Thursday, March 31, 2022

ओटीओ ने जयपुर में अपना 2-व्हीलर खरीद और वित्तपोषण प्लेटफॉर्म लॉन्च किया

 

जयपुर, 31 मार्च 2022 - ओटीओ, जो दोपहिया वाहनों को खरीदने और वित्तपोषण करने में ग्राहकों की मदद करने वाला स्टार्टअप है, ने क्षेत्र के अपने ग्राहकों की जरूरतें सीधी पूरी करने के लिए जयपुर में अपने लॉन्च की आज घोषणा की। कंपनी पहले ही जयपुर में 22 शोरूम के साथ साझेदारी कर चुकी है और इस महीने के अंत तक कुल 46 डीलरों को शामिल करने की योजना है।

डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से दोपहिया वाहनों को खरीदने और वित्तपोषण की बढ़ती मांग के साथ, कंपनी को लॉन्च के 2 सप्ताह के भीतर शहर में उनके वित्तपोषण विकल्पों के बारे में 2000 से अधिक लोगों द्वारा संबंधित जानकारी मांगी जा चुकी है। ओटीओ ने जयपुर में जिन डीलरों के साथ साझेदारी की है उनमें ऋषभ सुजुकी, पुष्पा होंडा, ओम साई ऑटोव्हील्स, सतनाम मोटर्स प्राइवेट लिमिटेड और अन्य शामिल हैं।

लॉन्च पर टिप्पणी करते हुए, ओटीओ के सह-संस्थापक, सुमित छाजेड ने कहा, "जयपुर हमारे लिए एक महत्वपूर्ण बाजार रहा है और यह उचित ही है कि क्षेत्र के स्थानीय ग्राहक ओटीओ के माध्यम से आसानी से वाहन खरीद सकेंगे। जयपुर जैसे टियर II शहरों में दोपहिया बाजार में देखी गई चौंकाने वाली वृद्धि के बीच, हम इस क्षेत्र में अपने लॉन्च की घोषणा करने के लिए उत्साहित हैं। जयपुर जैसे टियर 2 शहरों में वित्तपोषण विकल्पों की आसान उपलब्धता के साथ - साथ यह बढ़ती दोपहिया बिक्री देश में समग्र दोपहिया बाजार को और बढ़ाएगी। हम उपभोक्ता की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए देश भर के टियर 2 शहरों तक विस्तार करने की योजना बना रहे हैं, जहां लोग इलेक्ट्रिक सहित कई तरह के दोपहिया वाहनों को तेजी से अपना रहे हैं।"

ओटीओ के साथ साझेदारी के बारे में बात करते हुए, आनंद बिहारी शर्मा, आर.एल. मोटर्स ने कहा,"हम देश में सबसे तेजी से बढ़ती दोपहिया खरीद और वित्तपोषण कंपनी ओटीओ के साथ साझेदारी करने से बेहद खुश और उत्साहित हैं जो अपने ग्राहकों को बैंकों से भी सस्ती ईएमआई और बाईक अपग्रेडेशन की सुविधा प्रदान करते हैं। ओटीओ के साथ यह साझेदारी, जयपुर बाजार में हमारी पैठ को और गहरा करेगी और परेशानी मुक्त वित्तपोषण विकल्पों के माध्यम से दोपहिया वाहन लेने के अभिनव तरीके को बढ़ावा देगी। इससे हमारे ग्राहकों को आवागमन के खर्च में बचत करने और डिजिटल-समर्थित प्रक्रिया के जरिए आराम से घर बैठे वाहन खरीदने में सहायता मिलेगी।"

2018 में शुरू किया गया, ओटीओ 2-पहिया वाहनों के लिए अभिनव वित्तपोषण मॉडल पर काम करता है जहां खरीदार को किसी भी अन्य ऋण की तरह अग्रिम राशि का भुगतान करना है, लेकिन उन्हें अवधि के अंत में रिटेन करने, वापसी या अपग्रेड करने के विकल्प के साथ 35% तक कम ईएमआई मिलती है। यह प्लेटफॉर्म अपने ग्राहकों को सबसे आसान वित्तपोषण विकल्प प्रदान करने के लिए विभिन्न बैंकों और एनबीएफसी के साथ मिलकर काम करता है। यह क्रेडिट अंडरराइटिंग से लेकर बीमा, रखरखाव और वाहन की अंतिम पुनर्बिक्री तक ऑटो के पूरे जीवन चक्र के लिए प्रबंधन भी प्रदान करता है।

ओटीओ ने हाल ही में दिल्ली, इंदौर और अहमदाबाद में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई थी। कंपनी को अब तक इंदौर, दिल्ली और अहमदाबाद से कुल मिलाकर 40000 से अधिक आवेदन प्राप्त हो चुके हैं। इन शहरों के अलावा ओटीओ का परिचालन हैदराबाद, चेन्नई, बैंगलोर और पुणे में भी है। कंपनी का लक्ष्य उभरते बाजारों में दोपहिया स्वामित्व के अनुभव को मजबूत करना है।

एल एंड टी ने आईटीईआर, फ्रांस के ग्लोबल फ्यूजन प्रोजेक्ट के लिए क्रायोस्टैट की टॉप लीड एसेम्बली पूरी की

कडाराचे (दक्षिण फ्रांस), 31 मार्च, 2022: ईपीसी परियोजनाओं, हाई -टेक विनिर्माण और सेवाओं में लगी प्रमुख भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी, लार्सन एंड टुब्रो की हैवी इंजीनियरिंग शाखा ने आईटीईआर, फ्रांस में ग्लोबल फ्यूजन प्रोजेक्ट के लिए क्रायोस्टैट की सबसे जटिल और फाइनल असेंबली, टॉप लिड को पूरा कर लिया है।

30 - मीटर व्यास वाला क्रायोस्टैट दुनिया का सबसे बड़ा स्टेनलेस स्टील हाई - वैक्यूम प्रेशर चैम्बर है, जिसका उद्देश्य कूलिंग प्रदान करके आईटीईआर संलयन रिएक्टर कोर के अत्यधिक तापमान को नियंत्रित करना है। इस फाइनल एसेम्बली को पूरा कर लिया जाना परमाणु संलयन क्षेत्र की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि होने के साथ-साथ भारत के लिए भी गौरव की बात है।

इस उपलब्धि के साथ, एल एंड टी हैवी इंजीनियरिंग ने निर्धारित समय से पहले अपने सब-कॉन्ट्रैक्टर्स द्वारा सहायता प्राप्त साइट वर्कशॉप में योजनाबद्ध पूरे विनिर्माण कार्य को पूरा कर लिया है। टोकामक रिएक्टर बिल्डिंग के अंदर टॉप लीड को एसेम्बल करने का अंतिम चरण का कार्य 2025 में किया जाएगा।

आईटीईआर संगठन के कार्यवाहक महानिदेशक डॉ. आईसुके टाडा और भारत परमाणु ऊर्जा आयोग के सदस्य श्री रवि भूषण ग्रोवर, आईटीईआर इंडिया के परियोजना निदेशक श्री यू.के. बरुआ और एलएंडटी की कार्यकारी समिति के सदस्य श्री ए.वी. परब और एलएंडटी हेवी इंजीनियरिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और प्रमुख श्री रवि भूषण ग्रोवर की वर्चुअल उपस्थिति में आईटीईआर क्रायोस्टेट टॉप लिड को पूरा करने के लिए विशेष समारोह  आयोजित किया गया।

इस अवसर पर, आईटीईआर संगठन के महानिदेशक, डॉ बर्नार्ड बिगोट ने कहा, "आईटीईआर ऑर्गेनाइजेशन और आईटीईआर इंडिया ने 2012 में क्रायोस्टैट प्रोक्योरमेंट अरेंजमेंट पर हस्ताक्षर किए और 3,800 टन हैवी असेंबली के आरंभिक घटकों ने हजीरा, भारत में लार्सन एंड टुब्रो कारखाने में आकार लिया। मार्च निश्चित रूप से चुनौतियों और प्रतिकूलताओं भरा था। लेकिन आज हम यहां हैं। क्रायोस्टैट सफलतापूर्वक पूरा हो गया है, बेस और निचला सिलेंडर पहले से ही रिएक्टर वॉल्ट में चला गया है, अब ऊपरी सिलेंडर और टॉप लीड की बारी है। यह तकनीकी व्यवहार्यता, जटिलता और अंतर - सांस्कृतिक सहयोग दोनों के संदर्भ में एक शानदार उपलब्धि है।

