Friday, March 11, 2022

दर्शकों ने शास्त्रीय संगीत और नृत्य प्रस्तुतियों के साथ सांस्कृतिक संध्या का आनंद उठाया


जयपुर : 
जवाहर कला केंद्र (जेकेके) द्वारा आयोजित परफॉर्मिंग आर्ट फेस्टिवल- 'रसरंगम' के 7वें दिन, दर्शकों ने जेकेके के ओपन-एयर थिएटर में शास्त्रीय संगीत और नृत्य प्रस्तुतियों के साथ सांस्कृतिक रूप से समृद्ध शाम का आनंद लिया। गौरतलब है कि यह फेस्टिवल 13 मार्च तक चलेगा और इसमें शास्त्रीय संगीत, वाद्य, शास्त्रीय नृत्य और रंगमंच की प्रस्तुतियां होंगी।

डॉ. चेतना पाठक द्वारा 'शास्त्रीय गायन'
मध्यवर्ती में किराना घराने की हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायिका डॉ चेतना पाठक के 'शास्त्रीय गायन' से संध्या की मधुर शुरुआत हुई। किराना शैली की मधुर ध्वनि और भावों के साथ डॉ पाठक ने कुछ चुनिंदा रागों में विलम्बित लय, मध्य लय, द्रुत ख्याल और तराना के साथ उत्तर भारतीय शास्त्रीय संगीत (ख्याल गायन) का प्रदर्शन किया। इसके बाद मधुर शास्त्रीय संगीत शैली, ठुमरी और दादरा (होरी) आदि की प्रस्तुति हुई। उनके साथ श्री राजेंद्र बनर्जी (हार्मोनियम) और श्री महेन्द्र डांगी (तबला) प्रस्तुति में साथ दिया। डॉ चेतना पाठक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध हिंदुस्तानी शास्त्रीय गायिका, किराना घराना पद्म विभूषण पुरस्कार विजेता, डॉ प्रभा अत्रे की शिष्या हैं। वह किराना घराने का नाम आगे ले जाने वालों में से एक हैं, जिन्हें उनके माता और पिता ने 8 साल की उम्र में संगीत की दीक्षा दी थी। उन्होंने ग्वालियर घराने के उस्ताद, पंडित बाला साहब पुंछवाले से टप्पा गायकी का पाठ भी प्राप्त किया है।
डॉ. रीमा गोयल द्वारा 'आया बसंत'
गुरु डॉ रीमा गोयल के निर्देशन में, परफॉर्मेंस 'आया बसंत' ने पारंपरिक कथक प्रस्तुतियों का प्रदर्शन किया, जिसकी शुरुआत भगवान शिव को समर्पित एक प्रेरक प्रस्तुति से हुई। इसके बाद कथक का 'परंपरागत नृत्य पक्ष' हुआ। प्रस्तुति का समापन वसंत ऋतु, 'बसंत' और प्रसिद्ध फागुन त्योहार, होली के उत्सवों को प्रदर्शित करते हुए एक सुंदर रचना के साथ हुआ। डॉ रीमा गोयल एक बहुमुखी कोरियोग्राफर और राजस्थान की एक प्रसिद्ध कथक कलाकार हैं। वह जयपुर घराने के प्रसिद्ध कथक गुरु डॉ शशि सांखला की बेटी और वरिष्ठ शिष्या हैं। उन्होंने भारत और विदेशों में प्रतिष्ठित 'समारोह' और त्योहारों में बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किया है। प्रस्तुति देने वाले कलाकारों में राजीव सिंह, निहारिका जोशी, झांकरी जैन, हर्षिता शर्मा, ईशा खंडेलवाल, आयुषी शर्मा और लक्षिता जैन शामिल थीं। प्रस्तुति में साथ देने वाले कलाकारों में - डॉ रीमा गोयल (पदंत); मुजफ्फर रहमान और मो. शोएब मास्टर मो. जमान (तबला); मुन्ना लाल भाट (हार्मोनियम और वोकल्स); हरिहर शरण भट्ट (सितार) और अमीरुद्दीन (सारंगी) शामिल थे।
12 मार्च, शनिवार के कार्यक्रम
शनिवार, 12 मार्च को शाम 5 बजे कृष्णायन में मयूर नाट्य संस्था, जोधपुर से डॉ सुरेश प्रसाद रंगा द्वारा निर्देशित शानदार थिएटर प्रस्तुति 'द कम्प्लीट वुमन' के साथ शाम की शुरुआत होगी। दिन का समापन शाम 7 बजे मध्यावर्ती में प्रीति शर्मा और पीयूष चौहान द्वारा 'स्वरा...' (कथक इग्नाइट्स) प्रस्तुति के साथ होगी।

No comments:

Post a Comment

कैशफ्री पेमेंट्स के टोकनाइजेशन सॉल्यूशन ‘टोकन वॉल्ट’ने विभिन्न पेमेंट गेटवे पर प्रदान की इंटरऑपरेबिलिटी की सुविधा

बेंगलुरू, 30 जून, 2022- भुगतान और एपीआई बैंकिंग समाधान की दुनिया में अग्रणी कंपनी कैशफ्री पेमेंट्स ने आज घोषणा की कि कंपनी का टोकनाइजेशन सॉल...