Thursday, April 28, 2022

पीडब्ल्यूसी ने जयपुर में खोला अपना कार्यालय, कुशल स्थानीय प्रतिभाशाली युवाओं की होंगी भर्तियां

नई दिल्ली, 28 अप्रैल, 2022ः राज्य में मौजूद अपार प्रतिभा को उचित अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से पीडब्ल्यूसी इंडिया ने जयपुर, राजस्थान में अपना नया कार्यालय खोलने की घोषणा की है। अपनी विकास रणनीति के तहत अगले 5 सालों में देश भर में 10,000 अतिरिक्त नौकरियां उत्पन्न करने की प्रतिबद्धता के साथ, कंपनी ने यह विस्तार किया है।

संजीव कृष्ण, चेयरमैन, पीडब्ल्यूसी, भारत ने कहा, ‘‘हमारे प्रतिभाशाली युवा अब सिर्फ महानगरों तक ही सीमित नहीं हैं और हम अन्य शहरों में भी कुशल प्रतिभाओँ को उचित अवसर प्रदान करना चाहते हैं। जयपुर की समृद्ध शिक्षा प्रणाली के चलते यहां बड़ी संख्या में सीए, इंजीनियर और मैनेजमेन्ट ग्रेजुएट्स हर साल निकलते हैं। इसके अलावा यह शहर, राज्य में बहुत सी औद्योगिक गतिविधियों का केन्द्र भी है, जो हमें अपने क्लाइन्ट्स के साथ जुड़ने तथा अपनी विकास यात्रा को प्रोत्साहित करने के अवसर प्रदान करता है।’’
संजीव ने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा, ‘‘पीडब्ल्यूसी में हम भारत की 5 ट्रिलियन डॉलर की महत्वाकांक्षा की दिशा में अग्रसर हैं। देश भर में रोज़गार के अनुकूल अवसर उपलब्ध कराना इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा और यह हमारी विकास रणनीति का अभिन्न हिस्सा है। 2006 और 2017 के दौरान पहले स्तर के शहरों एवं महानगरों की तुलना में दूसरे एवं तीसरे स्तर के शहरों में रीटेल इन्फ्रास्ट्रक्चर में पांच गुना निवेश किया गया। ये आंकड़े इन शहरों की मजबूत स्थिति की पुष्टि करते हैं।’’
कारोबार के विकास के लिए राज्य की उभरती प्रणाली पर बात करते हुए संजीव ने कहा कि जयपुर कार्यालय भारत के विकास की कहानी में हमारी प्रतिबद्धता की पुष्टि करता है।
नया कार्यालय एक प्रत्यास्थ कार्यालय होगा जो क्षेत्र के क्लाइंट्स को अपनी सेवाएं प्रदान करेगा। जयपुर के अलावा फर्म ने भुवनेश्वर में भी विस्तार की योजनाएं बनाई हैं। आने वाले साल में यह नोएडा और ठाणे में भी अपने शाखा कार्यालय खोलेगी। 

No comments:

Post a Comment

अपने दिल के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें केयर हेल्थ इंश्योरेन्स के एक्सक्लुज़िव हार्ट इंश्योरेन्स प्लान के साथ

29 सितम्बर, 2022: इस विश्व हृदय दिवस के मौके पर हर दिल की सुरक्षा के लिए दिल से सोचें। अपने दिल का इस्तेमाल प्रकृति, मानवता के लिए और सबसे ज़...