Thursday, June 16, 2022

फादर्स डे के अवसर पर एसबीआई लाइफ ने लॉन्च किया डिजिटल वीडियो अभियान - #PapaHaiNa-‘Papa Ki Nayi Kahaani’

मुंबई, 16 जून, 2022- पिछले कुछ वर्षों में, विशेष रूप से महामारी के दौर में, आज के पिताओं की मानसिकता में उल्लेखनीय बदलाव आया है। उन्हें न केवल परिवार के लिए तमाम सुख-सुविधाएं जुटाने वाला माना जाता है, बल्कि वे अपने परिवार की खुशी की रक्षा करते हुए अपने जुनून को भी आगे बढ़ाने में जुटे नजर आते हैं। सोच में स्वतंत्रता, लेकिन दृष्टिकोण के लिहाज से सामूहिक- यह है आज का पिता, जो अपने परिवार की जरूरतों की देखभाल करते हुए खुद अपनी जरूरतों की तलाश में भी सहज है।

इस प्रवृत्ति को आगे बढ़ाते हुए, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, इस बार फादर्स डे पर पिताओं को अपने जुनून के लिए बड़ी छलांग लगाने के लिए प्रोत्साहित करता है। साथ ही साथ चूंकि वे अपने परिवार की जरूरतों का ख्याल भी रखते हैं, इसलिए पिताओं को अपने सपनों को दृढ़ संकल्प और मजबूत विश्वास के साथ आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित करना भी जरूरी है। हाल ही में लॉन्च किए गए डिजिटल वीडियो अभियान - #PapaHaiNa  में भी यही प्रदर्शित किया गया है, जो कंपनी की वार्षिक डिजिटल संपत्ति -‘Papa Ki Nayi Kahaani’ का एक हिस्सा है। ब्रांड की फिलॉस्फी अपने लिए, अपनों के लिएमें रचे-बसे इस कैम्पेन में वर्तमान दौर के ऐसे पिताओं को केंद्र में रखा गया है, जो मजबूती से अपने परिवार के साथ खड़े हैं और साथ ही अपने सपनों के प्रति भी उतने ही उत्साही हैं।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करें - https://youtu.be/CYUuWzQ8fXk

डिजिटल वीडियो में 40 वर्षीय प्रकाश चतुर्वेदी की कहानी दिखाई गई है, जो भारत के एक छोटे से शहर से ताल्लुक रखते हैं और अपने दिल में एक लेखक बनने की आकांक्षा को दबाए रखते हैं। अपनी इस ख्वाहिश को पूरा करने के लिए वह अपने सपने को पूरा करने की ख्वाहिश के साथ छलांग लगाते हैं। उनकी बेटी और पत्नी का निरंतर समर्थन और प्रोत्साहन उन्हें अपने दिल की बात मानने के लिए प्रेरित करता है। फिल्म में एक लेखक के रूप में बाजार में पहचान न मिलने के प्रकाश के संघर्ष को दिखाया गया है। उन्हें लगातार अस्वीकृति का सामना करना पड़ता है, लेकिन उनका परिवार और विशेष रूप से उनकी बेटी हर मोड़ पर उनके साथ खड़ी नजर आती है और उन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करती है। अचानक एक दिन चमत्कारिक क्षण में उनकी बेटी एलान करती है कि उसे अपने पापा पर बहुत फख्र है, इसी समय प्रकाश के दिमाग में एक विचार कौंधता है जो अंततः उनकी सफलता का मार्ग प्रशस्त करता है। पहले से कहीं अधिक आत्मविश्वास से भरे प्रकाश अपना पॉडकास्ट रिकॉर्ड करना शुरू करने का फैसला करते हैं और इस तरह एक लेखक और कहानीकार के रूप में उन्हें ब्रेक मिलता है।

 

