Friday, July 15, 2022

वेदांता ने एआई-आधारित सुरक्षा तकनीकों के लिए आईआईटी मद्रास की मदद से स्थापित स्टार्ट-अप के साथ की साझेदारी

नई दिल्ली/मुंबई 15 जुलाई, 2022- मेटल, ऑयल और गैस के क्षेत्र में देश की प्रमुख उत्पादक कंपनी वेदांता लिमिटेड ने आईआईटी मद्रास इनक्यूबेटेड स्टार्ट-अप डिटेक्ट टेक्नोलॉजीज के साथ साझेदारी का हाथ बढ़ाया है। यह स्टार्ट-अप वेदांता स्पार्क कार्यक्रम का विजेता है। स्टार्ट-अप के साथ यह साझेदारी वेदांता की सभी बिजनेस यूनिट्स में T-Pulse® HSSE Monitoring System को स्थापित करते हुए एआई-आधारित सुरक्षा निगरानी को लागू करने के मकसद से की गई है।

यह सहयोग कार्यस्थलों पर एआई-एनेबल्ड सुरक्षा निगरानी को लागू करने वाली वेदांता समूह की जीरो हार्म संबंधी प्रतिबद्धता के अनुरूप है, जो इसके डिजिटल परिवर्तन रोडमैप में एक महत्वपूर्ण पहल है।

वेदांता ग्रुप के सीईओ सुनील दुग्गल ने कहा, ‘‘यह साझेदारी नवीन टैक्नोलॉजी पर आधारित सुरक्षा की दिशा में वेदांता की क्षमताओं को और बढ़ाएगी। डिटेक्ट टेक्नोलॉजीज के एआई और कंप्यूटर विज़न समाधान निश्चित तौर पर हमें सभी व्यावसायिक इकाइयों में अपनी डिजिटल सुरक्षा निगरानी बढ़ाने में मदद करेंगे।’’

फ़ीड और डैशबोर्ड रिपोर्टिंग को रिले और इनका विश्लेषण करने के लिए यह सॉल्यूशन वेदांता के इन्फ्रास्ट्रक्चर का उपयोग करेगा और इसका पता लगाएगा। विभिन्न श्रेणियों जैसे नौकरी की सुरक्षा/जोखिम संचार, ऊंचाई पर काम, यातायात संबंधी हस्तक्षेप और वाहन सुरक्षा, आदि के तहत असुरक्षित अधिनियमों और शर्तों की पहचान करने के लिए मॉड्यूल को लागू किया जाएगा।

ज्.च्नसेम® प्लग-एंड-प्ले डिप्लोयमेंट के लिए डिज़ाइन किया गया एक केंद्रीकृत और स्केलेबल टैक्नोलॉजी स्टैक प्रदान करता है। इस डिवाइस को जोखिम कम करने और इसे दूर करने के लिए डिजाइन किया गया है। इसे कंस्ट्रक्शन, पेट्रोकेमिकल्स, लॉजिस्टिक्स, बिजली, धातु, खनन, फार्मास्यूटिकल्स और फैब्रिकेशन यार्ड जैसे प्रमुख कार्यस्थलों में व्यापक तौर पर स्थापित किया गया है। ये ऐसे क्षेत्र हैं, जहां पर्याप्त सावधानी रखने की जरूरत होती है। वेदांता की विभिन्न सुविधाओं में इसे स्थापित करने के साथ यह ऑनशोर ड्रिलिंग से लेकर जिंक मैन्यूफेक्चरिंग तक के माहौल में प्रभावी प्रतिक्रियाओं को सक्षम करके अनुपालन बढ़ाने में सहायक रहा है।

डिटेक्ट टेक्नोलॉजीज आईआईटी मद्रास इनक्यूबेटेड स्टार्ट-अप है और वेदांता स्पार्क1.0 पहल का विजेता है। यह एक अग्रणी औद्योगिक एआई उद्यम है, जो 100 प्रतिशत सुरक्षा अनुपालन और एसेट्स के जीरो डाउनटाइम को प्राप्त करने के लिए रीइंजीनियरिंग और स्वचालित औद्योगिक प्रक्रियाओं पर आधारित एसएएएस-बेस्ड समाधान पेश करता है।

वेदांता स्पार्क एक ग्लोबल कॉर्पाेरेट इनोवेशन, एक्सेलेरेटर और वेंचर कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य ऐसे स्टार्ट-अप को सक्षम बनाना है जो वेदांत की समूह कंपनियों के साथ साझेदारी में बड़े पैमाने पर प्रभाव पैदा करने के लिए परिवर्तनकारी और सस्टेनेबल टैक्नोलॉजी का लाभ उठाते हैं। पिछले महीने, वेदांता ने प्राकृतिक संसाधन क्षेत्र में स्थायी डिजिटल परिवर्तन को आगे बढ़ाने पर ध्यान देने के साथ स्टार्ट-अप के लिए स्पार्क 2.0 एक्सेलेरेटर कार्यक्रम शुरू किया।

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...