Friday, August 19, 2022

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रों ने शानदार प्रदर्शन किया। इन छात्रों को इस दौरान अनेक चुनौतियों का सामना करना पड़ा था, जैसे कोविड के दौरान बार-बार लागू होने वाला लॉकडाउन, परीक्षा पैटर्न में बदलाव, ऑनलाइन कक्षाओं और हाइब्रिड लर्निंग का इस्तेमाल। इन चुनौतियों के कारण स्वाभाविक तौर पर लर्निंंग की राह में अनेक रुकावटें आईं। इसके बावजूद 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों से जुड़े विद्यार्थियों ने अपने प्रदर्शन से सबको चकित कर दिया।

अंबुजा विद्या निकेतन (एवीएन) ट्रस्ट द्वारा प्रबंधित पांच स्कूल हैं- एवीएन अंबुजानगर; अंबुजा पब्लिक स्कूल, राबरियावास; अंबुजा विद्यापीठ, रावन (भाटापारा); एवीएन उप्परवाही, (एमसीडब्ल्यू); और डीएवी-एवीएन, दारलाघाट।

कक्षा 10 में 396 छात्रों (204 लड़के और 192 लड़कियों) ने परीक्षा दी (पिछले वर्ष की तुलना में 20 अधिक), 76 छात्रों ने 90 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए; और 271 ने 60 फीसदी और 90 फीसदी के बीच स्कोर किया। दो छात्रों - देवांग महाजन (एपीएस राबरियावास) और ख़ुशी अग्रवाल (एवीपी रावन) - ने 98.67 फीसदी के बड़े स्कोर के साथ आगे बढ़कर नेतृत्व किया; इस बीच, एवीपी रावन - इस क्षेत्र में सबसे अधिक मांग वाले स्कूल - ने उच्चतम कक्षा औसत 81.5 फीसदी हासिल किया।

कक्षा 12 में परीक्षा में शामिल 343 छात्रों (206 लड़कों और 137 लड़कियों, पिछले वर्ष की तुलना में 90 अधिक) में से 168 छात्रों ने 75 फीसदी से अधिक अंक प्राप्त किए। उन्होंने सभी विषयों में अच्छा प्रदर्शन किया - विज्ञान, वाणिज्य और मानविकी - जहां उच्चतम स्कोर पिछले साल की तुलना में बेहतर रहा। टॉपर्स रहे- आर्य सिंह (एवीएन उप्परवाही)- विज्ञान में 97 फीसदी, अमन दुलानी (एवीपी रावन) और अल्मा एलेक (एवीएन उप्परवाही)- वाणिज्य में 98 फीसदी; और शमिता रावल (एपीएस राबरियावास)- मानविकी में 97.6 फीसदी अंक।

इंडिया होल्सिम के सीईओ और अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘पिछले दो साल सामान्य रूप से किसी के लिए भी और विशेष रूप से छात्रों के लिए तो जरा भी आसान नहीं रहे हैं। सीखने के कई तरीके हैं लेकिन इस दौरान छात्रों को अपनी पढ़ाई को लेकर बड़ी कठिनाइयों से गुजरना पड़ा। मुझे इस बात पर बेहद गर्व है कि ऐसे विपरीत हालात में भी अंबुजा स्कूलों के छात्रों ने भारत में सबसे कठिन कक्षा 10 और 12 की सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं में शानदार अंक हासिल किए और अपनी छाप छोड़ी है। मैं उनके शानदार करियर और खुशहाल जीवन की कामना करता हूं।’’

इस सफलता से उत्साहित एपीएस राबरियावास की प्रिंसिपल इप्सिता चौधरी ने कहा, ‘‘मैं अंबुजा स्कूल के समस्त प्राचार्यों की ओर से कह सकती हूं कि अनिश्चितताओं से भरे माहौल के बावजूद हमने छात्रों के लिए फोकस्ड ट्यूटोरियल के साथ-साथ प्रोफेशनल्स के साथ आमने-सामने के परामर्श सत्रों का आयोजन किया और इस तरह उन्हें हर कदम पर सपोर्ट देने का प्रयास किया गया। इन कदमों से ही यह सफलता हासिल की जा सकी है।’’

एवीपी रावन के प्रधानाचार्य संजय पांडेय ने कहा कि शिक्षकों का मनोबल बनाए रखना भी उतना ही जरूरी है। ‘‘उनके लिए अपनी बात कहने, अपनी ऊर्जा को चैनल करने और अन्य अंबुजा स्कूलों के अपने समकक्षों के साथ सहयोग करने के लिए विभिन्न प्लेटफॉर्म बनाए गए थे। इससे निश्चित रूप से उन्हें हमारे छात्रों को तनावपूर्ण दौर से उबारने में मदद मिली।’’

कुल मिलाकर, अंबुजा सीमेंट्स के प्रबंधन और एवीएन ट्रस्ट के निरंतर समर्थन और प्रोत्साहन के कारण, हर गुजरते साल के साथ पांच स्कूल मजबूती से आगे बढ़े हैं। आगामी शैक्षणिक वर्ष के लिए लर्निंग गैप को समझते हुए तमाम बाधाओं को दूर करने पर ध्यान केंद्रित करने का प्रयास किया जा रहा है।

महिंद्रा ने यूके में अपना अत्याधुनिक ईवी डिजाइन स्टूडियो लॉन्च किया

लंदन/मुंबई, 19 अगस्त, 2022: भारत की अग्रणी एसयूवी निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने आज औपचारिक रूप से अपने नए डिजाइन सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, महिंद्रा एडवांस्ड डिजाइन यूरोप (एमएडीई) का उद्घाटन किया जो ईवी उत्पादों के कंपनी के पोर्टफोलियो के लिए वैचारिक केंद्र (conceptual hotbed) के रूप में काम करेगा। MADE वैश्विक ऑटोमोटिव और बैनबरी, ऑक्सफ़ोर्डशायर के EV हब में स्थित है। यह रीजन जिसे ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय का घर कहा जाता है, अपने हाई एंड रीसर्च और शैक्षणिक संस्थानों के लिए प्रसिद्ध है। महत्वपूर्ण रूप से, ऑक्सफ़ोर्डशायर नई और उभरती हुई तकनीकों जैसे आर्टफिशल इन्टेलिजन्स, स्वायत्तता, एडवांस्ड रोबोटिक्स आदि तक पहुँच प्रदान करता है जो मोबिलिटी के भविष्य को आकार देता है।

महिंद्रा ग्लोबल डिज़ाइन नेटवर्क के हिस्से MADE का पहला उद्देश्य भविष्य की सभी महिंद्रा ईवी और उन्नत वाहन डिज़ाइन अवधारणाओं की कल्पना और निर्माण करना है। महिंद्रा ग्लोबल डिज़ाइन नेटवर्क के हिस्से में मुंबई में महिंद्रा इंडिया डिज़ाइन स्टूडियो भी शामिल है।  इसका उद्घाटन महिंद्रा समूह के अध्यक्ष, आनंद महिंद्रा ने यूके के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री रानिल जयवर्धने के साथ किया।

MADE अत्याधुनिक आर्ट डिज़ाइन टूल से लैस है, जो इसे अवधारणा (conceptualisation), 3D डिजिटल और फिज़िकल मॉडलिंग, क्लास-ए सरफेसिंग, डिजिटल विज़ुअलाइज़ेशन और ह्यूमन-मशीन इंटरफ़ेस (HMI) डिज़ाइन सहित एंड-टू-एंड डिज़ाइन गतिविधियों को हैन्डल करने में सक्षम बनाता है। इसमें एक पूर्ण डिजिटल विज़ुअलाइज़ेशन सूट, क्ले मॉडलिंग स्टूडियो, वीआर डिजिटल मॉडलिंग और डिजिटल के साथ-साथ फिज़िकल प्रेज़न्टैशन एरिया भी शामिल हैं।

इस मौके पर महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने कहा कि महिंद्रा एडवांस्ड डिजाइन यूरोप हमारे इनोवैशन के तंत्रिका (neaural) नेटवर्क में एक और महत्वपूर्ण कदम है। 15 से भी कम महीनों में, इसके काम ने लोगों का दिल जीत कर इसके सुनहरे भविष्य का खाका तैयार कर लिया है। आज हम जो भी कदम उठायेंगे, वह यह तय करेगा कि कल की दुनिया कैसी होगी।

यूके के अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री जयवर्धने ने कहा, “ब्रिटेन में निवेश करने से नौकरियां पैदा होती हैं, वेतन में वृद्धि होती है और हमारी अर्थव्यवस्था का विकास होता है। इस तरह हम लोगों को अभी और भविष्य में बेहतर जीवन जीने में मदद करते हैं। इसलिए ऑक्सफोर्डशायर में महिंद्रा के निवेश और विस्तार को देखना शानदार अनुभव है। हम अगले दशक में एंग्लो-इंडियन व्यापार को दोगुना करने की मांग कर रहे हैं और यह एक मुक्त व्यापार सौदा (free trade deal) को प्राप्त करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। इसके अतिरिक्त, यह व्यापार बाधाओं से निपटने और दोनों देशों में व्यवसायों को नए अवसरों को भुनाने में मदद करेगा।

महिंद्रा एंड महिंद्रा के चीफ डिजाइन ऑफिसर प्रताप बोस ने कहा, " मेड में हमारा मुख्य मिशन हमारे बोर्न इलेक्ट्रिक विजन को आगे बढ़ाना है। सभी टेक्नॉलजी, सभी मोटर वाहन डिजाइन प्रतिभा और यहां इकट्ठे किए गए सभी अत्याधुनिक उपकरण को इस तरह से इस्तेमाल में लाया जाएगा कि वे मौजूद स्थिति में परिवर्तन लाकर महिंद्रा ईवी डिजाइन के लिए समग्र रूप से मिलकर नए काम करें।

ग्लोबल ऑटोमोटिव डिज़ाइन में 30 सबसे प्रतिभाशाली और अनुभवी लोगों का समावेश है और इसका नेतृत्व पुरस्कार विजेता ऑटोमोटिव डिज़ाइन के दिग्गज कोसिमो अम्मादेई कर रहे हैं। MADE,महिंद्रा के बॉर्न इलेक्ट्रिक लॉन्च के हिस्से के रूप में प्रदर्शित की जाने वाली पांच में से तीन ई-एसयूवी के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुका है।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी का शुभारंभ


जयपुर| जगतपुरा स्थित श्री कृष्णा बलराम मंदिर में आध्यात्मिक उत्साह और वैदिक मंत्रों के साथ शुक्रवार की सुबह जगतपुरा के श्री श्री कृष्ण बलराम मंदिर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी का शुभारम्भ हुआ। पुरे दिन मंदिर में हरिनाम संकीर्तन का विशेष आयोजन रहा , लगभग दो लाख भक्तों ने मंदिर में भगवन के दर्शन किये, मंदिर परिसर को विशेष रूप से कोलकाता, बेंगलुरु और देश के अन्य भागों से फूलो एवं भव्य डेकोरेशन लाइट सजाया गया |  मंदिर में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए मंदिर में 100 से अधिक सुरक्षाकर्मी मोजूद थे, स्क्रीनिंग के लिए मेटल डिटेक्टर एवं सी सी टीवी कैमरा पुरे मंदिर परिसर में लगाये गए | मंदिर में आने वाले सभी भक्तो को नि:शुल्क प्रसाद में पंजीरी एवं फलों को वितरित किया गया |श्री श्री कृष्णा बलराम मंदिर में भगवान को लिए फूल बंगला में सजाया गया, सवा लाख की पोशाक ठाकुर जी के लिए वृंदावन से बनवाई गई, एवं ठाकुर जी को 108 व्यंजनों का भोग लगाया गया एवं भगवान के अभिषेक के लिए कन्नौज से गुलाब जल और केवड़े का पानी मंगवाया गया , दिन में चार बार हुआ ठाकुर जी का महा अभिषेक किया गया, सर्वप्रथम अभिषेक से पहले भगवान को चंदन तेल से मालिश किया जाएगा, फिर पंचामृत एवं पंचगव्य एवं 21 प्रकार के फलों के रस से भगवान का अभिषेक किया गया एवं चरणामृत को भक्तो में बंटा गया | मन्दिर परिसर मे तीन जगह लड्डू गोपाल के झूलन लगाये गए, ताकि सभी भक्त भगवान का झूलन सेवा में भाग ले सके |

मंदिर अध्यक्ष श्रीअमितासना दास जी ने बताया कि मंदिर में श्री कृष्ण बलराम की मनमोहक झांकी सजाई गयी , भगवान को 108 भोग अर्पित किये गये भगवान का महा अभिषेक किया गया तथा पुष्पवर्षा की गयी मध्यरात्रि 12 बजे भगवान की महाआरती की गयी। साथ ही बताया कि 20 अगस्त, 2022 नंदोत्सव जो कि जन्माष्टमी के दूसरे दिन मनाया जाता है यह एक महत्वपूर्ण तिथि है। इस दिन हरे कृष्ण आंदोलन (इस्कॉन) के संस्थापक आचार्य, कृष्ण कृपामूर्ति ए.सी. भक्तिवेदांत स्वामी प्रभुपाद की 126वीं जयंती मना रहे हैं। इस अवसर पर मंदिर में व्यास पूजा के अंतर्गत सायं 5 बजे से अभिषेकम एवं हरिनाम संकीर्तन का आयोजन होगा। हमारे सभी प्रयास मानवता के हित एवं उत्थान के लिए है, जो श्रील प्रभुपाद की आध्यात्मिक दृष्टि के अनुसरण में है |

Thursday, August 18, 2022

एचईआईडी और एचपीसीएल ने एचपीसीएल पेट्रोल स्टेशनों पर बैटरी स्वैप सर्विस का संचालन शुरू करने की घोषणा की

बैंगलुरू, भारत, 18 अगस्त, 2022ः बैटरी स्वैप सर्विस के लिए होण्डा मोटर कंपनी, लिमिटेड की सब्सिडरी होण्डा पावर पैक एनर्जी इंडिया प्रा. लिमिटेड (एचईआईडी) और भारत महारत्न तेल कंपनी हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने 6 अगसत 2022 को होण्डा ईःस्वैप सर्विस का संचालन शुरू करने की घोषणा की है, जिसका संचालन एचपीसीएल पेट्रोल स्टेशनों पर एचईआईडी द्वारा किया जाएगा।

नवम्बर 2021 में, भारत में इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शॉ के साथ बैटरी स्वैप सर्विस की शुरूआत के लिए एचईआईडी की स्थापना की गई थी। एचईआईडी बैटरी स्वैप सर्विस के द्वारा रिक्शॉ चालक चुनिंदा शहरों में स्थापित अपने नज़दीकी बैटरी स्टेशनों पर रुक कर डिस्चार्ज हो चुकी बैटरी (होण्डा मोबाइल पावर पैक ईः) को पूरी तरह से चार्ज की गई बैटरी से बदल सकते हैं। इस सर्विस के उपयोग से ड्राइवर द्वारा इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने की शुरूआती लागत काफी कम हो जाएगी और साथ ही उन्हें रेंज और बैटरी खत्म होने की चिंता भी नहीं सताएगी।

एचईआईडी और एचपीसीएल ने फरवरी 2022 में ई-मोबिलिटी के क्षेत्र में साझेदारी हेतु एक समझौता ज्ञापन और कमर्शियल एग्रीमेन्ट पर हस्ताक्षर भी किए थे तथा अपने स्वैप स्टेशन नेटवर्क के विकास द्वारा आपसी प्रतिबद्धता की पुष्टि की थी। एचईआईडी पहले से बैंगलुरू के महत्वपूर्ण स्थानों पर स्थित एचपीसीएल रीटेल आउटेलेट्स में अपने बैटरी एक्सचेंजर (होण्डा पावर पैक एक्सचेंजर ईः) स्थापित कर चुकी है और इसने होण्डा मोबाइल पावर पैक ईः के साथ इलेक्ट्रिक ऑटो रिक्शॉ के लिए संचालन भी शुरू कर दिया है।