इस उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, श्री एसएन सुब्रह्मण्यन, सीईओ और एमडी, एल एंड टी ने कहा, "क्रायोस्टैट असेंबली के लिए महत्वपूर्ण घटकों को डिलिवर करना एल एंड टी के लिए एक और गर्व का क्षण है। कंपनी ने इस रणनीतिक परियोजना को पूरा करने में आईटीईआर इंडिया और आईटीईआर ऑर्गेनाइजेशन के साथ उत्कृष्ट सहयोग के साथ उच्च गुणवत्ता, उच्च परिशुद्धता असेंबली की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अभिनव और उच्च तकनीक विनिर्माण प्रौद्योगिकियों का उपयोग किया है। इस ‘मेक इन इंडिया, फॉर द वर्ल्ड' परियोजना ने वैश्विक उच्च प्रौद्योगिकी क्षेत्र में प्रमाणित भारतीय क्षमताओं का प्रदर्शन किया है।"

श्री अनिल वी परब, सदस्य - कार्यकारी समिति, एल एंड टी और वरिष्ठ उपाध्यक्ष और प्रमुख, एल एंड टी हेवी इंजीनियरिंग  ने कहा, "आज वास्तव में आईटीईआर परियोजना के लिए एक विशेष दिन है - जो सबसे महत्वाकांक्षी स्वच्छ और हरित ऊर्जा परियोजना का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। टॉप लीड असेंबली के पूरा होने के साथ, हमने समय से पहले कडाराचे साइट पर अपनी परियोजना का कार्य सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है। एक बार फिर एल एंड टी हेवी इंजीनियरिंग ने वैश्विक परमाणु उद्योग में उत्कृष्ट निर्माण कौशल और त्रुटिहीन क्षमताओं का प्रदर्शन किया है।"

एल एंड टी हैवी इंजीनियरिंग के प्रोजेक्ट स्कोप को तीन पहलुओं में विभाजित किया गया था। सबसे पहले, अपने अत्याधुनिक हजीरा विनिर्माण परिसर में सब-असेंबलीज का निर्माण करना। दूसरा पहलू विभिन्न क्षेत्रों की एसेम्बली के लिए कडाराचे, फ्रांस में परियोजना स्थल पर एक अस्थायी कार्यशाला का निर्माण। और अंत में, साइट पर और टोकामक रिएक्टर बिल्डिंग के अंदर कार्यशाला में क्रायोस्टैट घटकों को एकीकृत करना।

एल एंड टी के हेवी इंजीनियरिंग बिजनेस ने भारत सहित सात इलाइट देशों के सहयोग से किये गये लगभग 20 अरब डॉलर के कुल परियोजना परिव्यय के साथ महत्वाकांक्षी मेगा वैज्ञानिक परियोजना के लिए परमाणु ऊर्जा विभाग की शाखा आईटीईआर इंडिया से यह प्रतिष्ठित अनुबंध हासिल किया।

हजीरा में एल एंड टी का ‘ए.एम. नाइक हेवी इंजीनियरिंग कॉम्प्लेक्स' विश्वस्तरीय मानक वाला, अत्याधुनिक, पूर्णतः एकीकृत, डिजिटल रूप से सक्षम विनिर्माण संयंत्र है। यह लगातार “मेक इन इंडिया” मिशन में योगदान देता रहा है। एल एंड टी हेवी इंजीनियरिंग के सभी संयंत्र इंजीनियर्ड - टू - ऑर्डर विनिर्माण के लिए उद्योग 4.0 समाधान से सुसज्जित हैं। एल एंड टी के हैवी इंजीनियरिंग बिजनेस का रिफाइनरी, तेल और गैस, पेट्रोकेमिकल्स, उर्वरक और परमाणु ऊर्जा क्षेत्रों में वैश्विक ग्राहकों को प्रौद्योगिकी - गहन उपकरण और प्रणालियों की आपूर्ति का प्रामाणिक ट्रैक रिकॉर्ड है।

 

फीफा विश्व कप के दौरान कतर में हाई क्वालिटी मैच देखने को मिलेंगे : ब्राजीली दिग्गज काका

ब्राजील के पूर्व दिग्गज इंटरनेशनल फुटबालर काका का मानना है कि कतर में इस साल होने वाले फीफा विश्व कप के दौरान हाई क्वालिटी मैच देखने को मिलेंगे। काका ने कहा कि चूंकि विश्व कप यूरोपीय फुटबॉल कैलेंडर के शुरू होने के तीन महीने के भीतर आयोजित हो रहा है, लिहाजा खिलाड़ी तरोताजा होंगे और इसलिए मैचों की गुणवत्ता और खिलाड़ियों की क्षमता पर इसका सीधा एवं सकारात्मक असर पड़ेगा।

उल्लेखनीय है कि कतर में इस साल होने वाला विश्व कप कई मायनों में अनूठा है। बड़े बदलावों में से एक यह है कि यह नवंबर में शुरू हो जाएगा, जो कि सामान्य जून-जुलाई विंडो की तुलना में बदला हुआ समय है। टूर्नामेंट का पहला मैच 21 नवंबर, 2022 को अल बेयत एरिना में खेला जाएगा औऱ इसमें मेजबान टीम शामिल होगी।

रियाल मैड्रिक, एसी मिलान जैसे दिग्गज क्लबों के लिए खेल चुके इस अटैकिंग मिडफील्डर ने कहा, "खिलाड़ियों ने अभी सीजन की शुरूआत की ही होगी। हम अलग-अलग परिस्थितियों के साथ एक अलग विश्व कप देखेंगे। चीजें जिस दिशा में अग्रसर हैं, उससे मुझे लगता है कि हमें कई हाई क्वालिटी मैच देखने को मिलेंगे क्योंकि खिलाड़ी पूरी तरह तरोताजा होंगे।"

साल 2002 में विश्व कप जीतने वाली टीम का हिस्सा रहे काका की राष्ट्रीय फुटबाल टीम-ब्राजील पहले ही फुटबाल प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई कर चुकी है और कॉनमबोल विश्व कप क्वालीफाइंग तालिका में 17 मैचों में 45 अंकों के साथ शीर्ष पर है। ब्राजीली टीम ने अपने बीते तीन मैचों में क्रमशः पराग्वे, चिली और बोलीविया को हराया है। यह टीम बेहतरीन फार्में नजर आ रही है।


अपने देश के लिए 92 मैचों में 29 गोल करने वाले काका को इसमें कोई संदेह नहीं है कि ब्राजील दिसंबर में प्रतिष्ठित ट्रॉफी जीतने के प्रबल दावेदारों में से एक है। वह मानते हैं कि करिश्माई फारवर्ड नेमार के पास वह सब है जो ब्राजील को एक बार फिर गौरव की ओर ले जाने के लिए आवश्यक है और साथ ही साथ नेमार को विनीसियस जूनियर, फिलिप कॉटिन्हो जैसे प्रतिभाशाली साथियों का साथ मिल रहा है।


साल 2007 में फीफा का सबसे बड़ा पुरस्कार बैलोन डी'ओर तथा फीफा वलर्ड प्लेअर आफ द इयर जीत चुके काका ने कहा, "मुझे लगता है कि ब्राजील विश्व कप के लिए सबसे बड़े दावेदारों में से एक है। यह टीम सही समय पर फार्म में हैं। उसने चिली को 4-0 से हराया, अपने आखिरी तीन गेम जीते और उसमें से एक जीत नेमार के बिना मिली थी। ब्राजील के पास एक मजबूत टीम है और यह नेमार को अपनी क्षमता के साथ न्याय करने का मौका देता है।


अपने पेशेवर करियर में 461 मैच खेल चुके काका ने आगे कहा, "नेमार तैयार है। वह वक्त के साथ अधिक परिपक्व एवं अनुभवी हुए हैं। वह बहुत प्रतिभाशाली है। मुझे लगता है कि नेमार ब्राजील का नेतृत्व कर सकता है। और जैसा कि मैंने कहा कि पूरी टीम मजबूत है इसलिए यह नेमार को चमकने का मौका देता है, क्योंकि वह जिम्मेदारियों को बांटकर अपने खेल पर ध्यान दे सकते हैं। इससे उन्हें गोल करने के अधिक अवसर मिलेंगे और वह बिना दबाव के खेल सकेंगे। "


