Wednesday, August 31, 2022

टाटा केमिकल्स के प्रयासों से गुजरात में ह्वेल शार्क का अवैध शिकार शून्य हुआ

मीठापुर, 31 अगस्त, 2022| टाटा केमिकल्स ने अपने 'सेव ह्वेल शार्क' अभियान के माध्यम से गुजरात के समुद्र तट से लगे सौराष्ट्र क्षेत्र में अब तक इन लुप्तप्राय प्रजातियों में से 850 से अधिक को बचाया है। टाटा केमिकल्स, वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया (डब्ल्यूटीआई) और गुजरात वन विभाग की इस पहल को व्यापक समर्थन मिला है। गुजरात के मछुआरा समुदायों द्वारा किए जाने वाले अवैध शिकार के मामलों में 1999-2000 के लगभग 600 से 2021 में शून्य तक की गिरावट आई है।

इस परियोजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए, गुजरात वाटर्स के ह्वेल शार्क के प्रवास अनुसंधान अध्ययन किए गए हैं। बचाए गए ह्वेल शार्क पर अब तक आठ उपग्रह ट्रांसमीटर तैनात किए जा चुके हैं। ऑस्ट्रेलियन इंस्टीट्यूट ऑफ मरीन साइंस (एआईएमएस) के सहयोग से परिणामों का विश्लेषण किया गया और इसे इंटरनेशनल जर्नल ऑफ फ्रंटियर्स इन मरीन साइंस में प्रकाशित किया गया। गुजरात के समुद्री जल में बचाई गई ह्वेल शार्क से 18 आनुवंशिक अध्ययन के नमूने एकत्र किए गए हैं और उनका विश्लेषण किया गया है।
इस अभियान के अंतर्गत, टाटा केमिकल्स हर साल श्रृंखलाबद्ध गतिविधियां आयोजित करता है। 14वें अंतर्राष्ट्रीय ह्वेल शार्क दिवस के उपलक्ष्य में, मीठापुर में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया। आयोजन के दौरान, दो दशकों की संरक्षण साझेदारी, हासिल की गई उपलब्धियों, सामना की गई चुनौतियों और आगे की राह पर चर्चा की गई। डब्ल्यूटीआई के मैनेजर और टेक्निकल हेड - मरीन प्रोजेक्ट्स, बी.एम. प्रवीण कुमार; डब्ल्यूटीआई के कार्यकारी न्यासी, प्रो. बी. सी. चौधरी; वन विभाग के डिप्टी कंजर्वेटर ऑफ फॉरेस्ट्स (एसएफ), श्री अग्नीश्वर व्यास; टाटा केमिकल्स के हेड - ऑपरेशंस, श्री सत्यजीत रॉय व अन्य इस कार्यक्रम में उपस्थित थे।
बीते वर्षों में, श्री मोरारी बापू जैसे प्रसिद्ध आध्यात्मिक कथा वाचक को भी इसे जन अभियान बनाने के लिए शामिल किया गया था। इस अभियान के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए कई शैक्षिक गतिविधियाँ की गईं। ह्वेल शार्क संरक्षण के लिए गुजरात तट पर मछली पकड़ने के बंदरगाहों पर बीस साइनबोर्ड लगाए गए हैं।
इस पहल के बारे में बताते हुए, श्री आर. नंदा, हेड-एचआर और सीएसआर, टाटा केमिकल्स ने कहा, “सीएसआर के माध्यम से कॉर्पोरेट्स हमारे पर्यावरण के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं। यह अभियान पर्यावरण संरक्षण के लिए टाटा केमिकल्स की प्रतिबद्धता का प्रतिबिंब है। ह्वेल शार्क को बचाने के हमारे इस प्रयास में समुदाय को हितधारक बनाने के लिए डिज़ाइन की गई, इस पहल से व्यवहार में काफी परिवर्तन आना शुरू हो गया है।"
कंपनी और भागीदारों के ठोस प्रयासों के परिणामस्वरूप एशियाई शेरों के बाद ह्वेल शार्क गुजरात राज्य में दूसरा वन्यजीव गौरव बन गया है। अतटीय शहर, अहमदाबाद सहित गुजरात के सात तटीय शहरों ने व्हेल शार्क को अपने शहर के शुभंकर के रूप में अपनाया है। ह्वेल शार्क संरक्षण परियोजना ने संरक्षण का संदेश देने के लिए जागरूकता अभियान के माध्यम से 50,000 से अधिक मछुआरों और 100,000 तटीय छात्रों को संवेदनशील बनाया है।
2016 में दोहा और 2019 में ऑस्ट्रेलिया सहित वैश्विक स्तर पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय ह्वेल शार्क सम्मेलनों में इस परियोजना को दिखाया गया है। इसने वर्ष 2014 में सह-प्रबंधन श्रेणी में ह्वेल शार्क के संरक्षण के लिए यूएनडीपी द्वारा भारत जैव विविधता पुरस्कार, 2005 में बीएनएचएस द्वारा ग्रीन गवर्नेंस अवार्ड जीता है।

Tuesday, August 30, 2022

जावा - येज्डी मोटरसाइकिल्स ने येज्डी रोडस्टर रेंज को और दो नए आकर्षक रंगों में पेश किया

पुणे, 30 अगस्त, 2022: जब से येज्डी के वापसी की रेंज की पुनर्कल्पना की जा रही है, तब से जावा-येज्डी मोटरसाइकिल्स को लेकर एक बात स्पष्ट थी - कि वो ब्रांड के असली जोश के साथ वापस लौटेंगी और ऐसे मॉडल्स उपलब्ध कराएंगी जिनसे ब्रांड की हर चीज़ झलके। येज्डी के तीन मॉडल्स - एडवेंचर, स्क्रैम्बलर और रोडस्टर में हिम्मत, बेलौस मज़ा और रोमांंच की पूरी-पूरी झलक मिली।

क्लासिक लाइन्स और आधुनिक स्पर्शों के शानदार मिश्रण वाली विशिष्ट डिजाइन की मोटरसाइकिल, येज्डी रोडस्टर को डार्क और क्रोम थीम्स में पाँच मैट फिनिश्ड कॅलर्स के विकल्प के साथ पेश किया गया जिनमें इसकी खासियत उभरकर सामने आई।

चीज़ों को और अधिक आकर्षक बनाने के लिए, जावा येज्डी मोटरसाइकिल्स ने येज्डी रोडस्टर रेंज को दो और नए कॅलर्स आने की आज घोषणा की। रोडस्टर अब दो नए रंगों - इनफर्नो रेड और ग्लेशियल व्हाइट में उपलब्ध होगा। दोनों ही कलर्स में फ्यूल टैंक पर ग्लॉस फिनिश दिया गया है और मोटरसाइकिल में शानदार ओब्सीडियन ब्लैक थीम दी गई है। दोनों नए कॅलर्स दो बिल्कुल अलग-अलग चाव के हैं लेकिन वो मौलिक रूप में स्वभावतः परस्पर जुड़े हुए हैं और ये अलग-अलग व्यक्तित्व वाले राइडर्स को आकर्षित करते हैं।

अपने नए अवतार में कल्पित, नवीनतम येज्डी रोडस्टर जोड़ी को "फायर और आइस" का नाम दिया गया है। सभी के दिलों पर राज करने के लिए तैयार, ये प्रतिष्ठित मोटरसाइकिलें प्रकृति की इन शक्तिशाली ताकतों का ब्रांड की ओर से अभिनंदन करती हैं और रोडस्टर में निहित सनसनी पैदा कर देने वाले जोश का वादा करती हैं। दोनों बाइक्स की कीमत 2,01,142 रुपए, एक्स - शोरूम, दिल्ली होगी।

रोडस्टर परिवार को और दो नए कॅलर में पेश करते हुए, क्लासिक लिजेंड्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, आशीष सिंह जोशी ने कहा, "येज्डी रोडस्टर हमारी कम्यूनिटी में राइडर्स को आकर्षित करने की दृष्टि से उल्लेखनीय रूप से सफल रहा है। यह अपने लॉन्च के बाद से हमारे सबसे लोकप्रिय मॉडलों में से एक रहा है और रोडस्टर की असली प्रकृति पर खरा उतरते हुए पहले ही देश भर में अपने राइडर्स को असीम रोमांच और अनुभव प्रदान कर चुका है। नया इनफर्नो रेड और ग्लेशियल व्हाइट रंग हमारी रोडस्टर रेंज में नई ऊर्जा का संचार करते हैं और इसे और भी अधिक विशिष्ट बना देंगे और ज़्यादा से ज़्यादा राइडर्स को आकर्षित करेंगे।"

उन्होंने आगे कहा, "इस मोटरसाइकिल अगर कोई चीज़ बिल्कुल भी नहीं बदली है तो वो है - इसका बेजोड़ 'रोडस्टर' अनुभव। येज्डी रोडस्टर, सही अनुपात में अपने खुले रूप, और दमदार चेसिस पर लगे शक्तिशाली इंजन - जो शहर में या लंबे हाइवेज पर सरपट भगाने की बेजोड़ क्षमता प्रदान करते हैं - के साथ, क्लासिक 'रोडस्टर' मोटरसाइकिल का संपूर्ण अहसास देता है।"

पावरट्रेन के मामले में, येज्डी रोडस्टर में लिक्विड - कूल्ड, फ्यूल - इंजेक्टेड, डीओएचसी सिंगल सिलेंडर 334cc इंजन लगा है जो 29.7PS @ 7300rpm और 29Nm @ 6500rpm का पीक टॉर्क देता है जो इसे शहर और हाइवे दोनों ही जगह बेजोड़ प्रदर्शन करने में सक्षम बनाता है। इंजन के साथ छह - स्पीड ट्रांसमिशन है जिसका स्टैंडर्ड असिस्ट एंड स्लिपर क्लच, स्मूथ शिफ्ट प्रदान करता है।

इस मोटरसाइकिल को ड्युअल क्रैडल चेसिस पर तैयार किया गया है जो सीधी सड़क और घुमावदार नुक्कड़ कहीं भी शानदार ऑन-रोड शिष्टाचार एवं स्थिरता प्रदान करने के लिए उपयुक्त है। ब्रेकिंग के लिए ड्युअल चैनल एबीएस बाय कॉन्टिनेंटल के साथ फ्रंट में 320 मिमी डिस्क और रियर में 240 मिमी डिस्क ब्रेक लगा है। एबीएस बाय कॉन्टिनेंटल, सर्वोत्तम कोटि की तकनीक है जो फ्लोटिंग कैलिपर्स के माध्यम से उपयुक्त मात्रा में बाइट के साथ बेजोड़ आनंदायक ब्रेकिंग अनुभव प्रदान करती है।

रोडस्टर को विशिष्टता प्रदान करने वाली अन्य खूबियों में आरामदेह स्प्लिट सीट्स, कंपैक्ट हेडलैम्प और कसकर पैक किया गया इंजन एरिया शामिल हैं जो समग्र डिजाइन को ठोस रूप प्रदान करती हैं। तगड़े टायरों के साथ मिश्र धातु के पहिये, कटे हुए फेंडर से घिरे हुए हैं जो इसके मसक्यूलर लुक में चार चांद लगाते हैं। हाई कंट्रास्ट डिस्प्ले के साथ डिजिटल स्पीडोमीटर, राइडर को सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करता है जबकि एलईडी हेडलैंप और टर्न सिग्नल समग्र रूप से बेहतर रोशनी प्रदान करते हैं।

येज्डी लाइन-अप के उद्देश्यपूर्ण तरीके से डिजाइन किए गए तीनों मॉडल्स में से, रोडस्टर ऐसी मोटरसाइकिल है जो येज्डी के रोमांच को बखूबी प्रकट करती है। अपनी परिपूर्ण रोड उपस्थिति, मस्क्यूलर रूप और बेजोड़ प्रदर्शन के साथ, यह रोज़ाना की राइड्स को जोशपूर्ण बनाने के लिए डिजाइन की गई है। येज्डी की उस विरासत को रोडस्टर आगे ले जाता है जिसने दुनिया का चक्कर लगाने और ट्रांसकॉन्टिनेंटल एडवेंंचर्स में भाग लेने के लिए पसंदीदा मोटरसाइकिल के रूप में लोकप्रियता दी। सरलता, विश्वसनीयता और मजबूती ने इसे उस दौर के साहसी राइडर्स का पक्का साथी बना दिया।

येज्डी रोडस्टर को उसी मौलिकता के साथ तैयार किया गया और यह देश की हर दुर्गम चुनौतीपूर्ण जगह जैसे कि उमिंग-ला, थार रेगिस्तान और पूर्वोत्तर भारत के अगम्य क्षेत्र का सफर कर चुका है और अपने पूर्व की मोटरसाइकिलों की तरह ही अपने राइडर्स को रोमांचित किया है।

लास्ट माइल कार्गो डिलिवरी में जबरदस्त बदलाव लाने के लिए महिंद्रा ज़ोर ग्रैंड इलेक्ट्रिक लॉन्च किया गया


बेंगलुरु, 30 अगस्त, 2022:महिंद्रा समूह की सहायक कंपनी, महिंद्रा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड (एमईएमएल) ने अपना नया कार्गो इलेक्ट्रिक थ्री – व्हीलर - ज़ोर ग्रैंड लॉन्च किया है। महिंद्रा के इस प्रीमियम उत्पाद की शुरुआती कीमत आकर्षक रूप में ₹ 3.60 लाख, एक्स - शोरूम बेंगलुरू रखी गई है। महिंद्रा लॉजिस्टिक्स, मैजेंटा ईवी सॉल्यूशंस, मोएविंग, ईवीनाउ, येलो ईवी, ज़िंगो जैसी अग्रणी लॉजिस्टिक्स कंपनियों ने 12000+ ज़ोर ग्रैंड के लिए महिंद्रा के साथ करार किया है। महिंद्रा ज़ोर ग्रैंड में यह अटूट विश्वास बैटरी, मोटर और टेलीमैटिक्स के क्षेत्रों में दमदार इन - हाउस दक्षताओं द्वारा समर्थित है, जो कठोर प्रमाणीकरण और 50000+ 3-व्हीलर ईवी को सड़क पर उतारने से प्राप्त अनुभव के दम पर है।


तकनीकी रूप से उन्नत ज़ोर ग्रैंड, फ्लीट मैनेजमेंट और बेहतर परिचालन दक्षता के लिए नेमो कनेक्टेड व्हीकल प्लेटफॉर्म से सुसज्जित है। साथ ही, इसमें पूरी तरह से डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर है जो चार्ज की स्थिति, रेंज, स्पीडोमीटर, बैटरी स्वास्थ्य सूचक और टैल-टेल लाइट्स को प्रदर्शित करता है। इस वाहन के साथ 5 साल/150000 km बैटरी वारंटी है।

महिंद्रा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सुमन मिश्रा ने कहा, "लास्ट माइल डिलीवरी और लॉजिस्टिक्स सेगमेंट में विश्वसनीय और किफायती माल ढुलाई के लिए प्रीमियम और उच्च गुणवत्ता वाले इलेक्ट्रिक वाहनों की आवश्यकता देखी गई है। हम इन मांगों को प्रभावी ढंग से पूरा करने के लिए अपने नए ज़ोर ग्रैंड के लॉन्च से उत्साहित हैं। यह दमदार प्रदर्शन करने वाला वाहन है और हमें एवं हमारे हितधारकों को उनके स्थिरता लक्ष्यों को पूरा करने में सक्षम बनाता है।"
महिंद्रा ज़ोर ग्रैंड की विशेषताएं:

इंडस्ट्री में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन
• इंडस्ट्री में सर्वोत्तम 12 kW की इसकी शक्ति बेहतरीन प्रदर्शन, अधिक ट्रिप्स एवं ज़्यादा कमाई सुनिश्चित करती है
• इंडस्ट्री में सर्वोत्तम 11.5 0 की ग्रेडबिलिटी लोड के साथ ढलानों पर चढ़ना आसान बनाता है
• 50 Nm टॉर्क - उत्कृष्ट पिकअप और एक्सेलरेशन
• क्लच-फ्री, गियरलेस, शांत, कंपन-मुक्त ड्राइव – थकान-मुक्त अनुभव

