Monday, May 9, 2022

डेल्हीवरी लिमिटेड का आईपीओ 11 मई, 2022 को खुलेगा

मुंबई, गुरुवार 09 मई, 2022: डेल्हीवरी लिमिटेड (“डेल्हीवरी” या “कंपनी”), 11 मई, 2022 को अपना आईपीओ (“ऑफर”) खोलने की योजना बना रही है। एंकर निवेशक बोली/प्रस्ताव अवधि, बोली/प्रस्ताव खुलने की तारीख से एक कार्य दिवस पूर्व है, यानी 10 मई, 2022 को है।

ऑफर का प्राइस बैंड ₹1 अंकित मूल्य पर ₹462 प्रति इक्विटी शेयर से ₹ 487 प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय किया गया है। इस ऑफर में कर्मचारी आरक्षण हिस्सा (नीचे परिभाषित) में बोली लगाने वाले पात्र कर्मचारियों के लिए प्रस्ताव मूल्य पर 25 रु. प्रति इक्विटी शेयर की कर्मचारी छूट दी जा रही है। न्यूनतम 30 इक्विटी शेयर और उसके बाद 30 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है।

इस ऑफर में कंपनी के ₹1 अंकित मूल्य के कुल ₹52,350 मिलियन के इक्विटी शेयर (“इक्विटी शेयर”) हैं (“ऑफर”) जिसमें ₹40,000 मिलियन का फ्रेश इश्यू (“फ्रेश इश्यू”) और कंपनी के कुछ मौजूदा शेयरधारकों के ₹12,350 मिलियन का ऑफर फॉर सेल (“ऑफर फॉर सेल”) शामिल है। ऑफर फॉर सेल वाले इक्विटी शेयरों में डेली सीएमएफ प्राइवेट लिमिटेड के ₹2,000 मिलियन तक के इक्विटी शेयर, सीए स्विफ्ट निवेश के कुल ₹4,540 मिलियन तक के इक्विटी शेयर, एसवीएफ डोरबेल (केमैन) लिमिटेड के ₹3,650 मिलियन तक के इक्विटी शेयर, टाइम्स इंटरनेट लिमिटेड के ₹1,650 मिलियन तक के इक्विटी शेयर (सामूहिक रूप से,"निवेश विक्रेता शेयरधारक"), कपिल भारती के ₹50 मिलियन तक के इक्विटी शेयर, मोहित टंडन के ₹400 मिलियन तक के इक्विटी शेयर, और सूरज सहारन के ₹60 मिलियन तक के इक्विटी शेयर (सामूहिक रूप से, "व्यक्तिगत विक्रेता शेयरधारक") (निवेशक विक्रेता शेयरधारक और व्यक्तिगत विक्रेता शेयरधारकों को सामूहिक रूप से "विक्रेता शेयरधारक" कहा गया है) शामिल हैं। इस ऑफ़र में पात्र कर्मचारियों (“कर्मचारी आरक्षण हिस्सा”) द्वारा सब्सक्रिप्शन के लिए ₹200 मिलियन तक के इक्विटी शेयरों का आरक्षण शामिल है।

