Friday, May 6, 2022

चार धाम यात्रा शुरू होते ही कू ऐप पर ट्रेंड हुआ #केदारनाथ_धाम


भक्तों ने शेयर कीं आरती की तस्वीरें और वीडियो

स्वदेशी सोशल मीडिया मंच कू ऐप पर इन दिनों केदारनाथ धाम पर भारी भीड़ उमड़ रही है। हर दिन भक्तों और श्रद्धालुओं का तांता बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के लिए लगा रहता है। अब आप सोच रहे होंगे कि यह जमावड़ा एक सोशल मीडिया मंच पर कैसे लग सकता है?

तो सुनिए, बीते दिनों देश के अपने माइक्रो-ब्लॉगिंग मंच कू ऐप ने एक बहुत ही अद्भुत पहल की शुरुआत की, जिसका नाम इंडिया स्पिरिचुअल जर्नी (भारत की आध्यात्मिक यात्रा) अभियान रखा गया है। इस अभियान के माध्यम से अब आप चार धाम यानी गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ धाम के दर्शन घर बैठे कर सकते हैं। बाबा केदारनाथ के कपाट खुलने के अवसर पर मौजूदा समय में #kedarnathdham #केदारनाथ_धाम नाम के हैशटैग्स कू ऐप पर तेज रफ्तार से ट्रेंड होते देखे जा रहे हैं। बाबा केदारनाथ के पोस्ट्स शेयर करते हुए लाखों श्रद्धालु भगवान के दर्शनों का घर बैठे लाभ उठा रहे हैं।

मंच पर शुरू की गई इस पहल के चलते, चार धाम यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालु अब कहीं से भी भगवान के ऑनलाइन दर्शन कर सकते हैं। श्रद्धालुओं को कू ऐप के जरिए ऑनलाइन यात्रा की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से श्रद्धालु 24 घंटे पल-पल की जानकारी हासिल कर सकेंगे। इनमें श्रद्धालुओं को चारों धाम के पूजा-पाठ और यहाँ होने वाली सुबह से शाम तक की लाइव आरती के दर्शन आसानी से उपलब्ध हो सकेंगे।

आज विधि-विधान पूर्वक खोले गए मंदिर के कपाट

कोरोना महामारी के चलते दो वर्षों बाद आम लोगों के लिए केदारनाथ धाम खुल गया है, जिसके बाद आज यानी गुरुवार से 12 हजार श्रद्धालु हर दिन दर्शन कर सकेंगे। वैदिक परम्पराओं, मंत्रोच्चार और भगवान भोले के जयकारों के साथ आज यानी शुक्रवार की सुबह 6:25 बजे केदारनाथ धाम के कपाट खोले गए। मंदिर को 15 क्विंटल फूलों से सजाया गया। इस विशेष मौके पर उत्‍तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहे। केदारनाथ धाम के कपाट खुलने के दौरान 10 हजार से ज्यादा श्रद्धालु मौजूद रहे। मंत्रोच्चार और हर-हर महादेव के नारों से पूरा केदारनाथ धाम गूँज उठा, जिसकी पुकार कू पर बड़े ही भक्ति-भाव से सुनाई पड़ रही है। हर कोई बाबा केदारनाथ के जयकारे लगाने के साथ ही शंखनाद करता दिखाई पड़ रहा है।

क्या है भारत की आध्यात्मिक यात्रा

गौरतलब है कि बीते दो वर्षों में महामारी के चलते लागू लॉकडाउन और मंदिरों के अस्थायी रूप से बंद होने के कारण, सोशल मीडिया पर ई-दर्शनों में जबर्दस्त बढ़ोतरी देखने को मिली है। भारत में इंटरनेट पर अध्यात्म और इससे जुड़े विषयों को सबसे अधिक खोजे जाने वाले टॉपिक्स में से एक होने के चलते माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू ऐप (Koo App) ने भक्तों को पूरे भारत में मंदिरों और आध्यात्मिक केंद्रों से डिजिटल रूप से जोड़ने में सक्षम बनाने के लिए 'इंडिया स्पिरिचुअल जर्नी' यानी भारत की आध्यामिक यात्रा अभियान शुरू किया था। यह अभियान आध्यात्मिक गुरुओं और मंदिर ट्रस्टों को पूरे भारत में भक्तों के साथ जोड़ने, उनकी पहल और गतिविधियों के बारे में अपडेट देने और उनकी मूल भाषा में अनुयायियों के साथ रीयल टाइम में जुड़ने के लिए सशक्त बनाएगी। इस अभियान को उत्तराखंड पर्यटन से समर्थन मिला है और इसका मकसद प्रदेश भर में मंदिर ट्रस्टों और आध्यात्मिक केंद्रों को सोशल मीडिया की क्रांति का इस्तेमाल करने में मदद करना है, जो वर्तमान में दुनिया को बदल रही है। 'इंडिया स्पिरिचुअल जर्नी' को धीरे-धीरे पूरे भारत के तीर्थस्थलों तक बढ़ाया जाएगा।


No comments:

Post a Comment

बीते कल में आज की परछाई

बीते हुए कल में आज भी झांक कर देखता हूं तो बाबूजी की स्मृतियां और उनके साथ बीते अनेकों और अनगिनत पल आज भी मुझे अपने आस-पास घिरे जीवन से लड़ने...