बड़ी बचत
• 5 वर्षों में स्वामित्व लागत में डीजल कार्गो 3-व्हीलर्स की तुलना में ₹ 6 00 000.00 की और सीएनजी कार्गो 3-व्हीलर्स की तुलना में ₹ 3 00 000.00 तक की शानदार बचत।

एडवांस्ड लिथियम-आयन बैटरी
• प्रति चार्ज 100 km से अधिक की बढ़ी हुई रेंज
• एडवांस्ड लिथियम-आयन तकनीक वाली बैटरी 4 घंटे से कम समय में चार्ज हो जाती है।

बेहतर उत्पादकता
• 6 फीट का फिटेड 140/170 क्यूबिक फीट का डिलीवरी बॉक्स - अधिक ढुलाई, अधिक कमाई
• 3–साइड से खुलने वाला कार्गो ट्रे - आसान लोडिंग और अनलोडिंग

गुणवत्ता के मामले में दमदार
• मेटल की मजबूत बॉडी, केबिन दरवाजे केसाथ मौसमरोधी डिजाइन
• आधुनिक डिजाइन, आकर्षक रंग, ट्रेंडी नया लूक

महिंद्रा की विश्वसनीयता
• पूरे भारत में बेहतर आफ्टर-सेल्स सेवा के लिए 800 से अधिक टचपॉइंट
• इस वाहन पर 3 साल/ 80000 km वारंटी मन को सुकून देने वाली है

इसीएलजीएस भारत में एमएसएमई पुनरुद्धार में योगदान देना जारी रखेगा

मुंबई, 30 अगस्त, 2022- इमरजेंसी क्रेडिट लाइन गारंटी स्कीम (ईसीएलजीएस) भारतीय व्यवसायों को कोविड-19 के कारण हुए आर्थिक संकट से निपटने में मदद करने में सफल रही है. महामारी के दौरान और बाद में एमएसएमई के पुनरुद्धार को उत्प्रेरित कररही है. यह तथ्य 31 मार्च 2022 तक किए गए ईसीएलजीएस संवितरण के आधार पर ऋण प्रवाह और उधारकर्ता व्यवहार और प्रदर्शन में परिवर्तन को ले कर ट्रांसयूनियन सिबिल स्टडी के दूसरे संस्करण में सामने निकल कर आया है.

ट्रांसयूनियन सिबिल स्टडी नेशनल क्रेडिट गारंटी ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड द्वारा प्रदान किए गए ईसीएलजीएस डेटा पर आधारित है. ईसीएलजीएस स्कीम मई 2020 में आत्मानिर्भर भारत अभियान के तहत शुरू की गई थी, और इसे 5 लाख करोड़ रूपये के साथ 31 मार्च 2023 तक विस्तारित किया गया है. अतिरिक्त 50,000 करोड़ रुपये आतिथ्य और संबंधित क्षेत्रों में उद्यमों को उपलब्ध कराया जाएगा.

इस स्कीम ने एमएसएमई** सेगमेंट में स्थायी पुनरुत्थान को उत्प्रेरित किया है

अध्ययन में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि ईसीएलजीएस के माध्यम से अतिरिक्त तरलता ने न केवल एमएसएमई को कोविड-19 के प्रारंभिक चरण के दौरान अपने व्यवसाय को पुनर्जीवित करने में सक्षम बनाया, बल्कि उनके उद्यमों को भी बढ़ाया क्योंकि आर्थिक गतिविधि सामान्य होने लगी थी. ईसीएलजीएस का लाभ उठाने के बाद से चार तिमाहियों के दौरान, प्रति उधारकर्ता खोले गए नए ट्रेडों की औसत संख्या में केवल 6% की तुलना में ईसीएलजीएस का लाभ उठाने वाले पात्र उधारकर्ताओं के लिए 6% की वृद्धि हुई. इसके अतिरिक्त, ईसीएलजीएस ने कपड़ा और खाद्य प्रसंस्करण जैसे श्रम गहन उद्योगों के साथ-साथ सेवाओं, व्यापारियों और निर्माण जैसे संपर्क गहन-, गतिशीलता- और उपभोग-निर्भर क्षेत्रों को पुनर्जीवित करने में महत्वपूर्ण रूप से मदद की है.

इस स्टडी के दूसरे संस्करण के निष्कर्षों पर बोलते हुए, ट्रांसयूनियन सिबिल के एमडी और सीईओ, श्री राजेश कुमार ने कहा, “महामारी के बाद पैदा हुई तरलता की कमी, इनफ्लो की कमी के कारण, जबकि अनिवार्य आउटफ्लो की निरंतरता, व्यवसायों के लिए संभावित खतरा पैदा कर सकती थी. ईसीएलजीएस के माध्यम से समय पर प्रदान किए गए इन्फ्यूजन ने भौगोलिक क्षेत्रों में व्यवसायों के पुनरुत्थान में महत्वपूर्ण रूप से मदद की है. साथ ही एमएसएमई ऋण देने से एनपीए को नियंत्रित करने में मदद मिली है. इसीएलजीएस सुविधा का लाभ उठाने वाले उधारकर्ताओं के लिए 4.8% की एन पी ए दर उन उधारकर्ताओं की तुलना में कम है जो पात्र थे लेकिन जिन्होंने सुविधा का लाभ नहीं उठाया (6.1%)”.”

एक अन्य महत्वपूर्ण अध्ययन निष्कर्ष यह है कि ईसीएलजीएस का लाभ उठाने वाले उधारकर्ताओं ने अच्छा पुनर्भुगतान व्यवहार प्रदर्शित किया है. अध्ययन से पता चला है कि सुविधा का लाभ उठाने के तीन महीने के भीतर 38% खातों में पुनर्भुगतान शुरू हो गया, और एक वर्ष में यह बढ़कर 82% हो गया. एमएसएमई बाजार (ईसीएलजीएस उधारकर्ताओं को छोड़कर) में समग्र पुनर्भुगतान प्रवृत्तियों की तुलना में ईसीएलजीएस का लाभ उठाने वाले उधारकर्ताओं के मामले में चुकौती दर में सुधार हुआ है.

सूक्ष्म उद्यमों ने आगे बढ़ाया; सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों के बैंकों ने धन की आपूर्ति की

चूंकि एमएसएमई दैनिक नकदी प्रवाह पर निर्भर हैं, इसलिए वे किसी भी प्रकार के आर्थिक संकट के प्रति बहुत संवेदनशील हैं. इन उद्यमों के पास आम तौर पर संकट की स्थिति का सामना करने में मदद करने के लिए अतिरिक्त भंडार या नकद अधिशेष नहीं होता है. ईसीएलजीएस को इन उद्यमों को तत्काल तरलता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया था. ट्रांसयूनियन सिबिल के विश्लेषण से पता चलता है कि यह योजना इस उद्देश्य को पूरा करने में सक्षम है, क्योंकि मार्च 2022 तक ईसीएलजीएस का लाभ उठाने वाले 83 प्रतिशत सूक्ष्म उद्यम थे. इस श्रेणी के भीतर, 54% उधारकर्ता ऐसे थे जिनका ईसीएलजीएस का लाभ उठाने के समय कुल एक्सपोजर 10 लाख रुपये तक था. चार्ट 1 देखें.

महिंद्रा नवरात्रि, 26 सितंबर, 2022 से नई स्कॉर्पियो-एन की डिलीवरी शुरू करेंगे

मुंबई, 30 अगस्त, 2022: भारत में एसयूवी सेगमेंट में अग्रणी, महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड ने आज ब्लॉकबस्टर एसयूवी, ऑल-न्यू स्कॉर्पियो-एन की डिलीवरी शुरू करने की घोषणा की, जिसे इस साल जून में लॉन्च किया गया था। कंपनी 26 सितंबर, 2022 को नवरात्रि के उत्सव के अवसर से नई स्कॉर्पियो-एन की डिलीवरी शुरू करेगी और डिलीवरी शुरू होने के शुरुआती 10 दिनों के भीतर 7,000 से अधिक वाहनों की डिलीवरी करने की योजना है।

कंपनी ने ज़ेड8-एल वैरिएंट की प्राथमिकता डिलीवरी की घोषणा की, और आश्वस्त किया कि ज़ेड8-एल की पहली 25,000 बुकिंग्स दो महीने में पूरी कर ली जाएगी। हालांकि अलग-अलग वैरिएंट्स के लिए प्रतीक्षा अवधि भिन्न-भिन्न है, लेकिन शुरुआती 25,000 बुकिंग्स - जिन पर आकर्षक आरंभिक कीमत की पेशकश भी की गई - की औसत प्रतीक्षा अवधि मात्र चार महीने होगी।

इस अवसर पर, विजय नाकरा, प्रेसिडेंट, ऑटोमोटिव डिवीजन, एम एंड एम लिमिटेड, ने कहा, हमें नवरात्रि के शुभ अवसर पर नई स्कॉर्पियो-एन की डिलीवरी शुरू करते हुए खुशी हो रही है। हम वाहनों को पूरी ताकत से रोल आउट करने के लिए प्रतिबद्ध हैं, और हमारी अत्यधिक स्वचालित विनिर्माण लाइन, जो स्कॉर्पियो-एन पर निवेश का एक हिस्सा थी, हमें तेजी से डिलीवरी हासिल करने में मदद करेगी।

सीआरएम चैनलों के माध्यम से पहली 25,000 बुकिंग के लिए डिलीवरी टाइमलाइन के बारे में कल से सूचित किया जाएगा, जबकि पहली 25,000 बुकिंग्स के बाद के ग्राहकों को अगले 10 दिनों में उनकी अनुमानित डिलीवरी अवधि के बारे में सूचित किया जाएगा।

स्कॉर्पियो-एन को एक बिल्कुल नए प्लेटफॉर्म पर तैयार किया गया है, जिसमें डिजाइन, रोमांचकारी प्रदर्शन, उन्नत तकनीक, सहज ज्ञान युक्त विशेषताएं, परिष्कृत गतिशीलता और व्यापक सुरक्षा उपकरण शामिल हैं। इसने 30 जुलाई, 2022 को 30 मिनट से भी कम समय में 1,00,000 से अधिक बुकिंग के साथ एक नया रिकॉर्ड दर्ज कराया।

 

टाटा स्वच्छ टेक जल कम्युनिटी वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स भारत के 23 राज्यों में ग्रामीण समुदायों को पीने का स्वच्छ और सुरक्षित पानी उपलब्ध करा रहे

मुंबई, 30 अगस्त 2022:  टाटा केमिकल्स के सहायक, एनकरेज सोशल एंटरप्राइज़ फाउंडेशन ने देश के सुदूर इलाकों में सुरक्षित पानी उपलब्ध कराने के लिए पांच सालों में 457 'टाटा स्वच्छ टेक जल' वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स लगाए हैं। भारत के 23 राज्यों में चलाई गयी इस पहल के लाभ एक लाख से भी ज़्यादा लोगों को मिल रहे हैं।

अब इस पहल की वजह से भारत 300 से भी ज़्यादा गावों के लोगों को पीने के लिए स्वच्छ पानी मिल पा रहा है। 'सर्विंग सोसाइटी थ्रू सायंस' यानी विज्ञान के ज़रिए समाज की सेवा इस टाटा केमिकल्स के मिशन को यह पहल रेखांकित कर रही है। पानी की कमी की वजह से दूषित पानी से होने वाली कई बिमारियों का खतरा बढ़ता है इस बात को मद्देनज़र रखते हुए, ग्रामीण इलाकों के लोग टाटा स्वच्छ टेक जल वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स के प्रमुख लाभार्थी हैं। इन यूनिट्स से उनके लिए फिल्टर्ड पानी आसानी से मिलने योग्य और किफायती बना है। इस पहल के लाभ देश भर के 116 विद्यालयों को भी मिल रहे हैं।

टाटा केमिकल्स के एचआर और सीएसआर के चीफ श्री आर नंदा ने कहा, "समाज का ऋण चुकाने के लिए टाटा केमिकल्स हमेशा से ही प्रयासरत रहा है।  स्वास्थ्य के लिए सबसे बुनियादी आवश्यकता है पीने के लिए सुरक्षित पानी। हमने अक्सर देखा है कि पेय जल के अभाव की वजह से सुदूर इलाकों के लोगों कई तकलीफों का सामना करना पड़ता है। हमारे 70 से ज़्यादा सहयोगियों और लोगों के समर्थन के कारण ही इन्स्टॉल किए गए टाटा स्वच्छ टेक जल वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स की संख्या पिछले साल के मुकाबले 81% से बढ़ी है।"  

टाटा स्वच्छ टेक जल वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स बिजली के बिना चलाए जाते हैं और इनमें पानी का नुकसान नहीं होता, इसीलिए यह पानी के शुद्धिकरण का टिकाऊ और पर्यावरण के अनुकूल विकल्प है। आम तौर पर आरओ प्यूरिफायर्स में फिल्ट्रेशन प्रक्रिया के दौरान काफी पानी का नुकसान होता है। लेकिन टाटा स्वच्छ टेक जल वॉटर प्यूरिफिकेशन यूनिट्स उन्नत अल्ट्राफिल्ट्रेशन प्यूरिफिकेशन प्रौद्योगिकी पर काम करते हैं जिससे पानी के बहुत ही कम नुकसान के साथ पीने के लिए स्वच्छ पानी मिलता है, जब कि पारंपरिक आरओ में शुद्धिकरण की प्रक्रिया में करीबन 60% पानी का नुकसान होता है। टाटा केमिकल्स द्वारा प्रस्तुत किया गया यह पर्यावरण के अनुकूल विकल्प पानी के महत्त्व को समझने के वर्ल्ड वॉटर वीक 2022 के विषय के अनुसार है।

एनकरेज की शुरूआत 2018 में की गयी। इस सामाजिक उद्यम में ऐसी गतिविधियां चलायी जाती हैं जिससे पीने के लिए स्वच्छ और सुरक्षित पानी की मूल समस्या से निपटने और दूषित पानी के कारण होने वाली बिमारियों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है।

श्री. आर नंदा ने बताया, "संयुक्त राष्टसंघ की जानकारी के अनुसार दुनिया में हर तीन में से एक व्यक्ति को पीने के लिए सुरक्षित पानी नहीं मिल पा रहा है और ऐसे समय में हम भारत में इन सुविधाओं को लोगों तक पहुंचा पा रहे हैं। हमारे समुदायों के स्वास्थ्य और कल्याण के लिए इस तरह की परियोजनाओं को चलाने के लिए हम लगातार प्रयास करते हैं और 'SPICE यानी सुरक्षा, जज़्बा, ईमानदारी, देखभाल और उत्कृष्टता' के हमारे मूल्यों का पालन कर रहे हैं।"

समुदायों को स्वच्छ पानी देने के अलावा इस पहल ने बहुत ही किफायती कीमत में पेय जल वितरण के लिए वॉटर किओस्कस् सेट अप करके समुदाय स्तर पर उद्यमशीलता को भी बढ़ावा देने में मदद की है। फ़िलहाल तेलंगाना, महाराष्ट्र, अंदमान और निकोबार, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में इस तरह के टाटा स्वच्छ टेक जल डिस्पेंसर यूनिट्स कार्यरत हैं।

Monday, August 29, 2022

घुमंतू , अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति का महा मुक्ति दिवस 31 अगस्त को