चैम्पियंस लीग सहित दुनिया भर की तमाम लीगों में एक सीजन में सबसे अधिक गोल करने का रिकार्ड बना चुके काका मानते हैं कि भले ही सेनेगल से हारने के बाद मोहम्मद सालाह की मिस्र की टीम को कतर आने का मौका नहीं मिलहा लेकिन लिवरपूल के इस करिश्माई फॉरवर्ड में भविष्य में फुटबाल का सबसे बड़ा व्यक्तिगत पुरस्कार-बैलोन डी'ओर जीतने की क्षमता है।


साल 2017 में इंटरनेशनल फुटबाल से संन्यास लेने वाल काका ने कहा, "मुझे लगता है कि सालाह बैलोन डी'ओर जीतने के काफी करीब हैं। अब यह सब इस बात पर निर्भर करता है कि खिलाड़ी सामूहिक रूप से क्या कर सकते हैं। फुटबॉल एक कलेक्टिव गेम है। इसलिए आपको व्यक्तिगत पुरस्कार। जीतने के लिए अपने क्लब या राष्ट्रीय टीम के साथ कुछ जीतने की जरूरत है। मुझे लगता है कि सलाह निश्चित रूप से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फुटबाल खिलाड़ियों में से एक है और हमें उम्मीद है कि हम उसे भविष्य में कई अच्छे काम करते हुए देख सकते हैं।"

Wednesday, March 30, 2022

एक्सिस बैंक द्वारा भारत में सिटीबैंक के उपभोक्ता कारोबारों का प्रस्तावित अधिग्रहण प्रीमियम बाजार में हिस्सेदारी में वृद्धि को देगा मजबूती

मुंबई, 30 मार्च 2022- एक्सिस बैंक और सिटी बैंक ने आज घोषणा की कि उनके संबंधित निदेशक मंडल ने एक्सिस बैंक द्वारा भारत में सिटी बैंक के उपभोक्ता कारोबारों के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है। अधिग्रहण पारंपरिक समापन शर्तों के अधीन है, जिसमें नियामक अनुमोदन प्राप्त करना शामिल है।

लेन-देन में सिटीबैंक इंडिया के उपभोक्ता व्यवसायों की बिक्री शामिल है, जिसमें क्रेडिट कार्ड, खुदरा बैंकिंग, वेल्थ मैनेजमेंट और उपभोक्ता ऋण शामिल हैं। इस सौदे में सिटी बैंक की गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी सिटीकॉर्प फाइनेंस (इंडिया) लिमिटेड के उपभोक्ता व्यवसाय की बिक्री भी शामिल है। इसमंे एसेट-बैक्ड फाइनेंसिंग बिजनेस भी है, जिसमें वाणिज्यिक वाहन और निर्माण उपकरणों संबंधी ऋण, साथ ही व्यक्तिगत ऋण पोर्टफोलियो भी शामिल हैं।

इस अवसर पर एक्सिस बैंक के एमडी और सीईओ अमिताभ चौधरी ने कहा, ‘‘हमारे जीपीएस स्ट्रेटेजी फ्रेमवर्क के अनुरूप हम एक उत्साही रिटेल फ्रैंचाइज़ी और एक उच्च गुणवत्ता वाले टैलेंट पूल का साथ मिलने पर खुशी का अनुभव कर रहे हैं। इस तरह हम एक प्रमुख वित्तीय सेवा ब्रांड बनने की दिशा में अपनी यात्रा जारी रखते हैं। यह एक्सिस के विकास और नेतृत्व की यात्रा में एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है और सभी हितधारकों को इससे बहुत अधिक फायदा होगा। व्यापक तौर पर पेश किए जाने वाले ऑफर्स, विविध प्रोडक्ट्स के पोर्टफोलियो और दुनियाभर में सर्वाेत्तम समझी जाने वाली प्रथाओं से ग्राहकों का अनुभव और बेहतर हो सकेगा। साथ ही, राजस्व और लागत दोनों पक्षों में अधिक तालमेल से नई फ्रेंचाइजी के लिए मूल्य में वृद्धि होगी।’’

उन्होंनेे आगे कहा, ‘‘हम सिटी बैंक की अनुभवी वरिष्ठ नेतृत्व टीम और विविध प्रतिभा पूल के साथ सहयोग करने के लिए तत्पर हैं, क्योंकि वे एक्सिस के 86,000 से अधिक मजबूत और समर्पित कार्यबल का हिस्सा बनने वाले हैं। एक्सिस बैंक के पास पहले से ही सिटी के पूर्व कर्मचारियों का एक समृद्ध नेटवर्क है, जो दोनों संगठनों के बीच सांस्कृतिक तालमेल को दर्शाता है। सिटी के कर्मचारियों की विशेषज्ञता को देखते हुए, हम उन्हें अपनी मौजूदा टीम के लिए एक महत्वपूर्ण और अतिरिक्त कार्यबल के रूप में देखते हैं जिससे तालमेल आगे बढ़ेगा और हमारे जीपीएस उद्देश्यों को हासिल करने में भी मदद करेगा। हम एक्सिस परिवार में सभी कर्मचारियों का स्वागत करते हैं और साथ ही हम अपने ग्राहकों को पहले की तरह ही ‘दिल से’ सेवा देने का वादा करते हैं।’’

प्रमुख विशेषताएं--

  • एक्सिस बैंक अपनी विकास रणनीति के अनुरूप सिटी बैंक के उपभोक्ता व्यवसायों - ऋण, क्रेडिट कार्ड, वेल्थ मैनेजमेंट और भारत में खुदरा बैंकिंग संचालन को कवर करने के लिए एक समझौता करते हुए बड़े निजी ऋणदाताओं के बीच अपनी स्थिति को मजबूत करता है।
  • बैंक अधिग्रहण के लिए सिटी बैंक को 12,325 करोड़ रुपए तक का भुगतान करेगा
  • प्रमुख चिन्हित विकास क्षेत्रों में एक्सिस बैंक की उपस्थिति बढ़ाने के लिए सिटी बैंक इंडिया के 3 मिलियन ग्राहकों का अधिग्रहण
  • अतिरिक्त 5 मिलियन सिटीबैंक कार्ड के साथ एक्सिस बैंक की कार्ड बैलेंस शीट में 57 प्रतिशत की वृद्धि होगी, जिससे यह देश के शीर्ष 3 कार्ड व्यवसायों में से एक बन जाएगा।
  • एक्सिस बैंक की बड़ी ऋण पुस्तिका में सिटीबैंक के समृद्ध ग्राहक भी जुड़ेंगे, जिससे प्रोडक्ट और ब्रांच फुटप्रिंट में और बढ़ोतरी होगी।
  • एक्सिस के बरगंडी ब्रांड को बढ़ाने और सुदृढ़ करने के लिए सिटी वेल्थ और निजी बैंकिंग उत्पादों से 1,109 बिलियन एयूएम का मूल्यवान जोड़, इसे वेल्थ मैनेजमेंट की दुनिया में कम्बाइंड एयूएम के लिहाज से तीसरा सबसे बड़ा बनाता है।
  • 502 बिलियन रुपए की एग्रीगेट डिपॉजिट्स का जुड़ना, सीएएसए का 81 प्रतिशत।
  • 1 मिलियन से अधिक ग्राहकों के साथ 1,600 से अधिक सुविधा कॉर्पाेरेट संबंध और एक्सिस बैंक के सेलेरी बिजनेस को मजबूत करने के लिए प्रति माह 70,000 रुपए का औसत वेतन
  • सिटी बैंक के ग्राहक एक्सिस बैंक के संवर्धित पैमाने, बड़ी भौगोलिक पहुंच और प्रोडक्ट्स और ऑफर्स की व्यापक रेंज से लाभान्वित होंगे
  • एक्सिस बैंक सिटी बैंक के ग्राहकों के लिए उत्कृष्ट सेवाओं को कायम रखने और एक्सिस बैंक के ग्राहकों के लिए सेवाओं में वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए विश्व स्तरीय सिटीफोन बैंकिंग कौशल का उपयोग करने के लिए तैयार है।
  • बैंक 18 शहरों में 7 कार्यालयों, 21 शाखाओं और 499 एटीएम तक पहुंच प्राप्त करेगा
  • सिटी बैंक के लगभग 3600 इन-स्कोप उपभोक्ता कर्मचारियों को एक्सिस बैंक में समाहित किया जाएगा।