एचईआईडी अगले 12 महीनों में बैंगलुरू में 70 से अधिक स्टेशनों के साथ सबसे बड़ा बैटरी स्वैप नेटवर्क स्थापित करना चाहती है। इसके अलावा बैंगलुरू में मिली सफलता के आधार पर इस सर्विस को चरणबद्ध तरीके से अन्य शहरों में भी विस्तारित किया जाएगा।

उद्घाटन समारोह का आयोजन 6 अगस्त 2022 को हुआ, जहां दोनों पक्षों ने इस साझेदारी का जश्न मनाया और छोटे परिवहन के इलेक्ट्रिकरण द्वारा भारत के हरित भविष्य एवं कार्बन न्यूट्रेलिटी के लिए आपसी प्रतिबद्धता की पुष्टि की।


उद्घाटन समारोह के चित्र
तस्वीर 1
तस्वीर 2


प्रवक्ताओं के उद्धरणः
ऑपरेशन एक्ज़क्टिव, बिज़नेस डेवपलमेन्ट सुपरवाइज़री युनिट हैड, होण्डा मोटर कंपनी लिमिटेड श्री अराता इशिनोस ने कहा कि वे एचईआइडी की चुनौतियों के मद्देनज़र एचपीसीएल से मिले सहयोग की सराहना करते हैं और सभी साझेदारों के साथ मजबूत रिश्तों के महत्व पर ज़ोर देते हैं। होण्डा के लक्ष्यों पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि बैंगलुरू से बैटरी स्वैप सर्विस की शुरू कर हमने उपभोक्ताओं के लिए हरित एवं स्वच्छ भविष्य की शुरूआत की है।

प्रेज़ीडेन्ट एवं सीएमडी, होण्डा पावर पैक एनर्जी इंडिया, श्री कियोशी ईटो ने कहा कि एचईआईडी तीन कार्यों पर ध्यान केन्द्रित करेगी- बैंगलुरू में अपने बैटरी स्वैप नेटवर्क का विस्तार, प्रभावी समेकित प्रााली के द्वारा भरोसेमंद सेवाओं का सुनिश्चित करना जहां हर बैटरी और एक्सचेंजर पर निगरानी रखी जाएगी तथा ऐसे वाहन निर्माताओं को सहयोग प्रदान करना जो होण्डा मोबाइल पावर पैक ईः का उपयोग कर ईवी विकसित कर रहे हैं।


एक्ज़क्टिव डायरेक्टर- रीटेल, एचपीसीएल, श्री संदीप माहेश्वरी ने बताया कि एचपीसीएल हरित ऊर्जा की दिशा में भारत के रूपान्तरण को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है। हम देश में सबसे बड़े चार्ज पॉइन्ट ऑपरेटर हैं, देश भर में हमारे रीटेल आउटलेट्स पर 1,058 ईवी चार्जिंग स्टेशन हैं। आज हम एचईआईडी के साथ साझेदारीमें एक और गेम-चेंजिंग पहल की शुरूआत कर रहे हैं। एचपीसीएल और एचईआईडी ईःस्वैप स्टेशन बैंगलुरू में ई-ऑटो रिक्शॉ के लिए बैटरी स्वैपिंग को बेहद आसान बना देंगे। स्वैप की जा सकने वाली बैटरी- ऊंची लागत एवं लम्बे चार्जिंग टाईम की समस्या को कम करके ईवी अडॉप्शन को बढ़ावा देती है। भारत में बेचे जाने वाले 90 फीसदी वाहन दोपहिया और तिपहिया वाहन होते हैं। ऐसे में दोपहिया/तिपहिया वाहनों में बैटरी स्वैपिंग के लिए वाहन के डिज़ाइन को आसान बनाना और छोटा बैटरी पैक सुनिश्चित करना बहुत ज़रूरी है। होण्डा की सर्वश्रेष्ठ ईःस्वैप टेक्नोलॉजी, देश भर में एचपीसीएल के 20,000 रीटेल आउटलेट्स के साथ सशक्त मौजूदगी इसके व्यापक पैमाने और सुगम संचालन को सुनिश्चित करेगी।

एक्ज़क्टिव डायरेक्टर- कॉर्पोरेट स्टैªटेजी, प्लानिंग एण्ड बिज़नेस डेवलपमेन्ट, एचपीसीएल, श्री धमेन्द्र कुमार शर्मा ने कहा कि यह कार्यक्रम देश में आने वाले दिनों में ई-परिवहन में क्रान्तिकारी बदलाव लाने की दिशा में छोटा सा कदम है। हम होण्डा को सफलता के लिए शुभकामनाएं देते हैं, उन्होंने कहा कि पिछले सालों के दौरान एचपीसीएल के साथ साझेदारी में होण्डा द्वारा बाज़ार पर किया गया अनुसंधान और व्यापक नियोजन, आगामी वर्षों में दोपिहया और तिपहिया वाहनों के ई-मोबिलिटी बाज़ार में बड़े बदलाव लेकर आएगा।

CASE India ने भारत में 50,000वें लोडर बैकहो के उत्पादन के साथ महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की

CNH Industrial के ब्रांड, CASE कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट ने मध्य प्रदेश के पीथमपुर स्थित अपने उत्कृष्ट संयंत्र से 50,000वें लोडर बैकहो के उत्पादन को पार करके महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। CASE लोडर बैकहो को उनकी बहुपयोगिता, विश्वसनीयता, उत्पादनशीलता, लचीलेपन, सुरक्षा और ऑपरेटर आराम के लिए जाना जाता है।

वर्ष 1989 में इंदौर के पास पीथपुर में निर्मित, यह संयंत्र लोडर बैकहो, कॉम्पेक्टर्स और क्रॉलर-एक्सकेवेटर सहित उन्नत कंस्ट्रक्शन उपकरणों की पूरी श्रृंखला का निर्माण करता रहा है। अभी, यह संयंत्र भारत और अफ्रीका और मध्य पूर्व, एशिया प्रशांत क्षेत्र और लैटिन अमेरिका के बाजारों के 75 से अधिक देशों के लिए निर्माण उपकरण की आवश्यकता को पूरा करता है।

इस महत्वपूर्ण उपलब्धि पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए, श्री फैब्रिजियो सेपोलिना, वाइस प्रेसिडेंट, अफ्रीका, मध्य पूर्व और एशिया प्रशांत - इंडस्ट्रियल कंस्ट्रक्शन सेगमेंट, CNH Industrial ने कहा, "CASE 1957 से लोडर बैकहो का निर्माण कर रहा है, जब उद्योग के पहले फैक्ट्री एकीकृत लोडर बैकहो का उत्पादन CASE द्वारा किया गया था। आज, TLB की हमारी नवीनतम रेंज उत्कृष्टता को नई सीमाओं तक ले जाती है। CASE विश्व स्तर पर अपनी बेहतरीन गुणवत्ता वाली मशीनों के लिए जाना जाता है, जो हमें निर्माण उपकरण उद्योग में अग्रणी ब्रांडों में से एक बनाती हैं। यह हमारे लिए गर्व का क्षण है, और हम अपने सुसज्जित पीथमपुर संयंत्र को CASE उत्पादों के लिए एक वैश्विक विनिर्माण केंद्र बनाने की दिशा में काम कर रहे हैं। यह संयंत्र पहले से ही भारत सहित करीब 80 देशों की मांग को पूरा कर रहा है। यहां से हमारा लक्ष्य अतिरिक्त बाजारों में निर्यात की मात्रा को और अधिक बढ़ाना है।"

इस अवसर पर बोलते हुए, CNH कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट इंडिया के प्रबंध निदेशक, श्री सुनील पुरी ने कहा, “30 से अधिक वर्षों से, CASE India पीथमपुर में निर्मित विश्वस्तरीय गुणवत्ता वाली मशीनों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में उपलब्ध करा रहा है। भारत में, हम सरकार की मेक-इन इंडिया और आत्मनिर्भर भारत जैसी पहलों के साथ पूरी तरह से जुड़े हुए हैं, हमारे लोडर बैकहो 90% स्वदेशी हैं। 50,000वें लोडर बैकहो रोल-आउट की यह उल्लेखनीय उपलब्धि ब्रांड और हमारे उत्पादों में हमारे ग्राहकों के विश्वास का प्रमाण है। हम हमारे सम्मानित ग्राहकों, डीलरों एवं वेंडर पार्टनर्स को धन्यवाद देते हैं जिन्होंने हमें समर्थन दिया और हम भविष्य में ऐसे कई मील के पत्थर हासिल करने की आशा करते हैं।"

श्री सतेंद्र तिवारी, प्लांट हेड - CASE कंस्ट्रक्शन, इंडिया ने कहा, "CASE India उत्कृष्ट मशीनें प्रदान करने के लिए लगातार काम कर रहा है और इसने समय के साथ विकसित होने की हमारी क्षमता को साबित किया है। ब्रॉन्ज़ प्रमाणित वर्ल्ड क्लास मैन्युफैक्चरिंग (डब्ल्यूसीएम) हाई-टेक संयंत्र, घरेलू और निर्यात मांग दोनों को कुशलतापूर्वक पूरा करने के लिए कर्मचारी सुरक्षा के साथ-साथ उत्पाद की गुणवत्ता और सटीकता पर ध्यान देने हेतु अच्छी तरह से स्वचालित है। हम देश में अपने एकमात्र संयंत्र से सर्वोत्तम पद्धतियों का पालन करने और गुणवत्तापूर्ण उत्पाद प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 50,000वां लोडर बैकहो रोलआउट CASE India में हमारे लिए गर्व का क्षण है, और यह हमारी क्षमता की पुष्टि करता है और हमें हमारे ग्राहकों के लिए बहुपयोगी मशीनों का उत्पादन जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करता है।"

CASE कंस्ट्रक्शन का पीथमपुर में एक बड़ा अनुसंधान और विकास संयंत्र है। CASE के इंजीनियर यह सुनिश्चित करने के लिए लगातार काम करते हैं कि मशीनें नियमित रूप से अपग्रेड हों और भविष्य के लिए तैयार हों। CASE की विचारधारा में व्यक्ति, प्रक्रिया और ग्रह सभी एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। कार्बन उत्सर्जन को कम करने में योगदान देने वाले हमारे स्थिरता लक्ष्यों के हिस्से के रूप में, कंपनी ने अपने पीथमपुर संयंत्र में सौर पैनल स्थापित किए हैं जो प्राकृतिक स्रोत के माध्यम से संयंत्र की ऊर्जा की 25% आवश्यकता पूरी करने में मदद करेंगे।

CASE, संबंधित श्रेणी में अग्रणी BS-IV अनुपालक लोडर बैकहो प्रदान करता है जो तकनीकी रूप से श्रेष्ठ हैं। CASE कंस्ट्रक्शन ने हाल ही में विश्व स्तर पर 180वीं वर्षगांठ मनाई और इस अवसर पर, ब्रांड ने शीघ्र संपन्न एक्सकॉन 2021 व्यापार मेला में उत्पादों की रेंज लॉन्च की। उत्पादों की रेंज में बिल्कुल नया, अत्यधिक बहुपयोगी, 49.5 hp 770NXe लोडर बैकहो शामिल है। इसके अलावा, कंपनी ने वित्तीय संसाधन के अभाव से जूझ रहे उत्साही युवाओं के लिए लोडर बैकहो परिचालन पर निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए हाल ही में कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन किया। यह पहल हर साल 240 पेशेवरों को प्रशिक्षण देकर केंद्र सरकार के कौशल भारत मिशन में योगदान कर रही है। 1200 वर्ग फुट के संयंत्र में सिद्धांत वर्ग और परामर्श के लिए समर्पित दो कक्षाएं शामिल हैं। यह केंद्र पीथमपुर के पास सोनवई, राऊ में स्थित है। छात्रों का पहला बैच अभी-अभी स्नातक हुआ है और रोजगार के लिए तैयार है।

भारत के लिए गेम चेंजर साबित होगा सरकार का एथेनॉल ब्लेंडिंग प्रोग्राम

मुंबई, 18 अगस्त, 2022- दूसरी सबसे बड़ी इंडियन ऑयल मार्केटिंग कंपनी और भारत की प्रमुख एकीकृत ऊर्जा कंपनियों में से एक भारत पेट्रोलियम ने वर्ल्ड बायोफ्यूल डे (विश्व जैव ईंधन दिवस) के अवसर पर भारत में जैव ईंधन के रणनीतिक महत्व को एक बार फिर रेखांकित किया है।

पारंपरिक जीवाश्म ईंधन के विकल्प के रूप में गैर-जीवाश्म ईंधन के महत्व के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए हर साल 10 अगस्त को विश्व जैव ईंधन दिवस मनाया जाता है। यह दिन सर रूडोल्फ क्रिश्चियन कार्ल डीजल (डीजल इंजन के आविष्कारक) द्वारा किए गए शोध प्रयोगों का सम्मान करता है, जिन्होंने 1893 में मूंगफली के तेल के साथ एक इंजन को चलाया था।

भारत में जैव ईंधन किसानों की आय में सुधार, आयात में कमी, रोजगार सृजन, अपशिष्ट से धन सृजन, स्वच्छ पर्यावरण, स्वास्थ्य लाभ आदि क्षेत्रों में सहायता करेगा। मौजूदा जैव विविधता का इस्तेमाल स्थानीय आबादी के लिए संपत्ति जुटाने के लिहाज से किया जा सकता है। इस दिशा में सूखी भूमि का उपयोग करके इसका बेहतर उपयोग किया जा सकता है और इस तरह सस्टेनेबल डेवलपमेंट में भी योगदान किया जा सकता है।

2020-21 में 551 अरब डॉलर की लागत से भारत का पेट्रोलियम का शुद्ध आयात 185 मीट्रिक टन था। अधिकांश पेट्रोलियम उत्पादों का उपयोग परिवहन में किया जाता है। इसलिए एक सफल ई20 कार्यक्रम देश को प्रति वर्ष 1 बिलियन डॉलर यानी 30,000 करोड़ रुपए की बचत करा सकता है।

वर्ल्ड बायोफ्यूल डे के अवसर पर बीपीसीएल के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर-रिटेल श्री पी.एस. रवि ने कहा, ‘‘इंडस्ट्री मंे बीपीसीएल एथेनॉल के लिहाज से एक समन्वयक और अग्रणी भूमिका में है और हम सरकार के एथेनॉल मिश्रित पेट्रोल कार्यक्रम में योगदान देने में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं। भारत जैसे बढ़ते राष्ट्र के लिए ऊर्जा सुरक्षा हासिल करना और एक निम्न कार्बन वाली अर्थव्यवस्था की तरफ कदम बढ़ाना अत्यंत महत्वपूर्ण है। पेट्रोल के साथ स्थानीय रूप से उत्पादित एथेनॉल का मिश्रण भारत को अपनी ऊर्जा सुरक्षा को मजबूत करने, आयात को कम करने, स्थानीय उद्यमों और किसानों को ऊर्जा अर्थव्यवस्था में भाग लेने में सक्षम बनाने और कई अन्य लाभों के बीच वाहनों के उत्सर्जन को कम करने में मदद करेगा।’’

एथेनॉल एक कम प्रदूषणकारी ईंधन है और कम लागत पर समान दक्षता प्रदान करता है। कृषि योग्य भूमि की व्यापक उपलब्धता, खाद्यान्न और गन्ने के बढ़ते उत्पादन के कारण एकत्र होने वाला अधिशेष, संयंत्र आधारित स्रोतों से एथेनॉल का उत्पादन करने के लिए टैक्नोलॉजी की उपलब्धता और वाहनों को इसके अनुकूल बनाने की जरूरत जैसे कारणों से एथेनॉल मिश्रित पेट्रोल ई20 को न केवल एक राष्ट्रीय अनिवार्यता बनाता है, बल्कि एक महत्वपूर्ण रणनीतिक आवश्यकता भी बनाता है।

बीपीसीएल ने ओएमसी के साथ 131 एलटीओए पर हस्ताक्षर किए हैं, जिसके तहत प्रति वर्ष लगभग 757 करोड़ लीटर क्षमता वाले एथेनॉल संयंत्र स्थापित करने का प्रस्ताव रखा गया है। एथेनॉल की कमी वाले राज्यों में उन्होंने रेलवे माल ढुलाई के माध्यम से अधिशेष राज्यों से घाटे वाले राज्यों में एथेनॉल को स्थानांतरित करने और घाटे वाले राज्यों में उच्च मिश्रण सुनिश्चित करने के लिए भी पहल की है।

