Tuesday, May 10, 2022

वेदांता ने लॉन्च किया स्पार्क 2.0

10 मई 2022, दिल्ली- वैश्विक रूप से विविध ऊर्जा और संसाधन समूह वेदांता ने स्टार्टअप्स का समर्थन करने के अपने मिशन के अनुरूप एक ग्लोबल कॉरपोरेट ओपन इनोवेशन एंड एक्सेलेरेटर प्रोग्राम- ‘स्पार्क 2.0’ लॉन्च किया है। इस प्रोग्राम का उद्देश्य बड़े पैमाने पर प्रभाव पैदा करने के लिए इनोवेटिव और सस्टेनेबल टैक्नोलॉजी का लाभ उठाने वाले स्टार्टअप्स को सक्षम बनाना है। कार्यक्रम के तहत चुने गए स्टार्टअप्स को वेदांता की समूह कंपनियों के साथ साझेदारी में काम करने का मौका मिलेगा। वेदांता की समूह कंपनियों का कामकाज 3 महाद्वीपों में संचालित किया जाता है। इस प्रोग्राम में शामिल होने वाले स्टार्टअप्स को अनेक फायदे होंगे, जिनमें प्रमुख हैं- मार्केट एक्सेस और कमर्शियल पाथवे, केपेसिटी और रिसोर्सेज, डोमेन विशेषज्ञों से सलाह और स्ट्रेटेजिक इनवेस्टमेंट्स।

स्पार्क 2.0 का फोकस रणनीतिक साझेदारी के माध्यम से ऊर्जा, खनन और संसाधन क्षेत्र में सस्टेनेबल डिजिटल परिवर्तन को संभव बनाना है। कार्यक्रम को पर्यावरण, सामाजिक और शासन (ईएसजी), डिजिटल कोर, संबद्ध उत्कृष्टता और उभरती प्रौद्योगिकी पर जोर देने के साथ फोर्ज - कोयंबटूर इनोवेशन और बिजनेस इनक्यूबेटर के साथ साझेदारी में क्यूरेट और कार्यान्वित किया गया है। इच्छुक स्टार्टअप 15 मई 2022 से पहले www.vedantaspark.com पर आवेदन कर सकते हैं।

वेदांता स्पार्क 2.0 के लॉन्च की घोषणा करते हुए वेदांता रिसोर्सेज के अध्यक्ष श्री अनिल अग्रवाल ने कहा, ‘‘यह स्टार्टअप ही हैं, जो परिवर्तन को आगे बढ़ा रहे हैं। उनके इनोवेटिव सॉल्यूशंस हमें एक सस्टेनेबल  तरीके से परिचालन संबंधी उत्कृष्टता और रणनीतिक विकास को आगे बढ़ाने में मदद कर सकते हैं। मुझे एक ऐसा कार्यक्रम शुरू करने पर गर्व है, जो हमारे देश के युवा उद्यमियों को सशक्त बनाता है। हमारे प्रतिभाशाली युवाओं को नई ऊंचाइयों तक पहुंचते हुए देखने से ज्यादा खुशी मुझे और कुछ नहीं हो सकती।’’

इस कार्यक्रम के पहले संस्करण - वेदांता स्पार्क 2020-2021 ने 29 देशों के 1300 से अधिक स्टार्टअप एप्लीकेशंस के साथ एक जबरदस्त सफलता हासिल की थी। स्पार्क 1.0 ने 2 मिलियन अमरीकी डालर से अधिक के अनुमानित निवेश के साथ 46 पायलट परियोजनाओं के साथ 60 से अधिक नवाचार चुनौतियों और 23 विजेताओं को लॉन्च किया था।

एक्जीक्यूटिव स्पॉन्सर आकर्ष हेब्बार ने कहा, ‘‘हम स्टार्टअप्स को जो पेशकश करते हैं वही हमारा पैमाना है। हम स्टार्टअप्स से संबंधित विचारों के लिए हमेशा खुले हैं, जो अपनी अत्याधुनिक तकनीक को जांचने के लिए हमें अपने खेल के मैदान के रूप में इस्तेमाल करते हैं। हम वेदांता परिवार में ऐसे सभी स्टार्टअप का स्वागत करते हैं।’’

केंद्र सरकार के स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम के अनुरूप, वेदांता स्पार्क, वेदांत समूह का एक प्री-सीड इनिशिएटिव है, जिसके तहत टैक्नोलॉजी के क्षेत्र में विश्व स्तरीय उत्पादों के निर्माण में स्टार्टअप्स का समर्थन किया जाता है। इस तरह उन्हें वैश्विक स्तर पर वाणिज्यिक ऑर्डर जीतने के लिए अवसर प्रदान किए जाते हैं।

वेदांता अनेक साझेदारों के साथ जुड़ा हुआ है, जिनमें स्टार्टअप इंडिया, अटल इनोवेशन मिशन, मीटी स्टार्टअप हब, एआईसी-संगम, साइन-आईआईटी बॉम्बे, इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी- हैदराबाद, 10000 स्टार्टअप्स, द गेन, मैकिन्से एंड कंपनी, 100 ओपन स्टार्टअप्स, आईक्रिएट और हेडस्टार्ट प्रमुख हैं। इस तरह बड़ी संख्या में योग्य इनोवेटिव और तकनीकी रूप से उन्नत स्टार्टअप तक पहुंचने का हरसंभव प्रयास किया जाता है।

No comments:

Post a Comment

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...