--मुख्यमंत्री अशोक गहलोत धन्यवाद देने पहुंचेंगे तीस हजार लोग

जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में 31 अगस्त को मनाया जा रहे घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति महा मुक्ति दिवस पर प्रदेशभर से घुमंतु ,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति तथा कच्ची बस्ती के नागरिक मुख्यमंत्री द्वारा खानाबदोश तथा कच्ची बस्ती में रहने वाले नागरिकों के हित में की गई घोषणाओं से प्रभावित होकर घुमंतू,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति महा मुक्ति दिवस पर राजस्थान की राजधानी जयपुर पहुंच कर उन्हें धन्यवाद देंगे,
घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश अध्यक्ष रतन नाथ कालबेलिया ने बताया कि परिषद हर वर्ष घुमंतू अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति महा मुक्ति दिवस मनाता आ रहा है लेकिन इस बार पहली बार इतनी बड़ी संख्या में अपनी पारंपरिक वेशभूषा में , घुमंतु, अर्ध घुमंतु ,विमुक्त जाति एवं कच्ची बस्ती में रहने वाली गरीब जनता एक स्थान पर एकत्रित होकर सरकार की नीतियों का समर्थन करते हुए मुख्यमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित करेगी, इस कार्यक्रम में घुमंतु ,अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति वर्ग से संबंधित तरेपन जातियों के पंच पटेल तथा तीस हजार नागरिक भाग ले रहे हैं. कार्यक्रम में मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, अध्यक्षता प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा, एवं विशिष्ट अतिथि खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास होंगे. यह कार्यक्रम जयपुर के सिविल लाइन स्थित बाल निवास मैरिज गार्डन में आयोजित किया जाएगा .घुमंतु, अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के राष्ट्रीय संत तथा घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष जगदीश महाराज ने बताया कि जयपुर के मेट्रो स्टेशन स्थित रावण मंडी कच्ची बस्ती में विगत दिनों मुख्यमंत्री स्वयं पहुंचे थे उस समय परिषद के प्रदेश अध्यक्ष द्वारा कार्यक्रम की जानकारी उन्हें दी गई थी तब उन्होंने अपनी पूरी टीम के साथ आने का वादा किया था और कहा था कि राजस्थान में रहने वाली घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जातियों एवं कच्ची बस्तियों में रहने वाले लोगों के साथ किसी प्रकार का अन्याय नहीं होने दिया जाएगा जिसका संदेश राजस्थान भर के कोने कोने में रहने वाली घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति के लोग एवं कच्ची बस्ती के लोगों के बीच में पहुंचा है ,यही नहीं हाल ही में सरकारी भूमि पर नौ वर्ष से बसी कच्ची बस्तियों को पट्टे देने के मुख्यमंत्री की घोषणा के चलते प्रदेश भर में इस वर्ग के लोगों में आशा एवं खुशी की लहर दौड़ रही है जिसके चलते प्रदेश भर से अपनी पारंपरिक वेशभूषा में घुमंतु अर्ध घुमंतु तथा विमुक्त जाति वर्ग के नागरिक नाचते गाते मुख्यमंत्री से मिलने पहुंच रहे हैं.

जय गणेश मंदिर मैं त्रि दिवसीय गणेश महोत्सव

प्रथम पूज्य का हुआ पंचामृत अभिषेक, प्रथम पूज्य का श्रद्धालुओं ने किया अभिषेक

जयपुर. नाहरगढ़ रोड थाने के सामने जय गणेश मंदिर मैं त्रि दिवसीय गणेश महोत्सव की शुरुआत आचार्य पंडित अनूप जोशी के सानिध्य में हुई महोत्सव के प्रथम दिन 11 विद्वान पंडितों के द्वारा वैदिक मंत्रोंच्चारण के साथ भगवान गणेश का गाय के दूध पंचामृत फलों के रसों एवं विभिन्न औषधियों से भगवान का अभिषेक किया गया 

बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं भक्तों ने प्रथम पूज्य का अभिषेक कर पूजा अर्चना कर देश प्रदेश में खुशहाली की कामना की 30 अगस्त को भगवान गणेश की मेहंदी अर्पित कर भक्तों में मेहंदी वितरण की जाएगी 31 अगस्त गणेश चतुर्थी को शुभ बेला में भगवान का पंचामृत अभिषेक कर नवीन पोशाक धारण कराकर फूल बंगले में विराजमान कराया जाएगा इस मौके पर गणेश जी महाराज की लड्डुओं की झांकी सजाई जाएगी

Saturday, August 27, 2022

ड्रीमफोक्स सर्विसेज लिमिटेड ने 326 रु. प्रति इक्विटी शेयर के ऊपरी प्राइस बैंड पर 18 एंकर निवेशकों से जुटाए 252.95 करोड़ रु.

ड्रीमफोक्स सर्विसेज लिमिटेड ("कंपनी") ने 18 एंकर निवेशकों को 326 रुपये प्रति शेयर के ऊपरी प्राइस बैंड पर 77,59,066 इक्विटी शेयर आवंटित करके कंपनी के प्रस्तावित आईपीओ से पहले 252.94 करोड़ रु. जुटा लिया है।

 

एंकर आवंटन निम्नवत है:

 

क्र. सं.

एंकर निवेशक का नाम

आवंटित इक्विटी शेयर्स की संख्या

एंकर निवेशक हिस्से का %

आवंटन मूल्य ( प्रति इक्विटी शेयर)

आवंटित कुल राशि ()

1

स्मॉलकैप वर्ल्ड फंड, इंक

22,08,598

28.46%

326.00

72,00,02,948

2

आदित्य बिड़ला सनलाइफ ट्रस्टी प्राइवेट लिमिटेड A/C आदित्य बिड़ला सन लाइफ स्मॉल कैप फंड

6,13,502

7.91%

326.00

20,00,01,652

3

आदित्य बिड़ला सनलाइफ ट्रस्टी प्राइवेट लिमिटेड A/C आदित्य बिड़ला सन लाइफ मल्टीकैप फंड

6,13,456

7.91%

326.00

19,99,86,656

4

इनवेस्को इंडिया मल्टीकैप फंड

6,13,272

7.90%

326.00

19,99,26,672

5

सुंदरम म्यूचुअल फंड A/C सुंदरम सर्विसेज फंड

6,13,272

7.90%

326.00

19,99,26,672

6

अबैकस ग्रोथ फंड - 2

3,68,138

4.74%

326.00

12,00,12,988

7

कुबेर इंडिया फंड

3,68,138

4.74%

326.00

12,00,12,988

8

मालाबार इंडिया फंड

3,68,138

4.74%

326.00

12,00,12,988

9

मिराए एसेट इंडिया सेक्टर लीडर इक्विटी फंड

3,68,138

4.74%

326.00

12,00,12,988

10

क्वांट म्यूचुअल फंड A/C क्वांट वैल्यू फंड

2,43,724

3.14%

326.00

7,94,54,024

11

सेंट कैपिटल फंड

2,30,138

2.97%

326.00

7,50,24,988

12

एलारा इंडिया अपॉर्चुनिटीज फंड लिमिटेड

2,30,092

2.97%

326.00

7,50,09,992

13

मैथ्यूज एशिया फंड्स एशिया स्मॉल कंपनीज फंड

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

14

पीएनबी मेटलाइफ इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

15

सोसाइटी जेनरल - ओडीआई

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

16

विकास इंडिया ईआईएफ I फंड

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

17

सेगंटी इंडिया मॉरीशस

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

18

बीएनपी परिबास आर्बिट्रेज - ओडीआई

1,53,410

1.98%

326.00

5,00,11,660

 

कुल

77,59,066

100.00%

 

2,52,94,55,516

 

आईपीओ में प्रमोटर विक्रेता शेयरधारकों द्वारा 17,242,368 इक्विटी शेयरों की बिक्री के प्रस्ताव के माध्यम से इक्विटी शेयरों की पेशकश शामिल है। बिक्री के लिए प्रस्ताव में मुकेश यादव के 6,531,200 इक्विटी शेयर, दिनेश नागपाल के 6,531,200 इक्विटी शेयर और लिबराथा पीटर कल्लट के 4,179,968 इक्विटी शेयर शामिल हैं।

 

ऑफर के लिए प्राइस बैंड ₹308 से ₹326 प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया है। न्यूनतम 46 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 46 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है।

 

इक्विरस कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड और मोतीलाल ओसवाल इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स लिमिटेड ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर ("बीआरएलएम") हैं।

 

 

बीओबी फाइनेंशियल ने भारतीय सेना के साथ को-ब्रांडेड रुपे कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड लॉन्च किया

मुंबई, 27 अगस्त, 2022- बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी बीओबी फाइनेंशियल सॉल्यूशंस लिमिटेड (बीएफएसएल) और भारतीय सेना ने को-ब्रांडेड रुपे कॉन्टैक्टलेस क्रेडिट कार्ड ‘योद्धा’ लॉन्च किया है। यह क्रेडिट कार्ड नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के साथ साझेदारी में लॉन्च किया गया है। योद्धा को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड संपर्क रहित सुविधाओं से लैस होगा और इसे रुपे प्लेटफॉर्म पर पेश किया गया है।

को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड - योद्धा को किसी अन्य क्रेडिट कार्ड की तरह क्यूरेट किया गया है, जो भारतीय सेना के कर्मियों के लिए सर्वश्रेष्ठ सुविधाओं और लाभों की पेशकश करता है।

को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड सभी भारतीय सेना कर्मियों को लाइफ टाइम फ्री (एलटीएफ) प्रदान किया जाएगा। योद्धा के साथ अनेक आकर्षक उपहार भी आते हैं, जिनमें शामिल हैं वेलकम गिफ्ट, एक्टिवेशन और खर्च-आधारित उपहार। इस कार्ड के साथ घरेलू हवाई अड्डे के लाउंज का कॉम्प्लीमेंट्री उपयोग भी किया जा सकता है और यह गोल्फ खेल/लेसंस भी प्रदान करेगा।

योद्धा क्रेडिट कार्ड आकर्षक बेस और एक्सेलरेटेड रिवॉर्ड पॉइंट भी प्रदान करेगा। व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, 1 प्रतिशत ईंधन सरचार्ज छूट, एलटीएफ ऐड-ऑन, ईएमआई ऑफ़र और समय-समय पर मर्चेंट ऑफ़र जैसे बॉब फाइनेंशियल के साथ-साथ एनपीसीआई द्वारा किए गए टाई-अप जैसी सुविधाएं भी लागू होंगी।

इस अवसर पर बोलते हुए, भारतीय सेना के मेजर जनरल अशोक सिंह ने कहा, ‘‘बैंक ऑफ बड़ौदा द्वारा सैन्य कर्मियों के लिए पेश किए गए उत्पादों और समाधानों की भारतीय सेना सराहना करती है। हम आकर्षक सुविधाओं और लाभों को शामिल करने के लिए बीओबी फाइनेंशियल सॉल्यूशंस लिमिटेड को धन्यवाद देते हैं। हमें यकीन है कि को-ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड योद्धा भारतीय सेना के कर्मियों को रोजमर्रा की सुविधा और लाभों का उपयोग करने में मदद करेगा।’’

इस कार्ड की लॉन्चिंग पर टिप्पणी करते हुए बीओबी फाइनेंशियल सॉल्यूशंस लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्री शैलेंद्र सिंह ने कहा, ‘‘हम भारतीय सेना के साथ साझेदारी करके सम्मानित महसूस कर रहे हैं और इस साझेदारी से हमें प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है। विशिष्ट रूप से डिज़ाइन किया गया क्रेडिट कार्ड भारतीय सेना के कर्मियों को निर्बाध भुगतान सुविधा और लाभ प्रदान करेगा। यह साझेदारी विभिन्न बैंकिंग समाधान पेश करके भारतीय सशस्त्र बलों की सेवा करने के लिए बैंक ऑफ बड़ौदा की प्रतिबद्धता का एक प्रमाण है।’’

नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया की सीओओ सुश्री प्रवीणा राय ने कहा, ‘‘यह हमारे लिए एक विशेष अवसर है कि बीओबी फाइनेंशियल भारतीय सेना के कर्मियों के लिए रुपे क्रेडिट कार्ड लॉन्च कर रहा है। इस तरह बीओबी फाइनेंशियल का रुपे क्रेडिट कार्ड पोर्टफोलियो और मजबूत होता है। मुझे बहुत खुशी है कि एनपीसीआई और रुपे के लिए एक मजबूत भागीदार बीएफएसएल देश में सबसे तेजी से बढ़ते क्रेडिट कार्ड जारीकर्ताओं में से एक है। आर्मी कार्ड भारतीय सेना कर्मियों के साथ-साथ उनके निकट और प्रियजनों को एक सुरक्षित, संपर्क रहित, आसान और पूर्ण भुगतान अनुभव के साथ सशक्त करेगा, जो रुपे के इनोवेशन और टैक्नोलॉजी आधारित प्लेटफॉर्म द्वारा संचालित है।

टीवीएस मोटर कंपनी ने फॉर्मूला 1 ड्राइवर नारायण कार्तिकेयन के स्टार्ट - अप “ड्राइवएक्स” में निवेश की घोषणा की

चेन्नई, 27 अगस्त, 2022: वैश्विक स्तर पर दोपहिया और तिपहिया वाहनों के अग्रणी निर्माताओं में से एक टीवीएस मोटर कंपनी ने आज नारायण कार्तिकेयन के स्टार्ट - अप “ड्राइवएक्स” (एनकेआर मोबिलिटी मिलेनियल सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड) में निवेश की घोषणा की। ड्राइवएक्स, प्री-ओन्ड टू व्हीलर प्लेटफॉर्म है। टीवीएस मोटर को प्री-ओन्ड टू-व्हीलर बाजार में मजबूत संभावना दिख रही है जो असंगठित से संगठित क्षेत्र में संरचनात्मक रूप से बदल रहा है। प्री-ओन्ड टू-व्हीलर बाजार तेजी से बढ़ रहा है और हाल के वर्षों में डिजिटलीकरण और स्टार्ट - अप के उदय से प्रेरित होकर निवेशशों और ग्राहकों ने इसमें काफी रुचि प्रदर्शित की है। ड्राइवएक्स में इस निवेश का उद्देश्य इस परिवर्तन को गति देने हेतु अभिनव समाधानों को सक्षम बनाना है।

भारत के पहले फॉर्मूला 1 ऐस रेसिंग ड्राइवर नारायण कार्तिकेयन द्वारा स्थापित, ड्राइवएक्स प्री-ओन्ड टू-व्हीलर मूल्य श्रृंखला में मौजूद पूरी तरह से एकीकृत मॉडल है। इसमें मल्टी - ब्रांड प्री-ओन्ड दोपहिया वाहनों की खरीद, रिफर्बिशमेंट और खुदरा बिक्री सहित सभी मुख्य क्षेत्र शामिल हैं। अप्रैल 2020 में निगमित, ड्राइवएक्स ने किफायती और लचीले गतिशीलता समाधान प्रदान करने वाले टू-व्हीलर सब्सक्रिप्शन प्लेटफॉर्म के रूप में शुरुआत की और कम समय में ही यह पांच शहरों में अपना विस्तार कर चुका है।

इस अवसर पर, ड्राइवएक्स के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, नारायण कार्तिकेयन ने कहा, “प्री-ओन्ड टू-व्हीलर मार्केट आज तेजी से बदल रहा है। ड्राइवएक्स डिजिटल-फर्स्ट बिजनेस है, जो विभिन्न मूल्य श्रृंखलाओं में विशिष्ट विश्लेषिकी-आधारित क्षमताओं के साथ सभी ब्रांडों के लिए सेवा प्रदान करता है। हम प्री-ओन्ड टू-व्हीलर सेगमेंट में नए बिजनेस मॉडल लॉन्च करने में भी सफल रहे हैं, जैसे कि सब्सक्रिप्शन मॉडल। आने वाले वर्षों में, ड्राइवएक्स का उद्देश्य पूरे भारत में और फिर दूसरे भौगोलिक क्षेत्रों में अपनी उपस्थिति को मजबूत करना है। टीवीएस मोटर कंपनी के इस निवेश से, हम ड्राइवएक्स विज़न को विस्तृत रूप प्रदान करने और ग्राहकों की अपेक्षाओं से बढ़कर प्री-ओन्ड टू-व्हीलर बिजनेस उपलब्ध कराने को लेकर आश्वस्त हैं।"

