Tuesday, July 26, 2022

बीपीसीएल ने भारत में अपनी तरह का पहला स्वदेशी सुपर अब्सॉर्बेंट पॉलिमर तैयार किया

मुंबई, 26 जुलाई, 2022- भारत में पेट्रोलियम क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों में से एक भारत पेट्रोलियम कॉर्पाेरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) ने कोच्चि में बीपीसीएल रिफाइनरी में प्रोपलीन डेरिवेटिव्स पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स से पहला स्वदेशी सुपर एब्जॉर्बेंट पॉलिमर तैयार किया है।

सैनिटरी नैपकिन और अन्य इन्कान्टनन्स प्रोडक्ट्स के प्रमुख घटक सुपर एब्जॉर्बेंट पॉलिमर का भारत में पहली बार उत्पादन किया जा रहा है।

सुपर अब्सॉर्बेंट पॉलिमर की पहली खेप को कोच्चि रिफाइनरी के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री अजीत कुमार के. ने बीपीसीएल के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में झंडी दिखाकर रवाना किया।

इस बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कोच्चि रिफाइनरी के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री अजीत कुमार के. ने कहा, ‘‘पहले स्वदेशी सुपर एब्सॉर्बेंट पॉलिमर का निर्माण बीपीसीएल के अग्रणी आरएंडडी कोशिशों का नतीजा है, जो बीपीसीएल द्वारा भारत में स्थापित विश्व स्तर के ऐक्रेलिक एसिड यूनिट द्वारा उत्पादित ऐक्रेलिक एसिड की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।’’

कंपनी ने कहा, ‘‘डिमॉन्स्ट्रेशन प्रोजेक्ट के बाद 50,000 टन प्रति वर्ष क्षमता का एक वाणिज्यिक संयंत्र स्थापित किया जाएगा, जिससे इस विशिष्ट और तेजी से बढ़ते खंड में भारत को आत्मनिर्भर बनाने के साथ-साथ ₹1,000 करोड़ की विदेशी मुद्रा की बचत होगी।’’

विशिष्ट पेट्रोकेमिकल के क्षेत्र में लाइसेंस के लिए टैक्नोलॉजी उपलब्ध नहीं है, हालांकि, बीपीसीएल आर एंड डी केंद्र ने हाइजीन एसएपी के उत्पादन के लिए एंड टू एंड प्रक्रियाओं को विकसित करने की चुनौती ली है। कोच्चि रिफाइनरी में 200 टन प्रति वर्ष का एक प्रदर्शन संयंत्र स्थापित किया गया है, जहां एसएपी का उत्पादन उनके इन-हाउस ऐक्रेलिक एसिड का उपयोग करके किया जाता है।

No comments:

Post a Comment

इंश्योरेंस में प्रोडक्ट इनोवेशनः सुकून भरे रिटायरमेंट के लिए नई जरूरत

आम तौर पर बीमा कंपनियां उभरते जोखिमों और उपभोक्ता प्रवृत्तियों को ध्यान में रखते हुए उत्पाद बनाती हैं। इस बीच, अक्सर उत्पादों की सादगी नवाचा...