Wednesday, May 11, 2022

वार्डविज़र्ड ने 1851 मिलियन का राजस्व दर्ज किया; वित्तीय वर्ष 22 में 369 फीसदी सालाना बढ़ोतरी की

वड़ोदरा, 11 मई 2022: देश में इलेक्ट्रिक वाहनों के ब्राण्ड जॉय ई-बाईक की अग्रणी ऑटो-निर्माता कंपनी वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड (BSE Code: 538970) ने 31 मार्च 2022 को समाप्त होने वाली तिमाही एवं सालाना परिणामों की घोषणा की है।

वित्तीय परिणामों के मुख्य बिन्दु

वित्तीय वर्ष 22 की चौथी तिमाहीः

  • राजस्व रु 815 मिलियन, 347 फीसदी सालाना बढ़ोतरी
  • ईबीआईडीटीए रु 61 मिलियन, 279 फीसदी सालाना बढ़ोतरी
  • पीएटी (कर के बाद मुनाफ़ा) रु 33 मिलियन, 374 फीसदी बढ़ोतरी
  • ईपीएस रु14

वित्तीय वर्ष 22:

  • राजस्व रु 1851 मिलियन, 369 फीसदी सालाना बढ़ोतरी
  • ईबीआईडीटीए रु 145 मिलियन, 365 फीसदी सालाना बढ़ोतरी
  • पीएटी (कर के बाद मुनाफ़ा) रु 85 मिलियन, 353 फीसदी सालाना बढ़ोतरी
  • ईपीएस रु35

 

हाल ही कारोबार के अपडेट्स

  • ईवी की बिक्री
  • वार्डविज़र्ड ने पिछले वित्तीय वर्ष में 30,761 युनिट्स की बिक्री की उपलब्धि की है। भारत में ईवी क्रान्ति में अग्रणी कंपनी ने देश में अपने ब्राण्ड ‘जॉय ई-बाईक’ को मजबूती से स्थापित कर लिया है।
  • वर्तमान में देश भर में कंपनी के 550 से अधिक डीलरशिप्स का नेटवर्क है और अगले 2-3 सालों में कंपनी ने डीलरों की संख्या को 2000 के आंकड़े के पार ले जाने की योजना बनाई है।
  • हाल ही में कंपनी ने गुजरात राज्य में 20 से अधिक डीलर्स शामिल किए हैं। साथ ही दो नए डीलरों के साथ उत्तर पूर्व (असम) के नए बाज़ार में भी प्रवेश किया है।
  • प्रोडक्ट लॉन्च
  • हाल ही में कंपनी ने हाई स्पीड स्कूटर- वोल्फ प्लस और जैन नेक्स्ट नानू प्लस का लॉन्च किया।
  • बाज़ार की मांग और ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए कंपनी इस साल तिपहिया वाहन पेश करने की योजना भी बना रही है।
  • मैनुफैक्चरिंग युनिट
  • वार्डविज़र्ड ने वड़ोदरा में नए उद्घाटन किए गए ग्लोबल मुख्यालय में भारत के पहले इलेक्ट्रिक एंसीलरी क्लस्टर के विकास के लिए 4 मिलियन वर्गफीट ज़मीन का अधिग्रहण किया।
  • कंपनी ने गुजरात में इलेक्ट्रिक वाहनों के अनुसंधान एवं विकास में रु 500 करोड़ के निवेश के साथ गुजरात सरकार के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए।
  • नई पहलें
  • वार्डविज़र्ड ने सिंगापुर की नवीकरणीय ऊर्जा प्रबन्धन कन्सल्टिंग फर्म सनकनेक्ट के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। जिसके तहत वार्डविज़र्ड के ईवी एंसीलरी क्लस्टर में लिथियम-आयन अडवान्स्ड सैल्स के निर्माण के लिए भावी साझेदारी की पहचान एवं व्यवहारिकता अध्ययन किया जाएगा। सनकनेक्ट, वार्डविज़र्ड के ईवी एंसीलरी क्लस्टर में 1GWh सैल प्रोडक्शन प्लांट की स्थापना के लिए योजना बनाने हेतु अनुभवी वैज्ञानिकों, इंजीनियरों एवं विश्लेषकों की समिति बनाएगा।
  • विभिन्न उद्योगों में इसके उत्पादों के उपयोग को बढ़ावा देने के प्रयास में कंपनी डेमो पर निरंतर काम कर रही है और अपने उत्पादों की सम्पूर्ण रेंज का प्रदर्शन कर रही है। हाल ही में कंपनी ने पुणे, पश्चिम बंगाल और बैंगलोर में ईवी एक्सपो में हिस्सा लिया था।
  • कंपनी ने पुणे, नासिक, इंदौर, दिल्ली और जोधपुर में जॉय-ई बाईक के एक्सपीरिएंस सेंटर भी खोले हैं तथा राजकोट, छत्तीसगढ़ और कोलकाता में भी जल्द ही एक्सपीरिएंस सेंटर लॉन्च करने की योजना बनाई है।

