Thursday, March 10, 2022

मुथूट फाइनेंस ने अपने पूर्व चेयरमैन श्री एम. जी जॉर्ज मुथूट को दी साहित्यिक श्रद्धांजलि, उनकी पुण्यतिथि पर किया पुस्तक का विमोचन

कोच्चि, 10 मार्च, 2022- भारत की सबसे बड़ी गोल्ड लोन एनबीएफसी कंपनी मुथूट फाइनेंस ने अपने पूर्व चेयरमैन श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए होटल ग्रैंड हयात, बोलगट्टी कोचिन में एक साहित्यिक श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में कोचिन डाइसीज के बिशप एच जी डॉ. याकूब मार इरेनियोस ने ‘एम. जी. जॉर्ज मुथूट - रिमेम्बरिंग ए प्रोडिजी ऑफ लीडरशिप, एंटरप्रेन्योरशिप एंड ह्यूमैनिटी’ किताब का विमोचन किया और पूर्व चेयरमैन श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट की धर्मपत्नी श्रीमती सारा जॉर्ज मुथूट को किताब सौंपी। इस अवसर पर मुथूट परिवार के सदस्यों व इष्टमित्रों सहित राजनीति, धर्म, कला, न्याय व व्यवसाय जगत जैसे विभिन्न क्षेत्रों के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री और राज्यसभा के डिप्टी लीडर श्री मुख्तार अब्बास नकवी और केरल के माननीय राज्यपाल श्री आरिफ मोहम्मद खान ने कार्यक्रम में वर्चुअल संबोधन दिया। राज्यसभा के पूर्व उपसभापति श्री. पी जे कुरियन, एर्नाकुलम से सांसद श्री हिबी ईडन व केरल सरकार के सलाहकार श्री जोस कुरियन समारोह में मौजूद थे। फिक्की स्टेट केरल काउंसिल के प्रेसिडेंट श्री दीपक एल. असवानी फ्रूटोमैन कंपनी के डायरेक्टर श्री जोस थॉमस, कोचीन चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के पूर्व चेयरमैन आनंद मेनन ने कार्यक्रम में विशेष सबोधन दिया। फिल्म अभिनेता, निर्देशक और पटकथा लेखक श्री. बालचंद्र मेनन ने भी कार्यक्रम में अपना विशेष भाषण दिया।

द मुथूट ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन श्री जॉर्ज जैकब मुथूट ने अपने संबोधन में कहा, ‘श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट एक दूरदर्शी नेता थे जिन्होंने मुथूट ग्रुप को सफलता की ऊंचाइयों तक पहुंचाया और आगे बढ़ाया। उन्होंने हमारे व्यापार संचालन के लिए एक मूल्य-संचालित संस्कृति को अपनाया जो छह मुख्य मूल्यों - नैतिकता, विश्वसनीयता, निर्भरता, भरोसेमंदता, अखंडता और सद्भावना पर आधारित है। उनकी शुरू की गई परोपकारी गतिविधियों ने समाज के विभिन्न वर्गों में शिक्षा, स्वास्थ्य देखभाल और फाइनेंस के क्षेत्र में अनगिनत लोगों की जिंदगी में आज भी सुकून देना जारी रखा है।’

द मुथूट ग्रुप ऑफ कंपनीज के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री जॉर्ज एलेक्जेंडर मुथूट ने इस अवसर पर कहा कि, ‘हमें यह पुस्तक आपके सामने प्रस्तुत करते हुए बेहद खुशी हो रही है जो मेरे बड़े भाई श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट के चार दशकों में फैले उद्यमशील सफर और उद्योग में सबसे बड़ी सफलताओं में से एक को सामने लाने की कहानी कहती है।’ मुथूट ग्रुप के जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर श्री. जॉर्ज थॉमस मुथूट, डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर श्री जॉर्ज एम. जॉर्ज, जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर अलेक्जेंडर जॉर्ज मुथूट ने भी सभा को संबोधित किया।

