Tuesday, July 12, 2022

टाटा एआईए लाइफ इन्शुरन्स और सिटी यूनियन बैंक की साझेदारी

चेन्नई, 12 जुलाई, 2022: भारत की एक अग्रणी जीवन बीमा कंपनी, टाटा एआईए लाइफ इन्शुरन्स कंपनी लिमिटेड ने सिटी यूनियन बैंक (सीयूबी) के साथ एक रणनीतिक गठबंधन की आज घोषणा की। बैंक के उपभोक्ताओं को जीवन और स्वास्थ्य बीमा समाधान प्रदान करने के लिए यह सहयोग किया गया है। उपभोक्ताओं की ज़रूरतों, मांगों, सुरक्षा और सुविधा को सबसे महत्वपूर्ण मानते हुए काम करने वाले और एक सदी से भी अधिक समय से भारत के उपभोक्ता परिदृश्य का हिस्सा रहे दो अग्रणी ब्रांड इस साझेदारी में एक साथ आए हैं। इस साझेदारी से सिटी यूनियन बैंक के उपभोक्ताओं (मौजूदा और नए) को टाटा एआईए लाइफ के कई अलगअलग, अभिनव उत्पादों और अवधि बीमा, बचत और निवेश, सेवानिवृत्ति और स्वास्थ्य से संबंधित सेवाओं के लाभ मिलेंगे। दूसरी ओर टाटा एआईए लाइफ सीयूबी की 700 से ज़्यादा  शाखाओं के ज़रिए अपने वितरण का विस्तार करने और देश में जीवन बीमा सुविधाओं को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण योगदान देने में सक्षम बनेगी। उपभोक्ताओं को डिजिटली सक्षम अनुभव और मोबाइल पर आसानी से पायी जाने वाली सुविधाएं प्रदान करना इस साझेदारी का और एक प्रमुख उद्देश्य है।

निजी क्षेत्र का अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक सिटी यूनियन बैंक लिमिटेड 1904 से बैंकिंग उद्योग में सर्वोत्तम सेवाएं प्रदान कर रहा है। सीयूबी का मुख्यालय तमिलनाडु के तंजावुर जिले के जानेमाने 'मंदिर शहर' कुंभकोणम में है। 31 मार्च, 2022 के आंकड़ों के अनुसार, 47,690 करोड़ रुपयों की जमा राशि और 41,156 करोड़ रुपयों के एडवान्सेस के साथ, बैंक का कुल कारोबार 88,846 करोड़ रुपए रहा। 31 मार्च, 2022 तक बैंक की कुल संपत्ति 6550 करोड़ रुपये थी, जिसका पूंजी पर्याप्तता अनुपात (बेसल III) 20.85% था। सिटी यूनियन बैंक के देश भर में फैले हुए नेटवर्क में 1732 एटीएम और 727 शाखाएं शामिल हैं।

150 से भी ज़्यादा सालों के समृद्ध अनुभव से परिपूर्ण, भारत के सबसे भरोसेमंद उद्योग समूह टाटा और 100 से ज़्यादा साल पहले स्थापित किए गए, एशिया के सबसे बड़े जीवन बीमा समूह एआईए का समर्थन टाटा एआईए को प्राप्त है। इंडिविजुअल वेटेड न्यू बिजनेस प्रीमियम (IWNBP) के आधार पर नंबर 5 पर स्थित, टाटा एआईए लाइफ ने वित्त वर्ष 2022 में प्रभावशाली विकास किया है। कंपनी ने वित्त वर्ष 2021-22 में पिछले वर्ष के (3,416 करोड़ रूपए) मुकाबले 30% की वृद्धि हासिल करते हुए 4,455 करोड़ रुपयों की आय दर्ज की है। कंपनी ने सुरक्षा विभाग में भी अपना अग्रणी स्थान कायम रखा है और अन्य निजी बीमा कंपनियों के बीच इस उद्यम का नेतृत्व करना जारी रखा है। टाटा एआईए लाइफ द्वारा अश्युअर्ड खुदरा राशि (प्योर टर्म पॉलिसियों के नाम से जाने जाने वाले जीवन बीमा समाधान) वित्त वर्ष 2011 की तुलना में 41% की वृद्धि के साथ 2,18,000 करोड़ रुपयों से 3,07,804 करोड़ रुपयों तक बढ़ी है।