वित्तीय वर्ष 22 के परिणामों पर बात करते हुए श्री यतिन गुप्ते, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, वार्डविज़र्ड इनोवेशन एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड ने कहा, ‘‘हमारे जॉय ई-बाईक परिवार के 30,761 सदस्यों को बधाई, जिन्होंने हममें भरोसा दिखाया है। मुझे उम्मीद है कि आने वाले समय में हमारा यह परिवार तेज़ी से बढ़ता रहेगा। कंपनी के 1851 मिलियन के परफोर्मेन्स से हम बेहद उत्साहित हैं, जो हमारे समर्पण का ही परिणाम है। देश ईवी क्रान्ति के दौर से गुज़र रहा है, जो हमारे भविष्य का अभिन्न हिस्सा है। यह हमारे लिए आसान नहीं है और इसीलिए हम उपभोक्ताओं के हितों को ध्यान में रखते हुए अपने प्रोडक्ट्स और सर्विसेज़ में निरंतर बदलाव ला रहे हैं। कंपनी आर एण्ड डी, अपने प्रोडक्ट्स के विस्तार तथा वित्तीय वर्ष 23 में बाज़ार में मौजूदगी बढ़ाने के लिए निवेश जारी रखेगी। हम इस साल में कई और प्रोडक्ट्स भी लेकर आएंगे, जिससे उद्योग एवं कंपनी दोनों को आगे बढ़ने में मदद मिलेगी और इसका लाभ उपभोक्ताओं को होगा। देश को मजबूत ईवी सिस्टम की ज़रूरत है, जो अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान दे सकता है और हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं।’

वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड के बारे में: वार्डविज़र्ड इनोवेशन्स एण्ड मोबिलिटी लिमिटेड, ब्राण्ड जॉय ई-बाईक के तहत इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेन्ट में अग्रणी ऑटो निर्माता कंपनी है। यह अपने ब्राण्ड व्योम इनोवेशन्स के माध्यम से होम अप्लायन्स बाज़ार की ज़रूरतों को भी पूरा करता है। इलेक्ट्रिक वाहन के निर्माण के क्षेत्र में बीएसई पर पहली सूचीबद्ध कंपनी होने के नाते, यह मुख्य रूप से भारत के इलेक्ट्रिक वाहन सेगमेन्ट को बढ़ावा देने तथा परिवहन के स्वच्छ एवं हरित विकल्पों को प्रोत्साहित करने के लिए प्रयासरत है, जो पर्यावरण में सकारात्मक बदलाव ला सकें। जॉय ई-बाईक्स के माध्यम से कंपनी ईंधन पर चलने वाले पारम्परिक वाहनों का हरित विकल्प उपलब्ध कराती है। वहीं दूसरी ओर व्योम इनोवेशन्स उपभोक्ताओं के लिए उर्जा प्रभावी होम अप्लायन्सेज़ पेश करती है, इसका उद्देश्य भी हरित प्रणाली को बढ़ावा देना ही है। कंपनी का फुटप्रिन्ट भारत के 25 प्रमुख शहरों में फैला है और यह देश भर में अपने विस्तार के लिए तत्पर है।

No comments:

Post a Comment

बीते कल में आज की परछाई

बीते हुए कल में आज भी झांक कर देखता हूं तो बाबूजी की स्मृतियां और उनके साथ बीते अनेकों और अनगिनत पल आज भी मुझे अपने आस-पास घिरे जीवन से लड़ने...