बीपीसीएल ओडिशा के बरगढ़ में एक इंटीग्रेटेड 2जी और 1जी बायो एथेनॉल रिफाइनरी स्थापित कर रहा है। बायो-एथेनॉल रिफाइनरी एथेनॉल की उत्पादन क्षमता को लगभग 6 करोड़ लीटर प्रति वर्ष तक बढ़ाएगी। रिफाइनरी में फीडस्टॉक के रूप में बायोमास का उपयोग करते हुए 2जी एथेनॉल की प्रति दिन 100 केएल और फीडस्टॉक के रूप में चावल के अनाज का उपयोग करते हुए 100 केएलपीडी 1जी बायो इथेनॉल की डिजाइन उत्पादन क्षमता है।

ई20 (2025 तक 20 प्रतिशत ब्लेंडिंग) के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बीपीसीएल 2025 तक 20 प्रतिशत ब्लेंडिंग से संबंधित अतिरिक्त आवश्यकता को पूरा करने के लिए चरणबद्ध तरीके से अपने सभी डिपो/टर्मिनलों में अपनी एथेनॉल भंडारण सुविधा का विस्तार कर रहा है।

गोदरेज ने आजाद देश की धड़कन, #Sounds Of Making India के साथ भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस की खुशियाँ मनाई

18 अगस्त 2022; मुंबई, भारत: भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर, गोदरेज ग्रुप ने 2019 से शुरू किए गए अपने स्वतंत्रता दिवस अभियान की अगली कड़ी #SoundsOfMakingIndiaजारी की। इसमें उन सभी औद्योगिक ध्वनियों को खूबसूरती से कैद किया गया है जिनसे विनिर्माण पारिस्थितिकी तंत्र की प्रगति ध्वनित होती हैं।

यूट्यूब लिंक :| https://youtu.be/I1spEfbBe5c

फिल्म #SoundsOfMakingIndiaमें गोदरेज ग्रुप की हमारे राष्ट्र की प्रगति का एक अभिन्न अंग होने की यात्रा की कहानी बयां है। यह फिल्म भारत के सबसे प्रतिष्ठित ब्रांडों में से एक के विभिन्न व्यवसायों को एकीकृत रूप में दिखाती है और उपभोक्ताओं को ऐसी अनेक ध्वनियों या प्रगति की धड़कन को सुनने का अवसर देती है जिन्होंने वास्तव में भारत के निर्माण में योगदान दिया है।

इस वीडियो को डिजिटल कंटेंट क्रिएटर्स द्वारा प्रचारित-प्रसारित किया जाएगा, हमारे मीडिया पार्टनर्स इसे अपने-अपने प्लेटफॉर्म पर डालेंगे और हमारे बिजनेस पार्टनर्स इसे अपने सोशल मीडिया एसेट्स पर साझा करेंगे एवं इसका प्रसार करेंगे।

गोदरेज ग्रुप की कार्यकारी निदेशक और मुख्य ब्रांड अधिकारी, तान्या दुबाश ने फिल्म पर टिप्पणी करते हुए कहा, "गोदरेज में, हमें पिछले 75 वर्षों में हमारे देश की प्रगति और यात्रा का एक अभिन्न हिस्सा होने पर बेहद गर्व है। फिल्म #SoundsofMakingIndiaमें संपूर्ण रूप से हमारे ग्रुप की महत्वपूर्ण प्रतीकात्मक ध्वनियों को कैद किया गया है और उन्हें हमारे सबसे लोकप्रिय और प्रासंगिक देशभक्ति गीतों में से एक 'सारे जहां से अच्छा' में एक साथ पिरोया गया है। आज हम अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं, ऐसे में यह हम में से प्रत्येक को प्रगति की इस शक्ति में विश्वास करने और आगे की यात्रा में योगदान करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

क्रिएटिवलैंड एशिया की सह-संस्थापक और क्रिएटिव वाइस चेयरमैन, अनु जोसेफ ने कहा, गोदरेज ग्रुप का इतिहास आत्मनिर्भरता और स्वतंत्रता की दिशा में भारत की यात्रा से अटूट रूप से जुड़ा हुआ है। यह फिल्म उन सभी बड़ी और छोटी चीजों का उत्सव है जिसे गोदरेज भारत के निर्माण में मदद करते हुए भारत के लिए बना रहा है।

 

महिंद्रा ने स्कोर्पियो क्लासिक लॉन्च की, यह इसकी मशहूर स्कोर्पियो एसयूवी का नया अवतार है

मुंबई, अगस्त 18, 2022 :  भारत में एसयूवी श्रेणी की गाड़ियाँ बनाने में अग्रणी महिंद्रा ऐंड महिंद्रा लिमिटेड ने अपने प्रतिष्ठित ब्रैंड स्कोर्पियो का नया अवतार लॉन्च किया है। इन 20 सालों में स्कोर्पियो ने ऐतिहासिक दर्जा हासिल कर लिया है। यह महिंद्रा एसयूवी के मजबूत और वास्तविक  डीएनए का प्रतिनिधित्व करती है। महिंद्रा ने अपनी दो दशकों का इस जबर्दस्त कामयाबी का जश्न मनने के लिए स्कार्पियो क्लासिक लॉन्च की है, जिसमें ओरिजिनल गाड़ी की मूल रूपरेखा और तत्व नजर आते हैं। महिंद्रा एसयूवी को अपने नए लुक्स, समकालीन इंटीरियर और नया मजबूत इंजन से सुसज्जित किया गया है। इसके साथ ही इसमें कई दूसरे फीचर्स भी हैं। 

स्कार्पियो ब्रैंड ने उपभोक्ताओं की बदलती जरूरतों को ध्यान में रखकर समय के साथ अपनी गाड़ियों में सुधार किया है। यह अभी भी उन उत्साही लोगों की पसंद है, जो मजबूत, शक्तिशाली और सक्षम असली एसयूवी की तलाश में रहते हैं। स्कार्पियो क्लासिक अपने जबर्दस्त डिजाइन, निर्विवाद मौजूदगी और मजबूत परफॉर्मेंस के क्षेत्र में अपनी विशेषताओं का लगातार प्रदर्शन कर रही है। 

एम ऐंड एम लिमिटेड में ऑटोमोटिव डिविजन के अध्यक्ष, वीजे नाकरा ने स्कॉर्पियो क्लासिक की  लॉन्चिंग पर कहा, “स्कॉर्पियो एक बेहद महत्वपूर्ण और ऐतिहासिक  मॉडल है, जिसने प्रामाणिक और सभी लोगों की पंसदीदा एमयूवी के निर्माण में महिंद्रा की प्रतिष्ठा को परवान पर पहुँचाया हैं। महिंद्रा एसयूवी के 8 लाख से ज्यादा उपभोक्ता है। महिंद्रा स्कोर्पियो के फैंस की संख्या काफी है। महिंद्रा के मालिकों को अपनी इस गाड़ी पर गर्व है और वह इसे बेहद पसंद करते हैं। महत्वपूर्ण संस्थानों, सशस्त्र सेनाओं, अर्धसैनिक बलों और आंतरिक सुरक्षा बलों के सैन्य कर्मियों की भी यह पसंद बन चुकी है। स्कॉर्पियो क्लासिक की लॉन्चिंग के साथ हम स्कोर्पियो के फैंस दीवानों को एक मजबूत और प्रामाणिक एसयूवी ऑफर कर रहे है। इस एसयूवी का ऐसा “जलवा” है, जैसा पहले कभी नहीं देखा गया।

एम ऐंड एम लिमिटेड में ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी और प्रॉडक्ट डिवेलपमेंट के प्रेसिडेंट, आर. वेलुस्वामी ने कहा,  “स्कार्पियो पहली और आधुनिक एसयूवी है, जिसे पूरी तरह इन-हाउस डेवलप किया गया है। इस वाहन ने इंजीनियरिंग के क्षेत्र में महिंद्रा की साख को और मजबूत बनाया है। इसकी अपार लोकप्रियता ने टफ और बेहतरीन वाहनों के निर्माता के रूप में महिंद्रा की प्रतिष्ठा स्थापित की है। कंपनी के वाहन सभी को आकर्षित करते हैं। स्कार्पियो क्लासिक को बेहतरीन डिजाइन, बिल्ट-इन टेक्नोलॉजी, जबर्दस्त परफॉर्मेंस और प्रीमियम इंटीरियर्स के लिहाज से शानदार तरीके से निर्मित किया गया है। यह एसयूवी स्कार्पियो की विरासत को एक नए मुकाम पर ले जाती है।“ 

स्कोर्पियो क्लासिक के विषय में

स्कॉर्पियो क्लासिक को अपनी नई बोल्ड ग्रिल, शक्तिशाली बोनट, हुड स्क्रूप और नए ट्विन और नए मजबूत लोगो के कारण आसानी से अलग पहचाना जा सकता है। एसयूवी में नए डीआरएल के साथ इसकी पहचान बन चुके स्कार्पियो टावर एलईडी टेल लैंप और नए आर 17 डायमंड कट अलॉय व्हील्स इसकी मूल बनावट में गजब का आकर्षण पैदा करते हैं।

स्कॉर्पियो क्लासिक बेहतरीन परफॉर्मेंस का दावा करती है। यह हलके वजन के पूरी तरह अल्युमीनियम से बने जेन-2 एमहॉक इंजन से लैस है, जो 97 किलोवॉट (132 पीएस) की पावर और 300 एनएम का टोर्क प्रदान करती है। 230 एनएम का ठोस लो-एंड टोर्क 1000 आरपीएम पर ही उत्पन्न होता है।

इसकी इंजन 55 किलो का है जो हल्की है। एसयूवी के पिछले मॉडल के मुकाबले इसमें 14 फीसदी ज्यादा ईंधन की बचत होती है। एसयूवी की ड्राइविंग के अनुभव को और निखारने के लिए नया स्किस-स्पीड केबल शिफ्ट मैनुअल ट्रांसमिशन में पेश किया गया है। इसके सस्पेंशन सेटअप को एमटीवी-सीएल टेक्नोलॉजी से निखारा गया है, जिससे बेहतरीन ढंग से ड्राइविंग की जा सकती है और गाड़ी को हैंडल किया जा सकता है। आसान गतिशीलता और नियंत्रण के लिए स्टियरिंग सिस्टम में भी उल्लेखनीय सुधार किए गए हैं।

स्कॉर्पियो को हमेशा एसयूवी के शानदार केबिन और इंटीरियर के लिए अलग पहचान मिली है। स्कॉर्पियो क्लासिक अपनी नई टु टोन की बीज ऐंड ब्लैक रंग की इंटीरियर की थीम, क्लासिक वुड पैटर्न कंसोल और प्रीमियम क्वॉलिटी की गद्दीदार सीटों के साथ इसे नेक्सट लेवल पर ले जाती है। इस वाहन में नया 22.86 सेमी का टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम भी है। इसमें आपकी मोबाइल पर आने वाला कोई भी कंटेंट स्क्रीन पर प्ले किया जा सकता है। इसके अलावा इसमें कई दूसरी आधुनिक सुविधाएं भी दी गई हैं।

यह दो वैरिएंट्स - क्लासिक 5 और क्लासिक एस 11 में उपलब्ध है। स्कॉर्पियो क्लासिक की बिक्री ऑल न्यू स्कॉर्पियो एन के साथ की जा रही है, जिसको इस साल जुलाई में लॉन्च किया गया था। स्कॉर्पियो क्लासिक पांच रंगों में आती है, जिसमें रेड रेज, नेपोली बैक, डीसैट सिल्वर, पर्ल वाइट और हाल ही में लॉन्च किया गया गैलेक्सी ग्रे कलर शामिल है। यह मॉडल आज से महिंद्रा कंपनी के सभी डीलरों के पास देखने और टेस्ट ड्राइव के लिए उपलब्ध होगा। महिंद्रा स्कॉर्पियो की कीमतों की घोषणा 20 अगस्त, 2022 को की जाएगी।

स्कॉर्पियो क्लासिक के लिए सोशल मीडिया एड्रेस

  • इंस्टाग्राम: @mahindra.scorpio.official
  • फेसबुक: @MahindraScorpio
  • हैशटैग : #ScorpioClassic

होण्डा रेसिंग इंडिया के राजीव सेथु ने एशिया रोड रेसिंग चैम्पियनशिप में टॉप 5 फिनिश के साथ भारत को किया गौरवान्वित

स्पोर्ट्सलैण्ड सुगो (जापान), 18 अगस्त, 2022: आईडेमिट्सु होण्डा रेसिंग इंडिया ने एफआईएम एशिया रोड रेसिंग चैम्पियनशिप 2022 (एआरआरसी) में अपना सर्वश्रेष्ठ परफोर्मेन्स दिया। आज की रेस ने भारत का नाम रौशन कर दिया। ऐसा पहली बार हुआ है कि एशिया की सबसे मुश्किल रोड रेस चैम्पियनशिप में भारत की सोलो टीम ने टॉप 5 पॉज़िशन हासिल कर ली।

राजीव ने पांचवें स्थान पर एआरआरसी की एपी250 क्लास में भारतीय राइडर द्वारा नई सर्वश्रेष्ठ फिनिश का रिकॉर्ड बनाया

शनिवार की एपी250 रेस सीज़न की सबसे मुश्किल रेसों में एक रही, जहां पहले ही लैप में 5 राइडर क्रैश कर गए। ग्रिड पर 14वें पॉजिशन से 12 लैप की पहली रेस शुरू करने के बाद राजीव जल्द ही पहले लैप के बाद छठे स्थान पर आ गए। यहां से उन्होंने अपनी पॉज़िशन लगातार बनाए रखी लेकिन रेस ट्रैक गीला होने के कारण पांचवे लैप में गिर गए। रेस फिनिश करने के मजबूत इरादे के साथ राजीव ने अपने आप को चुनौती दी और तुरंत रेस में फिर से शामिल हो गए, आखिरकर उन्होंने पांचवें स्थान पर चैकर्ड लाईन पार की।

स्पोर्ट्सलैण्ड सुगो इंटरनेशनल सर्किट में अपनी पहली आउटिंग के दौरान भारतीय राइडर राजीव सेथु के बेहतरीन परफोर्मेन्स के चलते टीम ने एपी250 क्लास की पहली रेस में टॉप 5 पॉज़िशन हासिल की और 11 पॉइन्ट्स स्कोर किए।

आज के परफोर्मेन्स पर गर्व ज़ाहिर करते हुए श्री प्रभु नागराज, ऑपरेटिंग ऑफिसर- ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने कहा, ‘‘आज का दिन होण्डा रेसिंग इंडिया के लिए खुशी से भरा दिन है! हम अपने लक्ष्य टॉप 5 फिनिश के पहले चरण तक पहुंच गए हैं। ज़बरदस्त मुकाबले वाली रेस में, जहां ज़्यादातर राइडर गीले मौसम की वजह से क्रैश कर गए, हमारे राइडर राजीव सेथु ने अपना लोहा साबित किया और पांचवें स्थान पर रेस फिनिश करते हुए भारत का नाम रोशन किया। उनके शानदार परफोर्मेन्स के चलते टीम ने 11 पॉइन्ट्स स्कोर किए। उनके परफोर्मेन्स ने न सिर्फ रिकॉर्ड बनाया बल्कि पूरी टीम का उत्साह भी बढ़ाया। इसी बीच, सेंथिल कुमार क्रैश होने की वजह से रेस पूरी नहीं कर सके। यह निराशाजनक था, किंतु वे तेज़ी से सीख रहे हैं। मुझे विश्वास है कि वे और भी मजबूती और बुद्धिमानी के साथ वापसी करेंगे। मुझे भरोसा है कि कल की रेस में दोनों राइडर और भी रोमांचक परफोर्मेन्स देने वाले हैं।’’

वहीं, सेंथिल कुमार के लिए आज का दिन मुश्किल रहा, जो रेसटैªक गीला होने की वजह से पहले ही लैप में क्रैश कर गए।