इस निवेश की घोषणा करते हुए, टीवीएस मोटर कंपनी के प्रबंध निदेशक, सुदर्शन वेणु ने कहा, “प्री-ओन्ड टू-व्हीलर मार्केट आज काफी हद तक असंगठित है। ड्राइवएक्स ने कम समय में जो कुछ भी किया है, उसे देखकर खुशी हो रही है। नारायण और उनकी टीम ने एक अनूठा मंच बनाया है जो जल्दी से बढ़ सकता है। ड्राइवएक्स का विजन अभिनव समाधानों के माध्यम से संपूर्ण, उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों और ग्राहक अनुभव के जरिए विश्वास, आश्वासन और पारदर्शिता का निर्माण करके इस सेगमेंट में बदलाव लाने का है। हमें इस विजन को पूरा करने में ड्राइवएक्स की क्षमता पर भरोसा है।"

महिंद्रा लॉजिस्टिक्स ने ग्रोसरी सेगमेंट में मजबूती से जमाए अपने कदम

मुंबई, 27 अगस्त 2022- भारत के बड़े 3पीएल समाधान प्रदाता कंपनियों में से एक महिंद्रा लॉजिस्टिक्स लिमिटेड (एमएलएल) ने ग्रोसरी सेगमेंट में अपनी मजबूत मौजूदगी कायम की है। कंपनी ने पिछले साल ही अपने बी2सी किराना व्यवसाय के लिए एंड-टू-एंड सेवाओं में प्रवेश किया है। कंपनी ने आज अपना एक और फुलफिलमेंट सेंटर लॉन्च करने की घोषणा की। देशभर में यह कंपनी का ग्यारहवां और हैदराबाद शहर में तीसरा नया फुलफिलमेंट सेंटर हे। टैक्नोलॉजी पर आधारित यह नया फुलफिलमेंट सेंटर विशेष रूप से किराना सेगमेंट में क्विक कॉमर्स को संभव बनाएगा।

छोटी सी अवधि के भीतर ही एमएलएल ने दूध से संबंधित ट्रांसपोर्टेशन, माइक्रो फुलफिलमेंट सेंटर्स (डार्क स्टोर्स) और अंतिम छोर तक डिलीवरी की अपनी संपूर्ण सेवाओं के साथ पूरे भारत में अपनी परिचालन क्षमता स्थापित कर ली है। कंपनी ने इस सेगमेंट के लिए जो नेटवर्क बनाया है, वह अपनी श्रेणी में सबसे अच्छा है और बड़ी मात्रा में काम करने के लिए सुसज्जित है। ये फुलफिलमेंट सेंटर 5 शहरों (बैंगलोर, विजाग, विजयवाड़ा, हैदराबाद और कोलकाता) में फैले हुए हैं और वर्तमान में प्रति दिन 6 लाख से अधिक यूनिट और 15000$ स्टोर में सेवा दे रहे हैं।

इस विस्तार पर टिप्पणी करते हुए, महिंद्रा लॉजिस्टिक्स के मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ श्री रामप्रवीण स्वामीनाथन ने कहा, ‘‘उपभोक्ता मांग के बदलते पैटर्न के साथ, हम अपनी पहुंच को लगातार बढ़ाने के लिए अपने नेटवर्क का विस्तार कर रहे हैं। आवश्यक सेवा एक तेजी से बढ़ती श्रेणी है, और हम अपनी सुविधाओं को उन शहरों में लाने पर विचार कर रहे हैं जहां ये सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं। हम कस्टमाइज्ड और टैक्नोलॉजी आधारित समाधानों के माध्यम से बी2सी क्षेत्र में एक सुसंगत ग्राहक अनुभव प्रदान करने में विश्वास करते हैं। ये ऑपरेशन हमारे लास्ट-माइल लॉजिस्टिक्स ब्रांड ‘व्हिज़ार्ड’ के माध्यम से अंतिम छोर तक माल पहुंचाने की प्रक्रिया के साथ तालमेल भी करते हैं, जिसे हमने इस साल अप्रैल में हासिल किया था।’’

एमएलएल इन बी2सी फुलफिलमेंट सेंटर्स के माध्यम से 1500$ लोगों के लिए रोजगार पैदा कर रहा है। एमएलएल अधिक समावेशी होने के अपने प्रयासों में दृढ़ रहा है। कंपनी ने देश भर में अपने गोदामों में एलजीबीटीक्यू समुदाय के लोगों और दिव्यांग जनों को सक्रिय रूप से नियुक्त किया है। इसी तरह, एमएलएल विभिन्न पृष्ठभूमि और अनुभवों से अधिक महिलाओं को काम पर रखकर लिंग विविधता संबंधी अंतर को दूर करने का प्रयास भी कर रहा है।

 

 

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने स्वास्थ्य, वाहन और कॉर्पोरेट सेक्टर में 14 नए उत्पाद लॉन्च किए

मुंबई, अगस्त 27, 2022: भारत में निजी क्षेत्र की अग्रणी गैर-जीवन बीमा कंपनी आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने 14 नए और पहले से उन्नत बीमा उत्‍पादों की शुरूआत की है। इसके जरिए कंपनी ने बीमा समाधानों की अपनी नवीनतम लाइन-अप की शुरूआत की है। इसमें स्वास्थ्य, वाहन, यात्रा और कॉर्पोरेट सेक्टर में राइडर्स/एड-ऑन और अपग्रेड शामिल हैं। कंपनी ने शुक्रवार को मुंबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बात की घोषणा की है। कंपनी ने अपने इस पेशकश में ग्राहकों के व्यापक स्पेक्ट्रम के लिए अलग अलग श्रेणियों में उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला पेश की है।

कंपनी का कहना है कि इन नए उत्पादों का सेट उपभोक्ताओं द्वारा बीमा का अनुभव करने के तरीके को बदल देगा, साथ ही उन्हें एक सहज और तकनीकी सक्षम समाधान प्रदान करेगा।

नए उत्‍पाद लॉन्च करने के पीछे उद्देश्य

बीमा उद्योग की बात करें तो इसमें अब नए तरह के जोखिमों को उभरता हुआ देखा जा रहा है। चाहे वह महामारी हो, जलवायु परिवर्तन हो या डाटा गोपनीयता हो। इसलिए यह ग्राहकों के बदलते व्यवहार और नए तकनीकी समाधानों और अवसरों से प्रेरित व्यापक कवरेज की मांग बढ़ी है। इसी मूल विचार को ध्‍यान में रखते हुए कंपनी ने नई पेशकशों की घोषणा की है. वहीं कंपनी द्वारा पेश किए गए नए उत्‍पाद आईआरडीएआई (बीमा नियामक और विकास प्राधिकरण) की ओर से 'यूज एंड फाइल' फ्रेमवर्क की हालिया क्रांतिकारी घोषणा से भी प्रेरित हैं।

ग्राहकों की खास जरूरतों का ध्‍यान रखा गया

आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के उत्पाद पोर्टफोलियो के विस्तार के बारे में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड के कार्यकारी निदेशक, संजीव मंत्री ने कहा कि हम आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में लाखों ग्राहकों की खास जरूरतों को ध्‍यान में रखते हुए उन्‍हें सरल और अत्याधुनिक जोखिम समाधान प्रदान करने में हमेशा सबसे आगे रहे हैं।

लगभग हर सेगमेंट के लिए एक उत्पाद

उनका कहना है कि इनोवेशन यानी कुछ नया करना हमारे संगठनात्मक डीएनए का एक हिस्सा है। हमारी व्यापक पेशकश को ग्राहकों की अनगिनत जरूरतों को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो उम्र, भौगोलिक, सामाजिक आर्थिक पृष्ठभूमि या जेंडर के अनुसार जरूरतों को पूरी करती है। उन्‍होंने कहा कि हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारे पास लगभग हर सेगमेंट के लिए एक उत्पाद है और नियामक द्वारा किए गए सुधारों से प्रेरित होकर, हमने नए उत्पादों को विकसित करने और लॉन्च करने की अपनी गति को तेज किया है।

उन्‍होंने कहा कि मेरा मानना है कि बीमा उद्योग का वर्तमान युग नएपन और संभावनाओं की फिर से कल्पना करने के लिए एक शानदार अवधि है। 14 नए उत्पादों के साथ, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड ने खुद को देश के एक पूर्व-प्रतिष्ठित और व्यापक जोखिम बीमाकर्ता के रूप में और मजबूत किया है।

कंपनी द्वारा पेश किए गए नए उत्‍पादों की मुख्य विशेषताएं और विवरण.....

गोल्‍डेन शील्ड (Golden Shield)

गोल्डेन शील्ड नागरिकों के लिए अनिश्चित स्वास्थ्य संबंधी जोखिम के खिलाफ वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है। इसका टारगेट ऐसे सेग्‍मेंट पर है, जिसपर अभी बीमा उद्योग द्वारा बहुत ज्‍यादा ध्‍यान नहीं दिया गया है। यह उत्पाद ऐसी पॉलिसी प्रदान करता है जो अस्पताल में भर्ती के खर्चों को कवर करता है, जो अधिक आयु वर्ग में ग्राहकों के लिए ज्‍यादा प्रासंगिक हैं। इस कवरेज में कमरे का किराया, आईसीयू, डॉक्टर की फीस, एनेस्थीसिया, ब्लड, ऑक्सीजन, ओटी शुल्क, दवाएं और बहुत कुछ शामिल हैं।

इसमें उन डे-केयर प्रक्रियाओं/उपचार के लिए चिकित्सा खर्च भी शामिल हैं, जिसमें 24 घंटे से कम अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता होती है. वहीं इसमें आधुनिक उपचार का खर्च भी कवर होता है, जिसमें स्टेम सेल थेरेपी, बैलून साइनुप्लास्टी, ओरल कीमोथेरेपी, रोबोटिक सर्जरी और डीप ब्रेन स्टिमुलेशन शामिल हैं। इसमें एक अनूठा ऐड-ऑन केयर कवरेज भी है, जिसके तहत वरिष्ठ नागरिकों को हेल्‍थकेयर पेशेवरों की सेवाएं मिलती हैं, जो उनके स्वास्थ्य की देखभाल करने के अलावा उनके परिवार के सदस्यों को उनके स्‍वास्‍थ्य के बारे में जानकारी देते रहते हैं ।

हेल्थ एडवांटेज एज (Health AdvantEdge)

हेल्थ एडवांटेज एज, वैश्विक नागरिकों के लिए एक प्रमुख पेशकश है, जिसमें घरेलू और विश्वव्यापी अंतर्राष्ट्रीय कवर शामिल हैं। इसमें अस्पताल में भर्ती होने से पहले और बाद में, असीमित टेलीकंसल्टेशन, एयर एम्बुलेंस और आपातकालीन सहायता सेवाओं को बढ़ाना शामिल है।

बेफिट (BeFit)

इस उत्‍पाद को हाल ही में पेश किया गया और यह कैशलेस ओपीडी पॉलिसी के रूप में इंडस्‍ट्री में अपनी तरह का पहला उत्‍पाद है. यह खांसी/जुकाम या मामूली चोटों जैसी सामान्य बीमारियों को कवर करता है, जिसमें अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होती है। यह हानि से सुरक्षा देने वाले स्वास्थ्य उत्पादों के लिए एक ऐड-ऑन राइडर है, जो नियमित ओपीडी परामर्श, डायग्‍नोस्टिक टेस्ट, फिजियोथेरेपी और फार्मेसी बिलों के लिए व्‍यापक कवरेज को सक्षम बनाता है। यह शुरुआत में 20 स्थानों पर लॉन्च किया गया था, अब इसने 50 स्थानों तक अपनी पहुंच बढ़ा दी है।

व्यापक स्वास्थ्य बीमा (CHI) और amp; हेल्थ बूस्टर

कंपनी के पास सीएचआई, हेल्थ बूस्टर, क्रिटीशील्ड और फैमिलीशील्ड जैसे सभी वर्गों और आयु समूहों में कई उत्पाद हैं जो रिटेल स्वास्थ्य उत्पादों के व्यापक प्रसार की पेशकश करते हैं और ये कंपनी के केयर फिलोसॉफी के अनुरूप हैं।

मोटर फ्लोटर बीमा (Motor Floater Insurance)

मोटर फ्लोटर पॉलिसी के साथ ग्राहक अपनी सभी मोटर पॉलिसियों के लिए सिंगल पॉलिसी, सिंगल नवीनीकरण तिथि और सिंगल प्रीमियम की सुविधा पा सकते हैं। इस उत्पाद को चुनने वाले ग्राहकों को इस पॉलिसी के तहत उनके कई वाहनों के लिए एक किफायती प्रीमियम प्रदान किया जाता है।

टेलीमैटिक्स ऐड-ऑन (Telematics add-on)

यह ऐड-ऑन कवर बेस मोटर उत्पाद को 'एसेट कम यूसेज' आधारित उत्पाद में बदल देता है। जिसमें बेस मोटर वाहन के बीमा के लिए लिया जाने वाला प्रीमियम आंशिक रूप से उपयोग पर निर्भर करेगा।

o   पे-ऐज-यू-यूज प्‍लान (Pay-As-You-Use) (PAYU)

ग्राहकों को उपयोग के आधार पर विभिन्न "किलोमीटर योजनाओं" में से चुनने की सुविधा प्रदान की जाएगी। इसलिए पॉलिसी के लिए प्रीमियम केवल उस सीमा तक सीमित होगा, जिस सीमा तक वाहन का उपयोग किया जाता है या ग्राहक द्वारा उपयोग किए जाने का अनुमान लगाया जाता है।

o   पे-हाउ-यू-यूज प्‍लान (PHYU)

इस प्लान के तहत, ड्राइविंग बिहेवियर स्कोर के अनुसार चार्ज किया गया प्रीमियम बदल जाएगा. अच्छा ड्राइविंग व्यवहार वाला ग्राहक पॉलिसी के मूल प्रीमियम पर आकर्षक छूट प्राप्त कर सकता है.

आपातकालीन चिकित्सा व्यय कवर (Emergency Medical Expense Cover)

ईएमई ऐड-ऑन दुर्घटना की स्थिति में वाहन रखने वालों को चिकित्सा पर खर्च के खिलाफ कवर मिलता है और अस्‍पताल में उपचार के लिए दैनिक नकद लाभ भी मिलता है।

समान मासिक किस्त (EMI) प्रोटेक्ट

ईएमआई कवर ऐड-ऑन उन मामलों के लिए लागू होता है, जहां दुर्घटना में वाहन शामिल होता है। यह कुल उत्तरदायी ईएमआई राशि को कवर करता है जिसके लिए बीमित व्यक्ति का वाहन गैरेज में मरम्मत के अधीन है।

क्लब रॉयल होम इंश्योरेंस (Club Royale Home Insurance)

क्लब रॉयल होम इंश्योरेंस को अभिजात वर्ग के आधार पर बनाया गया है, जिसमें न केवल उनकी आवासीय इकाइयों, बल्कि उनके परिवार, पालतू जानवरों और नियुक्त कर्मचारियों से संबंधित पूर्ण सुरक्षा सुनिश्चित की जाती है। यह उत्पाद एक ही पॉलिसी में कई संपत्तियों और स्थानों का बीमा करने के साथ घर के मालिकों को बेचा जा सकता है। यह ऐड-ऑन की एक व्‍यापक श्रृंखला के साथ एक व्यापक उत्पाद है, जिसे आवश्यकता के अनुसार अनुकूलित किया जा सकता है।

वोयाजर यात्रा बीमा (Voyager Travel Insurance)

इस उत्पाद के तहत नया कवर, स्वयं संचालित छुट्टी, क्रूज आदि जैसी उभरती जरूरतों को पूरा करता है, और यात्रियों की जीवन शैली और उनकी प्राथमिकताओं को दर्शाता है। ग्रुप और कॉर्पोरेट कवरेज के लिए एकल समाधान वाला यह उत्पाद एक साल तक की घरेलू और विदेशी यात्रा दोनों को कवर करता है।

लायबिलिटी फ्लोटर (Liability Floater)

यह उत्‍पाद साइबर, कर्मचारियों की बेईमानी, निदेशक और पेशेवर क्षतिपूर्ति या वाणिज्यिक सामान्य देयता सहित कई देनदारियों के एवजी में एसएमई / स्टार्टअप को लिए व्यापक कवरेज देता है।

ड्रोन बीमा (Drone Insurance)

इस उत्‍पाद द्वारा ड्रोन निर्माताओं/ऑपरेटरों या लॉजिस्टिक कंपनियों को पेलोड सहित ड्रोन की चोरी/हानि या क्षति की स्थिति में एक व्यापक बीमा प्रदान किया जाता है।

खुदरा साइबर देयता बीमा (Retail Cyber Liability Insurance).

