Friday, July 15, 2022

होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने जयपुर में राजस्थान पुलिस के सहयोग से किया सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान का समापन

जयपुर, 15 जुलाई, 2022ः सुरक्षित राइडिंग की आदतों को बढ़ावा देने के प्रयास में होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) ने राजस्थान पुलिस के सहयोग से आज जयपुर के आरपीए रोड़, पानी पेंच, नेहरू नगर में स्थित राजस्थान पुलिस एकेडमी में अपने सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान का समापन किया।

नागरिकों की सुरक्षा के लिए निःस्वार्थ भाव के साथ काम करने वाले पुलिस कर्मियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए, राजस्थान राज्य पुलिस ने एचएमएसआई को सड़क सुरक्षा जागरुकता प्रोग्राम आयोजित करने की ज़िम्मेदारी सौंपी है, इस प्रोग्राम का आयोजन राज्य में नए भर्ती किए गए डिप्टी सुप्रीटेन्डेन्ट ऑफ पुलिस (डीएसपी), सब-इंस्पेक्टर और कॉन्स्टेबल्स के लिए किया गया। 3 दिवसीय (11-13 जुलाई) जागरुकता अभियान ने राजस्थान में 400 से अधिक नवनियुक्त पुलिस अधिकारियों को सड़क सुरक्षा पर जागरुक बनाया।

सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान का समापन श्री नवज्योति गोगोई (आईपीएस, आईजीपी, राजस्थान पुलिस एकेडमी, जयपुर) श्री प्रभु नागराज (ऑपरेटिंग ऑफिसर, ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया) की मौजूदगी में हुआ। इस अवसर पर राजस्थान राज्य पुुलिस एवं एचएमएसआई से अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

सड़क सुरक्षा जागरुकता के प्रसार के बारे में बात करते हुए श्री प्रभु नागराज, ऑपरेटिंग ऑफिसर- ब्राण्ड एण्ड कम्युनिकेशन, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया ने कहा, ‘‘एचएमएसआई राजस्थान राज्य पुलिस को सलाम करता है जो राज्य के नागरिकों की सुरक्षा के लिए अथक प्रयास कर रहे हैं।ं इस सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान के माध्यम से हम नवनियुक्त पुलिस अधिकारियों को जागरुक बनाकर समाज को कुछ देना चाहते हैं, ये पुलिस अधिकारी हर दिन पूरे समर्पण के साथ समाज सेवा में तत्पर हैं। हम राजस्थान पुलिस के प्रति आभारी हैं जिन्होंने सभी के लिए सड़कों को सुरक्षित बनाने हेतु इस सुरक्षा अभियान को अपना समर्थन दिया है। आने वाले समय में भी हम हर व्यक्ति को सड़क के ज़िम्मेदाराना इस्तेमाल के बारे में शिक्षित करने के लिए अपने इस अभियान का विस्तार जारी रखेंगे।’’

राजस्थान पुलिस के लिए एचएमएसआई के सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान के बारे में
एचएमएसआई के 3.5 घण्टे तक चले प्रशिक्षण प्रोग्राम ने प्रतिभागियों को थ्योरी सत्र के माध्यम से सड़क नियमों एवं विनियमों, सड़क संकेतों एवं चिन्हों, सड़क पर ड्राइवर के कर्तव्य, राइडिंग गियर एवं पोस्चर तथा सुरक्षित राइडिंग के लिए सड़क पर शिष्टाचार की जानकारी दी। इसके बाद होण्डा के वर्चुअल राइडिंग सिमुलेटर पर प्रशिक्षण के ज़रिए प्रतिभागियों को सड़क पर वास्तविक राइडिंग से पहले तकरीबन 100 संभाावी खतरों के बारे में बताया गयां

इसके अलावा, प्रतिभागियों को खतरों का पूर्वानुमान लगाने के लिए प्रशिक्षण- किकेन योसोकु टेªनिंग (केवायटी) दी गई, ताकि राइडर वाहन चलाते समय खतरे का अनुमान लगा सकें और सड़क पर सुरक्षित रह सकें। प्रतिभागी सड़क सुरक्षा का महत्व समझ सकें, इसके लिए प्रतिभागियों को होण्डा 2 व्हीलर पर व्यवहारिक प्रशिक्षण के माध्यम से प्रशिक्षित किया गया।

सड़क सुरक्षा के लिए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया की सीएसआर प्रतिबद्धता

होण्डा के लिए दुनिया भर में सड़क सुरक्षा सबसे पहली प्राथमिकता है। अप्रैल 2021 में की गई घोषणा के मुताबिक ‘‘होण्डा 2050 तक दुनिया भर में होण्डा की मोटरसाइकलों एवं ऑटोमोबाइल्स की जानलेवा दुर्घटनाओं को शून्य तक लाने के लिए प्रयास करेगी।’’ अपने कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व को पूरा करते हुए एचएमएसआई 2001 में भारत में अपनी शुरूआत से ही सड़क सुरक्षा को बढ़ावा दे रही है। होण्डा के विश्वसतरीय सुरक्षा दृष्टिकोण के साकार रूप देते हुए, आज एचएमएसआई का सड़क सुरक्षा जागरुकता अभियान 46 लाख से अधिक भारतीयों तक पहुंच चुका है। इसके कुशल सेफ्टी इंस्ट्रक्टर्स की टीम देश भर में अपने 10 अडॉप्टेड टैªफिक टेªनिंग पार्कों और 7 सेफ्टी ड्राइविंग एजुकेशन सेंटरों में रोज़ाना प्रोग्रामों का संचालन करती है।

इतना ही नहीं, देश भर में एचएमएसआई की 1000 से अधिक डीलरशिप्स भी सड़क सुरक्षा जागरुकता का प्रसार कर रही हैं। एचएमएसआई का प्रॉपराइटरी वर्चुअल राइडिंग सिमुलेटर, राइडर को जोखिम का पूर्वानुमान लगाने में मदद करता है; वहीं भारत के हर डीलरशिप में नए उपभोक्ताओं को डिलीवरी देने से पहले सड़क सुरक्षा की सलाह (पीडीएसए) दी जाती है।

इसके अलावा, न्यू नॉर्मल के इस दौर में भी लर्निंग रूकनी नहीं चाहिए, इसके लिए होण्डा ने डिजिटल सड़क सुरक्षा शिक्षा अभियान- ‘होण्डा रोड सेफ्टी ई-गुरूकुल’ की शुरूआत की। मई 2020 में अपनी शुरूआत के बाद से यह अभियान 7 लाख से अधिक लोगों को सड़क के ज़िम्मेदाराना इस्तेमाल के बारे में जागरुक बना चुका है। 

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...