होण्डा रेसिंग इंडिया के राइडर राजीव सेथु का उद्धरणः

‘‘आज की रेस  वास्तव में राइडरों की परीक्षा थी, क्योंकि गीला मौसम होने की वजह से परिस्थितियां अनुकूल नहीं थीं। मुझे खुशी है कि मैंने गीले ट्रैक पर जल्दबाज़ी नहीं की और रेस में अपनी पॉज़िशन को बनाए रखा। क्रैश होने के बावजूद मैंने वहीं परफोर्मेन्स जारी रखा, क्योंकि मैं टीम के लिए पॉइन्ट्स स्कोर करने पर ध्यान दे रहा था। हमारे ट्रेनर्स के प्रशिक्षण और पिछले अनुभव के चलते मैं रेस की मुश्किलों को पार कर सका और एआरआरसी में टीम के लिए रिकॉर्ड बनाया। यह परफोर्मेन्स मेरे लिए सबसे बड़ी प्रेरणा है, मुझे उम्मीद है कि कल की रेस में हम फिर से सर्वश्रेष्ठ परिणाम देंगे।’’

होण्डा रेसिंग इंडिया के राइडर सेंथिल कुमार का उद्धरणः

‘‘जापान के सर्किट पर राईड करना हर होण्डा राइडर का सपना होता है, मुझे खुशी है कि आज इसी मैदान पर हमारी टीम ने इतिहास रचा है। लेकिन मैं अपने परफोर्मेन्स से संतुष्ट नहीं हूं, क्योंकि मौसम मेरे लिए रुकावट बन गया। आज की गलती से सीखने के बाद, मैं कल के लिए अच्छी तैयारी कर रहा हूं और मुझे विश्वास है कि इस राउण्ड की फाइनल रेस में मैं टीम के लिए पॉइन्ट्स स्कोर करूंगा।’’

येस बैंक ने अपने बिजनेस एंटरप्राइज कस्टमर्स को ओएनडीसी पर लाइव होने की सुविधा प्रदान की

मुंबई, 18 अगस्त, 2022- येस बैंक ने आज विक्रेता-केंद्रित इंटेलीजेंस प्लेटफॉर्म सेलरऐप के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की। यह साझेदारी अपने ग्राहक आधार के सेलर सेगमेंट को ओपन नेटवर्क डिजिटल कॉमर्स (ओएनडीसी) की सुविधा प्रदान करने और उन्हें अपने डिजिटल कॉमर्स फुटप्रिंट को बढ़ाने में मदद करने के लिहाज से की गई है। डिजिटल या इलेक्ट्रॉनिक नेटवर्क पर सभी प्रकार की वस्तुओं और सेवाओं के आदान-प्रदान के लिए खुले नेटवर्क को बढ़ावा देने के उद्देश्य से, ओएनडीसी एक रणनीतिक पहल है जिसका उद्देश्य संपूर्ण डिजिटल कॉमर्स स्पेस को समस्त लोगांे तक पहुंचाना है।

इस बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए ओएनडीसी के एमडी और सीईओ श्री टी कोशी ने कहा, ‘‘येस बैंक की यह अभिनव पहल उनके व्यापारिक ग्राहकों को सेलरऐप के साथ अपने रणनीतिक गठबंधन के माध्यम से ओएनडीसी का हिस्सा बनने में सक्षम बनाती है, जो कि पहले नेटवर्क पार्टिसिपेंट्स में से एक है। यह साझेदारी वाकई बहुत उत्साहजनक है। यह एक ओपन नेटवर्क में खुद को एम्बेड करने के लिए एक विविध व्यवसाय मॉडल बनाने का येस बैंक का एक उत्कृष्ट उदाहरण है। मुझे विश्वास है कि यह मॉडल अपने कॉर्पाेरेट ग्राहकों, विशेष रूप से ऐसे छोटे और मध्यम उद्यमों के लिए बाजार पहुंच बढ़ाने में एक बड़ा वरदान साबित होगा, जो पहली बार ऑनलाइन आ रहे हैं।’’

साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए येस बैंक के एमडी और सीईओ श्री प्रशांत कुमार ने कहा, ‘‘हम अपने एंटरप्राइज कस्टमर्स को स्ट्रेटेजिक ओएनडीसी नेटवर्क का हिस्सा बनाते हुए खुशी का अनुभव कर रहे हैं, जिसका उद्देश्य डिजिटल कॉमर्स स्पेस को समस्त लोगों तक पहुंचाना और व्यवसायों को पहले से अधिक मजबूत बनाना है। यह सहयोग हमें इंडिया और भारत में अपने एसएमई, एमएसएमई और अन्य उद्यम ग्राहकों की व्यावसायिक गति को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने में सक्षम करेगा। हमारा मानना है कि सेलरऐप के साथ यह साझेदारी मॉडल हमारे टैक्नोलॉजी-फर्स्ट एआरटी (अलायंसेज, रिलेशनशिप और टैक्नोलॉजी) एप्रोच को ही आगे बढ़ाता है। निश्चित तौर पर यह तालमेल हमारे ग्राहकों को बेहतर डेटा इनसाइट्स और एक प्लेटफॉर्म-केंद्रित मॉडल से एक खुले- नेटवर्क मॉडल में शामिल करते हुए उन्हें लाभान्वित करेगा।’’

सेलरऐप डॉट कॉम के को-फाउंडर श्री बृज पुरोहित ने कहा, ‘‘विविधता और बाजार के आकार को देखते हुए, भारत में कोई भी डिजिटल क्रांति प्रभावशाली रही है जैसा कि हमने यूपीआई या  आधार के मामले में देखा है। जिस तरह से हम ओएनडीसी को आकार लेते हुए देखते हैं, उससे यह निश्चित है कि यह देश में कॉमर्स के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाने वाला है। इस यात्रा में येस बैंक के साथ साझेदारी करना हमारे लिए सौभाग्य की बात है।’’

आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में एसीसी ने लॉन्च किया #बिल्डिंगइंडिया कैम्पेन

मुंबई, 18 अगस्त, 2022- मुंबई में मरीन ड्राइव और हैदराबाद में दुर्गमचेरुवु ब्रिज के चालू होने की तारीखें हालांकि अलग-अलग हैं, लेकिन 8 दशकों पुराने इन प्रतिष्ठित स्थलों में एक बात कॉमन है, और वो है-  एसीसी लिमिटेड। देश की पहली सीमेंट निर्माता कंपनी, जिसने राष्ट्र निर्माण के लक्ष्य को अपना मूल ध्येय बना रखा है।

ये दो ऐतिहासिक संरचनाएं उन कई संरचनाओं में से हैं, जिन्हें बनाने में एसीसी शामिल रहा है। 1936 में शुरू एसीसी ने देश में बुनियादी ढांचे के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। एसीसी के प्रोडक्ट भारत के सबसे अधिक दृश्यमान और प्रमुख स्थलों के लिए मेरूदंड का काम करते हैं। हाल ही आजादी के 75 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में एसीसी ने #बिल्डिंगइंडिया कैम्पेन लॉन्च किया है। इस अभियान के जरिये 1936 के बाद से निर्मित भारत की कुछ सबसे प्रतिष्ठित संरचनाओं में कंपनी के योगदान को लोगांे के बीच फिर से जीवंत करने का प्रयास किया जा रहा है। इनमें अनेक ऐसी चमत्कारिक संरचनाएं हैं, जो कंपनी के प्रोडक्ट्स के सहारे आकार ले सकी हैं। कंपनी ने राष्ट्र निर्माण में एसीसी के योगदान का जश्न मनाते हुए इस अवसर पर लघु फिल्मों की एक सीरीज भी लॉन्च की है।

जिस तरह एक महान राष्ट्र स्थायी विरासतों का निर्माण करता है, उसी तरह एसीसी कुछ ऐसे प्रतिष्ठित स्थलों का जश्न मनाती है जिन्हें राष्ट्र के लिए बनाया गया है और जो समय की कसौटी पर खरा उतर रहे हैं- ऐसे स्थल जो एसीसी के अभिनव उत्पादों, विशेषज्ञता और मार्गदर्शन के साथ गर्व से बनाए गए हैं। ये लैंडमार्क एसीसी के लिए दिन-ब-दिन बेहतर प्रदर्शन करने के लिए पैमाने को ऊंचा कर रहे हैं। इनमें फ्लाईओवर, पुल, बांध, एक्सप्रेसवे और बहुत कुछ शामिल हैं।

एसीसी लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री श्रीधर बालकृष्णन ने कहा, ‘‘एसीसी की दशकों पुरानी संस्कृति सीधे राष्ट्र निर्माण में शामिल है। हमें इस बात पर गर्व है कि एसीसी के प्रोडक्ट्स ने देश की प्रगति को नए आयाम देने वाली संरचनाओं का निर्माण किया है। एक जिम्मेदार कॉर्पाेरेट के रूप में हम दीर्घकालिक भविष्य के साथ लंबे समय तक बिल्डिंगइंडिया कैम्पेन जारी रखेंगे- हमारे दिलों में जुनून और हमारी रगों में नवीनता के साथ।’’

भारत के रेडी-मिक्स कंक्रीट और ग्रीन सीमेंट के अग्रणी निर्माताओं में से एक एसीसी लिमिटेड देश के चर्चित और प्रतिष्ठित स्थलों के केंद्र में है - 1960 में बने भाखड़ा नंगल बांध से लेकर मुंबई-पुणे एक्सप्रेसवे तक। इस प्रकार 80 से अधिक वर्षों से, एसीसी न केवल सीमेंट का पर्याय रहा है, इसने एक अग्रणी संगठन के रूप में अपनी प्रतिष्ठा भी स्थापित की है जो लगातार इनोवेशन और रिसर्चके लिहाज से नए मानक स्थापित करता है।

डीसीबी रेमिट - धमाकेदार फेस्टिव ऑफर प्रतिस्पर्धी दरों पर विदेश में भेजें पैसा

मुंबई, 18 अगस्त 2022- डीसीबी बैंक ने अपने ग्राहकों को विदेश में अपने भाई-बहनों को 31 अगस्त 2022 से पहले फंड ट्रांसफर करने के लिए एक विशेष ऑफर के साथ कुछ अतिरिक्त उपहार देने का एलान किया है। इसके तहत ग्राहक प्रति रुपए 15 पैसे तक की छूट प्राप्त कर सकेंगे।

निवासी भारतीय भारत में किसी भी बैंक खाते से निर्दिष्ट देशों में नेट बैंकिंग के माध्यम से पैसे भेजने के लिए डीसीबी रेमिट ऑनलाइन सेवा का उपयोग कर सकते हैं। कोई भी नागरिक किसी भी ऐसे व्यक्ति को फंड ट्रांसफर कर सकता है, जिसने व्यवसाय या सैर-सपाटे के लिए विदेश यात्रा की हो। डीसीबी रेमिट मनी ट्रांसफर को तेज, सुरक्षित, पारदर्शी और किफायती भी बनाता है।

विदेशी मुद्रा में 3,000 से 10,000 के प्रेषण के लिए, एक डीसीबी रेमिट उपयोगकर्ता कोड का उपयोग कर सकता है- DCBFEST10। विदेशी मुद्रा में 10,000 से अधिक के लिए, कोड का उपयोग करें- DCBFEST15। फंड छह करेंसी में ट्रांसफर किया जा सकता है - अमेरिकी डॉलर, ऑस्टेªलियाई डॉलर, जीबीपी, एसजीडी, सीएडी और यूरो।

प्रत्येक वित्तीय वर्ष में डीसीबी बैंक के ग्राहक रजिस्ट्रेशन के बाद 100,000 अमेरिकी डॉलर ट्रांसफर कर सकते हैं और गैर-डीसीबी बैंक ग्राहकों के लिए ट्रांसफर की सीमा 25,000 अमेरिकी डॉलर है।

निवासी भारतीय डीसीबी बैंक में खाता बनाए बिना डीसीबी रेमिट की सेवाओं का लाभ उठा सकते हैं। उन्हें केवल एक बार पंजीकरण पूरा करने और डीसीबी रेमिट के माध्यम से विदेश में पैसा भेजने की आवश्यकता है। किसी विदेशी बैंक खाते में पैसे भेजने के लिए www.dcbremit.com  पर लॉग ऑन करें। लाभार्थी के विवरण और भारतीय रुपये में फंड ट्रांसफर करने के निर्देश जोड़ने के बाद, डीसीबी बैंक राशि को आवश्यक विदेशी मुद्रा में बदल देगा और इसे लाभार्थी के विदेशी खाते में जमा कर देगा।

मनी ट्रांसफर को वास्तविक समय में ट्रैक किया जा सकता है और यहां तक कि किसी अप्रत्याशित स्थिति में प्रक्रिया के दौरान रोका भी जा सकता है।

एक्सिस बैंक ने भारतीय तटरक्षक बल के साथ समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर किया

मुंबई, 18 अगस्त 2022: भारत में निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक, एक्सिस बैंक ने भारतीय तटरक्षक बल के साथ एक समझौता-पत्र पर हस्ताक्षर करके रक्षा क्षेत्र के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत किया। इस समझौते के अनुसार, बैंक द्वारा इनकी 'पावर सैल्यूट' पहल के तहत सर्वोत्तम कोटि के लाभों और सुविधाओं के साथ रक्षा सेवा वेतन पैकेज उपलब्ध कराया जाएगा।

तटरक्षक बल के मुख्यालय में हस्ताक्षर समारोह आयोजित किया गया था, जहाँ भारतीय तटरक्षक बल की ओर से डिप्टी इंस्पेक्टर जनरल, काजल रॉय, प्रधान निदेशक (प्रशासन) एवं अपर महानिदेशक, राकेश पाल पीटीएम, टीम और एक्सिस बैंक की ओर से सुश्री तनु मल्होत्रा, एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट एवं ले. कर्नल एम. के. शर्मा, नेशनल एकाउंट्स हेड उपस्थित थे।

इस विशेष रक्षा सेवा वेतन पैकेज के माध्यम से, एक्सिस बैंक भारतीय तटरक्षक बल के सभी रैंकों - वेटेरन्स, कैडेट्स, रिक्रूट्स को कई लाभ प्रदान करेगा -

  • सभी अधिकारियों, पूर्व सैनिकों, कैडेटों, रंगरूटों को 56 लाख रु. तक का व्यक्तिगत दुर्घटना कवर
  • 8 लाख रु. तक का अतिरिक्त बाल शिक्षा अनुदान
  • 46 लाख रु. तक का संपूर्ण स्थायी विकलांगता कवर लाभ
  • 46 लाख रु. तक का स्थायी आंशिक विकलांगता कवर
  • 1 करोड़ रु. का हवाई दुर्घटना कवर
  • शून्य प्रोसेसिंग शुल्क और होम लोन पर 12 ईएमआई माफ
  • परिवार के 3 सदस्यों के लिए निःशुल्क ज़ीरो बैलेंस खाते
  • पूरे भारत में यूनिवर्सल अकाउंट नंबर जिसमें एक्सिस बैंक की सभी शाखाएं "होम ब्रांच" के रूप में काम करेंगी

यह समझौता ज्ञापन रक्षा बलों की सेवा करने और उनकी विभिन्न आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक्सिस बैंक के निरंतर प्रयास को दर्शाता है, जिससे उन्हें उनकी वित्तीय आकांक्षाओं और जीवन के महत्वपूर्ण उद्देश्यों को पूरा करने में मदद मिल सके। एक्सिस बैंक की डिजिटल पहल सीमाओं और अन्य दूरदराज के क्षेत्रों में तैनात रक्षकों को जुड़े रहने और कई वित्तीय समाधान का सुलभतापूर्वक लाभ उठाने में सक्षम बनाएगी।

NXTDIGITAL बोर्ड ने कंपनी के साथ हिंदुजा लेलैंड फाइनेंस लिमिटेड के प्रस्तावित विलय को स्वीकृति दी; शेयर विनिमय अनुपात और प्रबंधन योजना को मंजूरी दी