यह उत्‍पाद व्यक्तियों और उनके परिवारों को ऐसे किसी भी साइबर धोखाधड़ी या डिजिटल जोखिम से सुरक्षा प्रदान करता है, जिसके परिणामस्वरूप उन्‍हें वित्तीय या उनकी प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचता है ।

इनोवेशन से प्रेरित है कंपनी

एक कंपनी के रूप में आईसीआईसीआई लोम्बार्ड इनोवेशन यानी नएपन से प्रेरित है और ये उत्पाद उसी का एक मजबूत उदाहरण हैं। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड विभिन्न प्रकार के तकनीकी-सक्षम समाधान प्रदान करता है। उदाहरण के तौर पर इसका आईएल टेककेयर ऐप है, जिसे 2.4 मिलियन से अधिक डाउनलोड किया गया है। यह ऐप यूजर्स को पॉलिसी खरीदने, क्‍ल्रेम यानी दावों को संभालने के साथ-साथ उन्हें एक ही प्लेटफॉर्म पर नवीकरण करने की सुविधा देता है। इन सबमें ग्राहकों को आसानी भी होती है। इसके अलावा, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड में आरआईए (रिस्पॉन्सिव इंटेलिजेंट असिस्टेंट), एक एनएलपी-सक्षम चैटबॉट भी है जो एंड-यूजर अनुभव को अपग्रेड करने में मदद करेगा।

बीपीसीएल ने ग्रीनटेक क्वालिटी एंड इनोवेशन अवार्ड 2022 में हासिल किए 17 अवार्ड्स

मुंबई, 27 अगस्त, 2022- देश की महारत्न कंपनियों मंे से एक और फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पाेरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने ‘ग्रीनटेक क्वालिटी एंड इनोवेशन अवार्ड्स’ और ‘ग्रीनटेक एनवायरनमेंट एंड सीएसआर अवार्ड्स’ में विभिन्न श्रेणियों में कई पुरस्कार हासिल किए। गुवाहाटी में आयोजित एक शानदार समारोह में उद्योग से सर्वश्रेष्ठ कंपनियों के बीच प्रतिस्पर्धा में बीपीसीएल को यह अवार्ड प्रदान किए गए।

ये पुरस्कार टोटल क्वालिटी और इनोवेशन के क्षेत्रों में उत्कृष्ट उपलब्धियों को मान्यता प्रदान करते हैं और ऐसे सस्टेनेबल गोल्स हो हासिल करने की दिशा में किए गए प्रयासों को स्वीकार करते हैं, जो कार्बन फुटप्रिंट को कम करते हैं, पर्यावरण संरक्षण में सुधार करते हैं और पर्यावरण के लाभ के लिए लंबे समय तक चलने वाले परिवर्तन पैदा करते हैं।

असम के माननीय पर्यावरण और वन मंत्री श्री चंद्र मोहन पटोवरी और डॉ अरूप कुमार मिश्रा, अध्यक्ष, असम राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने ये पुरस्कार प्रदान किए।

बीपीसीएल ने अनुसंधान एवं विकास केंद्र, रिटेल, लुब्रिकेंट्स, मुंबई रिफाइनरी, आईएस विभाग और गुणवत्ता नियंत्रण कक्ष सहित विभिन्न व्यावसायिक इकाई श्रेणियों में सत्रह प्रतिष्ठित पुरस्कार प्राप्त किए, और कंपनी सत्रह प्रस्तावित श्रेणियों में जैसे, प्रोडक्ट इनोवेशन में चार श्रेणियां, टैक्नोलॉजी इनोवेशन में तीन श्रेणियां, पर्यावरण इनोवेशन में दो श्रेणियां, प्रोसेसे इनोवेशन में पांच श्रेणियां, पोटेंशियल इनोवेशन और पर्यावरण चैंपियन में भी पुरस्कारों की दौड़ में आगे रही। 

यह पुरस्कार उन सार्वजनिक उपक्रमों के प्रयासों का सम्मान करते हैं जो देश के अनुसंधान और विकास के लिए महत्वपूर्ण रहे हैं। विजेताओं का निर्णय उनके उत्पाद के आधार पर और उनकी पेशेवर प्रस्तुतियों के आधार पर भी किया जाता है। इस दौरान जूरी को तथ्यों और आंकड़ों के आधार पर उच्च स्तर के विवरण के साथ-साथ कंपनी के प्रोडक्ट और कंपनी की कारोबारी योजनाओं को एक बेहतर विजन के साथ प्रस्तुत किया जाता है।

ग्रीनटेक क्वालिटी एंड इनोवेशन अवार्ड्स की स्थापना हितधारकों से जुड़ी विनिर्माण प्रक्रियाओं / सेवा वितरण में प्रक्रियाओं के सुधार और कार्यान्वयन को प्रोत्साहित करने और प्रेरित करने के लिए की गई है। ये ऐसे संगठनों को प्रदान किए जाते हैं, जिन्होंने अपने क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान किया हो।

ज्यूपिटर ने एक मिलियन यूजर्स को नए सैलरी अकाउंट की सुविधा देने के लिए रेज़रपेएक्स के साथ साझेदारी की

भारत, बेंगलुरु, 27 अगस्त 2022 : आधुनिक युग के डिजिटल प्लटेफॉर्म, ज्‍यूपिटर, ने रेज़रपे की नई बैंकिंग शाखा, रेज़रपेएक्‍स के साथ साझेदारी की है। यह साझेदारी कंपनियों के लिए एक व्‍यापक पेरोल प्लेटफॉर्म मुहैया कराने के लिए की गई है, जिससे कर्मचारियों को उनकी ज्‍वाइनिंग के पहले दिन से ही सुविधाजनक ऑन-डिमांड बैंकिग अनुभव मिलेगा। यह अनूठी साझेदारी किसी भी कंपनी को अपने संस्थान में कर्मचारियों की सैलरी से लेकर सभी चीजों को मैनेज करने के लिए सिंगल डैशबोर्ड मेंटेन करने में सक्षम बनाती है। इससे सैलरी की गणना और सैलरी का वितरण करने की सारी प्रक्रिया स्वचालित रूप से होती है। साथ ही बिना किसी परेशानी के कर्मचारियों के प्रोविडेंट फंड, ग्रेच्युटी, इंश्योरेंस, सैलरी अकाउंट और अन्य चीजों को आसानी से मैनेज किया जा सकता है।

इस साझेदारी से कोई भी कॉर्पोरेट ज्‍यूपिटर के साथ अपनी कर्मचारियों के सैलरी अकाउंट केवल 5 मिनट में खोल सकता है। इसके लिए संस्थान को दिए गए एक विशेष लिंक का इस्‍तेमाल किया जाता है। इसके बाद प्रासंगिक कर्मचारी का विस्तृत विवरण अपने आप ही रेज़रपेएक्स के पेरोल में पहुंच जाता है, जिससे सैलरी तुरंत ही ट्रांसफर हो जाती है तथा कंपनी को पेरोल प्रोसेस करने में केवल 10 मिनट का समय लगता है। ज्‍यूपिटर प्रो सैलरी अकाउंट के साथ, कर्मचारी पहले दिन से ही व्‍यापक कवरेज के साथ स्वास्थ्य बीमा तक पहुंच हासिल कर सकते हैं; इसमें ऑन-डिमांड सैलरी मिल सकती है और कोई भी दिन आपका सैलरी मिलने का दिन हो सकता है! इसमें किसी तरह का ब्याज और प्रोसेसिंग फीस नहीं लगती; डोमेस्टिक डेबिट कार्ड पर आकर्षक पुरस्कार मिलते हैं और हर महीने चुनिंदा यूपीआई पर खर्च की सुविधा मिलती है। साथ ही आपके रिवॉर्ड एक्सपायर नहीं होते; इसमें  एक आसान मनी ट्रैकिंग टूल भी है, जो खर्चों को अपने आप वर्गीकृत करता है, लोन एवं निवेश पर नजर रखता है; ज्‍यूपिटर मनी पॉट्स के साथ बेहतर पर्सनल फाइनेंस मैनेजमेंट से कर्मचारियों को अपनी अगली ट्रिप, किसी महंगे पसंदीदा आइटम को खरीदने या फिर आगामी आइपीओ में निवेश करने के लिए आसानी से पॉट बनाकर बचत कर करने में मदद मिलती है।

रेज़रपेएक्स का पेरोल प्लेटफॉर्म अब हजारों कॉरपोरेट्स के सैलरी बांटने के ढंग को बदल रहा है। अब तक कंपनियों ने पारंपरिक पे-रोल को ही हैंडल किया था। इस प्लेटफॉर्म ने नया सहज ऑटोमेटेड पे-रोल का अनुभव दिलाने की फिर से कल्पना की है कि कंपनियां किस तरह अपने कर्मचारियों का प्रबंधन कर सकती है, उनके कार्यों का भुगतान कर सकती हैं और जीवनभर के लिए अपने कर्मचारियों का कल्याण सुनिश्चित कर सकती हैं। इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से कर्मचारी ज्‍यूपिटर प्रो सैलरी अकाउंट के साथ अपने पैसे की बचत कर सकते हैं, उसे ट्रैक कर सकते हैं या अपने पैसे को खर्च कर सकते हैं। दूसरी तरफ इससे कंपनियों की लागत कम लगती है और उबाऊ काम से छुटकारा मिलता है और कार्य में ज्यादा दक्षता बढ़ती है। 

ज्‍यूपिटर में प्रॉडक्ट – ग्रोथ एवं कम्युनिटी साहिल सोराथिया ने बताया, हम रेज़रपेएक्स से साझेदारी करके काफी उत्साहित हैं। इससे पेरोल सिस्‍टम में सभी के लिए एक सुविधाजनक और व्‍यापक समाधान मुहैया करायेंगे। यह साझेदारी महत्वपूर्ण मौके पर हुई है। इससे एचआर के काम निपटाने में तेजी आएगी और काम ज्यादा सक्षम तरीके से होगा। साथ ही कर्मचारियों को बेहतरीन अनुभव मिलेगा। साथ मिलकर, हम अपने तालमेल से एक समावेशी और अभिनव प्‍लेटफॉर्म बनाने में मदद करेंगे जिससे कंपनियों को काम करने का नया प्रगतिशील माहौल मिलेगा।”

रेज़रपेएक्स के सीनियर डायरेक्‍टर और जनरल मैनेजर शशांक मेहता ने इस साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए कहा, रेज़रपेएक्स ने हमेशा बिजनेस फाइनेंस को ऑटोमेशन की प्रक्रिया से सरल बनाने की कोशिश की है। जैसे-जैसे कंपनियों का विस्तार होता जाता है, वैसे-वैसे उनके सामने अपने कर्मचारियों के सैलरी अकाउंट बनाने के लिए बहुत बड़ी लागत आती है, इसके अलावा उन्‍हें पेरोल को मैनेज करने, प्रक्रियाओं का पालन करने और कर्मचारियों को संस्‍थान में शामिल करने का काम भी होता है। कंपनी इन प्रक्रियाओं को मैनुअली करने के लिए हर महीने 25 घंटे का समय देती हैं। रेज़रएक्सपे की एक प्रमुख पेशकश है व्‍यावसायों के लिए टैक्‍स पेमेंट एवं फाइलिंग के साथ ही पेरोल का ऑटोमैटिक वितरण और अनुपालन करना। इससे कारोबारियों का समय बचता है और वे ज्‍यादा से ज्‍यादा वृद्धि करने पर फोकस कर पाते हैं। नए डिजिटल बैंकिंग अनुभव प्रदान करने में सबसे आगे, ज्‍यूपिटर के साथ साझेदारी करने से हमें उम्मीद है कि हम बिजनेसेस और उनके कर्मचारियों को उद्योग-अग्रणी पेशकश प्रदान कर सकेंगे।”

टाटा क्रूसिबल कॉर्पोरेट क्विज़ शुरू हो रहा है - सबसे बेहतरीन क्विज़िंग अनुभव के लिए तैयार हो जाइए

मुंबई, 27 अगस्त, 2022:  टाटा क्रूसिबल कॉर्पोरेट क्विज़ - भारत की बहुप्रतीक्षित बिज़नेस क्विज़ शुरू हो रही है! टाटा समूह द्वारा चलायी जाने वाली ज्ञान पहल टाटा क्रूसिबल ऐसा मंच है जहां कॉर्पोरेट दुनिया के, क्विज़िंग के युवा शौकीन अपनी प्रतिभा को सभी के सामने ला सकते हैं। टाटा क्रूसिबल के इस संस्करण में स्वतंत्रता के 75 सालों का उत्सव मनाया जाएगा, भारत के कॉर्पोरेट सफर से जुड़ी महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में सवाल पूछे जाएंगे। 

इस क्विज़ का 19 वा संस्करण भी ऑनलाइन फॉर्मेट में होगा। देश भर के पूर्णकालिक काम कर रहे प्रोफेशनल्स इसमें व्यक्तिगत रूप से भाग ले सकते हैं। 25 अगस्त से 30 सितंबर 2022 तक रजिस्ट्रेशन्स किए जा सकते हैं। 

पूरे देश भर में चलने वाली यह क्विज़िंग प्रतियोगिता ऑनलाइन होगी।  इसकी शुरूआत एक प्रिलिम से होगी, जिसके लिए देश में 12 क्लस्टर्स बनाए गए हैं। ऑनलाइन प्रिलिम के दो लेवल होने के बाद हर क्लस्टर से 12 फाइनलिस्ट्स को वाइल्ड कार्ड फाइनल्स के लिए बुलाया जाएगा और उनमें से अव्वल 6 फाइनलिस्ट्स 12 ऑनलाइन क्लस्टर फाइनल्स में हिस्सा लेंगे। हर एक क्लस्टर फाइनल में सबसे ज़्यादा स्कोर पाने वाले प्रतिभागी को विजेता चुना जाएगा और दूसरा टॉप स्कोरर उपविजेता माना जाएगा। क्लस्टर फाइनल्स के विजेता को 35,000* रुपयों और उपविजेता को 18,000* रुपयों के इनाम दिए जाएंगे। 12 क्लस्टर फाइनल्स में से हर विजेता दो सेमी-फाइनल्स में हिस्सा लेंगे और उनमें से 6 विजेता राष्ट्रीय अंतिम प्रतियोगिता में आमंत्रित किए जाएंगे जो नवंबर 2022 में होगी। राष्ट्रीय अंतिम प्रतियोगिता के विजेता को प्रतिष्ठित टाटा क्रूसिबल ट्रॉफी और 2.5 लाख* रुपयों के महा इनाम से सम्मानित किया जाएगा।

