार पर जांच की गई थी।

प्रशिक्षण केंद्र में 20 प्रशिक्षुओं के प्रत्येक बैच और व्यावहारिक प्रशिक्षण के लिए 5 इकाइयों के साथ इलेक्ट्रिकल, वेल्डिंग और फिटर फैब्रिकेशन में तीन पाठ्यक्रम संचालित होते हैं। बुनियादी पाठ्यक्रम के अलावा, प्रशिक्षुओं को सॉफ्ट स्किल प्रशिक्षण, कंप्यूटर, मार्केट विजिट, उद्यमिता कौशल और ऑन द जॉब प्रशिक्षण भी दिया जाता है।

फाउंडेशन का स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट (एसईडीआई) एक अनूठी कौशल पहल है जो ग्रामीण युवाओं के लिए स्थायी आजीविका का निर्माण करने और उन्हें व्यावहारिक व्यावसायिक प्रशिक्षण के माध्यम से उद्योग के लिए तैयार करने पर केंद्रित है। यह पहल अपने छात्रों के बीच उद्यमशीलता को भी प्रोत्साहित करती है और उन्हें अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए अपना उद्यम शुरू करने के लिए प्रेरित करती है। स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट अपने 35 केंद्रों पर आठ डोमेन जैसे आईटी/आईटीईएस, इलेक्ट्रॉनिक्स, स्वास्थ्य, निर्माण, सौंदर्य और कल्याण, आतिथ्य और पर्यटन, ऑटोमोबाइल, पूंजीगत सामान, रिटेल, दूरसंचार आदि क्षेत्रों में 43 प्रमाणित पाठ्यक्रम चला रहा है।

इंडिया होल्सिम के सीईओ और अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘यह हमारे लिए गर्व का क्षण है कि कौशल उन्नति के हमारे प्रयासों को देश द्वारा मान्यता दी जा रही है। हमें वास्तव में खुशी है कि हम समुदायों की मदद करने और बड़े पैमाने पर समाज की सेवा करने में सक्षम हैं। हम ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के जीवन को बदलने और हमारे देश के कौशल अंतर को कम करने के इस लक्ष्य को हासिल करने का प्रयास जारी रखेंगे।’’

सुश्री पर्ल तिवारी, निदेशक और सीईओ, अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन ने कहा, ‘‘हर साल, 15 मिलियन युवा कार्यबल के तौर पर सामने आते हैं, हालांकि उद्योग की स्टडी कहती है कि उनमें से 75 प्रतिशत से अधिक ‘जॉब रेडी’ नहीं हैं। ऐसे परिदृश्य में 88,000 से अधिक युवाओं को रोजगार के योग्य बनाने के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदान करने की स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट की उपलब्धि अत्यंत संतोष की बात है। फाउंडेशन ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका सृजित करके लोगों के जीवन को बदलने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में प्रयास करते हुए ग्रामीण पुरुषों और महिलाओं को नौकरी खोजने के लिए आवश्यक कौशल से लैस किया जा रहा है। हम देश में व्याप्त कौशल अंतर को दूर करने और सरकार के कौशल भारत मिशन में योगदान देने के अपने प्रयासों को जारी रखने के लिए तत्पर हैं।’’

अंबुजा सीमेंट फाउंडेशन ने अपने स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट्स (एसईडीआई) के माध्यम से 10 भारतीय राज्यों में ग्रामीण और अर्ध शहरी क्षेत्रों से 76 प्रतिशत की प्लेसमेंट दर के साथ 88,000 से अधिक युवाओं को कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया है। अपने मूल मूल्यों में से एक के रूप में लिंग विविधता के साथ, फाउंडेशन ने प्रत्येक एसईडीआई केंद्र में 40-60 महिला-पुरुष अनुपात को बनाए रखा है। इसके अलावा, इसने 3166 महिलाओं को पुरुष प्रधान तकनीकी डोमेन जैसे वेल्डर, सुरक्षा गार्ड, इलेक्ट्रीशियन और तकनीशियनों में प्रशिक्षित किया है और विभिन्न संगठनों में 2153 महिलाओं को भी रखा है।

No comments:

Post a Comment

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने वी 5 जी डिजिटल ट्विन पर दिल्ली मेट्रो टनल साईट के मजदूरों से की बातचीत; इस डिजिटल ट्विन को भारत में मजदूरों की सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है

03   अक्टूबर ,2022:   भविष्य   की   ओर   कदम   बढ़ाते   हुए   वोडाफ़ोन   आइडिया   लिमिटेड   ने   आज   देश   की   राजधानी   में   इंडिया   मोबा...