NXTDIGITAL लिमिटेड के निदेशक मंडल ने आज अपनी बैठक में NXTDIGITAL लिमिटेड (एनडीएल) और हिंदुजा लेलैंड फाइनेंस लिमिटेड (एचएलएफएल) और उनके संबंधित शेयरधारकों के बीच कंपनी में एचएलएफएल के विलय के लिए प्रबंधन की प्रस्तावित योजना को मंजूरी दे दी - जो नियामक और शेयरधारक के अनुमोदन के अधीन होगा।

एचएलएफएल के विलय की प्रस्तावित योजना "डिजिटल मीडिया एंड कम्युनिकेशंस बिजनेस अंडरटेकिंग" को हिंदुजा ग्लोबल सॉल्यूशंस लिमिटेड (एचजीएसएल) में स्थानांतरित करने की चल रही योजना के पूरा होने के बाद लागू होगी।

एचएलएफएल भारत की अग्रणी वित्त एनबीएफसी में से एक है, जिसका एयूएम 29,000 करोड़ रुपये से अधिक है और 23 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेशों में 1,550 स्थानों पर इसकी अखिल भारतीय उपस्थिति है। शाखाओं के विशाल नेटवर्क के माध्यम से, एचएलएफएल मध्यम और भारी वाणिज्यिक वाहनों, हल्के वाणिज्यिक वाहनों और छोटे वाणिज्यिक वाहनों से लेकर कारों, बहु-उपयोगी वाहनों, तिपहिया और दोपहिया वाहनों के साथ-साथ विभिन्न प्रकार के प्रयुक्त वाहनों की विस्तृत श्रृंखला का वित्तपोषण करती है। एचएलएफएल, अशोक लेलैंड लिमिटेड की सहायक कंपनी है।

बोर्ड ने प्रस्तावित विलय के लिए शेयर विनिमय अनुपात को भी मंजूरी दी। अनुपात को दो स्वतंत्र मूल्यांकनकर्ताओं, मेसर्स केपीएमजी वैल्यूएशन सर्विसेज एलएलपी और मेसर्स एसएसपीए एंड कंपनी, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स द्वारा किए गए और अनुशंसित व्यापक मूल्यांकन पद्धति के आधार पर अनुमोदित किया गया। मूल्यांकन के अनुसार, एचएलएफएल के शेयरधारकों को एचएलएफएल में उनके द्वारा धारित 10 रुपये के अंकित मूल्य के प्रत्येक 10 पूर्ण भुगतान वाले इक्विटी शेयरों के लिए एनडीएल में 10 रुपये प्रति शेयर के अंकित मूल्य के 23 पूर्ण भुगतान किए गए इक्विटी शेयर मिलेंगे।

प्रस्तावित विलय के पूरा हो जाने पर, दोनों कंपनियों की विस्तार योजनाओं को बढ़ावा मिलेगा।

प्रस्तावित योजना सभी शेयरधारक और नियामक अनुमोदन और राष्ट्रीय कंपनी कानून न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) के अनुमोदन के अधीन है।

कैशफ्री पेमेंट्स ने फार्मईजी के साथ की साझेदारी, अपने रिटेल पार्टनर्स को भुगतान निपटान की बेहतर सुविधा प्रदान करने का इरादा

बेंगलुरू, 18 अगस्त, 2022- भारत की अग्रणी भुगतान और एपीआई बैंकिंग समाधान कंपनी कैशफ्री पेमेंट्स ने अपने रिटेल पार्टनर्स को भुगतान निपटान की त्वरित और बेहतर सुविधा प्रदान करने के लिए देश के अग्रणी डिजिटल हेल्थकेयर प्लेटफॉर्म में से एक फार्मईजी के साथ भागीदारी की है। यह साझेदारी रिटेल नेटवर्क के लिए लेनदेन को ऑटोमेट करने के लिए कैशफ्री पेमेंट्स के पेआउट सॉल्यूशन का लाभ उठाएगी।

कैशफ्री पेमेंट्स का पेआउट समाधान व्यापारियों को तुरंत वेंडरों को भुगतान करने, ग्राहकों के लिए रिफंड की प्रक्रिया शुरू करने और अन्य लेनदेन के साथ ऋण वितरित करने की अनुमति देता है। समाधान अत्यधिक विश्वसनीय है, जो 99.98 प्रतिशत भुगतान सफलता दर प्रदान करता है।

मार्केटप्लेस/मध्यस्थ की अपनी क्षमता में फार्मईजी (ए) देश भर में फैले अपने तीसरे पक्ष के रिटेल पार्टनर्स के माध्यम से विभिन्न श्रेणियों में फार्मास्यूटिकल और हेल्थकेयर उत्पादों और सेवाओं की बिक्री की सुविधा और सक्षम बनाता है; और (बी) उपभोक्ताओं और खुदरा भागीदारों के बीच किए जाने वाले बिक्री और खरीद लेनदेन संबंधी भुगतान को संभव बनाता है। ग्राहक फार्मईजी की वेबसाइट या मोबाइल ऐप पर ऑर्डर दे सकता है और या तो ऑनलाइन भुगतान कर सकता है या सीओडी (कैश ऑन डिलीवरी) का विकल्प चुन सकता है। एक बार जब ग्राहक द्वारा भुगतान कर दिया जाता है, तो फार्मईजी रिटेलर भागीदारों को किए जाने वाले सभी भुगतानों को संकलित करता है और उन्हें दैनिक आधार पर डिस्बर्स करता है।

कैशफ्री पेमेंट्स के ‘पेआउट्स’ एपीआई इंटीग्रेशन के साथ फार्मईजी अब इस प्रक्रिया को ऑटोमेट करने में सक्षम होगा और ग्राहकों से प्राप्त भुगतान के 48 घंटों के भीतर रिटेल पार्टनर्स को बिना किसी मैन्युअल हस्तक्षेप के निपटान की सुविधा प्रदान करेगा। इस प्रक्रिया ने मानवीय हस्तक्षेप को काफी कम कर दिया है, जिससे भुगतान के निपटान में लगने वाले समय की बचत हुई है।

इस साझेदारी के माध्यम से, कैशफ्री पेमेंट्स ने फार्मईजी को बाउंस/असफल भुगतान लेनदेन को ट्रैक करने और इसे प्रोसेस करने में भी मदद की है। कैशफ्री पेमेंट्स के ‘पेआउट्स’ के साथ फार्मईजी ने इस प्रक्रिया को स्वचालित कर दिया है और अब बाउंस/असफल लेनदेन को 24 घंटों के भीतर समेटना और कार्रवाई करना संभव हुआ है, जिससे समय पर सटीक भुगतान हो पाता है और इस तरह एक बढ़ी हुई पार्टनरशिप का बेहतर संचालन हो पाता है।

कैशफ्री पेमेंट्स के को-फाउंडर रीजू दत्ता ने कहा, ‘‘हम फार्मईजी के साथ साझेदारी करके और अपने पेआउट सॉल्यूशन का विस्तार करके खुशी का अनुभव कर रहे हैं। पेआउट्स फार्मईजी को रिटेलर्स और वेंडर पेआउट सुलह के लिए अपने भुगतान निपटान को ऑटोमेट करने में मदद करता है, इस प्रकार कंपनी के भागीदारों के बीच लेनदेन अधिक बेहतर तरीके से हो पाता है। हम पूरी भुगतान प्रक्रिया को स्वचालित करने में कंपनी की मदद करने और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा को आम जनता तक पहुंचाने के लिए अपनी तरफ से योगदान देने के लिए तत्पर हैं।’’

फार्मईजी के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा की पहुंच अधिक से अधिक लोगों तक बढ़ाने के लिए टैक्नोलॉजी का उपयोग करने के हमारे लक्ष्य के अनुरूप कैशफ्री पेमेंट्स के साथ साझेदारी एक महत्वपूर्ण कदम है। हमारी प्रक्रियाओं को अब बहुत स्वचालित कर दिया गया है, इस प्रकार ग्राहकों को भी बहुत आसानी हुई है और इसके साथ-साथ भुगतान समाधान और निपटान में उपयोग किए जाने वाले समय को कम करना भी संभव हुआ है। दूसरी तरफ, इससे हमारी टीम की उत्पादकता भी बढ़ी है, क्योंकि बचा हुआ समय अन्य महत्वपूर्ण कार्यों में उपयोग किया जाता है। हमारा लक्ष्य आने वाले समय में पूरी भुगतान प्रक्रिया को स्वचालित बनाना है और कैशफ्री पेमेंट्स के साथ जुड़ना निश्चित तौर पर इसमें एक प्रमुख भूमिका निभाएगा।’’

भुगतान प्रोसेसर्स के बीच 50 प्रतिशत से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ, कैशफ्री पेमेंट्स आज अपने प्रोडक्ट पेआउट के साथ भारत में बल्क डिस्बर्सल में अग्रणी है। हाल ही में, भारत के सबसे बड़े ऋणदाता एसबीआई ने एक मजबूत पेमेंट इकोसिस्टम के निर्माण में कंपनी की भूमिका को रेखांकित करते हुए कैशफ्री भुगतान में निवेश किया। कैशफ्री पेमेंट्स सभी प्रमुख बैंकों के साथ मिलकर काम करता है ताकि कंपनी के उत्पादों को शक्ति प्रदान करने वाले मुख्य भुगतान और बैंकिंग बुनियादी ढांचे का निर्माण किया जा सके और यह शॉपिफाई, विक्स, पेपल, अमेजॉन पे, पेटीएम और गूगल पे जैसे प्रमुख प्लेटफार्मों के साथ भी एकीकृत हो। भारत के अलावा, कैशफ्री भुगतान उत्पादों का उपयोग अमेरिका, कनाडा और संयुक्त अरब अमीरात सहित आठ अन्य देशों में किया जाता है।

Wednesday, August 17, 2022

एनटीपीसी उल्लास के साथ 'हर घर तिरंगा' अभियान मना रही है।

नई दिल्ली, 17 अगस्त 2022: एनटीपीसी लिमिटेड, भारत की सबसे बड़ी एकीकृत ऊर्जा कंपनी उल्लास के साथ 'हर घर तिरंगा' अभियान मना रही है। 'हर घर तिरंगा' अभियान 'आजादी का अमृत महोत्सव' के तत्वावधान में आता है। कर्मचारियों, सहयोगियों और आसपास रहने वाले लोगों को तिरंगा घर लाने और 75 वें वर्ष के सम्मान में इसे फहराने के लिए प्रोत्साहित किया गया है।

एनटीपीसी परियोजना स्थानों पर, भारतीय स्वतंत्रता के 75 वर्ष और "हर घर तिरंगा" अभियान का उत्सव मनाने के लिए पास के स्थानीय समुदाय को भारतीय झंडे प्रदान किए गए ।

एनटीपीसी के कर्मचारी "आजादी का अमृत महोत्सव" के उपलक्ष्य में अपने-अपने घरों में झंडा फहरा रहे हैं। कर्मचारियों ने "हर घर तिरंगा" भावना को मनाने के लिए भारतीय ध्वज के साथ अपनी तस्वीरों को प्रदर्शित करने के लिए www.harghartirang.com पर पंजीकरण कराया है।

पहल के पीछे का विचार लोगों के दिलों में देशभक्ति की भावना को जगाना और उन्हें भारत की स्वतंत्रता के लिए देश के स्वतंत्रता सेनानियों द्वारा किए गए योगदान को याद दिलाना और भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना है।

 

भारत पेट्रोलियम ने भी अपने राष्ट्रव्यापी नेटवर्क के साथ ‘हर घर तिरंगा’ अभियान में भागीदारी निभाई

मुंबई, 17 अगस्त, 2022- देश की सबसे बड़ी तेल और गैस उत्पादक कंपनी भारत पेट्रोलियम ने भी आजादी के अमृत महोत्सव के तहत ‘हर घर तिरंगा’ अभियान में अपने राष्ट्रव्यापी नेटवर्क के साथ भागीदारी निभाई है। कंपनी के कर्मचारियों ने 3 रिफाइनरियों, 123 प्रतिष्ठानों और डिपो, 54 एलपीजी बॉटलिंग प्लांट्स, ल्यूब ब्लेंडिंग प्लांट्स और 56 एविएशन सर्विस स्टेशन के राष्ट्रव्यापी नेटवर्क पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और इसे सलामी देते हुए देश के 75वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाया।

कंपनी के चैनल पार्टनर और 20,000 से अधिक ईंधन स्टेशनों और 6,213 एलपीजी वितरकों के कर्मचारी भी इस अभियान में शामिल हुए, जहां उन्होंने ग्राहकों को झंडे भी वितरित किए।

बीपीसीएल ने सभी कर्मचारियों को इस शुभ अवसर पर तिरंगा घर लाने और फहराने के लिए भी प्रोत्साहित किया है।

बीपीसीएल ने इस भावना को विशेष रूप से इस अवसर के लिए लॉन्च किए गए एक संगीत वीडियो में भी जुटाया, जहां उसके कर्मचारी आकर्षक संगीत पर कई स्थानों पर झंडे लहराते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस वीडियो को जिसे सोशल मीडिया पर अच्छा रेस्पॉन्स मिल रहा है।

इस अवसर पर श्री एस. अब्बास अख्तर, मुख्य महाप्रबंधक (पीआर एंड ब्रांड), बीपीसीएल ने कहा, ‘आजादी के अमृत महोत्सव के तहत ‘हर घर तिरंगा‘ अभियान में लोगों को तिरंगा घर लाने और इसे फहराने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। इस तरह हम देश की स्वतंत्रता के 75वें वर्ष के जश्न में शामिल हो सकते हैं।’’

यह आंदोलन तिरंगे से व्यक्तिगत जुड़ाव लाता है और राष्ट्र निर्माण के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का भी प्रतीक है।

हमारा म्यूजिक वीडियो हमारे कर्मचारियों के माध्यम से उस संबंध, गर्व और देशभक्ति की भावना को दर्शाता है।

महिंद्रा ने परपज बिल्ट इंग्लो प्लेटफॉर्म पर दो ब्रांडों के तहत पांच इलेक्ट्रीफाइंग एसयूवी का अनावरण किया

कॉपर में ट्विन पीक लोगो के साथ दो ईवी ब्रांड-आइकॉनिक ब्रांड एक्सयूवी और बीई नामक बिल्कुल नया इलेक्ट्रिक-ओनली ब्रांड लॉन्च किया

VW MEB प्लेटफॉर्म घटकों का उपयोग करते हुए मॉड्यूलर INGLO प्लेटफॉर्म पर आधारित पांच नई इलेक्ट्रिक एसयूवी

INGLO में सबसे हल्का स्केटबोर्ड और अग्रणी क्लास उच्च ऊर्जा-घनत्व बैटरियों में से एक है

इनमें से पहली ई-एसयूवी को 2024 के अंत में लॉन्च किया जाएगा, जिसकी शुरुआत भारतीय बाजार से होगी

लंदन/मुंबई, 17 अगस्त, 2022: भारत की अग्रणी एसयूवी निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने आज इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के भविष्य के लिए अपना दृष्टिकोण प्रदर्शित करते हुए दो ईवी ब्रांडों के तहत अपने नए अत्याधुनिक इंगलो ईवी प्लेटफॉर्म पर पांच ई-एसयूवी का अनावरण किया। ।

महिंद्रा का विजन ब्रांड, डिजाइन और प्रौद्योगिकी के तीन प्रमुख रणनीतिक स्तंभों के माध्यम से अत्याधुनिक तकनीक के साथ प्रामाणिक इलेक्ट्रिक एसयूवी लाकर भारत में इलेक्ट्रिक मोबिलिटी क्रांति का नेतृत्व करना है।

ब्रांड

इलेक्ट्रिक एसयूवी में खेल को जीवंत करते हुए, महिंद्रा ने दो नए ब्रांडों का अनावरण किया, जो विशेष रूप से कंपनी के ईवी पोर्टफोलियो को रखने के लिए बनाए गए हैं - कॉपर में ट्विन पीक लोगो के साथ आइकॉनिक ब्रांड एक्सयूवी और बीई नामक सभी नए इलेक्ट्रिक-ओनली ब्रांड।

प्रतिष्ठित ब्रांड एक्सयूवी उत्पादों की एक श्रृंखला की मेजबानी करेगा जो भविष्य में महिंद्रा की विरासत पर आधारित है। एक परिष्कृत भविष्यवादी डिजाइन, स्पंदित प्रदर्शन और गतिशील नवाचार के साथ, यह उन ग्राहकों पर केंद्रति है जिनके पास एक अलग से सीमाओं से परे जीवन जीने का जुनून है।