यह ऑफर भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (पूंजी और प्रकटीकरण आवश्यकताओं का निर्गम) विनियम, 2018, यथा संशोधित ("सेबी आईसीडीआर विनियमन") के विनियमन 31 के साथ प्रतिभूति संविदा (विनियमन) नियम, 1957 के नियम 19(2) (बी) की शर्तों, यथा संशोधित ("एससीआरआर"), के अनुसार उपलब्ध कराया जा रहा है। यह प्रस्ताव बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के माध्यम से और सेबी आईसीडीआर विनियमों के विनियमन 6(2) के अनुपालन में किया जा रहा है, जिसमें नेट ऑफर का कम से कम 75% पात्र संस्थागत खरीदारों (“क्यूआईबी”, “क्यूआईबी भाग”) के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते कि कंपनी बीआरएलएम के परामर्श से, एंकर निवेशकों को 60% तक का आवंटन विवेकपूर्ण आधार (“एंकर निवेशक हिस्सा”) पर कर सकती है, जिसमें से एक तिहाई घरेलू म्यूचुअल फंड के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते कि सेबी आईसीडीआर विनियमों के अनुसार एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या उससे ऊपर, घरेलू म्यूचुअल फंड से बोली प्राप्त हो। एंकर इन्वेस्टर पोर्शन में अंडर-सब्सक्रिप्शन, या अनावंटन की स्थिति में, शेष इक्विटी शेयरों को नेट क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा। क्यूआईबी भाग का 5% (एंकर निवेशक भाग को छोड़कर) आनुपातिक आधार पर केवल म्यूचुअल फंड के आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, और शेष क्यूआईबी भाग सभी क्यूआईबी बोलीदाताओं के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होगा (एंकर निवेशकों को छोड़कर), जिसमें म्यूचुअल फंड भी शामिल है, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या उससे ऊपर वैध बोलियाँ प्राप्त हों। हालांकि, अगर म्यूचुअल फंड से कुल मांग क्यूआईबी हिस्से के 5% से कम है, तो म्यूचुअल फंड हिस्से में आवंटन के लिए उपलब्ध शेष इक्विटी शेयरों को क्यूआईबी के आनुपातिक आवंटन के लिए शेष क्यूआईबी हिस्से में जोड़ा जाएगा। यदि नेट ऑफर का कम से कम 75% क्यूआईबी को आवंटित नहीं किया जा सकता है, तो पूरी आवेदन राशि को तुरंत वापस कर दिया जाएगा।

इसके अलावा, नेट ऑफर का 15% से अधिक गैर - संस्थागत बोलीदाताओं को आवंटन के लिए उपलब्ध होगा, जिसमें से (क) एक तिहाई हिस्सा ₹200,000 से अधिक और ₹ 1,000,000 तक के आवेदन आकार वाले आवेदकों के लिए आरक्षित होगा; और (ख) दो - तिहाई हिस्सा ₹ 1,000,000 से अधिक के आवेदन आकार वाले आवेदकों के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते कि इस तरह की किसी भी उप - श्रेणी में अनसब्सक्राइब्ड हिस्सा गैर - संस्थागत बोलीदाताओं की अन्य उप - श्रेणी में आवेदकों को आवंटित किया जा सकता है, जो प्रस्ताव मूल्य पर या उससे ऊपर प्राप्त होने वाली वैध बोली के अधीन है और सेबीआईसीडीआर विनियमों के अनुसार खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं (“ आरआईबी ”) को आवंटन के लिए नेट ऑफर का 10% से अधिक नहीं होगा। एंकर निवेशकों के अलावा सभी बोलीदाताओं को अनिवार्य रूप से अवरुद्ध राशि ("एएसबीए") प्रक्रिया द्वारा समर्थित आवेदन का उपयोग करना आवश्यक है, अपने संबंधित बैंक खातों का विवरण प्रदान करना होगा (यूपीआई बोलीदाताओं के मामले में यूपीआई आईडी सहित) जिसमें बोली राशि एससीएसबी द्वारा अवरुद्ध कर दी जाएगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के माध्यम से ऑफ़र में भाग लेने की अनुमति नहीं है। इसके अलावा, कर्मचारी आरक्षण हिस्से के तहत आवेदन करने वाले पात्र कर्मचारियों को समानुपातिक आधार पर इक्विटी शेयर आवंटित किए जाएंगे, बशर्ते कि उनसे ऑफर मूल्य पर या उससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्त हों।

इस ऑफर में पेश किए गए इक्विटी शेयरों को लिस्टिंग के बाद बीएसई लिमिटेड ("बीएसई”) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (“एनएसई”, बीएसई के साथ, “स्टॉक एक्सचेंजों”) पर सूचीबद्ध किये जाने का प्रस्ताव है।

कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी लिमिटेड, मॉर्गन स्टेनली इंडिया कंपनी प्राइवेट लिमिटेड, बोफा सिक्योरिटीज इंडिया लिमिटेड और सिटीग्रुप ग्लोबल मार्केट्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।

यहां उपयोग किए गए सभी बड़े अक्षरों में दिये गये शब्द जो परिभाषित नहीं किए गए हैं, रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस और प्रॉस्पेक्टस में उनके लिए वर्णित समान अर्थ होंगे।

 

No comments:

Post a Comment

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...