Saturday, July 23, 2022

गोदरेज एंड बॉयस ने अपने कॉमर्शियल एविएशन कारोबार में रखा 35 फीसदी की वृद्धि का लक्ष्य

मुंबई, 23 जुलाई 2022- गोदरेज समूह की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने कहा है कि उसके बिजनेस गोदरेज एयरोस्पेस ने अपने नागरिक उड्डयन कारोबार में 35 प्रतिशत की वृद्धि का लक्ष्य तय किया है। ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्यूफैक्चरर (ओईएम) और इंजन निर्माताओं सहित वैश्विक बड़ी कंपनियांे की ओर से इस सेगमेंट में मांग में 50 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई है और इसे देखते हुए ही कंपनी ने वृद्धि का लक्ष्य निर्धारित किया है।

हाल के दौर में दुनियाभर में घरेलू हवाई यात्रा ने पूर्ववर्ती स्तर को फिर से हासिल कर लिया है और ऐसी संभावना है कि 2025 तक अंतरराष्ट्रीय यात्रा कोविड से पहले के स्तर तक पहुंच जाएगी। इस माहौल में ही नागरिक उड्डयन की मांग में तेजी आ रही है। यात्रा प्रवृत्तियों में वृद्धि के रूप में एयरोस्पेस कम्पोनेंट्स और पार्ट्स की बढ़ती मांग के कारण व्यवसाय वित्त वर्ष 25 तक तीन गुना वृद्धि पर नजर गड़ाए हुए है।

गोदरेज एयरोस्पेस बिजनेस ने घोषणा की कि बढ़ती वैश्विक उपस्थिति के साथ टैक्नोलॉजी से संबंधित विस्तार इस विकास को गति देगा। यह अनुमानित वृद्धि प्रमुख इंजन निर्माताओं और वैश्विक ओईएम द्वारा भारत में गहरी दिलचस्पी लेने से भी प्रेरित है। वर्तमान मांग को पूरा करने के लिए, गोदरेज एयरोस्पेस को एक दशक से अधिक समय से विमानन उद्योग में क्षमता और अनुमोदन द्वारा समर्थित एकीकृत विनिर्माण सुविधा के कारण एक पसंदीदा भागीदार के रूप में देखा जाता है। गोदरेज एयरोस्पेस एयरक्राफ्ट एप्लीकेशंस के लिए कॉम्प्लैक्स एयरवर्थ सिस्टम का निर्माण और आपूर्ति कर रहा है। साथ ही, क्रिटिकल शीट मेटल ब्रैकेट, कॉम्प्लैक्स फैब्रिकेशन, हाइड्रोलिक एग्रीगेट्स, हेलीकॉप्टरों के लिए क्रैश-प्रूफ फ्यूल टैंक, स्ट्रक्चरल असेंबली, और प्रमुख वैश्विक भागीदारों के लिए कई अन्य प्रोडक्ट्स का निर्माण और आपूर्ति कर रहा है। व्यवसाय एएस9100 प्रमाणित है और एनएडीसीएपी की ओर से रासायनिक प्रक्रियाओं, वेल्डिंग, हीट ट्रीटमेंट और ब्रेजिंग, एनडीटी, कंपोजिट, इलास्टोमेर सील, मेजरमेंट और इंस्पेक्शन और गैर-पारंपरिक मशीनिंग जैसी विशेष प्रक्रियाओं के लिए अनुमोदित किया गया है। गोदरेज एयरोस्पेस पीएसएलवी और जीएसएलवी रॉकेटों के लिए लिक्विड प्रोपल्शन इंजन, उपग्रहों के लिए थ्रस्टर्स और एंटीना सिस्टम जैसी कॉम्प्लैक्स प्रणालियों के निर्माण के लिए 30 वर्षों से इसरो के साथ साझेदारी कर रहा है।

गोदरेज एयरोस्पेस के एवीपी और बिजनेस हेड मानेक बेहरामकमदीन ने कहा, ‘‘एक गंभीर आर्थिक संकट से उबरने की दिशा में काम कर रहा विमानन क्षेत्र अब आत्मविश्वास के संकेत दिखा रहा है। वैश्विक ओईएम भारतीय निर्माताओं के साथ साझेदारी के लिए रास्ते खोल रहे हैं। महामारी के बाद आर्थिक सुधार को ध्यान में रखते हुए, हम नागरिक उड्डयन सेगमेंट में अगले तीन वर्षों में तीन गुना वृद्धि का अनुमान लगा रहे हैं और उम्मीद करते हैं कि इसमें और अधिक सुधार होगा।’’

No comments:

Post a Comment

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...