Thursday, April 21, 2022

भारत ‘फिर से लौट रहा है काम पर’; हॉस्पिटेलिटी, ब्यूटी एण्ड वैलनैस सेक्टर फिर से पटरी पर लौटे महामारी के बाद की तिमाही में apna.co ने किया यह विश्लेषण

बैंगलुरू, 21 अप्रैल, 2022ः महामारी के दो सालों के बाद पिछली तिमाही नौकरी ढूंढने वालों के लिए बहुत अच्छी रही है, क्योंकि सभी बाज़ार फिर से खुल गए हैं। पिछले तीन महीनों में भारतीयों ने 3 करोड़ से अधिक इंटरव्यूज़ दिए, इस तरह पिछली तिमाही (अक्टूबर-दिसम्बर 21) की तुलना में 13.71 फीसदी का उछाल आया। भारत के सबसे बड़े जॉब्स एवं प्रोफशनल नेटवर्किंग प्लेटफार्म apna.co पर महामारी के बाद भारत के जॉब मार्केट में सकारात्मक बदलाव आए हैं।

पिछली तिमाही में देश भर में नौकरियों की संख्या में अचानक उछाल आया,apna.co ने अपने कर्मचारियों की संख्या में 42 फीसदी QoQ बढ़ोतरी दर्ज की है। पिछले साल कोविड की दूसरी लहर के चलते हेल्थकेयर, डिलीवरी और ई-कॉमर्स जैसे सेक्टर तेज़ी से आगे बढ़ रहे थे, लेकिन अन्य सेक्टरों में रोज़गार की दर बहुत कम हो गई थी। 2022 की पहली तिमाही में हॉस्पिटेलिटी, ब्यूटी एण्ड वैलनैस, मैनुफैक्चरिंग, रियल एस्टेट एवं एविएशन लॉजिस्टिक्स जैसे सेक्टर भी फिर से सामान्य स्थिति में लौटने लगे हैं, बाज़ारों के खुलने के साथ इन सभी सेक्टरों में जॉब ओपनिंग्स बढ़ रही हैं। जॉब ओपनिंग्स की बात करें तो apna.co ने ब्यूटी एण्ड वैलनैस में 80 फीसदी और हॉस्पिटेलिटी सेक्टर में 30 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की है।
apna.co के अनुसार आईटी और लॉजिस्टिक्स सेक्टर में सबसे ज़्यादा भर्तियां की गई हैं। पिछले साल की तुलना में रियल एस्टेट, हॉस्पिटेलिटी, ब्यूटी एवं वैलनैस सेक्टरों में भी इस साल ज़बरदस्त सुधार आया है।
पिछले तीन महीनों में, नए यूज़र्स की संख्या में 141 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ 48 लाख नए प्रोफेशनल्स apna.co के प्लेटफॉर्म के साथ जुड़े हैं, जो विभिन्न सेक्टरों में इंटरव्यूज़ दे रहे हैं। इनमें से 46 फीसदी यूज़र ऐसे हैं जो प्लेटफॉर्म पर नौकरियों की तलाश और अपना प्रोफेशनल नेटवर्क बनाने के लिए अंग्रेज़ी के बजाए अपनी स्थानीय भाषा का इस्तेमाल करते हैं। वास्तव में apna.co के आंकड़ो की बात करें तो इसके 45 फीसदी यूज़र कम्युनिटीज़ में इंटररैक्ट करते हुए अपना नेटवर्क बना रहे हैं।
पिछली तिमाही में मार्च के दौरान एम्पलॉन्यर्स और प्रोफेशनल्स दोनों ही apna.co के प्लेटफॉर्म पर सबसे ज़्यादा सक्रिय रहे हैं।
उत्तर भारत में टेलीकॉलर्स, कम्प्यूटर ऑपरेटर और सिक्योरिटी गार्ड के जॉब रोल्स सबसे ज़्यादा लोकप्रिय रहे हैं। वहीं दक्षिण भारत में युवाओं का झुकाव बिज़नेस डेवलपमेन्ट और लॉजिस्टिक्स जैसे जॉब रोल्स की तरफ़ ज़्यादा रहा है। पूर्वी भारत के युवाओं ने डिलीवरी एवं सेल्स के लिए ज़्यादा आवेदन किया, जबकि पश्चिमी भारत के युवाओं ने बैक ऑफिस, फाइनैंस, ड्राइवर और रीटेल जैसे जॉब रोल्स नौकरियां तलाशने की कोशिश की।
सभी क्षेत्रों में टेलीकॉलर्स, कम्प्यूटर ऑपरेटर और बैक ऑफिस टॉप कैटेगरीज़ बनी हुई हैं।
apna.co की रिपोर्ट के मुताबिक विभिन्न श्रेणियों में यूज़र्स की रूचि बदल रही है। उदाहरण के लिए बिज़नेस डेवलपमेन्ट की ओर यूज़र्स का झुकाव 44 फीसदी, सेल्स/फील्ड वर्क की ओर 39 फीसदी, डिलीवरी पर्सन के लिए 22 फीसदी, बैक ऑफिस के लिए 19 फीसदी, कम्प्यूटर ऑपरेटर के लिए 16 फीसदी, इंजीनियिरिंग (विभिन्न फंक्शन्स में) के लिए 14 फीसदी तथा ह्युमन रिसेर्सेज़ एवं कुक/शेफ और बेकर्स के लिए 11 फीसदी बढ़ा है।
पिछली तिमाही की तुलना में वार्ड हेल्पर्स (60 फीसदी), रेफ्रीजरेटर टेकनिशियन (57 फीसदी), केमिकल इंजीनियर (35 फीसदी), वेल्डर (32 फीसदी), टर्नर फिटर (19.96 फीसदी), ड्राफ्ट्समैन (14 फीसदी) आदि जॉब रोल्स में अधिक आवेदन किए गए हैं।
हालांकि 50 फीसदी इंटरव्यू बड़े महानगरों जैसे दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, बैंगलुरू, हैदराबाद और कोलकाता में लिए गए हैं, वहीं दूसरे स्तर के शहरों में भी पिछली तिमाही की तुलना में इंटरव्यूज़ की संख्या 30 फीसदी बढ़ी है।
पिछले तीन महीनों में apna कम्युनिटीज़ पर सबसे ज़्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला वाक्य रहा है ‘जॉब चाहिए’।
apna.co की त्रैमासिक रिपोर्ट के अनुसार पिछली तिमाही में सबसे ज़्यादा इंटरव्यूज़ ग्रेजुएट्स ने दिए, इसके बाद 12वीं पास और 10वीं पास या इससे कम पढ़े-लिखे लोगों ने भी बढ़ी संख्या में इंटरव्यूज़ दिए। apna ऐप हिंदी और अंग्रज़ी भाषाओं में यूज़र्स को आसान एवं सुविधाजनक सेवाएं उपलब्ध करा रहा है, एम्पलॉयर्स को नौकरी ढूंढने वालों के साथ कनेक्ट कर रहा है।