साझेदारी पर टिप्पणी करते हुए, टाटा एआईए लाइफ इन्शुरन्स के अध्यक्ष और मुख्य वितरण अधिकारी, श्री वेंकी अय्यर ने कहा, "देश के प्रमुख निजी क्षेत्र के बैंकों में से एक सिटी यूनियन बैंक के साथ साझेदारी करके हम बहुत खुश हैं। हमारे जीवन बीमा उत्पादों को भारत के ज़्यादा से ज़्यादा नागरिकों तक पहुंचाने में यह साझेदारी हमें और अधिक सक्षम बनाएगी। सिटी यूनियन बैंक के साथ मिलकर हम उपभोक्ताओं की सुरक्षा, बचत, स्वास्थ्य, सेवानिवृत्ति और धन सृजन जैसी वित्तीय ज़रूरतों को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। सिटी यूनियन बैंक के साथ भारी संख्या में जुड़े हुए सूक्ष्म, लघु, मध्यम उद्यमियों को कुशल वित्तीय समाधान प्रदान करने के लिए भी हम उत्सुक हैं। हमें पूरा यकीन है कि यह साझेदारी हमारे लिए, सिटी यूनियन बैंक के लिए और सबसे महत्वपूर्ण बात हमारे उपभोक्ताओं के लिए काफी लाभकारी साबित होगी।”  

सिटी यूनियन बैंक के एमडी और सीईओ डॉ. एन कामकोडी ने कहा,जीवन बीमा कारोबार की मांग के अनुसार मज़बूत और भरोसेमंद संगठन टाटा एआईए लाइफ इन्शुरन्स कंपनी के साथ गठजोड़ से हम बहुत खुश हैं। यह साझेदारी हमारे उपभोक्ताओं को सर्वश्रेष्ठ जीवन बीमा समाधान प्रदान करेगी। हर व्यक्ति के लिए जीवन बीमा एक महत्वपूर्ण उत्पाद बन गया है, हमारा गठबंधन हमारे उपभोक्ताओं को सुरक्षित वित्तीय भविष्य के लिए सबसे अच्छे निवेश समाधान चुनने में सक्षम बनाएगा।"

भारत की आबादी भले ही 140 करोड़ से पार पहुंच चुकी हो लेकिन जीवन बीमा के मामले में हमारा देश अभी भी शुरूआती चरण पर ही है। अनुमानों के अनुसार, भारतीय बाजार की आबादी काफी ज़्यादा होने के बावजूद दुनिया के कुल बीमा प्रीमियम में भारतीय आबादी का योगदान केवल 1.5% है। अधिकांश भारत गावों में बसता है जहां जीवन या स्वास्थ्य बीमा का पर्याप्त प्रसार अभी भी नहीं हुआ है, जिसकी वजह से देश में पारंपरिक जीवन या स्वास्थ्य बीमा कवरेज कम है।

आज लोग वित्तीय सुरक्षा का महत्त्व समझते हैं लेकिन फिर भी जीवन बीमा को प्राथमिकता नहीं देते, ऐसे दौर में यह साझेदारी हुई है। टाटा एआईए लाइफ और सिटी यूनियन बैंक मिलकर उपभोक्ताओं में बीमा और वित्तीय नियोजन के बारे में जागरूकता बढ़ाएंगे, इसके लिए सभी फिज़िकल और डिजिटल प्लेटफॉर्म्स का उपयोग किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...