Monday, April 18, 2022

भीषण गर्मी के इस दौर में बिजली की खपत को बढ़ाए बिना अपने एसी से कैसे हासिल करें ज्यादा से ज्यादा कूलिंग!!

लेखक- संतोष सालियान -

प्रोडक्ट ग्रुप हैड-एयर कंडीशनर - गोदरेज अप्लायंसेज

तापमान में लगातार वृद्धि के साथ कई भारतीय शहरों में इस साल भी भीषण गर्मी का दौर जारी है। इस चिलचिलाती गर्मी में, चाहे आप दिनभर अपने दफ्तर में काम करने के बाद जब घर आते हैं या न्यू नॉर्मल के इस दौर में जबकि आप अपने घर से ही काम कर रहे हैं- दोनों ही हालात में आपको एक बेहतर और अनुकूल माहौल की जरूरत होती ही है। एक ऐसा माहौल जहां आप गर्मी को मात देते हुए बड़े आराम के साथ अपने काम को पूरा कर सकें।

गर्मी के चरम पर पहुंचने के साथ ही इस दौर में हमें एयर कंडीशनर का उपयोग करने के बारे में भी पूरी तरह सावधान रहना चाहिए और इसकी दक्षता पर भी विशेष ध्यान देना चाहिए। थोड़ी सी देखभाल और रखरखाव के साथ आप न सिर्फ अपने बिजली के बिल में कटौती कर सकते हैं, बल्कि आपका एयर कंडीशनर भी बेहतर तरीके से और अपनी सर्वश्रेष्ठ क्षमता के साथ प्रदर्शन कर सकता है और इस तरह आप भीषण गर्मी में भी आरामदायक स्थिति में रह सकते हैं। यहां हम कुछ ऐसे आसान टिप्स दे रहे हैं, जिनकी सहायता से आप अपने एयर कंडीशनर की बेहतर देखभाल कर सकते हैं और बिजली की बचत करते हुए चिलचिलाती धूप में भी कूलिंग हासिल कर सकते हैं।

  • सबसे पहले, यह सलाह दी जाती है कि गर्मी शुरू होने से ठीक पहले अपने एसी के लिए एक प्रिवेंटिव मेंटिनेंस की जाए। यह आपके एसी को अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन में मदद करेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि भीषण गर्मी के दिनों में भी आपका एयर कंडीशनर सुगमता से काम करता रहे।
  • अपने एसी के एयर फिल्टर को साफ करें ताकि अधिकतम कूलिंग क्षमता और दक्षता सुनिश्चित हो सके। जबएयर-कंडीशनर चालू हो, उस दौरान डस्टिंग से बचें। यह भी सुनिश्चित करें कि फ़िल्टर को सप्ताह में कम से कम एक बार जरूर चैक किया जाए, ताकि धूल या फाइबर इसमें नहीं जमें। फिल्टर को साफ करना आसान है और आपकी मदद के लिए यहां एक आसान वीडियो गाइड दी जा रही है-https://www.youtube.com/watch?v=40tLimZW7zY
  • सुनिश्चित करें कि एयर कंडीशनर की बाहरी इकाई के आसपास का क्षेत्र साफ है और उस पर कोई गंदगी जमा न होने दें। धूल और गंदगी वायु प्रवाह को अवरुद्ध करते हैं और आपके सिस्टम को अधिक मेहनत करने के लिए मजबूर करते हैं, जिससे न सिर्फ इसकी दक्षता कम होती है, बल्कि इसका जीवनकाल भी छोटा हो जाता है।
  • कूलिंग और ऊर्जा की बचत के सही संतुलन के लिए, अपने आराम के आधार पर अपने एयर कंडीशनर को 24-26 डिग्री सेल्सियस के आदर्श तापमान पर रखें। यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि आप प्रत्येक डिग्री एयर कंडीशनर के लिए 3-5 प्रतिशत कम ऊर्जा की खपत कर सकते हैं जो 22 डिग्री से ऊपर सेट है।
  • रात में स्लीप/टाइमर फ़ंक्शन का उपयोग करने की अनुशंसा की जाती है।
  • बीच-बीच में सीलिंग फैन का इस्तेमाल करें, ताकि कूलिंग समान रूप से फैल सके और गर्म हवा को नीचे की ओर धकेला जा सके, इस तरह एयर कंडीशनर की बाहरी इकाई को कम दबाव डालना होगा और कूलिंग सुचारू रूप से की जा सकती है।
  • भारी पर्दे या काले पर्दे का इस्तेमाल करें, ताकि धूप आपके कमरे में न आने पाए। यह उपाय सीधे सूर्य की किरणों को दूर रखने में मदद करेगा और स्वाभाविक रूप से दोपहर के दौरान कमरे को थोड़ा ठंडा महसूस कराएगा।
  • खिड़कियाँ या दरवाजे खुला छोड़ कर एयर कंडीशनर का संचालन न करें। कमरे को दरवाजे, खिड़कियों आदि के चारों ओर ठीक से बंद/सील किया जाना चाहिए।
  • अंत में, पर्यावरण के अनुकूल एसी का उपयोग करना याद रखें जो पर्यावरण के अनुकूल रेफ्रिजरेंट जैसे कि आर290 या आर32 का उपयोग करता है, जो जीरो ओजोन डिप्लीशन प्रदान करते हैं और कम ग्लोबल वार्मिंग क्षमता रखते हैं।

तो, आगे बढ़ें, अपने एसी का अधिकतम लाभ उठाने और गर्मी को मात देने के लिए इन आवश्यक उपायों पर अमल करें।

No comments:

Post a Comment

अपने दिल के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें केयर हेल्थ इंश्योरेन्स के एक्सक्लुज़िव हार्ट इंश्योरेन्स प्लान के साथ

29 सितम्बर, 2022: इस विश्व हृदय दिवस के मौके पर हर दिल की सुरक्षा के लिए दिल से सोचें। अपने दिल का इस्तेमाल प्रकृति, मानवता के लिए और सबसे ज़...