Thursday, May 19, 2022

जेकेके में नाटक 'उरूभंगम' का होगा मंचन


जयपुर। 
जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार, 21 मई को नाटक 'उरूभंगम' का मंचन किया जाएगा। यह आयोजन जेकेके के रंगायन में शाम 7 बजे से होगा। महाकवि भास द्वारा लिखित इस नाटक का निर्देशन विवेक माथुर ने किया है। वहीं संगीत निर्देशन प्रतिश रावत व कुणाल शर्मा द्वारा किया गया है। नाटक के लिए प्रवेश टिकिट के माध्यम से होगा। उरुभंगम नाटक सुप्रसिद्ध महाकाव्य महाभारत पर आधारित दूसरी से तीसरी शताब्दी के बीच महाकवि भास द्वारा लिखित संस्कृत नाटक है। उरुभंगम प्रसंग भीम और दुर्योधन के बीच युद्ध के दौरान और युद्ध के पश्चात दुर्योधन के चरित्र पर आधारित है। इस नाटक की केंद्रीय पटकथा वही है जो मूल महाभारत में है। लेकिन महाकवि भास ने कुछ परिलक्ष्यों को बदल कर कथा का निरूपण बदल दिया है। इसमें सबसे चरम बदलाव यह है कि जहां दुर्योधन का चित्रण महाभारत में एक खलनायक की तरह दिखाया गया है, वहीं उरूभंगम नाटक में उसे अपेक्षाकृत ज्यादा मानवीयगुणोपेत दिखाया गया है।रंग साधना थियेटर ग्रुप, जयपुर के अध्यक्ष विवेक माथुर गत 12 वर्षों से रंगमंच में सक्रिय रूप से कार्य कर रहे है। जयपुर रंगमंच पर उन्होंने कई वरिष्ठ निर्देशकों के सानिध्य में तथा उनके साथ अपना योगदान दिया है। उन्होंने राष्ट्रीय नाट्य महोत्सवों में अभिनय कला का प्रदर्शन किया है साथ ही कई नाटकों का निर्देशन भी किया है। उनमें से प्रमुख नाटक “मरणोपरांत” (सुरेन्द्र वर्मा), “पंछी ऐसे आते है” (विजय तेंदुलकर), “जांच हो गई” (मदन शर्मा), ‘रोशनी की आवाज’ (प्रेमचंद गांधी) और ‘फुटपाथ का सम्राट’ का सफल मंचन किया जो कि आज के परिपेक्ष्य में यथार्थवाद को दर्शाते हैं।

No comments:

Post a Comment

इस्कान मंदिर में गीता जयंती हर्षोल्लास से मनाई गई

जयपुर। इस्कॉन, श्री श्री गिरिधारी दाऊजी मन्दिर, मानसरोवर, जयपुर में 3 दिसंबर को गीता जयंती का कार्यक्रम बड़े हर्सोल्लास से मनाया गया। ओम प्र...