नॉर्दर्न आर्क ग्रुप ने आशीष मेहरोत्रा को एमडी और सीईओ नियुक्त किया

मुंबई, 30 मार्च, 2022: नॉर्दर्न आर्क कैपिटल लिमिटेड, जो एक विविधीकृत एनबीएफसी और अग्रणी डिजिटल ऋण प्लेटफॉर्म है, ने आशीष मेहरोत्रा को कंपनी के प्रबंध निदेशक (एमडी) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की। यह नियुक्ति 1 अप्रैल, 2022 से प्रभावी होगी। आशीष, नॉर्दर्न आर्क ग्रुप की माइक्रोफाइनेंस सब्सिडियरी, प्रगति फिनसर्व के नॉन - एग्जीक्यूटिव चेयरपर्सन के रूप में भी काम करेंगे। वह नॉर्दर्न आर्क इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स के बोर्ड के सदस्य हैं, जिसमें हमारा अल्टरनेट इन्वेस्टमेंट फंड और पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विस है।

आशीष के पास खुदरा और वाणिज्यिक बैंकिंग, धन प्रबंधन और बीमा में 25 वर्षों से अधिक समय का अनुभव है। अपनी अंतिम भूमिका में, वह नीवा बुपा हेल्थ इंश्योरेंस (जिसे पहले मैक्स बुपा हेल्थ इंश्योरेंस के नाम से जाना जाता था) के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी थे। इससे पहले आशीष ने सिटी बैंक में 20 साल से अधिक समय तक काम किया। वह पहले सिटीबैंक इंडिया के प्रबंध निदेशक और रिटेल बैंक हेड भी थे।
डॉ. क्षमा फर्नांडिस गैर - कार्यकारी निदेशक के रूप में संगठन का हिस्सा बनी रहेंगी और 01 अप्रैल, 2022 से गैर - कार्यकारी वाइस चेयरपर्सन के रूप में नामित की जाएंगी।
श्री पी.एस. जयकुमार, गैर - कार्यकारी स्वतंत्र निदेशक और अध्यक्ष, नॉर्दर्न आर्क कैपिटल लिमिटेड ने कहा, “मुझे आशीष मेहरोत्रा का नॉर्दर्न आर्क कैपिटल के एमडी और सीईओ के रूप में स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। बीएफएसआई क्षेत्र के अग्रणी संस्थानों का उनका अनुभव और ट्रैक रिकॉर्ड हमें नॉर्दर्न आर्क 2.0 के लिए रणनीतिक योजना की कल्पना करने और निष्पादित करने में मदद करेगा, जहां हमारा उद्देश्य गहरी प्रतिस्पर्धी रूप से डिजिटल और डेटा संचालित संगठन बनाना है।"
कंपनी के शेयरधारकों में आईआईएफएल, लीपफ्रॉग, ऑगस्टा, एट रोड्स, द्वारा ट्रस्ट, एक्सियन और एसएमबीसी शामिल हैं।
इस परिवर्तन पर टिप्पणी करते हुए, डॉ क्षमा फर्नांडीस ने कहा , "नॉर्दर्न आर्क कैपिटल में मेरे कार्य के दौरान, हमने एक मजबूत डिजिटल ऋण मंच बनाने पर ध्यान केंद्रित किया है जो कमजोर परिवारों और व्यवसायों को सेवा प्रदान करे। मुझे आशीष मेहरोत्रा का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है क्योंकि वह नॉर्दर्न आर्क 2.0 को एक समग्र, टेक्नोलॉजी - फर्स्ट वित्तीय सेवा मंच बनाने की ओर अग्रसर हैं।"
अपनी नई भूमिका पर टिप्पणी करते हुए, आशीष मेहरोत्रा ने कहा, "मैं नॉर्दर्न आर्क की विश्व स्तरीय टीम का हिस्सा बनकर उत्साहित हूं जिसने व्यवसाय मॉडल्स का प्रवर्तन किया है और नवाचार ही उनकी पहचान है। हम अपनी स्थिति को और मजबूत करने और बाजार के हमारे प्रमुख व्यवसायों को बढ़ाने का लक्ष्य रखेंगे। हम नए युग के डिजिटल व्यवसायों को इनक्यूबेट करने की योजना बना रहे हैं जो नेक्स्ट बिलियन और उभरते क्षेत्रों की सेवा करेंगे। और हम अपनी मुख्य क्षमताओं का लाभ उठाकर और प्रौद्योगिकी, डेटा और विश्लेषिकी में नई दक्षताओं का निर्माण करके ऐसा करेंगे।"
आशीष मेहरोत्रा के पास मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की डिग्री है।

राजस्थान दिवस के अवसर पर महात्मा गाँधी राजकीय विद्यालय में राजस्थान कला व संस्कृति का अनुपम सौद्वर्य देखने को मिला

आज दिनांक 30 मार्च 2022, राजस्थान दिवस के अवसर पर महात्मा गाँधी राजकीय विद्यालय (अंग्रेजी माध्यम) मानसरोवर जयपुर में राजस्थान कला व संस्कृति का अनुपम सौद्वर्य देखने को मिला जिसके अन्तर्गत विद्यार्थियों द्वारा क्षेत्रानुसार वेशभूषा पहन कर आए। विद्यालय प्रागंण में राजस्थान के मानचित्रानुसार विद्यार्थियों ने एक श्रृखला तैयार की जिसमें कक्षा-5 के विद्यार्थियों (युवराज जोरवाल,ओमेश,हेमेश गौरव और गौरांग) ने इस राजस्थान के मानचित्र में 33 जिलों की सीमाओं का दर्शन करवाया।

विद्यालय की प्रधानाचार्य श्रीमती अनु चौधरी ने राजस्थान की कला व संस्कृति के महत्व पर प्रकाश डाला और इस अवसर पर जितेन्द्र कुमार टेलर ,सीता कंवर, डॉ.सन्तोष कुमार जाखड़, रूचि सिंह, हेमलता चॉदोलिया के निदेर्शन में माड़ना,रंगोली, राजस्थान का मानचित्र भरो प्रतियोगिता, प्रश्नोŸारी और लोक नृत्य व लोक गीत प्रतियोगिता सम्पन्न करवायी गई जिसमें स्थानीय विद्यालय का समस्त स्टाफ मौजुद रहा।

टाटा एआईए सर्वेक्षण से पता चलता है कि भारतीय मिलेनियल्स आर्थिक रूप से विवेकपूर्ण हैं, हालांकि जीवन बीमा की बात करें तो उन्हें मार्गदर्शन की आवश्यकता है

30 मार्च, 2022, मुंबई: ऐसा लगता है कि भारतीय मिलेनियल्स ने एक स्वस्थ बचत व्यवस्था बनाए रखने के महत्व को महसूस किया है, भले ही बाहरी परिदृश्य अनिश्चित रहा हो. टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस द्वारा 22 से 35 वर्ष के आयु वर्ग के भारतीयों के साथ किए गए सर्वेक्षण के प्रमुख निष्कर्षों में से एक यह भी है.

यहां तक ​​​​कि जब कोविड -19 ने देश और दुनिया को प्रभावित किया, तो चुने हुए आयु वर्ग के 64% से अधिक उत्तरदाताओं ने महामारी के दौरान अपनी बचत को बनाए रखा या बढ़ाया. जबकि 30-35 आयु वर्ग के 70% लोगों ने बचत के अनुपात को बढ़ाया या बनाए रखा, 22-25 वर्ष आयु बैंड में से 68% समान व्यवहार प्रदर्शित किया. यह इंगित करता है कि लोग कम उम्र से ही जिम्मेदार वित्तीय व्यवहार दिखा रहे हैं.

एक स्वस्थ बचत अनुपात सुनिश्चित करते हुए, आयु वर्ग के भारतीय मिलेनियल्स दूसरों पर निर्भर होने के बजाय अपने स्वयं के निवेश योजना बनाने में विश्वास करते हैं. यह उनके अपने आप में आत्मविश्वास के स्तर को दर्शाता है. ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तक पहुंचने और पूरी प्रक्रिया पर शोध करने में उनकी सुविधा को देखते हुए, यह प्रवृत्ति भविष्य में जारी रहने की ओर अग्रसर है. यह मिलेनियल्स के भीतर सबसे कम उम्र के बैंड में था, यानी 22 - 25 साल, जिसमें 5 में से 1 उत्तरदाता ने सही वित्तीय निवेश का निर्णय लेने में अपने माता-पिता पर निर्भरता दिखाई. दूसरी ओर, 26 - 29 में से 90% और 30 - 35 में से 96% लोगों ने वित्तीय योजना और निवेश के मामले में अपने फैसले खुद लिए.