टाटा ग्रुप के कॉर्पोरेट ब्रांड और मार्केटिंग के वाईस प्रेसिडेंट श्री एड्रियन टेरोन ने बताया, "टाटा क्रूसिबल टाटा समूह की प्रमुख ब्रांड पहल है और देश के प्रतिभाशाली, उत्साही प्रोफेशनल्स को उनके ज्ञान, जागरूकता और प्रतिभा को सभी के सामने लाने के लिए मंच प्रदान करने के लिए सदैव प्रयासरत रहती है। आज के तेज़ गतिमान कॉर्पोरेट विश्व में ज्ञान, जागरूकता और प्रतिभा सफलता तक ले जाने वाले द्वार हैं। हम मानते हैं कि ऑनलाइन क्विज़ फॉर्मेट के साथ डिजिटल क्षेत्र में पदार्पण के हमारे निर्णय की वजह देश भर के और भी ज़्यादा क्विज़र्स टाटा क्रूसिबल कॉर्पोरेट क्विज़ का लाभ ले पा रहे हैं। इससे हम भी और ज़्यादा दर्शकों के साथ जुड़ पा रहे हैं।"

*स्रोत पर कर कटौती के अधीन

अपनी अनूठी और दिलचस्प शैली के लिए नामचीन क्विज़मास्टर और टाटा क्रूसिबल के अनुभवी गिरी बालसुब्रमण्यम 'पिकब्रेन' इस संस्करण के क्विज़मास्टर होंगे और उनके साथ रश्मि फुर्टडो क्विज़ को-होस्ट होंगी।

2004 में टाटा क्रूसिबल की शुरूआत हुई और तब से ही इस क्विज़ ने ज्ञान की जिज्ञासा और प्रगत सोच और देश के सबसे प्रतिभाशाली प्रोफेशनल्स में क्विज़िंग कल्चर को बढ़ावा दिया है। इसमें हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों के लिए, टाटा क्रूसिबल क्विज़ तथ्यों के जगलिंग और सामान्य ज्ञान से परे जाकर, उनके ज्ञान का सम्मान करने वाली और उनको औरों से अलग दिखाने वाली पहल बनी है।

इस संस्करण के लिए टाटा प्ले बिंज, टाटा मोटर्स नेक्सॉन, टाटा 1एमजी और मिया बाय तनिष्क ने ब्रांड साझेदारी की है।

 

ईटी मनी की ‘इंडिया इन्वेस्टर पर्सनेलिटी रिपोर्ट 2022’ ने निवेशकों की सोच पर डाली रोशनी; उनके निवेश के व्यवहार और पैटर्न पर रूझान पेश किए

नई दिल्ली, 27 अगस्त, 2022: भारत के सबसे बड़े म्युचुअल फंड ऐप्स में से एक और सबसे तेज़ी से विकसित होते इन्वेस्टमेन्ट अडवाइज़री प्लेटफॉर्म ईटी मनी ने हाल ही में अपनी एक्सक्लुज़िव रिपोर्ट ‘इंडिया इन्वेस्टर पर्सनेलिटी रिपोर्ट 2022’ जारी की है, जिसमें लाखों निवेशकों की सोच और उनके विचारों पर रोशनी डाली गई है। इनवेस्टर पर्सनेलिटी असेसमेन्ट फीचर के द्वारा इन रूझानों का आकलन किया गया है, जो चार मानकों- रिस्क टॉलरेन्स, लॉस एवर्ज़न, फाइनैंशियल मास्टरी और ओवरकॉन्फिडेन्स लैवल (जोखिम सहने की क्षमता, नुकसान को कम करना, वित्तीय महारत और ज़्यादा आत्मविश्वास) के आधार पर निवेशक (यानि इन्वेस्टर) का मूल्यांकन करता है और निवेश के बारे में उनकी सोच का अनुमान लगाता है।

यह मूल्यांकन निवेशक को आठ अनूठे इन्वेस्टर पर्सनेलिटी टैग्स देता है, जो निवेश के प्रकार पर निर्भर करते हैं। रिपोर्ट के अनुसार ज़्यादातर भारतीय निवेशक स्टै्रटेजाइज़र (35 फीसदी) होते हैं- यह निवेशकों का ऐसा प्रकार है जो जोखिम की गणना करके ही एक्शन लेते हैं। इसके बाद 31 फीसदी निवेशक एक्स्प्लोरर होते हैं, जो स्मार्ट हैं और कभी-कभी ज़्यादा आत्मविश्वास के साथ जोखिम लेने की क्षमता रखते हैं।

निवेशक की पर्सनेलिटी (व्यक्तित्व) के अन्य प्रकार हैं- प्रोटेक्टर, एनालाइज़र, सीकर, एडवेंचरर, रीसर्चर और ऑबज़र्वर- देश के शेष 34 फीसदी निवेशक इन बची हुई श्रेणियों में आते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीयों में जोखिम सहने की रेंज 52 से 81 के बीच है यानि वे निवेश के दृष्टिकोण से अच्छा जोखिम ले सकते हैं। ज़्यादा जोखिम (हाई-रिस्क टॉलरेन्स) लेने से लम्बी अवधि में अच्छे परिणम मिल सकते हैं, रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि कम जोखिम लेने वाले निवेशक (लो-रिस्क टॉलरेन्स) भी इक्विटी में भारी निवेश करते हैं, जिससे साफ है कि जोखिम लेने की क्षमता की अनदेखी की जा रही है। रिपोर्ट के अनुसार नुकसान उठाने की बात करें तो ज़्यादातर भारतीय इसमें कम सहज महसूस करते हैं। फिर वे भी ज़्यादा जोखिम लेते हैं, ऐसे में बाज़ार में उतार-चढ़ावा होने पर असहज हो जाते हैं।

रिपोर्ट में एक रोचक तथ्य सामने आया है कि भारतीय निवेशक जो फाइनैंशियल मामलों में मास्टरी रखते हैं, वे अपने मौजूदा एसआईपी के साथ-साथ सोच-समझ कर एक मुश्त निवेश भी करते हैं, जबकि वे निवेशक जिन्हें ज़्यादा फाइनैंशियल समझ नहीं हैं, वे सिर्फ एसआईपी पर ही टिके रहते हैं। रिपोर्ट का एक सकारात्मक पहलु यह है कि महिला निवेशक ज़्यादा संगठित होते हैं और योजना बनाकर निवेश करते हैं। यही कारण है कि पुरूषों की तुलना में ज़्यादातर महिला निवेशकों को स्टै्रटेजाइज़र और रीसर्चर के टैग मिले हैं।

इस एक्सक्लुज़िव रिपोर्ट के बारे में बात करते हुए मुकेश कालरा, संस्थापक एवं सीईओ, ईटी मनी ने कहा, ‘‘आपके निवेश के तरीकों पर ही निर्भर करता है कि आपका पैसा कैसे बढ़ेगा। और इन्हीं पहलुओं को समझ कर ही आप निवेश के स्मार्ट फैसले ले सकते हैं। ‘ईटी मनी इंडिया इन्वेस्टर पर्सनेलिटी रिपोर्ट 2022’ रियल टाईम में स्थिति को समझने में मदद करती है यानि भारतीय निवेशक जोखिम लेने की क्षमता पर विचार किए बिना ही रिटर्न के पीछे भाग रहे हैं। इन विचारों से बाहर आकर ही आप निवेश के बेहतर और स्मार्ट फैसले ले सकते हैं। यही कारण है कि हमारी अनूठी पेशकश ईटी मनी जीनियस सबसे पहले यूज़र की पर्सनेलिटी को समझती है और इसके बाद उनकी जोखिम लेने की क्षमता को ध्यान में रखते हुए उन्हें पोर्टफोलियो का सुझाव देती है। रिपोर्ट में बताया गया है कि भारतीयों में निवेश के फैसले रिटर्न और मार्केट को देखते हुए लिए जाते हैं, इस व्यवहार में उचित बदलाव लाने की आवश्यकता है। इसी के मद्देनज़र मेंबरशिप सर्विस ईटी मनी जीनियस, निवेशकों को उनके निवेश के उद्देश्य समझने में मदद करती है ताकि वे सोच-समझ पर अनुकूलित पोर्टफोलियो बना सकें।’

ऑनलाइन गेमिंग उद्योग के लिए सही कर संरचना से बढ़ सकता है कर राजस्व: एसोचैम और ईवाई रिपोर्ट

27 अगस्त 2022, नई दिल्ली: एसोचैम और ईवाई की संयुक्त रिपोर्ट, ‘ऑनलाइन कौशल - आधारित गेमिंग पर जीएसटी' के अनुसार, जीएसटी काउंसिल के मंत्रियों का समूह (जीओएम) ऑनलाइन गेमिंग पर जीएसटी की जांच कर रहा है। मंत्रियों के समूह का एक विचार यह है कि प्राइज पूल सहित प्रतियोगिता प्रवेश की संपूर्ण राशि पर 28% वस्तु और सेवा कर (जीएसटी) लगाया जाना चाहिए। इस सिफारिश का ऑनलाइन गेमिंग इंडस्ट्री पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। प्रतियोगिता की प्रवेश राशि पर जीएसटी लगाने से इस उदीयमान उद्योग पर कर का बोझ 10 से 20 गुना बढ़ जाएगा। वर्तमान में यह इंडस्ट्री गेमिंग ऑपरेटरों द्वारा सीधे अर्जित सकल गेमिंग राजस्व (जीजीआर) के प्लेटफॉर्म शुल्क पर 18% की दर से जीएसटी का भुगतान करती है।

रिपोर्ट में वर्ष 2022 में इस उद्योग द्वारा 2,200 करोड़ रुपये से अधिक के जीएसटी के योगदान का अनुमान लगाया गया है और ऑनलाइन गेम्स की जीत राशियों पर भी आयकर लगने के चलते इससे भी राजकोष में महत्वपूर्ण राशि का योगदान होता है।

रिपोर्ट में उन अद्वितीय विशेषताओं को भी सूचीबद्ध किया गया है जो ऑनलाइन कौशल-आधारित गेमिंग को मौके के खेलों से अलग करती हैं। इसमें ऐसे प्रौद्योगिकी समाधानों की आवश्यकता होती है जो उपयोगकर्ता-इंटरफ़ेस को सक्षम करने के साथ - साथ गेमिंग इकोसिस्टम बनाने और फैसिलिटेटर के रूप में कार्य करने के लिए ऑपरेटरों द्वारा प्रदान किए जाते हैं। प्रभारित शुल्क निश्चित है और यह परिणाम पर निर्भर नहीं है। इसकी सफलता उपयोगकर्ता के बेहतरीन ज्ञान और खेल के साथ जुड़ाव पर भी निर्भर करती है, जिससे कौशल प्रमुख तत्व बन जाता है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि कर को 18% से बढ़ाकर 28% करने के प्रस्ताव और उसके साथ-साथ जीत राशि पर 30% आयकर के चलते ऑनलाइन गेमिंग के लिए करारोपण की दर 45 -50% के बीच पहुँच जाती है। जीएसटी कर-संबंधी प्रस्ताव के चलते करारोपण बढ़ने से, सक्रिय उपयोगकर्ताओं की संख्या घट सकती है और इससे घरेलू गेमिंग इंडस्ट्रीज हतोत्साहित हो सकती हैं।

उद्योग जगत के हालिया अनुमानों के अनुसार, देश में 500 गेमिंग कंपनियां मौजूद हैं, जिन्होंने हजारों लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया है और इसमें 2.7 बिलियन अमेरिकी डॉलर के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का अंतर्वाह भी हुआ है। हालांकि, उच्च करारोपण के चलते उनके प्रभावित होने की संभावना है और इससे विदेशी ऑपरेटर्स के लिए दरवाजे खुल जाएंगे। रिपोर्ट में कहा गया है: “यह क्षेत्र एनीमेशन, विजुअल इफेक्ट्स, गेमिंग और कॉमिक (एवीजीसी) क्षेत्र के लिए भारत सरकार के दृष्टिकोण को सुविधाजनक बनाने में मदद कर सकता है और उपयोगकर्ताओं को विदेशी कंपनियों/अपतटीय प्लेटफार्मों पर चलाने के बजाय घरेलू कंपनियों को प्रोत्साहित कर सकता है; और इस प्रकार यह सरकार के राजस्व संग्रह में अधिक योगदान दे सकता है।"

रिपोर्ट के बारे में बताते हुए, एसोचैम के महासचिव, दीपक सूद ने कहा, “ऑनलाइन कौशल-आधारित गेमिंग पर जीएसटी के प्रभाव संबंधी एसोचैम-ईवाई की रिपोर्ट बिल्कुल भविष्यसूचक है। ऑनलाइन गेमिंग उद्योग का विकास कोई आश्चर्य की बात नहीं है क्योंकि यह काफी हद तक युवा-संचालित है और विशेष रूप से महामारी के दौरान इंटरनेट और स्मार्टफोन का उपयोग बढ़ने से यह उत्प्रेरित है। भारत को गेमिंग उद्योग में दुनिया के अग्रणी बाजारों में से एक बनने की उम्मीद है, जो मजबूत डिजिटल अर्थव्यवस्था जीडीपी के साथ - साथ रोजगार-सर्जक की दृष्टि से भी शुभ संकेत देने वाला है। इसलिए, सरकार उपयुक्त कर संरचना के माध्यम से क्षेत्र को मजबूत करने के लिए जो भी कदम उठाती है, वह स्वागत योग्य है।"

रिपोर्ट में कहा गया है कि सही कर संरचना का उद्योग पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है और कर राजस्व बढ़ सकता है। इसमें निष्कर्ष रूप में कहा गया है, "जीएसटी मूल्यांकन तंत्र का क्रिस्टलीकरण व्यापार करने में आसानी और इस बढ़ते क्षेत्र के विकास को सक्षम करने में एक उत्प्रेरक की भूमिका निभा सकता है।"

 

महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स और मैड अबाउट व्हील्स ने एमएडब्ल्यू के क्लाइंट्स को संयुक्त रूप से मोटर बीमा समाधान उपलब्ध कराने हेतु सहयोग किया

मुंबई, 27 अगस्त, 2022: महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज (महिंद्रा फाइनेंस) की सहायक कंपनी, महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) ने आज मैड अबाउट व्हील्स (एमएडब्ल्यू) के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की। एमएडब्ल्यू, भारत का पहला ब्रांड एग्नॉस्टिक इलेक्ट्रिक मोबिलिटी और ऑटोमोटिव समाधान प्रदाता है। इस रणनीतिक साझेदारी के माध्यम से, एमएडब्ल्यू डीलर जो ऑनबोर्ड हो चुके हैं, अब इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर वाहन खरीदने वाले ग्राहकों को व्यापक मोटर बीमा उत्पाद प्रदान करने में सक्षम होंगे।

इस साझेदारी के जरिए इलेक्ट्रिक 2-व्हीलर और 3-व्हीलर वाहन की बिक्री करने वाले एमएडब्ल्यू डीलर, एमआईबीएल के बीमा भागीदारों द्वारा पेश किए गए विभिन्न बीमा उत्पादों को उपलब्ध करा सकेंगे। ग्राहक अपनी व्यक्तिगत और विशिष्ट आवश्यकताओं के अनुसार प्रभावी रूप से बीमा कवर की तुलना और चयन कर सकते हैं।
एमआईबीएल के प्रबंध निदेशक और प्रधान अधिकारी, वेदनारायणन शेषाद्री ने कहा, “इस अनूठी वितरण साझेदारी से एमएडब्ल्यू डीलर-पार्टनर, एमआईबीएल के प्लेटफॉर्म का उपयोग करके उभरते और लगातार बदलते ईवी उद्योग एवं दिन-ब-दिन बढ़ती आवश्यकता के अनुरूप बीमा उत्पाद उपलब्ध करा सकेंगे। भारत में दोपहिया और तिपहिया बेड़े के तेजी से विकास को देखते हुए यह साझेदारी व्यापक पहुंच वाले एमएडब्ल्यू डीलर भागीदारों के माध्यम से बीमा की सुविधा प्रदान करेगी।"
मैड अबाउट व्हील्स के सह-संस्थापक, अमरेश खर ने कहा, “एमआईबीएल के साथ गठबंधन से हमें इस बढ़ते क्षेत्र में हमारी पहुँच बढ़ाने और आधुनिक डीलर्स एवं ओईएम ब्रांड्स को जोड़ने में मदद मिलेगी ताकि ईवी बिजनेस में अधिक विश्वास पैदा कायम किया जा सके। मुझे विश्वास है कि बड़े पैमाने पर ईवी उद्योग इस तरह की अनूठी साझेदारी का लाभ उठा सकेगा। विस्तारित वारंटी का हमारा प्रमुख उत्पाद सफलतापूर्वक चल रहा है, जहां हम पहले ही 20,000 हजार से अधिक ग्राहकों को यह उपकब्ध करा चुके हैं।"
उभरते और लगातार विकसित हो रहे ईवी उद्योग और ऐसे उत्पादों के लिए बीमा की आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए यह गठबंधन किया गया है।

