Friday, March 25, 2022

मनीबॉक्स विकास को बढ़ावा देने के लिए 2023 तक अपने कार्यबल को करेगी दोगुना

नेशनल, 25 मार्च 2022: नॉन-बैंकिंग फाइनैंस कंपनी मनीबॉक्स फाइनैंस लिमिटेड (मनीबॉक्स) जो लघु एवं छोटे उद्यमों को सूक्ष्म ऋण उपलब्ध कराती है, अपने कार्यबल की मौजूदा संख्या को 300 से दोगुना कर वित्तीय वर्ष 2023 के अंत तक 600 तक पहुंचाएगी। प्रविष्टी एवं मध्यम स्तर पर ये नई भर्तियां सेल्स, क्रेडिट रिस्क मैनेजमेन्ट और आईटी में कुछ चुनिंदा भुमिकाओं के लिए की जाएंगी। उम्मीद की जा रही है कि विभिन्न क्षेत्रों में नई भर्तियों से टीम का आकार बढ़ेगा। उदाहरण के लिए मनीबॉक्स की सेल्स और क्रेडिट रिस्क टीमें मौजूदा साइज़ से दोगुना बढ़ जाएंगी।

नई भर्तियों से ऋण लेने वालों को छोटे कारोबार ऋण उपलब्ध कराए जा सकेंगे और ग्राहकों की विभिन्न ज़रूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी। ग्राहकों की बढ़ती मांग को देखते हुए अपनी शाखाओं के विस्तार एवं आधुनिक तकनीक से युक्त पोर्टफोलियो के विकास के साथ कंपनी ने वित्तीय वर्ष 2023 तक रु 400 करोड़ के एयूएम तक पहुंचने की योजना बनाई है, जो वर्तमान में लगभग रु 120 करोड़ है (वित्तीय वर्ष 2022, अनुमानित)।

इन योजनाओं पर बात करते हुए मयूर मोदी, सह-संस्थापक- मनीबॉक्स फाइनैंस लिमिटेड ने कहा, ‘‘हमारे ग्राहकों की संख्या लगातार बढ़ रही है, जिसके तहत हमारी आधुनिक तकनीकों और सेवाओं की मांग भी बढ़ी है। इसी को ध्यान में रखते हुए हम ग्राहकों को उत्कृष्ट सेवाएं प्रदान करने के लिए अपनी शाखाओं और विभिन्न कार्यक्षेत्रों में अनुभवी पेशेवरों की भर्तियां कर रहे हैं। कम पूंजीगत व्यय एवं संचालन की कम लागत के साथ, पूरी तरह से डिजिटल प्रक्रिया, रिस्क एनालिटिक्स एवं सोलिड ब्रान्च युनिट इकोनोमिक्स से युक्त हमारा बिज़नेस मॉडल हमारे कर्मचारियों के प्रयासों में और तेज़ी लाएगा।’

हाल ही में मनीबॉक्स ने रु 100 करोड़ के एयूएम का आंकड़ा पार किया है और ज़रूरी क्षेत्रों एवं सेवाओं पर ध्यान केन्द्रित करते हुए वित्तीय वर्ष 2023 के अंत तक रु 400 करोड़ के आंकड़े तक पहुंचने की योजना बनाई है। अब तक, कंपनी 12,000 से अधिक ऋण लेने वालों के जीवन में बदलाव ला चुकी है। इनमे से 26 फीसदी महिला उद्यमी हैं जबकि 31 फीसदी ऐसे लोग हैं जिन्होंने पहली बार ऋण लिया है।

मनीबॉक्स फाइनैंस लिमिटेड के बारे में

मनीबॉक्स ने फरवरी 2019 में नए स्वामित्व और प्रबन्धन के तहत अपना संचालन शुरू किया, वर्तमान में देश के पांच राज्यों- राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश में इनकी 30 शाखाएं हैं। अगले तीन सालों में कंपनी ने रु 1000 करोड़ के एयूएम का लक्ष्य तय किया है। मनीबॉक्स फाइनैंस छोटे उद्यमों (तीसरे स्तर के शहरों एवं छोटे नगरों में लाईवस्टॉक, किराना, रीटेलरों, छोटे निर्माताओं) को छोटे ऋण देता है। ये ऋण औसतन 24 महीनों के लिए रु 50,000 से 3,00,000 की रेंज में दिए जाते हैं।

No comments:

Post a Comment

actyv.ai ने एमएसएमई को सप्लाई चेन फाइनेंस से जुड़े ऑफर्स के लिए एक्सिस बैंक के साथ साझेदारी की

  मुंबई/ बेंगलुरु, 01दिसंबर, 2022- एआई-पावर्ड एंटरप्राइज एसएएएस प्लेटफॉर्म actyv.ai   ने आज देश में निजी क्षेत्र के तीसरे सबसे बड़े बैंक, एक्...