जब कोई भौगोलिक अंतर को देखता है, तो निष्कर्ष आश्चर्यजनक नहीं हैं. महानगरों में 93% लोगों ने वित्तीय नियोजन के लिए अपने स्वयं के निर्णय लेने के साथ उच्च स्तर की स्वतंत्रता दिखाई. यह व्यवहार टियर 1 और 2 शहरों में उन लोगों के लिए मामूली रूप से कम था, जिनमें 89% ने अपने वित्तीय निर्णय खुद लिए थे. दिलचस्प बात यह है कि मेट्रो और टियर 1 शहरों में उत्तरदाताओं का एक छोटा प्रतिशत वित्तीय विशेषज्ञों पर निर्भर था, जबकि टियर 2 में वे पूरी तरह से अपने माता-पिता पर निर्भर थे.

वित्तीय विवेक के प्रति उत्साहजनक आदतों के बीच, भारतीय मिलेनियल्स को अभी भी जीवन और स्वास्थ्य बीमा जैसे समाधानों के बारे में पूरी तरह से जागरूक होना बाकी है. 30-35 आयु वर्ग के 57% लोग जीवन बीमा के बारे में जानते थे, 22-25 वर्षों में से केवल 20% ने ही इस पहलू की पुष्टि की. इसी तरह, जब स्वास्थ्य बीमा की बात आती है, तो 30 से 35 साल के बीच के 57% लोग इस श्रेणी के बारे में जानते थे, लेकिन 22-25 साल की उम्र के बीच केवल 19% ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी.

दिलचस्प बात यह है कि जिन लोगों ने खुद को जीवन बीमा के साथ सुरक्षित किया था, उनमें से 43% का मानना ​​था कि वे पर्याप्त रूप से सुरक्षित थे. हालांकि, इसी तरह के 41% ने दूसरे तरीके से महसूस किया. उन्होंने माना की वे अनिश्चित है कि क्या उन्होंने पर्याप्त कवर के साथ पॉलिसी ली थी. यह स्पष्ट रूप से भारतीय मिलेनियल्स को सही जानकारी और बीमा के स्तर की समझ से लैस करने की आवश्यकता को इंगित करता है.

शोध अभ्यास के निष्कर्षों पर टिप्पणी करते हुए, वेंकी अय्यर, ईवीपी और मुख्य वितरण अधिकारी ने टिप्पणी की, 'टाटा एआईए में, हमारा प्रयास अपने ग्राहकों की बदलती जरूरतों के अनुरूप रहना और उनके साथ साझेदारी करना है क्योंकि वे जीवन में अपने सपनों को साकार करने की दिशा में काम करते हैं. . सर्वेक्षण स्पष्ट रूप से इंगित करता है कि बीमाकर्ताओं को युवा उपभोक्ताओं के साथ हाथ मिला कर काम करने की आवश्यकता है ताकि उन्हें बीमा स्तर को समझने में मदद मिल सके. साथ ही, हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि हम जीवन बीमा द्वारा सुरक्षा, बचत, सेवानिवृत्ति, और धन सृजन-उन्मुख पेशकशों के विविध समाधानों को चुनने में उनकी मदद करें, जिससे यह सुनिश्चित हो सके कि वे अच्छी तरह से सुरक्षित रहे.”

Tuesday, March 29, 2022

एल एंड टी और वोडाफोन आईडिया ने पायलट प्राइवेट एलटीई नेटवर्क सेट-अप के लिए हाथ मिलाया

मुंबई, 29 मार्च, 2022: एलएंडटी स्मार्ट वर्ल्ड एंड कम्युनिकेशन (एसडब्ल्यूसी) और वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (वीआई) भारत में निजी एलटीई एंटरप्राइज नेटवर्क के उपयोग को स्थापित करने के लिए एक साथ आए हैं. दोनों कंपनियां, समूह व्यवसाय एलएंडटी हेवी इंजीनियरिंग के 'ए एम नाइक हेवी इंजीनियरिंग कॉम्प्लेक्स', हजीरा (सूरत) में एक त्वरित प्रूफ ऑफ कॉन्सेप्ट (पीओसी) को अंजाम देंगी. 

एलएंडटी स्मार्ट वर्ल्ड एंड कम्युनिकेशन और वोडाफोन आईडिया ने सरकार द्वारा चल रहे 5G परीक्षणों के हिस्से के रूप में सार्वजनिक सुरक्षा, स्मार्ट और कनेक्टेड स्वास्थ्य क्षेत्रों में 5G उपयोग के परीक्षण के लिए भागीदारी की है. 5जी स्पेक्ट्रम आवंटित दोनों कंपनियों ने एलएंडटी के स्मार्ट सिटी प्लेटफॉर्म का लाभ उठाते हुए IoT, वीडियो AI तकनीकों पर निर्मित 5G उपयोग का परीक्षण और सत्यापन करने के लिए सहयोग किया है. 

भारत मजबूत दूरसंचार का नेतृत्व कर रहा है. दुनिया भर में उद्योग 4.0 निर्माण क्रांति, हाई-टेक IoT और कनेक्टेड उपकरणों का उपयोग करने के लिए इसे लाया जा रहा है. 

श्री जे डी पाटिल, पूर्णकालिक निदेशक और वरिष्ठ कार्यकारी उपाध्यक्ष, रक्षा और स्मार्ट टेक्नोलॉजीज, लार्सन एंड टुब्रो ने कहा, "हमारा मानना है कि निजी उद्यम नेटवर्क उद्योग 4.0 के विकास पथ पर व्यवसायों को बनाए रखने, बढ़ने और बदलने में मदद करने के लिए यहां हैं. हम इस तकनीक के बारे में उत्साहित हैं और यह वादा करते है की हमारे भागीदार वोडाफोन आइडिया के साथ, भारतीय उद्यमों को डिजिटाइज करने की दिशा में हम बड़ा दांव लगा रहे हैं.” 

उद्यमों को नवीन और विश्वसनीय दूरसंचार सेवाएं प्रदान करने की अपनी गहरी विशेषज्ञता के साथ वीआई बिजनेस, प्रमुख औद्योगिक कंपनियों के साथ साझेदारी और परीक्षणों के माध्यम से भविष्य के लिए तैयार उद्योग की तैयारी कर रहा है. ये परीक्षण वीआई और उसके भागीदारों को समाज को प्रभावित किए बिना और डिजिटल इंडिया के सरकार के सपने की दिशा में प्रगति के बिना स्पेक्ट्रम के कुशल उपयोग के साथ भारत विशिष्ट निजी एलटीई उपयोग के मामलों को विकसित करने की अनुमति देते हैं. 

वोडाफोन आइडिया लिमिटेड के चीफ एंटरप्राइज बिजनेस ऑफिसर अरविंद नेवतिया ने कहा,  “एंटरप्राइज समाधानों के मार्केट लीडर के रूप में, वीआई बिजनेस इस गतिशील डिजिटल पारिस्थितिकी तंत्र में बढ़ने और फिर से आविष्कार करने के लिए व्यवसायों को सशक्त बनाने पर केंद्रित है. हम एलएंडटी स्मार्ट वर्ल्ड एंड कम्युनिकेशन के साथ साझेदारी करके उत्साहित हैं, ताकि नोकिया की प्रौद्योगिकी विशेषज्ञता के आधार पर भविष्य के लिए तैयार 5जी नेटवर्क इंफ्रास्ट्रक्चर पर अत्याधुनिक अनुप्रयोगों के साथ निजी एलटीई के लिए एक संपूर्ण समाधान तैयार किया जा सके. यह सहयोग भारत में उद्योग 4.0 को तेजी से अपनाने वाले कल के उद्यमों के लिए समाधान प्रदान करने की हमारी ताकत और क्षमताओं को प्रदर्शित करेगा. हमें विश्वास है कि यह पायलट एलएंडटी की एएम नाइक हेवी इंजीनियरिंग कॉम्प्लेक्स निर्माण सुविधा में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा और भविष्य की मापनीयता के लिए नई संभावनाओं को खोलेगा.” 

एलएंडटी एसडब्ल्यूसी, निर्बाध आईटी/ओटी एकीकरण और विश्व स्तरीय प्रौद्योगिकी समाधानों के विविध अनुभव वाले, नेटवर्क को डिजाइन, कार्यान्वित, परीक्षण और मान्य करने के साथ-साथ इस पर उपयोग के मामलों की संतोषजनक तैनाती करेगा. 