इस कैम्पेन के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए एसबीआई लाइफ के ब्रांड और कॉरपोरेट कम्युनिकेशन के हैड श्री रवींद्र शर्मा ने कहा, ‘‘एक बच्चे के जीवन में एक पिता की भूमिका में पिछले कई वर्षों में नाटकीय रूप से बदलाव आया है। पहले पिता को सिर्फ परिवार के लिए रोजी-रोटी जुटाने वाला ही समझा जाता था, लेकिन अब परिवार में पिता की भूमिका इससे भी कहीं अधिक है- वह अपने बच्चे के लिए सलाहकार, संरक्षक, मित्र, साथी, रोल-मॉडल आदि अनेक भूमिकाओं में नजर आता है। हालाँकि, महामारी के युग ने कई लोगों को अपने जुनून को खोजने और फिर से जगाने का मौका दिया, विशेष रूप से पिता, जो अपनी जिम्मेदारियों का ध्यान रखते हुए अपने पसंद का काम करने की ओर आगे बढ़ते रहे हैं। इस प्रवृत्ति को आवाज देने के लिए, हमारी डिजिटल संपत्ति #PapaHaiNa-‘Papa Ki Nayi Kahaani’ के माध्यम से, इस विचार को सामान्य बनाने का प्रयास किया गया है कि बिना किसी दबाव के अपने सपनों का पीछा करने से न केवल खुद को खुशी मिलती है, बल्कि अपने से संबंधित सभी लोगों के जीवन को भी समृद्ध बनाने में मदद मिलती है। वीडियो हमें बताता है कि तेजी से बदलती इस दुनिया में एक पिता अपनी तमाम जिम्मेदारियों को पूरा करते हुए अपने सपनों को भी हकीकत में बदलने के लिए कोशिश कर सकता है। वीडियो ऐसे हर पिता की इच्छा को दर्शाता है।’’

उन्होंने आगे कहा, ‘‘एसबीआई लाइफ में हमारी फिलॉस्फी है- अपने लिए, अपनों के लिएऔर हम मजबूती के साथ इस फिलॉस्फी के साथ खड़े हैं। इस फादर्स डे, हम पिताओं को उनके दिल की बात मानने और उनके परिवारों के सहयोग से उनके सपनों को साकार करने के लिए प्रेरित करना चाहते हैं। इस प्रकार, हमारा डिजिटल अभियान, अपने और परिवार के लिए जीवन में संतुलन रखने के इस विश्वास को समाहित करने का एक प्रयास है।’’

श्री साहिल शाह, मैनेजिंग पार्टनर, वाट कंसल्ट ने कहा, ‘‘हमने एसबीआई लाइफ के साथ मिलकर जो डिजिटल फिल्म जारी की है, उसका उद्देश्य उन लोगों को प्रेरित करना है जो बिना कोई समझौता किए व्यक्तिगत जिम्मेदारियों को पूरा करते हुए अपने सपनों को पूरा करने का प्रयास करते हैं। अपनों के सपोर्ट और मजबूती के साथ यह सब संभव है। मुझे उम्मीद है कि इस फिल्म को ऐसे सही लोग मिलेंगे, जिन्हें अपने सपनों को पूरा करने के लिए साहस और समर्थन की जरूरत है।’’

फादर्स डे से संबंधित अपने इस कैम्पेन को बढ़ावा देने के लिए एसबीआई लाइफ़ की ओर से डिजिटल मार्केटियर और डैडी पॉडकास्टर नादिर कांथावाला और होलिस्टिक लाइफ कोच ल्यूक कॉटिन्हो के बीच इंस्टाग्राम पर लाइव बातचीत का आयोजन भी किया जाएगा। इस बातचीत के दौरान ल्यूक कॉटिन्हो व्यक्तिगत आकांक्षाओं और परिवार की खुशी के बीच संतुलन कायम करने के बारे में महत्वपूर्ण टिप्स देंगे। इतना ही नहीं, सुमित शर्मा और दुर्जाेय दत्ता जैसे जाने-माने सोशल मीडिया डैड इन्फ्लूएंसर के साथ सहयोग से उनकी व्यक्तिगत कहानियों को प्रदर्शित करने में मदद मिलेगी कि किस तरह उन्होंने अपने प्रियजनों के वित्तीय भविष्य को सुरक्षित करते हुए अपने जुनून को पूरा करने में कामयाबी हासिल की। इसके साथ ही पॉडकास्ट सत्र भी होंगे, जिनके जरिये चेतन शाह, निखिल आनंदगिरि और नादिर कांथावाला की वास्तविक जीवन की कहानियों को जीवंत किया जाएगा, जिसमें वे बताएंगे कि किस तरह उन्होंने अपने लिएसपनों को साकार किया और अपनों के लिएयानी अपने परिवार से किए गए वादों को भी पूरा किया।

एसबीआई लाइफ ने डिजिटल वीडियो कैम्पेन को अधिकतम दर्शकों तक पहुंचाने के लिए, व्हाट्सएप और फेसबुक जैसे प्लेटफार्मों का भी इस्तेमाल करने का फैसला किया है।

No comments:

Post a Comment

ज्योतिष हमारी वैदिक परंपरा का हिस्सा : राज्यपाल

राज्यपाल ने किया अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस का उद्घाटन जयपुर. यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी और पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान जयपुर जोधपु...