बोल्ड, उत्तेजक और उत्साहजनक बीई ब्रांड, अपनी  नई डिजाइन भाषा के साथ उन ग्राहकों को केंद्रति करेगा जो एक अलग दिखते हुए अपने जीवन की यात्रा को अपने तरीके से परिभाषित करना चाहते हैं: एक ऐसा ब्रांड जो ग्राहकों को वह बनने में मदद करेगा जो वे बनना चाहते हैं।

इन दो ब्रांडों की अभिव्यक्ति को पांच ई-एसयूवी: एक्सयूवी.ई8, एक्सयूवी.ई9, बीई.05, बीई.07 और बीई.09 के माध्यम से प्रदर्शित किया गया है। इनमें से पहले चार को 2024 और 2026 के बीच लॉन्च किया जाना है।

डिज़ाइन:

इन एसयूवी में आम है महिंद्रा की नई हार्टकोर डिजाइन फिलॉसफी - जो कि अपरिहार्य उपस्थिति, आंतरिक शक्ति और रवैये का मिश्रण है। ये सभी नई ई-एसयूवी महिंद्रा कोर एसयूवी विरासत को बरकरार रखते हुए सड़क और इसके बाहर, दोनों में एक विद्युत उपस्थिति पैदा करेगी।

इंगलो प्रौद्योगिकी:

दिल से भारतीय और अपनी पहुंच में वैश्विक, INGLO प्लेटफॉर्म प्रगतिशील बैटरी प्रौद्योगिकी, प्लेटफॉर्म आर्किटेक्चर, मस्तिष्क शक्ति और मानव मशीन इंटरफेस को समाहित करता है। यह नाम ऊर्जा और भावनाओं के प्रवाह और आदान-प्रदान का भी प्रतीक है। एक प्रणाली जो पूर्ण सद्भाव लाती है।

अत्याधुनिक INGLO प्लेटफॉर्म आने वाले समय में सभी महिंद्रा  EVs को मजबूती प्रदान करेगा। उद्देश्य-निर्मित प्लेटफॉर्म सहज, बुद्धिमान और इमर्सिव नवाचारों को पैक करेगा जो महिंद्रा ईवी आर्किटेक्चर की रीढ़ की हड्डी के रूप में काम करेगा और इसके अंतिम मानव-मशीन इंटरफेस का दिल है।

INGLO श्रेणी-अग्रणी सुरक्षा मानकों, शानदार प्रदर्शन, उत्कृष्ट रेंज और दक्षता, अनुकरणीय ड्राइविंग गतिशीलता, बहुमुखी प्रतिभा और बुद्धिमान एचएमआई प्रदान करता है। INGLO फ्यूचरिस्टिक, संवर्धित वास्तविकता-सक्षम हेड-अप डिस्प्ले, एज-टू-एज स्क्रीन, 5G नेटवर्क क्षमता और ओवर-द-एयर अपडेट के साथ एक बहु-संवेदी ड्राइविंग अनुभव भी प्रदान करता है जो ईवीएस को नए जैसा बनाए रखेगा।

महिंद्रा ग्रुप के प्रबंध निदेशक और सीईओ डॉ अनीश शाह ने कहा, “हमें अपने बॉर्न इलेक्ट्रिक विजन को प्रदर्शित करते हुए गर्व और खुशी हो रही है। यह एक रणनीतिक दिशा प्रदान करता है जो हमारे 'उदय' के मूल दर्शन के अनुरूप है - एक ऐसा संगठन बनने के लिए जिसे दुनिया में सर्वश्रेष्ठ में गिना जाएगा और साथ ही जलवायु परिवर्तन के खिलाफ लड़ने के लिए हमारे ग्रह के लिए उदय होगा। Mahindra ग्राहकों को फ्यूचर-रेडी टेक्नोलॉजी, हेड-टर्निंग डिज़ाइन, वर्ल्ड क्लास प्रोडक्ट्स और ग्लोबल पार्टनरशिप के फ़ायदे उपलब्ध कराएगी. 2027 तक, हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बेची जाने वाली एसयूवी का एक चौथाई इलेक्ट्रिक होगा।

कंपनी के ऑटो और फार्म सेक्टर के कार्यकारी निदेशक राजेश जेजुरिकर ने कहा, "बॉर्न इलेक्ट्रिक की हमारी दृष्टि भविष्य के लिए तैयार INGLO प्लेटफॉर्म, दो नए रोमांचक ब्रांड और हार्टकोर डिजाइन दर्शन पर आधारित है। ये पांच इलेक्ट्रिक एसयूवी हमारी रणनीतिक दिशा की एक शक्तिशाली झलक प्रदान करती हैं और महिंद्रा के रेसिंग स्पिरिट और एडवेंचर के एटीट्यूड के अनुरूप हैं। हमारा लक्ष्य न केवल सड़कों का विद्युतीकरण करना है बल्कि भारत और दुनिया भर में एसयूवी प्रेमियों के दिलों और दिमागों को भी विद्युतीकृत करना है।

संलग्न (अनेक्स्चर)

इंगलो प्लेटफॉर्म क्षमता

 

  1. अंतहीन अनुकूलनशीलता

INGLO अंतहीन अनुकूलन क्षमता प्रदान करता है, एक अनुकूलित वास्तुकला जो मॉड्यूलर और स्केलेबल डिज़ाइन को जन्म देती है, और महिंद्रा को इलेक्ट्रिक एसयूवी बनाने की अनुमति देती है जो ग्राहकों  की इच्छाओं और जीवन शैली के अनुकूल हो। INGLO की बहुमुखी प्रतिभा के अलावा, यह अंडरबॉडी वजन में भी महत्वपूर्ण कमी प्रदान करता है, जिससे सबसे हल्का स्केटबोर्ड बन जाता है।

  1. उच्च दक्षता

सुरक्षित और मजबूत एलएफपी रसायन के साथ बैटरी विज्ञान में एक बड़ी छलांग, महिंद्रा इलेक्ट्रिक वाहन लीन मॉड्यूल और मानकीकृत सेल के साथ एक सामान्य बैटरी पैक डिजाइन का पालन करेंगे-

दो अलग-अलग अत्याधुनिक सेल आर्किटेक्चर - ब्लेड और प्रिज़मैटिक का उपयोग करके टू-पैक तकनीक। 60-80 kWhr बैटरी क्षमता के विकल्पों के साथ पेश किया गया, अविश्वसनीय 175 kW फास्ट-चार्ज के लिए संरक्षित और 30 मिनट से कम समय में 80% तक चार्ज किया जाता है। उच्च परिशुद्धता, बढ़ी हुई मजबूती और कार्यात्मक सुरक्षा के साथ बुद्धिमान और कुशल बैटरी प्रबंधन प्रणाली बेहतर रेंज, दीर्घायु और सुरक्षा प्रदान करेगी। लंबे जीवनकाल के साथ इसकी उच्च संख्या में चार्ज-डिस्चार्ज चक्र भी कचरे को कम करने में मदद करेंगे।

  1. उत्साहजनक प्रदर्शन

एक एकल इकाई में एकीकृत मोटर-इन्वर्टर-ट्रांसमिशन के साथ एक कॉम्पैक्ट ऑल-इन-वन इलेक्ट्रिक इंजन पावरट्रेन बनाता है, जो रियर-व्हील और ऑल-व्हील ड्राइव दोनों के साथ पेश किया जाता है, एक उल्लेखनीय 170-210 kW और एक विशाल 250-290 kW विकसित करता है। क्रमश। 5 से 6 सेकंड के बीच में 100 किमी प्रति घंटे की गति का वादा किया गया है।

  1. अनुकूलित रेंज

असाधारण प्रदर्शन एक कुशल पावरट्रेन और हाई-वोल्टेज सिस्टम के साथ मेल खाता है। पावरट्रेन को वर्ग-अग्रणी रेंज की पेशकश करने के लिए अनुकूलित किया गया है, जिसमें एक बुद्धिमान इलेक्ट्रॉनिक ब्रेक सिस्टम का अतिरिक्त लाभ है जो सर्वोत्तम-इन-क्लास रिकवरी क्षमता प्रदान करता है। उन्नत वायुगतिकी, 5.5 आरआरसी टायरों के साथ कम रोलिंग प्रतिरोध और परिष्कृत जीरो-ड्रैग व्हील बेयरिंग, न्यूनतम बिजली की खपत के साथ उच्च दक्षता वाले कूलिंग और एचवीएसी सिस्टम और सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास कम वोल्टेज बिजली की खपत समग्र दक्षता में योगदान करती है।

  1. अंतिम वाहन गतिशीलता

एक सर्वश्रेष्ठ-इन-क्लास सेमी-एक्टिव सस्पेंशन सिस्टम न केवल उत्कृष्ट सवारी आराम प्रदान करता है, बल्कि बेहतर हैंडलिंग और एक इमर्सिव स्पोर्टी ड्राइव अनुभव भी प्रदान करता है। डुअल-पिनियन हाई-पावर स्टीयरिंग सिस्टम फेदर-लाइट स्टीयरिंग प्रयास, उत्कृष्ट रिटर्नबिलिटी और सटीक नियंत्रण सुनिश्चित करता है। ब्रेक-बाय-वायर तकनीक हाइड्रोलिक से पूरी तरह से अलग हो गई है

व्यवस्था; यह पेडल फील और रिकवरी के लिए कई ब्रेक मोड की अनुमति देता है। पहिए के पीछे के लोग इंटेलिजेंट ड्राइव मोड का आनंद लेंगे जो पावरट्रेन प्रतिक्रिया के मॉड्यूलेशन, निलंबन प्रतिक्रिया, ब्रेक फील, इलेक्ट्रॉनिक स्थिरता नियंत्रण हस्तक्षेप और एक बटन के स्पर्श में कई अन्य सुविधाओं सहित विभिन्न पहलुओं को नियंत्रित करते हैं। इसका मकसद एसयूवी और ड्राइवर को एक बनाना है।

6- क्लासअग्रणी सुरक्षा

वाहन सुरक्षा में अग्रणी होने के नाते, नई महिंद्रा इलेक्ट्रिक एसयूवी को उच्चतम वाहन सुरक्षा मानदंडों को पूरा करने और जीएनसीएपी जैसी बैटरियों के लिए अत्यंत सुरक्षा के लिए डिज़ाइन किया गया है और यह केवल नियामक अनुपालन तक सीमित नहीं है। सभी ई-एसयूवी यात्री केबिन के चारों ओर एक संरचनात्मक पिंजरे के साथ आएंगे जो विशेष रूप से यात्रियों की चोट को कम करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। बॉडी-इन-व्हाइट के फ्रंटल डिज़ाइन को तीन लोड पथों के साथ बढ़ाया गया है और सुदृढीकरण के साथ एक मल्टी-पीस डैश पैनल और बहुत महत्वपूर्ण-उत्कृष्ट बैटरी सुरक्षा अल्ट्रा-हाई स्ट्रेंथ बोरॉन स्टील द्वारा सुनिश्चित की जाती है। नई ई-एसयूवी का परीक्षण दुनिया के सबसे बड़े बैटरी विकास और परीक्षण केंद्र में किया जाता है। 5 राडार-1 विजन ADAS आर्किटेक्चर के साथ, INGLO भविष्य में L2+ स्वायत्तता तक सुरक्षित है

  1. बहुमुखी जगह

स्लिम कॉकपिट और एक फ्लैट फर्श उदार और लचीला अंदरूनी बनाते हैं, सीट विन्यास और अंतरिक्ष बहुमुखी प्रतिभा जैसे फ्रंक और ट्रंक स्टोरेज का नियंत्रण प्रदान करते हैं। व्हीकल टू लोड (V2L) कार्यक्षमता के साथ, कार को पोर्टेबल पावर बैंक में बदला जा सकता है, जिससे आप अपने फोन या लैपटॉप को चार्ज कर सकते हैं, या अपने साथ सड़क पर कोई भी घरेलू उपकरण ले जा सकते हैं।

  1. एचएमआई: अगले स्तर का ब्रेन पावर

INGLO बिल्ट-इन इंटेलिजेंस का एक जटिल तंत्रिका नेटवर्क समेटे हुए है जो प्रति सेकंड लाखों प्रतिक्रियाएं और निर्णय करता है। तीन उच्च प्रदर्शन वाले कंप्यूटरों के साथ एक केंद्रीकृत गणना संरचना के लिए छलांग, एक एकीकृत कम्प्यूटेशनल प्लेटफॉर्म प्रदान करता है ताकि माइक्रो को सीधे तैनात किया जा सके। INGLO एक एम्बेडेड 5G नेटवर्क क्षमता को लागू करके क्लाउड का निर्बाध रूप से लाभ उठाता है और ओवर द एयर अपडेट (SOTA + FOTA) के माध्यम से वाहनों को नए जैसा ही रखता है। वैश्विक सेमीकंडक्टर विक्रेताओं के चिप्स के नवीनतम सिस्टम सेमीकंडक्टर वेफर प्रक्रियाओं के अप-टू-डेट तकनीकी नोड्स में जाने में योगदान करते हैं: ड्यूल ऑक्टा-कोर प्रोसेसर के माध्यम से 200K DMIPS कंप्यूटिंग शक्ति और 1920 x 720 पिक्सल एचडी रिज़ॉल्यूशन की पेशकश। विश्व स्तरीय उत्पाद सुविधाओं को वितरित करने के लिए मजबूत सॉफ्टवेयर भागीदारों द्वारा सहायता प्राप्त।

कल्याण ज्वैलर्स ने रिटेल ज्वैलर इंडिया अवार्ड्स में 'सर्वश्रेष्ठ सोशल मीडिया अभियान' का पुरस्कार हासिल किया

मुंबई, 16 अगस्त, 2022: भारत के सबसे बड़े और सबसे पसंदीदा ज्वैलरी ब्रांडों में से एक, कल्याण ज्वैलर्स को आज रिटेल ज्वैलर इंडिया अवार्ड्स में 'सर्वश्रेष्ठ सोशल मीडिया कैंपेन अवार्ड' से सम्मानित किया गया है, जो भारत में आभूषण उद्योग का सबसे पुराना और सबसे प्रतिष्ठित प्लेटफॉर्म है। कल्याण ज्वैलर्स को डॉटर्स डे के अवसर पर अपने प्रतिष्ठित 'द स्माइल कैंपेन' के लिए यह पुरस्कार मिला। रिटेल ज्वैलर इंडिया अवार्ड्स के 17वें संस्करण के अवसर पर उपस्थित, कल्याण ज्वैलर्स के कार्यकारी निदेशक, श्री राजेश कल्याणरमन ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस सम्मान समारोह में भारत के सराफा, रत्न और आभूषण उद्योग के कई सबसे सम्मानित और प्रसिद्ध लीडर्स के साथ-साथ कमोडिटी एक्सचेंजों, सेंट्रल और बुलियन बैंकों के प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

अपनी तरह के अनूठे सोशल मीडिया अभियान के अंतर्गत, कल्याण ज्वैलर्स ने इनफ्लूएंसर-विपणन आधारित रणनीति को अपनाया। इस रणनीति के तहत, ब्रांड ने 25 ब्लॉगर्स और प्रमुख ओपिनियन लीडर्स का सहयोग लिया जिन्होंने इंस्टाग्राम रील्स, अपने सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट एवं स्टोरीज के जरिए ओरिजनल कंटेंट तैयार किए। इन रील्स एवं पोस्ट्स में हाल ही में लॉन्च किए गए मुहूर्त अ