हेवी इंजीनियरिंग के हेड और कार्यकारी समिति के सदस्य, सीनियर वाईस प्रेसिडेंट अनिल वी परब ने कहा, "हम 'एएम नाइक हेवी इंजीनियरिंग कॉम्प्लेक्स' में अपने एलएंडटी हेवी इंजीनियरिंग कार्यों में औद्योगिक अनुप्रयोगों के लिए निजी एलटीई नेटवर्क के परीक्षण के लिए व्यापक पीओसी आयोजित कर रहे हैं. हमें विश्वास है कि एलटीई हमें बेहतर कनेक्टिविटी/कवरेज के लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद करेगा और विभिन्न उद्योग 4.0 अनुप्रयोगों में आईओटी का उपयोग करके अधिक से अधिक स्वचालन की ओर बढ़ने की क्षमता भी हासिल करेगा.” 

निजी एलटीई पीओसी, जो नोकिया से प्रौद्योगिकी पर आधारित है, एलएंडटी हेवी इंजीनियरिंग विनिर्माण सुविधा में विशाल मशीनरी, जुड़े उपकरणों और आईओटी को एकीकृत करने वाले कवरेज, संचार और ग्राहक अनुभव को सुनिश्चित करेगा जो संबंधित उच्च परिशुद्धता निर्माण प्रक्रियाओं के लिए महत्वपूर्ण हैं. 

नोकिया में वोडाफोन आइडिया सीटी के प्रमुख प्रशांत मलकानी ने कहा, “हम भारत में पहले निजी वायरलेस नेटवर्क बनाने के लिए वीआई बिजनेस और एलएंडटी एसडब्ल्यूसी के साथ साझेदारी करके खुश हैं. हमारा उद्योग अग्रणी निजी वायरलेस समाधान एलएंडटी की विनिर्माण सुविधा को स्केलेबिलिटी, लचीलापन, बेहतर उत्पादकता, परिचालन दक्षता और इसके डिजिटल परिवर्तन को आगे बढ़ाने के लिए आवश्यक कवरेज प्रदान करेगा. एक अत्याधुनिक निजी वायरलेस नेटवर्क को तैनात करके, एलएंडटी की विनिर्माण सुविधा अपनी प्रक्रियाओं को स्वचालित करने और नए उद्योग 4.0 उपयोग के मामलों का पता लगाने में सक्षम होगी.”

एलएंडटी स्मार्ट वर्ल्ड नेटवर्क डिजाइनिंग और रोलआउट, साइबर सुरक्षा और वर्चुअलाइज्ड नेटवर्क (ओआरएएन) से शुरू होने वाले निजी 5जी के लिए प्री-पैकेज्ड डिजिटल समाधान प्रदान करता है. सिस्टम इंटीग्रेटर के रूप में संचार क्षेत्र में इसकी विशेषज्ञता इसे उद्यम परिवर्तन के लिए अंत तक समाधान देने में सक्षम बनाती है. 

मोबिक्विक भारत के बाय नाऊए पे लेटर ;बीएनपीएलद्ध बाजार में 45.50 बिलियन अमेरिकी डॉलर की अनुमानित वृद्धि का लाभ उठाएगा

भारत की आबादी क्रेडिट की कमी से जूझ रही हैए जो ऑनलाइन लेन.देन करने वाले उपयोगकर्ताओं के तेजी से बढ़ते आधार के बीच बढ़ते अंतर में परिलक्षित होती हैए जो वर्तमान में केवल 30.35 मिलियन विशिष्ट क्रेडिट कार्ड धारकों की तुलना में 250 मिलियन है। उपयोगकर्ताओं पर क्रेडिट जानकारी की कमी और बड़ी संख्या में उपयोगकर्ताओं को भौतिक रूप से ऑनबोर्ड करने के लिए उच्च लागत ने वित्तीय संस्थानों को इस निरंतर बढ़ते अंतर को पाटने की कोशिश करने से रोक दिया है। मोबिक्विकए भारत का सबसे बड़ा बीएनपीएल फिनटेक ;कुल प्री.अप्रूव्ड यूजर्स यानी 23़ मिलियन के मामले मेंद्ध भारत के टियर 1ए टियर 2 और टियर 3 शहरों और कस्बों के डिजिटल रूप से जानकार मिलेनियल्स की अधूरी क्रेडिट जरूरतों को पूरा करने पर केंद्रित है। कंपनी भारतीय बीएनपीएल अवसर का लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में हैए जिसके 2026 तक 45.50 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है ;स्रोतरू रेडसीर रिपोर्टद्ध।

भारतीय आबादी का एक बड़ा हिस्सा औपचारिक ऋण बाजार से वंचित है या उसे अपेक्षाकृत कम सेवा प्राप्त हैए और इसके परिणामस्वरूप भारत में लाखों लोगों के लिए या तो कम ऋण या तो बिल्कुल भी ऋण उपलब्ध नहीं है या वो बहुत अधिक ब्याज दरों पर ही ऋण ले पाते हैं। बड़े बैंक या एनबीएफसी ऐसे लोगों को ऋण प्रदान करने में हिचकिचाते हैं जो ऋण के मामले में नए हैं। नतीजतनए भारत में ऐसे उपभोक्ताओं की संख्या बहुत अधिक है जो ऋण ले पाने में असमर्थ हैं । क्रेडिट कार्ड के साथ.साथ अन्य क्रेडिट उपकरणों के लिए विकास के लिए महत्वपूर्ण अवसर हैए जो विशेष रूप से टेक्नोलॉजी फर्स्ट कंपनियों के लिए है। वित्तीय वर्ष 2026 तक बीएनपीएल के उपयोगकर्ताओं की संख्या लगभग 80.100 मिलियन तक पहुंचने की उम्मीद हैए जो विशिष्ट क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ता आधार से कहीं अधिक है। 

इस क्रेडिट गैप को दूर करने और सेवा न पाने वाली भारतीय आबादी को पहली बार ऋण प्रदान करने को ध्यान में रखते हुएए मोबिक्विक ने मई 2019 में बीएनपीएल लॉन्च किया। यह वर्तमान में 23़ मिलियन पूर्व.अनुमोदित बीएनपीएल उपयोगकर्ताओं के साथ भारत में सबसे बड़ी बीएनपीएल फिनटेक कंपनियों में से एक है। कंपनी 22ग् की वृद्धि के साथ समग्र बीएनपीएल जीएमवी के साथ घातांकीय वृद्धि देख रही है। मोबिक्विक के बीएनपीएल उपयोगकर्ताओं की रिपीट रेट् 80ः और औसत खर्च बढ़कर ₹3ए200 हो गया।

मोबिक्विक ज़िप प्रमुख बीएनपीएल उत्पाद हैए जो ब्याज.मुक्त उत्पाद हैए जिसका टिकट आकार 500.30ए000 रुपये के बीच हैए जो उपयोगकर्ता के मोबिक्विक वॉलेट में 15.दिवसीय चक्रों में वन टैप एक्टिवेशन के साथ उपलब्ध है। डेटा विज्ञान संचालित क्रेडिट स्कोरिंग एल्गोरिथमए मोबिस्कोर की मदद से क्रेडिट हामीदारी की जाती है। यह उपभोक्ता प्रोफ़ाइल का विश्लेषण करता है और प्रत्येक ग्राहक को पूर्व.अनुमोदित सीमा प्रदान करता है। मोबिस्कोर प्री.अप्रूव्ड यूजर्स का विस्तार करने के साथ.साथ मौजूदा बीएनपीएल यूजर्स की क्रेडिट लिमिट बढ़ाने में भी मदद करता है। चक्र के अंत मेंए उपयोगकर्ता को 5 दिनों के भीतर देय राशि का भुगतान करना होता हैए ऐसा न करने पर विलंब शुल्क लिया जाता है। उपयोगकर्ता को एकमुश्त एक्टिवेशन फीस का भुगतान भी करना होता है। जो उपयोगकर्ता मोबिक्विक  ज़िप पर कई चक्रों से गुजर चुके हैं और अच्छे पुनर्भुगतान व्यवहार का प्रदर्शन करते हैंए उन्हें ज़िप ईएमआई की पेशकश की जाती है। ज़िप ईएमआई उन उपयोगकर्ताओं पर केंद्रित है जो 25ए000.100ए000 रुपये के बीच वाले उच्च मूल्य वाले उत्पाद खरीदना चाहते हैं। उत्पाद ब्याजयुक्त होते हैं और उपयोगकर्ता 3ध्6 ईएमआई के माध्यम से चुकाते हैं। वर्तमान मेंए मोबिक्विक ने आईडीएफसी फर्स्ट बैंकए इनक्रेडए फुलर्टन नाम के 10 ऋण देने वाले संस्थानों के साथ भागीदारी की है।