Friday, August 26, 2022

आईटेल ने अपनी 4 जी मैजिक एक्स सीरीज़ में पेश किए बेहतरीन इनोवेशन्स-इनबिल्ट चैटिंग और म्युज़िक ऐप

नई दिल्ली, 26 अगस्त 2022: भारत का अग्रणी मोबाइल ब्राण्ड आईटेल, मैजिक एक्स सीरीज़ के लॉन्च के साथ देश के फीचर फोन बाज़ार में एक और बड़ा इनोवेशन लेकर आया है। भारत की महत्वाकांक्षाओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध आईटेल ने मैजिक एक्स प्ले और मैजिक एक्स के लॉन्च की घोषणा की है। नए दौर के ये फीचर फोन इनबिल्ट चैटिंग ऐप्लीकेशन लैट्स चैट और म्युज़िक ऐप बूमप्ले तथा ड्यूल 4G VoLTE के साथ आते हैं। ये फोन क्रमशः रु 2099 और रु 2299 की आकर्षक कीमतों पर उपलब्ध हैं।

किसी अन्य फीचर फोन के विपरीत आईटेल के यूज़र अब दुनिया के किसी भी कोने में अपने दोस्त बना सकते हैं और लैट्स चैट ऐप्लीकेशन के ज़रिए चैट ग्रुप भी बना सकते हैं। आईटेल के फीचर फोन देश के अग्रणी ब्राण्ड्स में शामिल हैं जो उपभोक्ताओं को वॉइस मैसेज और वॉइस नोट के साथ चैट करने के विकल्प देते हैं, उन्हें अपने दोस्तों और प्रियजनों के साथ कनेक्टेड बने रहने में मदद करते हैं। 

मैजिक एक्स सीरीज़ का एक और शानदार फीचर है- म्युज़िक ऐप बूमप्ले। आमतौर पर फीचर फोन की बात करें तो यूज़र को म्युज़िक का लुत्फ़ उठाने के लिए एफएम रेडियो या मैमोरी में प्रीलोडेड गाने ही सुनने पड़ते हैं। लेकिन मैजिक एक्स के साथ यूज़र ऑनलाईन म्युज़िक का लुत्फ़ भी उठा सकता है। इन-बिल्ट बूमप्ले के माध्यम से यूज़र विभिन्न श्रेणियों जैसे मुवीज़, भक्ति आदि में दुनिया भर से 74 मिलियन से अधिक गीतों का आनंद उठा सकता है।

मैजिक एक्स प्ले 4G VoLTE टेकनोलॉजी से पावर्ड है और 1.77 इंच के 3 डी कर्व्ड डिस्प्ले के साथ आता है, मैजिक एक्स 2.4 इंच के 3 डी कर्व्ड क्यूवीजीए डिस्प्ले और स्मार्ट एलईडी एलर्ट से युक्त कॉम्पैक्ट अल्ट्रा स्लिम डिज़ाइन के साथ आता है। दोनों फोनों में इनबिल्ट वायरलैस एफएम रेडियो, एलईडी टॉर्च और किंग वॉइस असिस्टेन्स है। मैजिक एक्स सीरीज़ भारत के कुछ ही फीचर फोन्स में से एक है जो न सिर्फ स्मार्टफोन जैसे फीचर देते हैं बल्कि 4 जी टेक्नोलॉजी के साथ हाई स्पीड कनेक्टिविटी भी उपलब्ध कराते हैं ताकि उपभोक्ता हमेशा कनेक्टेड रह सकें और जब चाहें ऑनलाईन एक्टिविटीज़ का लुत्फ़ उठा सकें।

आईटेल ने दोनों फोनों में पावरफुल बैटरी बैकअप भी दिया है। मैजिक एक्स प्ले 1900mAh बैटरी के साथ आता है, वहीं कॉम्पैक्ट मैजिक एक्स 1200mAh बैटरी बैकअप के साथ आता है। मैजिक एक्स सीरीज़ के साथ आईटेल ने एक बार फिर से दिखा दिया है कि यह ऐसे फीचर फोन बनाने में सक्षम है जो स्मार्टफोन के समकक्ष और किफ़ायती हों।

लॉन्च के अवसर पर आईटेल इंडिया के सीईओ श्री अरीजीत तालपात्रा ने कहा, ‘‘स्मार्टफोन के दौर में, आज भी बहुत से ऐसे यूज़र हैं, जो फीचर फोन का इस्तेमाल करते हैं। इनमें समाज के निम्नतम वर्ग के लोग, ग्रामीण उपभोक्ता शामिल हैं। साथ ही इनमें ऐसे उपभोक्ता भी हैं जिन्हें फीचर फोन का इस्तेमाल करना आसान लगता है या जो सैकण्डरी डिवाइस के रूप में फीचर फोन रखना चाहते हैं। 25 फीसदी से अधिक मार्केट शेयर के साथ नंबर 1 फीचर फोन ब्राण्ड होने के नाते, आईटेल अपनी आधुनिक तकनीक एवं इनोवेशन्स के ज़रिए महत्वाकांक्षी भारत को सक्षम बनाने के दृष्टिकोण के साथ निरंतर अग्रसर है। आईटेल इस सेगमेन्ट में सर्वश्रेष्ठ प्रोडक्ट लाने के लिए निरंतर काम करता है और मैजिक एक्स सीरीज़ का लॉन्च इसी दिशा में एक और कदम है। मैजिक एक्स सीरीज़ को हमारे उन उपभोक्ताओं के लिए डिज़ाइन किया गया गया है जो अपनी डिजिटल ज़रूरतों के लिए यूज़र-फ्रैंडली एवं प्रीमियम 4 जी डिवाइसेज़ की उम्मीद रखते हैं।’

दोनों फोनों में वीजीए रियर कैमरा है और ये ड्यूल सिम सपोर्ट के साथ आते हैं। भारत की विविध आबादी को अपनी सेवाएं प्रदान करने वाले ये फीचर फोन 12 विभिन्न भाषाओं को सपोर्ट करते हैं: इनमें अग्रेज़ी, हिंदी, गुजराती, तेलुगु, तमिल, कन्नड, मलयालम, पंजाबी, बंगाली, उड़िया, आसामी और उर्दु शामिल हैं।

मैजिक एक्स प्ले मिडनाईट ब्लैक और मिंट ग्रीन कलर्स में उपलब्ध है। वहीं मैजिक एक्स मिडनाईट ब्लैक और पर्ल व्हाईट में उपलब्ध है। दोनों फोन ऑनलाईन एवं प्रमुख रीटेल स्टोर्स पर ऑफलाईन उपलब्ध होंगे। 

आईएचसीएल अपने पोर्टफोलियो में रिकार्ड विस्तार के साथ विकास के पथ पर तेज़ी से अग्रसर

मुंबई, 26 अगस्त, 2022ः भारत की सबसे बड़ी हॉस्पिटेलिटी कंपनी इंडियन होटल्स लिमिटेड (आईएचसीएल) अपने तीव्र विस्तार को जारी रखे हुए है, कंपनी ने पिछले 24़ महीनों में 27 नए होटल खोले हैं और 50 नए होटलों के साथ उद्योग जगत के अग्रणी क़रार किए हैं। इस अवधि यानि 2020 और 2021 के दौरान आईएचसीएल ने सबसे ज़्यादा संख्या में होटलों के साथ क़रार किया है, जिसके चलते कंपनी के पोर्टफोलियो में 5,500 से अधिक कमरे शामिल हो गए हैं।

भारतीय उपमहाद्वीप में फैला कंपनी का व्यापक फुटप्रिन्ट

. आईएचसीएल की भारत के 100 से अधिक स्थानों में मौजूदगी है।
. देश के 36 राज्यों एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में से 31 में कंपनी का व्यापक फुटप्रिन्ट है।
. प्रख्यात गंतव्यों जैसे गोवा, राजस्थान, केरल, भूटान, नेपाल में कंपनी का समृद्ध इतिहास है और हाल ही में अंडमान द्वीप समूह एवं उत्तर-पूर्वी भारत भी इस सूची में शामिल हो गए हैं।
. आईएचसीएल प्रमुख पर्यटन गंतव्यों जैसे दीव और लक्षदीप को भी विकसित कर रहीहै, हाल ही में कंपनी ने इन दोनों गंतव्यों में दो-दों होटलों के लिए लैटर ऑफ अवॉर्ड प्राप्त किए हैं।
. कंपनी प्रमुख पर्यटन सर्किट जैसे हिमालय, आध्यात्मिक एवं सफ़ारी सर्किट का विकास जारी रखे हुए है।
. आईएचसीएल भारत की एक मात्र हॉस्पिटेलिटी कंपनी है जिसके होटल विश्वस्तरीय गंतव्यों जैसे लंदन एवं न्यूयॉर्क तथा श्री लंका, दुबई, मालदीव्स और दक्षिण अफ्रीका में भी हैं।

विभिन्न सेगमेन्ट्स को लक्षित करने वाले विविध ब्राण्डस्केप

. अपनी आह्वान 2025 रणनीति के अनुरूप आईएचसीएल ने 242 होटलों के मौजूदा पोर्टफोलियो को बढ़ाकर 300 तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है।
. प्रतिष्ठित लक्ज़री ब्राण्ड और दुनिया का सबसे मजबूत होटल ब्राण्ड ताज, 100 होटलों तक विकसित किया जाएगा।
. प्रमुख बाज़ारों में विश्वस्तरीय मौजूदगी के साथ ब्राण्ड ताज प्रमाणित पैलेस, सिटी होटल, विश्वस्तरीय रिज़ॉर्ट, सर्विस्ड रेज़ीडेन्स और सफारी आदि पेश करता है।
. आधुनिक और विशिष्ट अनुभव प्रदान करने वाले ब्राण्ड विवांता और सेलेक्यूशन्स अपने पोर्टफोलियो को 75 होटलों तक पहुंचाएंगे।
. जिंजर- जो लीन लक्स मार्केट में क्रान्तिकारी बदलाव ला रहा है- विकास में महत्वपूर्ण योगदान देते हुए 125 होटलों तक पहुंच जाएगा।
. भारत के पहले ब्राण्डेड होमस्टे पोर्टफोलियो ‘अमा स्टेज़ एण्ड ट्रेल्स’ की प्रॉपर्टीज़ की संख्या 2025 तक 500 के आंकड़े तक पहुंच जाएगी।

विकास के प्रति ज़िम्मेदार दृष्टिकोण

. आईएचसीएल अपने पोर्टफोलियो में संरचनात्मक बदलाव लाते हुए स्वामित्व/ लीज़ और प्रबंधित होटलों के 50ः50 मिश्रण को सुनिश्चित करेगी, यह आंकड़ा अभी 54ः46 है।
. इसमें ताज, सेलेक्यूशन्स और विवांता होटलों के मैनेजमेन्ट अनुबंध शामिल होंगे, जबकि जिंजर का विस्तार मुख्य रूप से ऑपरेटिंग लीज़ के माध्यम से किया जाएगा।
. आईएचसीएल लम्बी अवधि के विकास को ध्यान में रखते हुए सामरिक सम्पत्तियों में स्मार्ट निवेश जारी रखेगी जैसे जिंजर सांताक्रूज़ और केवड़िया में दो आगामी होटल।
. इस निवेश के लिए पूंजी- सामरिक साझेदारियों, मौद्रीकरण एवं सरलीकरण- द्वारा प्राप्त की जाएगी।
. सामरिक सम्पत्तियों के रखरखाव पर ध्यान केन्द्रित करते हुए आईएचसीएल प्रतिष्ठित ताज मालाबार रिज़ॉर्ट एण्ड स्पा, कोचीन को अपने दायरे में बरक़रार रखेगी।

आईएचसीएल के तीव्र विकास पर बात करते हुए श्री पुनीत छटवाल, मैनेजिंग डायरेक्टर एवं चीफ़ एक्ज़क्टिव ऑफिसर, आईएचसीएल ने कहा, ‘‘आईएचसीएल ने हॉस्पिटेलिटी के क्षेत्र में तेज़ी से विकसित होते हुए अपने पोर्टफोलियो का विस्तार जारी रखा है, पिछले 24 महीनों के दौरान हर माह दो क़रार किए गए हैं। तेज़ी से होटल खुलने की वजह से कंपनी के विकास को गति मिली है। अपने असेट लाईट मॉडल के चलते आईएचसीएल 2025 तक अपने पोर्टफोलियो को 300 होटलों तक पहुंचाने की स्थिति में है, जिससे कंपनी अच्छा मुनाफ़ा दर्ज करेगी। हमें उम्मीद है कि आने वाले समय में भी हमें अपने साझेदारों से पूरा सहयोग मिलता रहेगा, जिन्होंने हममें भरोसा बनाए रखा है।’’


सुमा वेंकटेश, एक्ज़क्टिव वाईस प्रेज़ीडेन्ट- रियल एस्टेट एण्ड डेवलपमेन्ट, आईएचसीएल ने कहा, ‘‘पिछले दो सालों के दौरान भारत में सबसे ज़्यादा संख्या में हुए क़रार, हमारे ब्राण्ड्स की क्षमता की पुष्टि करते हैं। आईएचसीएल निवेशकों के लिए पसंदीदा साझेदार बनी हुई है, जिसके चलते हम विभिन्न परियोजनाओं के लिए दीर्घकालिक साझेदारियां कर रहे हैं। हमारे समझौतों को लम्बी अवधि के लिए नवीनीकृत किया जाना इस बात को दर्शाता है कि हमारे हितधारक आईएचसीएल का महत्व देते हैं।’’

आईएचसीएल सामरिक साझेदारियों के माध्यम से विश्वस्तरीय बाज़ारों में अपनी स्थिति को सशक्त बनाएगी। इसी दृष्टिकोण के तहत दुबई में ताज एक्ज़ोटिका रिज़ॉर्ट एण्ड स्पा खोला जा रहा है।

Thursday, August 25, 2022

होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने नए शाईन सेलेब्रेशन एडीशन के साथ की त्योहारों की शुरूआत

नई दिल्ली, 25 अगस्त, 2022ः अपनी शुरूआत से ही होण्डा शाईन बेजोड़ गुणवत्ता एवं परफोर्मेन्स के साथ 125 सीसी एक्ज़क्टिव सेगमेन्ट में मजबूती से पैर जमाए हुए है। नए अवतार में उपभोक्ताओं को फिर से संतोषजनक अनुभव प्रदान करते हुए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने आज नई शाईन सेलेब्रेशन एडीशन का लॉन्च किया।

