Friday, July 15, 2022

एक आरएएस अधिकारी ने ग्रामीणों की सेवा का उठाया बीड़ा

 


-- बधाल गांव निवासी हैं अधिकारी भागचंद बधाल 
-- सीएमओ सहित विभिन्न महत्वपूर्ण जगह रहे हैं पदस्थापित
नवीन कुमावत 
किशनगढ़ रेनवाल। सेवा का जज्बा हो तो व्यस्तता में से कैसे भी समय निकाला जा सकता है। सेवा का ध्येय निश्छल और निष्कपट हो तो कोई ना कोई तरीका निकल ही जाता है। और ऐसा ही कुछ कर दिखाया है, निकटवर्ती बधाल गांव निवासी आरएएस अधिकारी भागचंद बधाल ने। विभिन्न महत्वपूर्ण विभागों में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी संभालते हुए भी उन्होंने अपने सेवा कार्य जारी रखे हुए हैं। बधाल गांव में सरकारी स्कूल में अध्ययन कर राजस्थान प्रशासनिक सेवा में प्रभावशाली पदों पर कार्य कर रहे आरएएस अधिकारी भागचंद बधाल ने अब ग्रामीण क्षेत्र के लोगों की सेवा का बीड़ा उठाया हैं। अपनी ईमानदारी छवि एवं सादगी के बूते राजकीय सेवा में अपनी अमिट छाप छोड़ चुके हैं। भागचंद बधाल अब अपने गांव और आसपास के ग्रामीणों की सेवा का बीड़ा भी अपने कंधों पर उठाकर अपनी सादगी का परिचय दे रहे हैं।  भागचंद बधाल एडीएम जोधपुर, एसडीएम सांभर, सीएमओ में मुख्यमंत्री सचिव, ओटीएस में प्रशासनिक अधिकारियों के प्रशिक्षक रह चुके हैं। वह वर्तमान में सचिवालय में बीमा विभाग में सचिव हैं। गौरतलब है की भागचंद बधाल ने राज्य सेवा करते हुए अब आसपास के ग्रामीण देहाती बीमार लोगों की सेवा करने की ठानी है। इसके तहत उन्होंने जयपुर में अपना एक एनजीओ स्थापित कर उसके जरिए राजस्थान के सबसे बड़े अस्पताल सवाई मानसिंह अस्पताल जयपुर में एक कर्मचारी नियुक्त किया है, जो ग्रामीण क्षेत्र से आए मरीजों को चिकित्सक एवं जांच सैंपल लेने व उपचार की समुचित व्यवस्था करने का कार्य करता है। इसके तहत बधाल गांव में और आसपास के क्षेत्र में इन्होंने कर्मचारी के मोबाइल नंबर व नाम लोगों को मैसेज किया है। साथ ही इस कर्मचारी को हिदायत दी गई है कि कोई भी ग्रामीण जांच व इलाज के लिए एसएमएस में भटकना नहीं चाहिए। उसे मरीजों की समुचित व्यवस्था करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।  भागचंद बधाल ने बताया कि सवाई मानसिंह अस्पताल जयपुर, राज्य का सबसे बड़ा हॉस्पिटल है। जहां संपूर्ण राज्य ही नहीं अन्य राज्यों के रोगी भी इलाज के लिए आते हैं। एसएमएस अस्पताल में विभिन्न बीमारियों के लिए अलग-अलग वार्ड बने हुए हैं। एसएमएस का विस्तार भी काफी बड़ा है। जिससे ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले देहाती मरीजों को डॉक्टर को दिखाने व विभिन्न जांच करवाने व उनकी रिपोर्ट लेने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। उन्हें डॉक्टर को ढूंढने, जांच के सैंपल देने इत्यादि के लिए काफी असुविधा होती है। हमने एक " रक्षक समिति जयपुर " का गठन कर रेनवाल व सांभर पंचायत समिति क्षेत्र के रोगियों को एसएमएस अस्पताल में संपूर्ण सहयोग करने के लिए एक सहायक रवि वर्मा को लगाया है। जो इन क्षेत्रों से आने वाले रोगियों को डॉक्टर को दिखाने, जांच के सैंपल दिलाने, जांच रिपोर्ट लेने इत्यादि कार्य में सहयोग करेगा। कोई भी व्यक्ति इस कार्य के लिए निम्नलिखित मोबाइल नंबरों ( 8696722222, 9509732909 ) पर संपर्क कर सकता है। भागचंद बधाल ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्र के बीमार व्यक्तियों को एसएमएस अस्पताल लाने -- ले जाने हेतु वाहन उपलब्ध करवाने के लिए भी रक्षक समिति गंभीरता से विचार कर रही है। खासकर गरीब और पिछड़े तबके के देहाती रोगियों को इसका लाभ मिल सकेगा। वाहन सुविधा शीघ्र ही शुरू की जाएगी।

No comments:

Post a Comment

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...