Thursday, July 21, 2022

पिछली तिमाही में SMB और MSME’s ने उत्पन्न की 70ः नौकरियां- apna.co apna.co द्वारा किया गया तिमाही विश्लेषण

बैंगलुरू, 21 जुलाई, 2022ः पिछले  तीन महीनों के दौरान बाज़ारों के दोबारा खुलने से भारतीय कंपनियों में कारोबार के विकास पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। अचानक से मांग और आपूर्ति के बीच बढ़े इस अंतर को दूर करने और आम लोगों तक सेवाएं पहुंचाने के उद्देश्य से देश भर की कंपनियों ने विभिन्न जॉब रोल्स में नियुक्तियां तेज़ कर दी हैं। यही कारण है कि पिछले साल की समान अवधि की तुलना में इस तिमाही के दौरान भारत के प्रमुख जॉब एवं प्रोफेशनल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म apna.co  के साथ जुड़ने वाले SMB (लघु एवं मध्यम उद्यमों) की संख्या में 13ः की बढ़ोतरी हुई है। वास्तव में इस सीज़न प्लेटफॉर्म के ज़रिए घर के पास नौकरियों की बात करें तो  SME और MSME’s का योगदान 70ः से भी अधिक रहा है।  

apna.co  के मुताबिक मैनुफैक्चरिंग, रियल एस्टेट, हॉस्पिटेलिटी, एविएशन, ब्यूटी एवं वैलनैस में नियुक्तियां करने वाले एम्पलॉयर्स भी बढ़े हैं। apna द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार देश भर में एम्पलॉयर्स विभिन्न जॉब रोल्स जैसे टेलीकॉलर, बीपीओ एक्ज़क्टिव, कम्प्यूटर डेटा एंट्री ऑपरेटर, बैक ऑफिस स्टाफ, डिलीवरी पार्टनर, सेल्स एक्ज़क्टिव, अकाउन्ट्स और फाइनैंस एक्ज़क्टिव में उम्मीदवारों की नियुक्तियां कर रहे हैं। 

पिछले तीन महीनों के दौरान apna के साथ जुड़ने वाले ज़्यादातर एम्पलॉयर्स दिल्ली-एनसीआर, बैंगलुरू, मुंबई, पुणे, कोलकाता, हैदराबाद और अहमदाबाद जैसे शहरों से हैं।  

प्लेटफॉर्म के साथ जुड़ने वाले 32ः नए एम्पलॉयर्स, दूसरे स्तर के शहरों जैसे भुवनेश्वर, वड़ोदरा और कटक से हैं। 

उत्तरी भारत के एम्पलॉयर्स टेलीकॉलर्स, फील्ड सेल्स, डिलीवरी, फाइनैंस आदि जॉब रोल्स में नियुक्तियां कर रहे हैं, वहीं दक्षिणी और पूर्वी भारत के एम्पलॉयर्स बिज़नेस डेवलपमेन्ट, कुक, मार्केटिंग, रीटेल/ काउंटर सेल्स जैसे जॉब रोल्स में नियुक्तियां कर रहे हैं। 

महामारी के बाद के रूझानों की बात करें तो पिछली तिमाही में 8ः से अधिक एम्पलॉयर्स ने चुनिंदा जॉब रोल्स के लिए स्थायी रूप से वर्क फ्रॉम होम के विकल्प दिए हैं। बहुत से एम्पलॉयर्स अपने कर्मचारियों को हाइब्रिड मोड में घर या ऑफिस से काम करने का विकल्प दे रहे हैं।  

माननीय प्रधानमंत्री जी के दृष्टिकोण के अनुसार देश भर में 10 लाख नियुक्तियों को बढ़ावा देने के लिए एम्पलॉयर्स ने नियुक्तियांे की प्रक्रिया तेज़ कर दी है। उद्योग जगत की रिपोर्ट्स के मुताबिक कार्यबल की संख्या जो 2019-20 में 68 लाख थी, वह 2029-30 तक बढ़कर तकरीबन 2.35 करोड़ तक पहुंच सकती है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि एम्पलॉयर्स 12वीं पास उम्मीदवारों और फ्रैशर्स की भर्तियां करने के लिए उत्सुक हैं। पिछले साल की समान तिमाही की तुलना में 12वीं पास उम्मीदारों द्वारा नौकरियों के आवेदन में 1.3 गुना तथा फ्रैशर्स द्वारा नौकरियों के आवेदन में 2 गुना बढ़ोतरी हुई है।

विकास के इन रूझानों पर बात करते हुए मानस सिंह, चीफ़ बिज़नेस ऑफिसर,apna.co  ने कहा, ‘‘भारतीय जॉब मार्केट अब मांग और आपूर्ति के बीच के अंतर को दूर करने के लिए काम कर रहा है, इसके चलते नियुक्तियों की संख्या तेज़ हुई है। हमें खुशी है कि हम देश भर र्में Zomato, Byjus, Swiggy, Teamlease, Speeder, Tekpillar Services Pvt Ltd  जैसी 3,00,000 से अधिक कंपनियों के लिए भरोसेमंद पार्टनर बने हुए हैं।’’

नौकरी ढूंढने वाले उम्मीदवारों की बात करें तो apna के आंकड़ों के अनुसार पिछली तिमाही के दौरान विभिन्न जॉब रोल्स के लिए 29 मिलियन आवेदन प्राप्त हुए हैं। सबसे ज़्यादा आवेदन दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, बैंगलुरू, हैदराबाद, कोलकाता, पुणे, लखनऊ और जयपुर से प्राप्त हुए हैं।

apna ऐप यूज़र्स को 11 भाषाओं में सेवाएं देकर बेहतर कनेक्टिविटी और ज़्यादा सुविधा प्रदान करता है। पिछली तिमाही के दौरान जहां एक ओर ज़्यादातर यूज़र्स ने ऐप पर अंग्रेज़ी भाषा को चुना, वहीं 17ः यूज़र्स नेे हिंदी भाषा को चुना। इसके बाद बड़ी संख्या में यूज़र्स ने तेलुगु, तमिल, बंगाली, मराठी और गुजराती भाषा में भी ऐप का इस्तेमाल किया।

apna.co  तेज़ी से विकसित हो रहा है और अब देश के 74 शहरों में मौजूद है, इसके 25 मिलियन से अधिक यूज़र और 300,000 से अधिक एम्पलॉयर पार्टनर्स हैं।  


No comments:

Post a Comment

इंश्योरेंस में प्रोडक्ट इनोवेशनः सुकून भरे रिटायरमेंट के लिए नई जरूरत

आम तौर पर बीमा कंपनियां उभरते जोखिमों और उपभोक्ता प्रवृत्तियों को ध्यान में रखते हुए उत्पाद बनाती हैं। इस बीच, अक्सर उत्पादों की सादगी नवाचा...