पुस्तक ‘एम. जी. जॉर्ज मुथूट - रिमेम्बरिंग ए प्रोडिजी ऑफ लीडरशिप, एंटरप्रेन्योरशिप एंड ह्यूमैनिटी’ श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट के जीवन और अनुभव पर विस्तार से प्रकाश डालती है। इसमें उनके प्रारंभिक वर्षों बचपन और पढ़ाई से लेकर मुथूट ग्रुप ऑफ कंपनीज के साथ उनका कार्यकाल, उनके परिवार के सदस्यों, करीबी दोस्तों, राजनेताओं और व्यापारिक व्यक्तियों द्वारा साझा किए गए संस्मरण शामिल हैं। किताब में उन लोगों ने भी अपनी बात कही है, जिन्हें पूर्व चेयरमैन ने दुनिया के सामने खड़े होने लायक बनाया।

कार्यक्रम में कोचीन के एडवनक्कड़ में ‘मुथूट आशियाना हाउस निर्माण परियोजना’ का ’टोकन ऑफ कमिटमेंट’ एर्नाकुलम से सांसद हिबी ईडन को औपचारिक रूप से सौंपा गया। द मुथूट ग्रुप के जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर श्री. जॉर्ज थॉमस मुथूट और श्री. जॉर्ज अलेक्जेंडर मुथूट ने श्री ईडन को यह कमिटमेंट सौंपा। मुथूट फाइनेंस की सीएसआर गतिविधियों के तहत शुरू की गई परियोजना में वंचित परिवारों के लिए कुछ 14 घर शामिल हैं।

श्री एम. जी. जॉर्ज मुथूट के स्मरण दिवस के मौके पर मुथूट फाइनेंस ने पूरे भारत में वंचित समुदायों की विभिन्न जरूरतों और आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए महीने भर की सीएसआर पहल शुरू कर दी है। गतिविधियों में वंचितों के लिए आवास (फ्लैगशिप मुथूट आशियाना हाउसिंग प्रोजेक्ट के तहत), दिव्यांग लोगों के लिए समर्थन (स्नेहसंचारिणी परियोजना के तहत), स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करना, वंचित और योग्य छात्रों को छात्रवृत्ति, प्रवासी मजदूरों को स्थायी आजीविका सहायता और स्वच्छ भारत मिशन में योगदान शामिल हैं। महीने भर चलने वाली इन पहलों का उद्देश्य 10,000 से अधिक लोगों को लाभान्वित करना है।

एम. जी. जॉर्ज मुथूट के बारे में

मथाई जॉर्ज जॉर्ज मुथूट (2 नवंबर 1949 - 5 मार्च 2021) एक भारतीय उद्यमी और व्यवसायी थे। वे मुथूट ग्रुप में अपने परिवार की तीसरी पीढ़ी के चेयरमैन और इंडियन ऑर्थोडॉक्स चर्च के पूर्व ले ट्रस्टी थे। वह फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) की राष्ट्रीय कार्यकारी समिति के सदस्य और फिक्की केरल स्टेट काउंसिल के अध्यक्ष भी थे। फोर्ब्स एशिया मैगजीन ने उन्हें 2011 में भारत के 50वें सबसे अमीर व्यक्ति के रूप में सूचीबद्ध किया और फोर्ब्स की भारत की सबसे अमीर सूची 2019 के अनुसार उनकी रैंकिंग भारत में 44वें सबसे अमीर व्यक्ति तक पहुंच गई। फोर्ब्स की अमीरों की सूची 2020 के अनुसार, वह केरल के सबसे अमीर व्यक्ति माने गए।

No comments:

Post a Comment

सीत कमल को विभिन्न श्रेणी में मिले दो अवार्ड

कपड़ा मंत्री पीयूष गोयल ने सीत कमल के  गौतम नाथानी को सम्मान से नवाज़ा नई दिल्ली। नई दिल्ली में हस्तशिल्प निर्यात संवर्धन परिषद (ईपीसीएच) ने ...