मोबिक्विक का उपभोक्ता भुगतान प्लेटफ़ॉर्म मोबिक्विक को अग्रलिखित प्रदान करता है 1द्ध 108 मिलियन उपयोगकर्ताओं का मौजूदा आधारए 2द्ध पिछले 3 वर्षों में 7 बिलियन अमेरिकी डॉलर की लेनदेन कर चुके उपयोगकर्ताओं के संबंध में व्यापक पूर्व विवरणए 3द्ध ब45उ उपयोगकर्ताओं का केवाईसीए जो वित्तीय सेवाओं की पेशकश के लिए आवश्यक है और 4द्ध 3ण्4 मिलियन मजबूत मर्चेंट इकोसिस्टमए जहां बीएनपीएल का उपयोग किया जा सकता हैए जिससे उपयोगकर्ताओं को अपने दैनिक जीवन के उपयोग के मामलों में लेनदेन करने के लिए एक बड़ा लचीलापन मिलता है। उपरोक्त का संयोजन कंपनी को अपने उपयोगकर्ता अधिग्रहण लागत को कम रखने में मदद करता हैए उपयोगकर्ता की गुणवत्ता का बेहतर आकलन करता है और सभी बीएनपीएल कंपनियों के बीच सबसे व्यापक मर्चेंट नेटवर्क प्रदान करता है। इसका उपभोक्ता भुगतान प्लेटफॉर्म बीएनपीएल पर इसके विशेष जोर के साथ इसके मोट को सेवा प्रदान करता है। कंपनीए तेजी से बढ़ते बीएनपीएल इंडिया के 45.50 बिलियन अमेरिकी डॉलर के अवसर का लाभ उठाने के लिए अच्छी स्थिति में है।

गुजरात पॉलीसोल केमिकल्स लिमिटेड ने सेबी के यहाँ डीआरएचपी फाइल की

गुजरात पॉलिसोल केमिकल्स लिमिटेड, जो भारत में इन्फ्रा -टेक (कंस्ट्रक्शन), एग्रो, डाइज और लेदर इंडस्ट्रीज की अग्रणी रसायन निर्माताओं में से एक है, ने बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (" सेबी") के यहाँ अपना ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस (" डीआरएचपी")फाइल किया है।

कंपनी की योजना आईपीओ के जरिए कुल 414 करोड़ रुपये के अपने इक्विटी शेयरों की पेशकश कर धन जुटाने की है। इक्विटी शेयरों की पेशकश में कुल 87 करोड़ रुपये के फ्रेश इश्यू ("फ्रेश इश्यू") और  और विक्रेता शेयरधारकों द्वारा कुल 327 करोड़ रुपये तक के इक्विटी शेयरों का ऑफर फॉर सेल शामिल है। (“ ऑफर फॉर सेल”)

कंपनी, इन्फ्रा - टेक, डाई एवं पिगमेंट, और टेक्सटाइल एवं चमड़ा उद्योगों में डिस्पर्सिंग एजेंट्स के अग्रणी आपूर्तिकर्ताओं में भी शामिल है। यह भारत में पाउडर सर्फेक्टेंट का एक प्रमुख आपूर्तिकर्ता भी है।

कंपनी ने निवल आय का उपयोग अग्रलिखित की फंडिंग में करने का प्रस्ताव दिया है (i) कंपनी द्वारा लिये गये सभी ऋण या कुछ ऋणों का पूरा या आंशिक पुनर्भुगतान या पूर्व - भुगतान और (ii) सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य।

कंपनी की विनिर्माण इकाइयों में 130,400 मीट्रिक टन प्रति वर्ष की कुल विनिर्माण क्षमता, जो अंतिम उपयोग उद्योग पर आधारित है, को अग्रलिखित में वर्गीकृत किया जा सकता है - (i) इन्फ्रा - टेक (विनिर्माण) रसायन; (ii) कृषि - रसायन (कीटनाशक फॉर्म्युलेशंस); (iii) डाइज, पिगमेंट्स एवं टेक्सटाइल केमिकल्स; और (iv) लेदर केमिकल्स।

जीपीसीएल की कुल पुनर्निधारित आय 30 सितंबर, 2021 को समाप्त 6 महीने की अवधि, और वित्तीय वर्ष 2021, वित्तीय वर्ष 2020 और वित्तीय वर्ष 2019 के लिए क्रमशः 183 करोड़ रु., 380 करोड़ रु., 440 करोड़ रु., और 439 करोड़ रुपये रही है। वर्ष के लिए इसका पुनर्निधारित लाभ, वित्तीय वर्ष 2019 और 2021 के बीच 76.42% की सीएजीआर से बढ़ा।

बुक रनिंग लीड मैनेजर इंगा वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड है।

इक्विटी शेयरों को बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

 

 

 

apna.co ने आयोजित किया दिल्ली का सबसे बड़ा वर्चुअल जॉब्स मेला

29 मार्च 2022, नई दिल्लीः देश भर में ज़्यादा से ज़्यादा प्रोफेशनल्स को सहयोग प्रदान करने और उन्हें सशक्त बनाने के प्रयास में भारत के सबसे बड़े जॉब्स एवं प्रोफेशनल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म apna.co  ने दिल्ली-एनसीआर में वर्चुअल जॉब फेयर के पहले संस्करण का आयोजन किया है। यह वर्चुअल जॉब मेला मार्च के अंतिम सप्ताह से अप्रैल के अंत तक 45 दिनों के लिए चलेगा और शहर एवं आस-पास के इलाकों से वे सभी प्रोफेशनल्स इसमें हिस्सा ले सकेंगे जो अपने घर के आस-पास नौकरियां ढूंढ रहे हैं।  

अपनी तरह का अनूठा यह जॉब मेला नौकरी ढूंढने वाले युवाओं को एम्पलॉयर्स के साथ जोड़ेगा, विभिन्न उद्योगों से 23,000 से अधिक एम्पलॉयर इसमें हिस्सा लेंगे। जॉब मेला ऐसे समय में लगाया गया है कि जब देश महामारी के बाद धीरे-धीरे अपनी नियमित दिनचर्या में लौट रहा है। इससे शहर के लाखों प्रोफेशनल्स को नौकरियां तलाशने में मदद मिलेगी। 

apna.co  के अनुसार देश की राजधानी प्रोफेशनल्स के लिए मुख्य बाज़ारों में से एक है। शहर में सबसे लोकप्रिय जॉबरोल्स हैं- टेलीकॉलर्स, डेटा एंट्री ऑपरेटर्स, डिलीवरी पर्सन, बैक ऑफिस स्टॉफ, अकाउन्टेन्ट, सेल्स, ऑफिस असिस्टेन्ट, सिक्योरिटी गार्ड, ड्राइवर, ऑफिस स्टाफ, रीटेल और मार्केटिंग आदि। 

दिल्ली-एनसीआर में 51 लाख से अधिक प्रोफेशनल्स नौकरियां ढूंढने और अपना प्रोफेशनल नेटवर्क बनाने के लिए इस प्लेटफॉर्म पर भरोसा करते हैं।

जॉब मेले के बारे में बात करते हुए करना चोकशी, चीफ़ ऑपरेटिंग ऑफिसर, apna.co  ने कहा, ‘‘दिल्ली में अपने जॉब मेले के माध्यम से, हम प्रोफेशनल्स को आसानी से नौकरी ढूंढने में मदद करना चाहते हैं। हमें विश्वास है कि हमारे वर्चुअल जॉब मेले उम्मीदवारों के लिए फायदेमंद होंगे और उन्हें सही अवसर तलाशने में मदद करेंगे।’’ 

जॉब मेले के साथ-साथ apna प्रोफेशनल्स के लिए करियर बिल्डिंग/ काउन्सिलंग सत्र और कौशल कार्यशालाएं भी आयोजित करता है, उन्हें करियर के अवसरों के लिए हर ज़रूरी सहयोग प्रदान करता है। 