मुंबई, 16 अगस्त, 2022: भारत के सबसे बड़े और सबसे पसंदीदा ज्वैलरी ब्रांडों में से एक, कल्याण ज्वैलर्स को आज रिटेल ज्वैलर इंडिया अवार्ड्स में 'सर्वश्रेष्ठ सोशल मीडिया कैंपेन अवार्ड' से सम्मानित किया गया है, जो भारत में आभूषण उद्योग का सबसे पुराना और सबसे प्रतिष्ठित प्लेटफॉर्म है। कल्याण ज्वैलर्स को डॉटर्स डे के अवसर पर अपने प्रतिष्ठित 'द स्माइल कैंपेन' के लिए यह पुरस्कार मिला। रिटेल ज्वैलर इंडिया अवार्ड्स के 17वें संस्करण के अवसर पर उपस्थित, कल्याण ज्वैलर्स के कार्यकारी निदेशक, श्री राजेश कल्याणरमन ने यह पुरस्कार ग्रहण किया। इस सम्मान समारोह में भारत के सराफा, रत्न और आभूषण उद्योग के कई सबसे सम्मानित और प्रसिद्ध लीडर्स के साथ-साथ कमोडिटी एक्सचेंजों, सेंट्रल और बुलियन बैंकों के प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे।

अपनी तरह के अनूठे सोशल मीडिया अभियान के अंतर्गत, कल्याण ज्वैलर्स ने इनफ्लूएंसर-विपणन आधारित रणनीति को अपनाया। इस रणनीति के तहत, ब्रांड ने 25 ब्लॉगर्स और प्रमुख ओपिनियन लीडर्स का सहयोग लिया जिन्होंने इंस्टाग्राम रील्स, अपने सोशल मीडिया पेज पर पोस्ट एवं स्टोरीज के जरिए ओरिजनल कंटेंट तैयार किए। इन रील्स एवं पोस्ट्स में हाल ही में लॉन्च किए गए मुहूर्त अभियान के विज्ञापन के पलों एवं संगीत का उपयोग किया गया।

इस अभियान के बाद, ज्वैलरी ब्रांड द्वारा साझा किए गए मुहूर्त आईजीटीवी वीडियो की व्यूअरशिप में 21 गुनी वृद्धि हुई और मात्र 5 दिनों के भीतर इसके व्यूज की संख्या 11,000 से बढ़कर असाधारण 239,714 हो गई। कल्याण ज्वैलर्स द्वारा सप्ताह भर चलाये गये डॉटर्स डे 'द स्माइल कैंपेन' को 3.4 मिलियन इंप्रेशन के साथ 1.6 मिलियन इंगेजमेंट और 2.1 मिलियन की पहुंच हासिल हुई।

कल्याण ज्वैलर्स के मुहूर्त विज्ञापन में इनके वैश्विक ब्रांड एंबेसडर अमिताभ बच्चन और कैटरीना कैफ ने पर्दे पर पिता-पुत्री के बंधन को चित्रित किया। सितारों से जड़े इस विज्ञापन अभियान में, कल्याण ज्वैलर्स के ब्रांड एंबेसडर्स प्रभु गणेशन, अक्किनेनी नागार्जुन, शिवराज कुमार और मंजू वारियर भी देखे गए, जिन्होंने क्षेत्र-विशिष्ट प्रस्तुतियों में भाग लिया।

कल्याण ज्वैलर्स ने डिजिटल और सोशल मीडिया उपस्थिति को मजबूत बनाने पर जोर के साथ अपनी मार्केटिंग रणनीति को बेहतर बनाने के लिए प्रमुख कदम उठाए हैं। पिछले 1 साल में, कल्याण ज्वैलर्स ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर #IAmMoreThanEnough अभियान से प्रतिष्ठित अभियान शुरू किए हैं, जिसमें महिलाओं को उनकी व्यक्तिगत पहचान एवं विशिष्ट अंदाज को बनाए रखते हुए सामाजिक आख्यानों एवं सामाजिक रचनाओं को चुनौती देने की अपील की गई है, जबकि #TrustIseverything और #MuhuratAtHome जैसे अभियानों के जरिए मूल रूप से परिवार के सदस्यों के बीच मजबूत बंधन और इससे जुड़े विश्वास की भावना पर जोर दिया गया है।

भियान के विज्ञापन के पलों एवं संगीत का उपयोग किया गया।

इस अभियान के बाद, ज्वैलरी ब्रांड द्वारा साझा किए गए मुहूर्त आईजीटीवी वीडियो की व्यूअरशिप में 21 गुनी वृद्धि हुई और मात्र 5 दिनों के भीतर इसके व्यूज की संख्या 11,000 से बढ़कर असाधारण 239,714 हो गई। कल्याण ज्वैलर्स द्वारा सप्ताह भर चलाये गये डॉटर्स डे 'द स्माइल कैंपेन' को 3.4 मिलियन इंप्रेशन के साथ 1.6 मिलियन इंगेजमेंट और 2.1 मिलियन की पहुंच हासिल हुई।

कल्याण ज्वैलर्स के मुहूर्त विज्ञापन में इनके वैश्विक ब्रांड एंबेसडर अमिताभ बच्चन और कैटरीना कैफ ने पर्दे पर पिता-पुत्री के बंधन को चित्रित किया। सितारों से जड़े इस विज्ञापन अभियान में, कल्याण ज्वैलर्स के ब्रांड एंबेसडर्स प्रभु गणेशन, अक्किनेनी नागार्जुन, शिवराज कुमार और मंजू वारियर भी देखे गए, जिन्होंने क्षेत्र-विशिष्ट प्रस्तुतियों में भाग लिया।

कल्याण ज्वैलर्स ने डिजिटल और सोशल मीडिया उपस्थिति को मजबूत बनाने पर जोर के साथ अपनी मार्केटिंग रणनीति को बेहतर बनाने के लिए प्रमुख कदम उठाए हैं। पिछले 1 साल में, कल्याण ज्वैलर्स ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर #IAmMoreThanEnough अभियान से प्रतिष्ठित अभियान शुरू किए हैं, जिसमें महिलाओं को उनकी व्यक्तिगत पहचान एवं विशिष्ट अंदाज को बनाए रखते हुए सामाजिक आख्यानों एवं सामाजिक रचनाओं को चुनौती देने की अपील की गई है, जबकि #TrustIseverything और #MuhuratAtHome जैसे अभियानों के जरिए मूल रूप से परिवार के सदस्यों के बीच मजबूत बंधन और इससे जुड़े विश्वास की भावना पर जोर दिया गया है।

Tuesday, August 16, 2022

गल्फ ऑयल ने जयपुर के ट्रक ड्राइवरों के लिए शुरू किया निशुल्क स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम

जयपुर, 16 अगस्त, 2022- हिंदुजा समूह की कंपनी गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स ने ट्रक चालक समुदाय के लिए गल्फ सुपरफ्लीट सुरक्षा बंधनके तहत एक उत्कृष्ट स्वास्थ्य कार्यक्रम शुरू किया है। स्वास्थ्य देखभाल कार्यक्रम के तहत ट्रक ड्राइवरों को विभिन्न स्वास्थ्य सुविधाओं के साथ यात्रा के दौरान 4 लाख का कवर भी मिलता है। जयपुर के ट्रक ड्राइवरों का समुदाय अब 11 अगस्त 2022 तक जयपुर शहर में कार्यक्रम के लिए नामांकन करके इन फायदों को हासिल कर सकता है। यह पहल रक्षा बंधन के अवसर पर शुरू की गई है। जिस तरह गल्फ सुपरफ्लीट टर्बाे प्लस इंजन ऑयल ट्रक इंजन की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है, इसी तरह गल्फ ट्रक ड्राइवरों के जीवन और स्वास्थ्य की देखभाल और सुरक्षा की पेशकश करता है और उनके अथक प्रयासों के लिए प्रशंसा और आभार व्यक्त करता है।

पूरे भारत में 10,000 से अधिक ट्रक वाले इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। 4 लाख कवर के अलावा, एक ट्रक चालक अपनी जेब से एक पैसा भी खर्च किए बिना असीमित चिकित्सा सुविधाओं का आनंद ले सकता है, जैसे मुफ्त ऑनलाइन/ऑन-कॉल डॉक्टर अपॉइंटमेंट, दवाओं पर छूट, स्वास्थ्य जांच आदि। सर्वेक्षण से पता चलता है कि ट्रक चालक स्वयं के लिए जीवन बीमा योजनाओं का कवर हासिल कर सकते हैं। हालांकि स्वास्थ्य संबंधी देखभाल आज भी लोगों के लिए प्राथमिकता में बहुत नीचे है। असंगत काम के घंटे और नौकरी की प्रकृति के कारण, ट्रक ड्राइवरों के सामने स्वास्थ्य संबंधी अनेक समस्याएं आती हैं। ऐसी सूरत में गल्फ सुपरफ्लीट सुरक्षा बंधनके तहत आयोजित स्वास्थ्य कार्यक्रम ट्रक ड्राइवरों को जागरूक करता है और उन्हें अपने स्वास्थ्य पर पूरा ध्यान देने के लिए प्रेरित करता है।

अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड के एमडी और सीईओ रवि चावला ने कहा, ‘‘जयपुर में ट्रक ड्राइवरों की ओर से हमें मिली सकारात्मक प्रतिक्रिया से हम बहुत खुश हैं। इस तरह के अभियानों के माध्यम से हम ट्रक ड्राइवरों को सहायता प्रदान कर रहे हैं और उनकी सुरक्षा की दिशा में एक सक्रिय कदम उठाने का प्रयास कर रहे हैं। यह हमारे लिए बहुत तसल्ली की बात है। हम अपने देश के गुमनाम नायकों की देखभाल और समर्थन के गल्फ के वादे को आगे बढ़ाना चाहते हैं।’’

पिछले साल सुरक्षा बंधन पहल के हिस्से के रूप में, ब्रांड ने देश भर में 11 शहरों और उनके आसपास के इलाकों में टीकाकरण शिविरों की व्यवस्था की थी। इन शिविरों की सहायता से 10,000 से अधिक ट्रक ड्राइवरों का टीकाकरण किया गया।

गल्फ ऑयल ल्यूब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड (जीओएलआईएल) के बारे में - हिंदुजा ग्रुप और गल्फ ऑयल इंटरनेशनल का हिस्सा गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड (जीओएलआईएल) भारत में लुब्रिकेंट बाजार में अग्रणी कंपनियों में से एक है और निजी क्षेत्र के ब्रांडों के बीच प्रमुख क्षेत्रों में शीर्ष 2/3 स्थान रखता है। जीओएलआईएल के पास बढ़ते वितरण नेटवर्क के साथ बी2बी और बी2सी सेगमेंट के लिए ऑटोमोटिव और इंडस्ट्रियल लुब्रिकेंट्स स्पेस में विश्व स्तर के अग्रणी उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला है। ब्रांड ने 20 से अधिक अग्रणी ओईएम के साथ गठजोड़ किया है और औद्योगिक, बुनियादी ढांचे और संस्थागत ग्राहकों के लिए प्रत्यक्ष बिक्री नेटवर्क में अग्रणी है। कंपनी अपने प्रोडक्ट्स का 25 से अधिक देशों में निर्यात करता है। ऑटोमोटिव और इंडस्ट्रियल लुब्रिकेंट्स, ग्रीस के साथ-साथ टू-व्हीलर बैटरी सेगमेंट में हमारी महत्वपूर्ण हिस्सेदारी है। भारत में, हमारे पास सिलवासा और एन्नोर, चेन्नई में दो संयंत्रों के साथ एक मजबूत विनिर्माण और अनुसंधान एवं विकास आधार हैं। ब्रांड अतिरिक्त गतिशीलता समाधान पेश करने के लिए भविष्य के लिए तैयार होने की दिशा में काम कर रहा है और हाल ही में इंद्रा टेक्नोलॉजीज- यूके स्थित चार्जर/मोबिलिटी कंपनी और इलेक्ट्रीफाई, एक ईवी एसएएएस प्रदाता के साथ बदलाव लाने के लिए करार किया है।

आज, विश्व स्तर पर गल्फ ब्रांड पांच महाद्वीपों के 100 से अधिक देशों में मौजूद है। गल्फ ऑयल इंटरनेशनल ग्रुप का मुख्य व्यवसाय सभी बाजार क्षेत्रों के लिए 400 से अधिक प्रदर्शन ल्युब्रिकेंट्स और संबद्ध उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला का निर्माण और उनकी मार्केटिंग कर रहा है।

गल्फ ऑयल को ब्रांड एंबेसडर जैसे महेंद्र सिंह धोनी, हार्दिक पांड्या, चेन्नई सुपर किंग्स के साथ मिलकर मैकलारेन जैसी ग्लोबल स्पोर्टिंग पार्टनरशिप के साथ मिलकर बनाई गई एक मजबूत ब्रांड पहचान हासिल है।

एफआइएफसी ने दो पूर्व जज को फैंटेसी स्पोर्ट्स रेगुलेटरी अथॉरिटी (एफएसआरए) के पैनल सदस्य के रूप में नियुक्त किया

भारत, 16 अगस्त, 2022- फैंटेसी स्पोर्ट्स इंडस्ट्री के लिए भारत की एकमात्र स्व-नियामक संस्था फेडरेशन ऑफ इंडियन फैंटेसी स्पोर्ट्स (एफआईएफएस) ने जस्टिस (सेवानिवृत्त) मुकुल मुद्गल, पूर्व मुख्य न्यायाधीश, पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट और जस्टिस (सेवानिवृत्त) जीएस सिस्तानी, पूर्व न्यायाधीश, दिल्ली हाइकोर्ट को फैंटेसी स्पोर्ट्स रेगुलेटरी अथॉरिटी (एफएसआरए) के पैनल सदस्यों के रूप में नियुक्त किया है। एफएसआरए के चैयरमैन प्रख्यात विधिवेत्ता जस्टिस (सेवानिवृत्त) ए.के. सीकरी, पूर्व न्यायाधीश, सुप्रीम कोर्ट हैं।

एफएसआरए, भारत में फैंटेसी स्पोर्ट्स उद्योग के लिए एक स्वतंत्र स्व-नियामक प्राधिकरण के रूप में एफआईएफएस द्वारा गठित स्वतंत्र विशेषज्ञों की एक समिति है। एफएसआरए को एफआईएफएस के स्व-नियामक ढांचे के नियामक पहलुओं को नियंत्रित करने का अधिकार है, जिसमें शामिल हैं-

ऽ      सदस्यों के लिए जिम्मेदार गेमिंग नीतियों सहित सर्वोत्तम प्रथाओं, मानकों, आचार संहिता को तैयार करना और स्थापित करना

ऽ      चार्टर के शून्य उल्लंघन को सुनिश्चित करने और गैर-अनुपालन के लिए उचित कार्रवाई करने के लिए कड़े ऑडिट तंत्र स्थापित करना

ऽ      भारत के फैंटेसी खेल उद्योग के विकास और उसे बनाए रखने के लिए सरकारी हितधारकों के साथ संवाद, परामर्श शुरू करना

ऽ      प्रभावी शिकायत प्रबंधन और उपभोक्ता विवाद समाधान सुनिश्चित करना

एफआईएफएस के चैयरमैन श्री बिमल जुल्का ने कहा, ‘भारतीय फैंटेसी खेल उद्योग रूपांतरण के बिंदु पर है। जस्टिस (सेवानिवृत्त) मुद्गल और जस्टिस (सेवानिवृत्त) सिस्तानी का व्यापक ज्ञान, सामूहिक अनुभव और विशेषज्ञता इस क्षेत्र का नेतृत्व करने के लिए अमूल्य साबित होगी और दीर्घकालिक विकास की सही दिशा में बढ़ेगी।’

एफएसआरए पैनल के सदस्य के रूप में अपनी नियुक्ति पर जस्टिस (सेवानिवृत्त) मुद्गल ने कहा, ‘हमारी भूमिका एक स्वतंत्र नियामक निकाय के रूप में काम करने की होगी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि भारत के कानूनों और हमारे संविधान का पालन किया जाता है।’

अपने विचार साझा करते हुए नवनियुक्त पैनल सदस्य जस्टिस (सेवानिवृत्त) सिस्तानी ने कहा, ‘मुझे पैनल सदस्य के रूप में एफएसआरए में शामिल होने की खुशी है। जहां तक कानूनी मोर्चे का संबंध है, फैंटेसी खेलों से संबंधित सभी मुद्दे एक सुलझा हुआ मामला है। चूंकि इसे भारत के माननीय सर्वोच्च न्यायालय सहित विभिन्न न्यायालयों द्वारा कई निर्णयों में बार-बार कौशल के खेल के रूप में मान्यता दी गई है, जिससे भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19 (1) (जी) के तहत उभरते हुए सेक्टर को सुरक्षा प्रदान की जाती है, जिससे कानून के शासन के तहत व्यापार निश्चितता आती है।’