बेहद आकर्षक लुक वाले एक्ज़क्टिव मोटरसाइकल ब्राण्ड्स में से एक शाईन, को शुरूआत से ही बहुत अच्छी लोकप्रियता मिली है, शहरी एवं ग्रामीण बाज़ारों के दोपहिया उपभोक्ताओं ने इसे खूब प्यार दिया है।
नए एडीशन के लॉन्च पर बात करते हुए श्री आत्सुशी ओगाता, मैनेजिंग डायरेक्टर, प्रेज़ीडेन्ट एवं सीईओ, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने कहा, ‘‘देश में आगामी त्योहारों के मद्देनज़र, एचएमएसआई में हम विभिन्न क्षेत्रों में अपने उपभोक्ताओं के इस उत्साह को बढ़ाना चाहते हैं। ‘सबसे आकर्षक एक्ज़क्टिव मोटरसाइकल’ के रूप में विख्यात ब्राण्ड शाईन लाखों भारतीयों को दोपहिया वाहन का बेजोड़ अनुभव प्रदान कर रही है। मुझे विश्वास है कि नया सेलेब्रेशन एडीशन अवतार त्योहारों के उत्साह को कई गुना बढ़ा देगा और हमारे उपभोक्ताओं को नया अनुभव प्रदान करेगा।’’
भारत की सबसे पसंदीदा 125 सीसी मोटरसाइकल नए अवतार में
शाईन का नया सेलेब्रेशन एडीशन आकर्षक गोल्डन थीम में नए लुक के साथ पेश किया गया है। नई स्ट्राइप्स, गोल्डन विंगमार्क एम्बलेम और टैंक टॉप पर सेलेब्रेशन एडीशन लोगोजैसे कई लुभावने वैल्यू एडीशन्स के साथ नया एडीशन बेहतर प्रीमियम स्टाइल देता है।
जहां, नई सैडल ब्राउन सीट प्रीमियम लुक के साथ राइडर को गर्व का अहसास देती है, वहीं मैट एक्सिस ग्रे मैटेलिक मफ़लर कवर, साईड कवर्स पर गोल्डन टच और फ्रंट पर नई गोल्डन गार्निश त्योहारों के उत्साह के साथ मेल खाती प्रतीत होती है।
कीमत और उपलब्धता
शाईन का सेलेेब्रेशन एडीशन दो नए आकर्षक कलर्स में उपलब्ध है-मैट स्टील ब्लैक मैटेलिक और मैट सेंगरिया रैड मैटेलिक। यह रु 78,878 (एक्स-शोरूम, नई दिल्ली) की शुरूआती आकर्षक कीमत पर ड्रम और डिस्क दोनों वेरिएन्ट्स में उपलब्ध होगी।

एयर इंडिया ने पुरानी यादों को ताजा किया; गर्मजोशी भरे और मेहमाननवाज 'महाराजा नमस्ते' को बहाल किया

जबकि दुनिया ने भारतीयों के लिए महामारी के दौरान नमस्ते को फिर से खोजा, यह आध्यात्मिक स्तर पर प्रतिध्वनित होता है क्योंकि यह एयर इंडिया की मूल मूल्य प्रणाली के लिए अपील करता है। नमस्ते बचपन की यादों को फिर से जगाता है क्योंकि यह शायद जीवन के पहले पाठों में से एक है जो हमारे माता-पिता हमें बड़ों के प्रति सम्मान दिखाने के रूप में सिखाते हैं।

अपने भारतीय मूल्यों में निहित और अपने गौरवशाली अतीत की याद ताजा करते हुए, महाराजा एक बार फिर नमस्ते के साथ अपने यात्रा साथियों का स्वागत करते हैं - भारतीय अभिवादन जो संस्कृतियों और सभ्यताओं में कटौती करता है और अपने सभी ग्राहकों को प्रतिदिन गर्मजोशी और बेजोड़ आतिथ्य प्रदान करता है।

महाराजा हमेशा नमस्ते के स्पष्ट राजदूत रहे हैं और एयर इंडिया हमारे सभी हवाई अड्डों पर भारतीय अभिवादन की संस्कृति को उसके पूरे जोश और भव्यता के साथ वापस लाकर खुश है।

जब आप हमारे साथ अपनी अगली उड़ान में सवार होते हैं तो एयरलाइन के ग्राउंड कर्मी मुस्कान और नमस्ते के साथ आपका गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए तैयार हैं। साथ ही आपको और आपके प्रियजनों को मंत्रमुग्ध करने के इंतजार में रहते हैं।

विश्व मच्छर दिवस पर, गोदरेज ने रणनीतिक सहयोग के जरिए मलेरिया से लड़ाई जीतने के तरीके का खुलासा किया

राष्ट्रीय, 25 अगस्त, 2022: विश्व मच्छर दिवस पर, गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड (जीसीपीएल) ने प्रोजेक्ट एम्बेड (एलिमिनेशन ऑफ मॉस्किटो बॉर्न एंडेमिक डिजीजेज) के माध्यम से मलेरिया और अन्य वेक्टर जनित रोगों से लड़ने के लिए मध्य प्रदेश सरकार के साथ सहयोग के 6 साल पूरे किए। 2016 से, एम्बेड के अंतर्गत गहन व्यवहार परिवर्तन कार्यक्रम चलाए गए हैं, जिनसे मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मलेरिया और अन्य वेक्टर जनित बीमारियों से उच्च जोखिम वाले 11.5 मिलियन से अधिक लोगों के जीवन में बदलाव आ पाया है।

एम्बेड पहल के तहत चलाई गई परियोजनाओं में से एक, 2030 तक मलेरिया उन्मूलन के भारत के राष्ट्रीय लक्ष्य का समर्थन करने के लिए काम करती है। हम डब्ल्यूएचओ के सहयोग से मलेरिया उन्मूलन 2016-2030 और मलेरिया उन्मूलन 2017-2022 के लिए राष्ट्रीय रणनीतिक योजना का भारत सरकार के ढाँचों के अनुरूप समर्थन करते हैं और पूरक सहयोग प्रदान करते हैं।
एम्बेड (EMBED) कार्यक्रम को नेशनल सेंटर फॉर वेक्टर बॉर्न डिजीजेज कंट्रोल, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के साथ मिलकर मध्य प्रदेश में शुरू किया गया। 2015 में, मध्य प्रदेश श्रेणी-3 में था, जहाँ 25 जिलों में मलेरिया के मामले थे। 2021 में, मध्य प्रदेश श्रेणी-1 में पहुँच गया और मलेरिया के कम मामले वाले शीर्ष 10 राज्यों में शामिल हो गया। यहाँ मलेरिया संक्रमण प्रति 1,000 जनसंख्या पर 1 मामले से भी कम हो गया है। इस अवधि के दौरान, एम्बेड के हस्तक्षेप वाले गांवों में राज्य के 45% मलेरिया के मामले थे। मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी इस पहल के तहत जमीनी स्तर पर कार्यकर्ताओं द्वारा दिए जाने वाले तकनीकी समर्थन और प्रशिक्षण की सराहना की।
इस प्रोग्राम के तहत मलेरिया उपचार के लिए एक ऐप भी तैयार किया गया है, जिसका उपयोग उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य विभागों द्वारा किया जा रहा है और यह गोंडी और हल्बी जैसी स्थानीय भाषाओं में उपलब्ध है।
एम्बेड कार्यक्रम मलेरिया के खिलाफ लड़ाई में सभी को एक साथ लाने में सक्षम रहा है। इस कार्यक्रम के जरिए मध्य प्रदेश राज्य स्वास्थ्य विभाग, जिला स्तर पर समितियों, पंचायतों, आशा कार्यकर्ताओं और नागरिकों के साथ सहयोग किया गया। कार्यक्रम ने मौजूदा ढांचे में अंतराल को पाटने का काम किया। उदाहरण के लिए, स्वास्थ्य विभाग द्वारा गांवों में धूमन अभियान चलाने से पहले टीम ने स्वास्थ्य विभाग के साथ काम किया और गांवों और घरों का दौरा किया। उन्होंने ग्रामीणों को श्रेणीबद्ध किया और उन सार्वजनिक स्थानों पर घेरा बनाया जहाँ मच्छरों के प्रजनन वाली जगहों से खतरा था। इससे धूमन अभियान के प्रभावी कवरेज में मदद मिली और मच्छरों के प्रजनन में कमी आई।
कार्यक्रम के सहयोगपूर्ण दृष्टिकोण के चलते 2016 से 2021 के बीच मलेरिया के मामलों में 96% की गिरावट आई और यह राज्य मलेरिया उन्मूलन के लक्ष्य को पूरा करने की राह पर अग्रसर है। मच्छरों के खिलाफ चलाए गए इस कार्यक्रम की एक बड़ी जीत यह थी कि मध्य प्रदेश के चार सबसे अधिक मलेरिया प्रभावित जिलों - अलीराजपुर, झाबुआ, श्योपुर और शिवपुरी के 469 हस्तक्षेप वाले गाँवों में से 80% मलेरिया-मुक्त हो गए।
हमने अपने प्रयासों का विस्तार किया है और अब सरकार के साथ साझेदारी में भारत के चार मेट्रो शहरों में डेंगू और अन्य वेक्टर जनित रोगों के प्रति जागरूकता पर काम कर रहे हैं।
मध्य प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने बताया, "मध्य प्रदेश सार्वजनिक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण के सहयोग से फैमिली हेल्थ इंडिया और गोदरेज सीएसआर राज्य के 11 मलेरिया प्रभावित जिलों में वेक्टर जनित बीमारी को खत्म करने के लिए प्रोजेक्ट एम्बेड चला रहे हैं। इस परियोजना ने सामुदायिक स्तर पर आईईसी, बीसीसी गतिविधियों, आशा और जमीनी स्तर के स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण में भाग लिया है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग को जन जागरूकता कार्यक्रम के रूप में मलेरिया उन्मूलन के संबंध में प्रोजेक्ट एम्बेड से जनजागरूकता कार्यक्रम के रूप में मलेरिया उन्मूलन हेतु उत्कृष्ट सहायता मिली है। तकनीकी सहायता ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। एम्बेड प्रोजेक्ट ने मलेरिया पॉजिटिव मामलों के सही उपचार के लिए मलेरिया डोज चार्ट एप्लिकेशन विकसित किया है जिसका उपयोग आशा और एएनएम कार्यकर्ताओं द्वारा किया जाता है और यह मध्य प्रदेश के सभी 51 जिलों में लागू है। यह एप्लिकेशन मलेरिया के सही और पूर्ण उपचार में मदद कर रहा है। इन संस्थानों के सहयोग से, राज्य सरकार ने एलएलआईएन, बुखार निगरानी, और मलेरिया रोगियों के व्यापक उपचार में उचित उपयोग करने पर काम किया है। इसने वेक्टर स्रोतों को कम करने में भी मदद की है। इन संयुक्त प्रयासों से मप्र को 2021 में मलेरिया उन्मूलन में श्रेणी 3 से श्रेणी 1 में लाया गया है। मुझे आशा है कि मलेरिया प्रभावित जिलों में राज्य में एम्बेड प्रोजेक्ट का विस्तार किया जाएगा ताकि राज्य सरकार को मलेरिया और डेंगू नियंत्रण को खत्म करने में मदद मिलती रहे।”

गोदरेज कंज्यूमर प्रोडक्ट्स लिमिटेड के प्रबंध निदेशक, सुधीर सीतापति ने कहा, “स्वास्थ्य और गरीबी परस्पर जुड़े हुए हैं। सार्वजनिक स्वास्थ्य समस्याएं गरीब लोगों को असंगत रूप से प्रभावित करती हैं। भारत में मलेरिया और डेंगू के कारण मजदूरी का नुकसान गंभीर चिंता का विषय बना हुआ है। प्रोजेक्ट एम्बेड प्रामाणिक रूप से सहयोगी मॉडल है जो यह सुनिश्चित करता है कि लोग जागरूक हों, सावधानी बरतें और मलेरिया से निपटने के लिए सही समय पर चिकित्सा सहायता लें। एम्बेड के माध्यम से हमारी भूमिका और उद्देश्य मौजूदा सरकार के प्रयासों में सहायता प्रदान करना और व्यवहार परिवर्तन, मलेरिया को रोकने के लिए सामुदायिक कार्रवाई को प्रोत्साहित करना, और समय पर निदान और उपचार द्वारा अंतिम प्रभाव सुनिश्चित करना है। एम्बेड की सफलता के साथ अब हमारा लक्ष्य डेंगू और अन्य वेक्टर जनित बीमारियों से लड़ना और 2025 तक 30 मिलियन से अधिक लोगों की रक्षा करना है।"

फैमिली हेल्थ इंडिया के निदेशक, डॉ बिट्रा जॉर्ज ने बताया, "जीसीपीएल से वित्त पोषण सहायता के साथ, फैमिली हेल्थ इंडिया (एफएच इंडिया) ने 2030 तक मलेरिया को खत्म करने के अपने लक्ष्य में राज्य वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम, मध्य प्रदेश सरकार का समर्थन किया है। राज्य द्वारा व्यवहार परिवर्तन संचार उपकरण और ऑनलाइन प्रशिक्षण मॉड्यूल को अपनाया गया है और मध्य प्रदेश के सभी जिलों में इसका विस्तार किया गया है। 25 अप्रैल 2022 को नई दिल्ली में आयोजित विश्व मलेरिया दिवस समारोह के अवसर पर मलेरिया उन्मूलन की दिशा में मध्य प्रदेश ने एम्बेड टीम के प्रयासों से राष्ट्रीय स्तर पर श्रेणी 01 का दर्जा हासिल किया है। हमें गोदरेज के साथ-साथ लोक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, मध्य प्रदेश सरकार के संग अपनी साझेदारी पर गर्व है और हम राज्य में मलेरिया उन्मूलन लक्ष्य की दिशा में लगातार प्रयास कर रहे हैं।”
गोदरेज इंडस्ट्रीज एंड एसोसिएट कंपनीज के हेड - सीएसआर और सस्टेनेबिलिटी, गायत्री दिवेचा ने कहा, "एम्बेड से हमारी सबसे बड़ी सीख यह है कि विकास संबंधी समस्याएं आपस में गहराई से जुड़ी हुई हैं और इनके समाधान के लिए बड़े पैमाने पर प्रणालीगत परिवर्तन और नवाचार की आवश्यकता है। इन समस्याओं पर साइलो में काम करना मुश्किल है। राज्य के स्वास्थ्य विभागों में विभिन्न सरकारी संस्थाओं, जिला कलेक्टरों, मुख्य चिकित्सा अधिकारियों और पंचायत के लोगों के साथ हमारी सफल भागीदारी हमारी सफलता के लिए एक आवश्यक घटक रही। मप्र सरकार की अपार प्रतिबद्धता, समर्पण और रणनीतिक दृष्टि के बिना, एम्बेड के साथ किया जाने वाला हमारा कोई भी कार्य संभव नहीं हो पाता।"
भारत की 95% से अधिक आबादी मलेरिया-स्थानिक क्षेत्रों में रहती है। 80% मामले उन 20% आबादी के बीच होते हैं जो आदिवासी, पहाड़ी और दुर्गम क्षेत्रों में रहते हैं। राष्ट्रीय वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम के आंकड़े मलेरिया के मामलों के भार के साथ-साथ मृत्यु दर में स्पष्ट गिरावट को प्रकट करते हैं। लेकिन विश्व मलेरिया रिपोर्ट 2021 के आंकड़े बताते हैं कि मलेरिया के मामलों में गिरावट की दर महामारी से पहले की तुलना में धीमी रही है। इसके अलावा, रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि भारत में अभी भी दक्षिण पूर्व एशिया के 80% से अधिक मलेरिया के मामले हैं। शोध के अनुसार, मलेरिया में 10% की कमी को सकल घरेलू उत्पाद में 0.3% की वृद्धि के साथ जोड़ा गया है। भारत में मलेरिया से कुल आर्थिक बोझ लगभग 1.9 बिलियन अमरीकी डालर है और इसे उलटा किया जा सकता है क्योंकि मलेरिया रोग का उन्मूलन संभव है।

जेईसीआरसी इनक्यूबेशन सेंटर ने किया वेंचर कैटेलिस्ट के साथ एमओयू साइन

स्टार्टअप कॉन्क्लेव इवेंट का हुआ आयोजन ,40+ स्टार्टअप ने लिया हिस्सा जयपुर। जेआईसी, जेईसीआरसी ने स्टार्टअपस और उभरते एंटरप्रेन्योरस के एक्सप...