देश भर में लोग अब काम के लिए फिर से घर से बाहर जाने लगे हैं, वहीं वर्क फ्रॉम जॉब के रूझान भी स्थिर बने हुए हैं। पिछली तिमाही में apna.co ने रिमोट जॉब ढूंढने वाले यूज़र्स की संख्या में 2 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की है।
सबसे रोचक तथ्य यह है कि पिछले साल की तुलना में इस साल ढेरों नौकरियों के बीच, फ्रैशर्स की मांग भी बढ़ी है।
apna.co के विश्लेषण दर्शाते हैं कि इस तिमाही में नौकरी ढूंढने वाली महिलाओं की संख्या बढ़ी है, महिलाओं ने विभिन्न जॉब रोल्स के लिए 1 करोड़ से अधिक इंटरव्यूज़ दिए, इस दृष्टि से पिछली तिमाही की तुलना में 20 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पारम्परिक नौकरियों के अलावा महिलाआंें ने डिलीवरी पर्सन, सिक्योरिटी गार्ड, ड्राइवर, शेफ/ बेकर, आईटी सपोर्ट, सिविल इंजीनियर, फिटनैस इंस्ट्रक्टर जैसे जॉब रोल्स के लिए भी बड़ी संख्या में आवेदन किए हैं।
इस मौके पर मानस सिंह, चीफ़ बिज़नेस ऑफिसर,apna.co ने कहा, ‘‘इस तिमाही देश की अर्थव्यवस्था में विकास के सकारात्मक संकेत दिख रहे हैं, हमें विश्वास है कि इस साल भारत महामारी के प्रभाव से पूरी तरह उबर जाएगा। apna इस साल भी भारत को काम पर लौटने में मदद करने के लिए अपने पार्टनर्स को सहयोग प्रदान करता रहेगा।’’
पिछले साल की समान अवधि की तुलना में इस साल apna ऐप इन्स्टॉलेशन में भी 96 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।
हाल ही में apna ने भारत के युवाओं को सही नौकरी पाने में मदद करने के लिए Vi के साथ साझेदारी की थी, अब Vi के यूज़र्स भारत की सबसे बड़ी जॉब लिस्टिंग का आसान एक्सेस पा सकते हैं। इस पहल से बिना कोई अतिरिक्त शुल्क दिए युवाओं के लिए इंटरव्यूज़ के अवसर बढ़ेंगे।
apna.co तेज़ी से अपना पैमाना बढ़ा रहा है और पिछले तीन महीनों में इसने 26 शहरों में अपना विस्तार किया है। 22 मिलियन यूज़र्स और 200,000 से अधिक एम्पलॉयर पार्टनर्स के साथ अब यह प्लेटफॉर्म 70 से अधिक शहरों में मौजूद है,

No comments:

Post a Comment

जेकेके में दर्शकों ने शास्त्रीय व लोक संगीत की फ्यूजन प्रस्तुति का आनंद उठाया

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में शुक्रवार शाम को मध्यवर्ती में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त फ़्यूज़न ‘कहरवा’ की प्रस्तुति ने दर्शकों क...