एफआइएफएस 2017 से उद्योग के नेतृत्व में स्व-नियमन कर रही है। हाल में, एफआइएफएस ने जॉय भट्टाचार्य को महानिदेशक के रूप में नियुक्त करने की भी घोषणा की। जॉय एक भारतीय प्रश्नोत्तरी, वक्ता, लेखक और खेल निर्माता हैं। वह आईपीएल फ्रेंचाइजी कोलकाता नाइट राइडर्स के पूर्व टीम निदेशक हैं। उन्होंने फीफा अंडर-17 वर्ल्ड कप के निदेशक के रूप में भी काम किया, जो भारत में आयोजित किया गया था। बाद में प्रो वॉलीबॉल लीग के सीईओ के रूप में भी उन्होंने काम किया। इसके अलावा, खेल उद्योग के दिग्गज जैसे बीसीसीआई के पूर्व मुख्य प्रशासनिक अधिकारी प्रोफेसर रत्नाकर शेट्टी और भारतीय खेल प्राधिकरण के पूर्व सचिव श्री अमृत माथुर एफआईएफएस सचिवालय के सलाहकार हैं।

मीशो ने अपनी क्षेत्रीय पकड़ मजबूत की; अपने प्लेटफॉर्म पर 8 नई स्थानीय भाषाओं को जोड़ा

राष्ट्रीय, 16 अगस्त 2022: भारत की सबसे तेजी से बढ़ती इंटरनेट कॉमर्स कंपनी, मीशो ने आज सभी के लिए इंटरनेट कॉमर्स को आसान बनाने के अपने मिशन के अनुरूप अपने प्लेटफॉर्म पर आठ नई स्थानीय भाषाओं को जोड़े जाने की घोषणा की। यह कदम त्योहारी सीजन से ठीक पहले उठाया गया है, जब देश के कोने-कोने से लाखों उपयोगकर्ताओं द्वारा प्लेटफॉर्म पर लेनदेन किए जाने की उम्मीद है। प्लेटफॉर्म पर जोड़ी गई अतिरिक्त भाषाएं हैं - बंगाली, तेलुगु, मराठी, तमिल, गुजराती, कन्नड़, मलयालम और ओडिया। मीशो के ग्राहक अब एंड्रॉयड फोन्स पर अपनी पसंदीदा भाषा का चयन कर अपने खाते पर जा सकते हैं एवं चयन की गई भाषा में उत्पाद संबंधी जानकारी देख सकते हैं, ऑर्डर दे सकते हैं, उसे ट्रैक कर सकते हैं और भुगतान कर सकते हैं।

पिछले साल, मीशो ने अपने प्लेटफॉर्म पर भाषा विकल्प के रूप में हिंदी पेश की, जिसे अब तक 20 प्रतिशत की उच्च दर से उपयोग में लाया गया है। अधिकांश मीशो ग्राहक टियर 2+ शहरों जैसे अहमदाबाद, वडोदरा और जमशेदपुर और गैर-हिंदी भाषाभाषी राज्य, जहां अंग्रेजी या हिंदी हमेशा पसंदीदा भाषा नहीं हो सकती है, से आते हैं। यह नवीनतम पहल इन क्षेत्रों में मीशो के उपयोग को बढ़ावा देगी और लाखों ग्राहकों के लिए ऑनलाइन खरीदारी के अनुभव को और सरल बनाएगी।

इन नई भाषाओं में सटीक और प्रामाणिक अनुभव सुनिश्चित करने के लिए, मीशो ने उपयोगकर्ता अनुसंधान से महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि प्राप्त की और विशेषज्ञ भाषाविदों के साथ मिलकर काम किया। टीम ने पूरे अनुवाद में आम बोलचाल के शब्दों का उपयोग किया ताकि उससे हर रोज प्रयोग में लाई जाने वाली भाषा की झलक मिले और खरीदारी का अनुभव सहज बन सके। उदाहरणार्थ - हिन्दी में 'रिक्वायर्ड' (required) शब्द का शाब्दिक अनुवाद 'अनिवार्य' है लेकिन बोलचाल में 'ज़रूरी' शब्द का व्यापक रूप से प्रचलन है। कुल मिलाकर, इन आठ भाषाओं में से प्रत्येक भाषा में लगभग 33,000 अंग्रेजी शब्दों का अनुवाद किया गया।

"यहाँ यह ध्यान देना महत्वपूर्ण है कि हमारे लगभग 50% उपयोगकर्ता ई-कॉमर्स के लिए नए हैं और शायद उन्होंने पहले कभी इस तरह के प्लेटफार्मों पर लेन-देन नहीं किया है। प्लेटफॉर्म पर स्थानीय भाषाओं को पेश करके, मीशो का उद्देश्य भाषा की बाधाओं को खत्म करना है। यह भारत में अगले एक अरब उपयोगकर्ताओं के लिए एकल खरीदारी गंतव्य बनने की हमारी यात्रा की दिशा में बढ़ाया गया एक स्वाभाविक कदम है। हमारी टीमों ने यह सुनिश्चित करने के लिए अप्रत्यक्ष रूप से अथक प्रयास किया है कि प्लेटफॉर्म इन सभी 8 स्थानीय भाषाओं में 100% सटीक और प्रासंगिक हो।" - मीशो के संस्थापक और सीटीओ, संजय बर्णवाल ने उक्त बातें कही।

हाल ही में, मीशो 100 मिलियन लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने के लिए भारत की सबसे तेज ई - कॉमर्स कंपनी बन गई। मार्च 2021 के बाद से, प्लेटफॉर्म पर लेनदेन करने वाले उपयोगकर्ता का आधार ~ 5.5X बढ़ गया है, जबकि इसी अवधि के दौरान एसॉर्टमेंट 9X बढ़कर ~ 72 मिलियन हो गया है। टियर 2+ बाजारों के ग्राहक इस विकास के प्रमुख चालक रहे हैं, जो सभी खरीदारों में से लगभग 80% हैं।

महिन्द्रा ने नया बोलेरो मैक्स पिक-अप पेश किया ~ यह नया ब्रांड पिक-अप सेगमेंट में नए मानक कायम करेगा

मुंबई, 16 अगस्त, 2022: महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड (एम एंड एम), जो लाइट कमर्शियल व्हीकल (एलसीवी)- 2 से 3.5 टन श्रेणी में अग्रणी हैं, ने नए भारत की ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक्स ज़रूरतों को पूरा करने वाले अत्याधुनिक पिकअप का नया ब्रांड - बोलेरो मैक्स पिक-अप लॉन्च किया। कंपनी ने बोलेरो मैक्स पिक-अप सिटी 3000 के लॉन्च के साथ ब्रांड का अनावरण किया। इसकी शुरुआती कीमत ₹7,68,000 (एक्स-शोरूम) है और यह ₹25,000 के डाउनपेमेंट एवं आकर्षक फाइनेंस स्कीम्स के साथ उपलब्ध है।

परिवहन की बदलती जरूरतों को देखते हुए, महिंद्रा आधुनिक समय के व्यवसायों की गतिशील जरूरतों को पूरा करने के लिए पिकअप सेगमेंट में एक नया ब्रांड पेश कर रहे हैं। बोलेरो मैक्स पिक-अप महिंद्रा का एक अग्रणी नया ब्रांड है, जिसे पिकअप सेगमेंट में नए बेंचमार्क स्थापित करने के लिए तैयार और डिज़ाइन किया गया है। यह नवीनतम पिकअप ब्रांड उन्नत कनेक्टेड तकनीक – iMaXX टेलीमैटिक्स समाधान का दावा करता है जो प्रभावी वाहन प्रबंधन और व्यावसायिक उत्पादकता को बढ़ाने में सक्षम बना सकती है। श्रेणी में बेजोड़ आराम और सुरक्षा विशेषताएं ड्राइवर को लंबे मार्गों पर सुविधा प्रदान करने वाली हैं। प्रीमियम डिजाइन फीचर्स जैसे नई फ्रंट ग्रिल, नए हेडलैंप और डिजिटल क्लस्टर के साथ प्रीमियम नया डैशबोर्ड व्यवसाय मालिकों के स्वामित्व का गौरव बढ़ाएगा।


पिछले 22 वर्षों से पिकअप सेगमेंट में अग्रणी होने के नाते, महिंद्रा ने लगातार अपने ग्राहकों की बदलती जरूरतों को समझने पर ध्यान दिये हैं और इन्होंने प्रदर्शन, विश्वसनीयता, कम रखरखाव लागत और उच्च पे-लोड क्षमता जैसे प्रासंगिक मापदंडों पर इंडस्ट्री में लगातार मानक कायम किए हैं ताकि ग्राहक सफलतापूर्वक अपना व्यवसाय चलाते हुए अधिक से अधिक लाभ कमा सके।
महिंद्रा एंड महिंद्रा के ऑटोमोटिव डिविजन के प्रेसिडेंट, वीजय नाकरा ने कहा, “महिंद्रा में, हमग्राहकों की जिंदगी को सकारात्मक रूप से प्रभावित करने और उन्हें अधिक कमाई व समृद्धि हासिल करने में सक्षम बनाने के लिए लगातार प्रयास करते हैं। नई बोलेरो मैक्स पिक-अप एक फ्यूचरिस्टिक ब्रांड है जिसमें कई श्रेणी-प्रथम विशेषताएँ मौजूद हैं, जैसे कि एडवांस्ड आई-मैक्स टेक्नोलॉजी, टर्न सेफ लाइट्स, हाइट एडजस्टेबल सीट्स। यही नहीं, इसका इंजन दमदार एवं कार्यक्षम है और पे-लोड क्षमता की दृष्टि से, यह अपनी श्रेणी में अग्रणी है। पिकअप सेगमेंट में इस नए बेंचमार्क ब्रांड के साथ, महिंद्रा ने एक बार फिर अपने ग्राहकों को अत्यधिक मूल्य प्रदान करने के लिए अपने इरादे और क्षमता का प्रदर्शन किया है।"

महिंद्रा एंड महिंद्रा के प्रेसिडेंट - ऑटोमोटिव टेक्नोलॉजी और प्रोडक्ट डेवलपमेंट, आर. वेलुसामी ने कहा, “हमारी नवीनतम पेशकश, नई बोलेरो मैक्स पिक-अप को पिक-अप बाजार की उच्च मांग, लगातार बदलती जरूरतों को पूरा करने की दृष्टि से तैयार किया गया है। हमने इसे अमेज़ॅन वेब सर्विसेज पर होस्ट किए गए आईमैक्स कनेक्टिविटी पेशकशों से लैस किया है जिसमें बेजोड़ तकनीकी विशेषताएं हैं जो ग्राहकों को उनकी संपत्ति की बेहतर निगरानी और देखभाल में सहायक हैं। नई बोलेरो मैक्स पिक-अप सिटी 3000, दमदार ड्राइवट्रेन से सुसज्जित है और 1300 किलोग्राम की उच्च पेलोड क्षमता के साथ 17.2 किमी/ली.* की असाधारण मायलेज प्रदान करता है। पिकअप के बीच इस नए बेंचमार्क के साथ, महिंद्रा ने एक बार फिर पिकअप सेगमेंट में क्रांतिकारी बदलाव करने के अपने इरादे और क्षमता को प्रदर्शित किया है।


बोलेरो मैक्स पिक-अप के बारे में
बोलेरो मैक्स पिक-अप में उन्नत आई-मैक्स टेलीमैटिक्स समाधान का इस्तेमाल किया गया है, जो नए व्यवसाय मालिकों की व्यावसायिक उत्पादकता बढ़ाने और परिचालन लागत को कम करने के लिए व्हीकल टेलीमैटिक्स और ऑन-बोर्ड व्हीकल डायग्नॉस्टिक्स का प्रयोग करने में सक्षम बनाता है। मोबाइल ऐप पर सुलभ 30+ सुविधाओं के साथ, आई-मैक्स टेलीमैटिक्स समाधान व्यापार मालिकों को वाहन स्वास्थ्य एवं प्रदर्शन को अच्छी तरह से जानने, एमएलओ एवं फ्लीट ऑपरेटर्स को रूट प्लानिंग के बारे में मार्गदर्शन प्रदान करने और डिलिवरी शेड्युलिंग, नेविगेशन, व्हीकल ट्रैकिंग, जियोफेंसिंग, फ्युल लॉग व अन्य और सहायता एमएलओ और बेड़े ऑपरेटरों में मार्ग योजना, वितरण शेड्यूलिंग, नेविगेशन, वाहन ट्रैकिंग, जियोफेंसिंग, ईंधन लॉग व अन्य सुविधाएं प्रदान करता है।
ड्राइवर के आराम और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए बोलेरो मैक्स पिक-अप में कई कैटेगरी फर्स्ट फीचर्स दिए गए हैं। यह भारत में पहला ऐसा पिकअप है जो थकान-रहित यात्रा सुनिश्चित करने के लिए हाईट एडजस्टेबल ड्राइवर सीट्स की पेशकश करता है। हेडरेस्ट और बड़े लेगरूम के साथ प्रमाणित डी+2 सीटिंग बेहद आरामदायक है। सेफ्टी फीचर्स जैसे कैटेगरी फर्स्ट टर्न सेफ लाइट्स , एलईडी टेल लैंप और फ्रंट बोनट ड्राइवर के लिए अधिकतम सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं।
5.5 मीटर के टर्निंग रेडियस के साथ, बोलेरो मैक्स पिक-अप, एलन की मदद से किसी भी ट्रैफ़िक, शहर की संकीर्ण सड़कों और फ्लाईओवर का पता लगा सकती है। इसका कॉम्पैक्ट डिजाइन इसे शहर के भीतर और एक शहर से दूसरे शहर के परिवहन के लिए आदर्श रूप से अनुकूल बनाता है।
बोलेरो मैक्स पिक-अप सिटी 3000 को इस प्रकार से तैयार किया गया है ताकि 17.2 किमी/लीटर * के वर्ग-अग्रणी मायलेज के साथ मैक्स प्रॉफिट प्रदान किया जा सके, जो कि आज के बेहद ईंधन-संवेदी बाजार के लिए महत्वपूर्ण है। महिंद्रा का भरोसेमंद m2Di इंजन, 195Nm टॉर्क और 48.5 किलोवाट (65 एचपी) की शक्ति प्रदान करता है।
शहरी परिवहन जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, बोलेरो मैक्स पिक-अप सिटी 3000, 1300 किलोग्राम की उच्च पे-लोड क्षमता प्रदान करता है, इसके कार्गो का डाइमेंशन इस श्रेणी में सबसे बड़ा है, इसमें ओवर-स्लंग सस्पेंशन है, और बेहतर लोडिंग के लिए R15 टायर दिए गए हैं। इसके अतिरिक्त, इसकी कम परिचालन लागत ग्राहकों के लिए बचत और आय को और बढ़ाती है।
बोलेरो मैक्स पिक-अप सिटी 3000, तीन बॉडी कलर ऑप्शन - गोल्ड, सिल्वर और व्हाइट में उपलब्ध है, जिनके साथ तीन साल/एक लाख किमी की वारंटी और 20,000 किमी का लंबा सर्विस इंटरवल है। महिंद्रा वैकल्पिक रूप से 3 वर्ष/ 90000 किमी की मुफ्त प्रिवेंटिव मेंटनेंस सर्विस भी प्रदान कर रहे हैं।
नई बोलेरो मैक्स पिक-अप भारत में पिकअप सेगमेंट में महिंद्रा के प्रभुत्व को और मजबूत करने के लिए तैयार है। वित्त वर्ष'23 की पहली तिमाही में लाइट कमर्शियल व्हीकल के 2 टन से 3.5 टन श्रेणी में 60% बाजार हिस्सेदारी के साथ, महिंद्रा अपनी नेतृत्वकारी स्थिति को और मजबूत करने के लिए श्रेणी में कई वर्ग-अग्रणी उत्पादों और तकनीकों को पेश करने में सबसे आगे रहे हैं।

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...