Friday, April 15, 2022

जेकेके में युवा शास्त्रीय गायक सौरभ वशिष्ठ ने प्रस्तुति देकर दर्शकों का मन मोहा


जयपुर।
 आजादी का अमृत महोत्सव के तहत जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के रंगायन में शुक्रवार शाम को शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में युवा शास्त्रीय गायक सौरभ वशिष्ठ ने शास्त्रीय गायन की प्रस्तुति देकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सौरभ ने राग पूरिया को अपनी प्रस्तुति का माध्यम बनाया। उन्होंने एकताल विलंबित में 'पिया गुणवंत सब ही बातन में' व तीनताल द्रुत में 'शरण तोरी आई महाराज' बंदिश प्रस्तुत की। प्रस्तुति के दौरान तबले पर दिनेश खिंची और हारमोनियम पर गिर्राज बालोदिया ने प्रभावी संगत की। तानपुरे पर अजय कुमार और रणजीत सिंह ने साथ दिया। गौरतलब है कि युवा शास्त्रीय गायक सौरभ जयपुर के वरिष्ठ शास्त्रीय गायक व संगीत गुरु प. कुंदनमल शर्मा के छात्र हैं।वे बनारस घराना व ग्वालियर घराने से ताल्लुक रखते हैं। सौरभ आकाशवाणी से ग्रेडेड कलाकार हैं और साथ ही संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार से स्कॉलरशिप भी प्राप्त कर चुके हैं।

जेकेके में कल नाटक 'उधार का पति' का होगा मंचन
जेकेके के रंगायन में 16 अप्रेल को शाम 7 बजे से नाटक 'उधार का पति' का मंचन किया जाएगा। तपन तपन भट्ट द्वारा निर्देशित इस नाटक के लेखक ना.धो. ताम्हणकर और अनुवादक वनमाला भवालकर हैं। नाटक में एंट्री मुफ्त है और 'पहले आओ पहले पाओ' के आधार पर होगी। नाटक में कलाकार विशाल भट्ट, अभिषेक झांकल, सौरभ भट्ट, रिमझिम भट्ट, झिलमिल, अन्नपूर्णा शर्मा, चित्रांश माथुर, शाहरुख खान, और कमलेश चंदानी प्रस्तुति देंगे। इसके साथ ही लाइट्स घनश्याम बेनीवाल और रूप सज्जा रवि बांका द्वारा किया जाएगा।

No comments:

Post a Comment

बीते कल में आज की परछाई

बीते हुए कल में आज भी झांक कर देखता हूं तो बाबूजी की स्मृतियां और उनके साथ बीते अनेकों और अनगिनत पल आज भी मुझे अपने आस-पास घिरे जीवन से लड़ने...