Saturday, April 9, 2022

जेकेके में मोहम्मद वकील की गज़लों से श्रोता झूम उठे


जयपुर :
 जवाहर कला केंद्र के 29वें स्थापना दिवस पर प्ले बैक और गज़ल सिंगर मोहम्मद वकील ने गज़ल गायकी का सफर पेश किया, जिसमें उन्होंने बेगम अखतर, फरीदा खानम, मेंहदी हसन, गुलाम अली, जगजीत सिंह, लता मंगेशकर, मोहम्मद रफी, पंकज उदास के साथ-साथ अपनी खुद की गजल पेश की़। इस दौरान उन्होंने आज जाने की ज़िद न करो, मेरे हम नफस, रफता रहता, आवारगी, आज सोचा तो आंसू भर आये, किसी नज़र को तेरा इंतज़ार आज भी है और अपनी खुद की गजल ये कसक, सुनाकर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। प्रस्तुति में सूत्रधार अनामिका अनंत और संगतकार पंडित चंद्र मोहन भट्ट, रहबर हुसैन, नरेंद्र सिंह, रविंद्र राओ, रमज़ान ने संगत की।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में दर्शकों ने शास्त्रीय व लोक संगीत की फ्यूजन प्रस्तुति का आनंद उठाया

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में शुक्रवार शाम को मध्यवर्ती में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त फ़्यूज़न ‘कहरवा’ की प्रस्तुति ने दर्शकों क...