पिछले सालों के दौरान जॉब मेले नौकरी ढूंढने वालों के लिए उपयोगी रहे हैं। दिल्ली-एनसीआर में अपने वर्चुअल जॉब मेले के पहले संस्करण के लॉन्च के बाद, apna.co  ने अन्य शहरों में भी ऐसे ही मेलों के आयोजन की योजना बनाई है। 

apna तेज़ी से विकसित हो रहा है और पिछले दो महीनों में इसने 20 से अधिक शहरों में विस्तार किया है। यह प्लेटफॉर्म अब आगरा, अहमदाबाद, अजमेर, अलीगढ़, अमृतसर, आसनसोल, औरंगाबाद, बेलागावी, बैंगलुरू, भिलाई, भोपाल, भुवनेश्वर, बीकानेर, चण्डीगढ़, चेन्नई, कोयम्बटूर, कटक, देहरादून, दिल्ली-एनसीआर, गोवा, गुंटुर, गुवाहाटी, ग्वालियर, हुबली, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, जबलपुर, जलंधर, जमशेदपुर, जोधपुर, कन्नूर, कानपुर, कोची, कोल्हापुर, कोलकाता, कोटा, लखनऊ, लुधियाना, मदुराई, मल्लापुरम, मैंगलोर, मेरठ, मुंबई, मैसूर, नागपुर, नासिक, पानीपत, पटना, प्रयागराज, पुणे, रायपुर, राजकोट, रांची, सालेम, सोलापुर, सूरत, थिरूवनंतपुरम, त्रिची, उदयपुर, वड़ोदरा, वाराणसी, विजयवाड़ा और विशाखापटनम में मौजूद है। यह प्लेटफॉर्म अब तक 35 करोड़ से अधिक इंटरव्यूज़ एवं प्रोफेशनल इंटरैक्शन्स करवा चुका है। 

भारत की सबसे अधिक एम्प्लाई फ्रेंडली इंफ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन कंपनियों में एसीसी लिमिटेड को मिला टॉप टू में स्थान

मुंबई, 29 मार्च 2022- भारत की सबसे टिकाऊ और नवीन निर्माण सामग्री कंपनियों में से एक एसीसी लिमिटेड को भारत की सबसे अधिक एम्प्लाई फ्रेंडली इंफ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन कंपनियों में टॉप टू में स्थान मिला है। बिजनेस टुडे मैगजीन के हालिया बेस्ट कंपनीज टू वर्क फॉरसर्वे में यह रैंकिंग दी गई है। यह दूसरी बार है जब एसीसी लिमिटेड को विविध और समावेशी कार्यस्थल का निर्माण करने और इसे कायम रखने के लिए यह विशेष मान्यता दी गई है। एसीसी को पिछले साल भारत के सबसे अच्छे कार्यस्थलों में स्थान दिया गया था।

होल्सिम इंडिया की ऑपरेटिंग कंपनियों में से एक एसीसी लिमिटेड का मानना है कि कंपनी के टैलेंट पूल को विकसित करने और इसे आगे बढ़ाने से संगठन को प्रतिस्पर्धात्मक तौर पर बहुत फायदा होता है। कंपनी की एक सहयोगी और सुरक्षित कार्य संस्कृति है, और साथ ही कंपनी के सभी कर्मचारियों को समान अवसर प्रदान किया जाता है।

एसीसी लिमिटेड के एमडी और सीईओ श्रीधर बालाकृष्णन ने कहा, ‘एसीसी में हमारा विजन है कि सबसे पहले लोग, और हम इस विजन के अनुरूप ही एक सुरक्षित, स्वस्थ और समावेशी कार्यस्थल प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमें खुशी है कि हमें एक बार फिर भारत में शीर्ष नियोक्ताओं में से एक के रूप में मान्यता दी गई है।’’

समान अवसर उपलब्ध कराने वाले नियोक्ता के रूप में एसीसी विविधता और समावेश को बढ़ावा देने के लिए अपने चार रणनीतिक कदमों पर ध्यान केंद्रित करता है-विभिन्न प्रतिभाओं को आकर्षित करना, शिक्षा और जागरूकता को बढ़ावा देना, जुड़ाव और विकास, और कार्यस्थल पर बेहतर सिस्टम का निर्माण करना। कंपनी की नवीनतम पहल ऊर्जा इसी दिशा में एक कदम है। ऊर्जा एक अखिल भारतीय महिला नेटवर्क है, जिसका उद्देश्य कार्यस्थल पर महिलाओं को साथियों के समर्थन और सहयोग के माध्यम से प्रेरित करना है। कार्यक्रम महिलाओं को संगठन के भीतर अपने वरिष्ठ महिला सहयोगियों के साथ बातचीत करने में सक्षम बनाता है, जिससे संगठन में एक सहायक और आगे बढ़ने लायक माहौल बनता है।

सर्वेक्षण में उन सभी क्षेत्रों की कंपनियों को स्थान दिया गया है जो अपने उद्देश्य, मूल मूल्यों और अपने लोगों के लिए मिशन को परिभाषित करते हैं। कंपनियों को अपने लिए और संगठनों के लिए सर्वश्रेष्ठ हासिल करने के लिए एक समावेशी, सक्षम वातावरण बनाने के लिए भी आंका गया था।

बिजनेस टुडे मैगजीन के हालिया ‘बेस्ट कंपनीज टू वर्क फॉर’ सर्वे में कंस्ट्रक्शन और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में अंबुजा सीमेंट्स को मिली पहली रैंकिंग

मुंबई, 29 मार्च 2022- भारत की सबसे सस्टेनेबल और इनोवेटिव सीमेंट निर्माता कंपनियों में से एक अंबुजा सीमेंट्स को बिजनेस टुडे मैगजीन के हालिया बेस्ट कंपनीज टू वर्क फॉरसर्वे में कंस्ट्रक्शन और इन्फ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में पहली रैंकिंग मिली है।

अंबुजा सीमेंट्स ने हमेशा अपने सभी कर्मचारियों के लिए एक अनुकूल कार्य वातावरण को बढ़ावा दिया है और यह मान्यता कंपनी की एक और उपलब्धि के तौर पर दर्ज की जाएगी। होल्सिम इंडिया की ऑपरेटिंग कंपनियों में से एक के रूप में, अंबुजा सीमेंट की आई कैनफिलॉस्फी अपने लोगों को लक्ष्य निर्धारित करने और उन्हें हासिल करने के लिए सशक्त बनाती है। कंपनी के मैनेजमेंट की फिलॉस्फी भी यही है और मैनेजमेंट का हमेशा यही प्रयास रहा है कि अपने कर्मचारियों को अधिक उत्पादक, कुशल और संगठन का अभिन्न अंग बनाने के लिए मजबूत बनाया जाए।

इंडिया होल्सिम के सीईओ और अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड के एमडी और सीईओ नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘हम एक ऐसा कार्यस्थल बनाने में विश्वास करते हैं जो हमारे कर्मचारियों को हर समय सर्वश्रेष्ठ काम करने के लिए प्रेरित करता है। मुझे खुशी है कि हमारे प्रयासों को हमारी दोनों ऑपरेटिंग कंपनियों-अंबुजा को नंबर 1 रैंक पर और एसीसी को नंबर 2 रैंक पर मान्यता मिली है।’’

अंबुजा सीमेंट्स ने सुपर असिस्टेड इंटेलिजेंट लर्निंग प्लेटफॉर्म जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से कर्मचारी सीखने और विकास गतिविधियों को बेहतर बनाने के लिए लगातार काम किया है। इस तरह कंपनी ने महामारी के दौरान भी अपने कर्मचारियों के लिए टैक्नोलॉजी आधारित लर्निंग को बढ़ावा देने में मदद की। इसके अलावा, अंबुजा सीमेंट्स होल्सिम इंडिया की पहल पीपल फॉर टुमॉरोके माध्यम से प्रतिभाओं को बढ़ावा दे रही है, जो अपने संयंत्रों में अग्रणी प्रतिभाओं की पहचान करने, योग्यता संबंधी गैप को दूर करने  और सक्सेशन को मैनेज करने में मदद करती है। यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि कंपनी के पास अपने औद्योगिक स्थलों पर सही भूमिका में सही योग्यता वाले सही लोग हैं।

अंबुजा सीमेंट्स ने महामारी के दौरान परिवर्तन और अनिश्चितता के माहौल में भी अपने कर्मचारियों के लिए एक सक्षम, सहायक और सुरक्षित वातावरण का निर्माण किया। इस तरह कंपनी ने अपने कर्मचारियों के कल्याण को सर्वाेच्च प्राथमिकता देते हुए उन्हें अपनी ओर से पूरा सपोर्ट दिया।

सर्वेक्षण में उन सभी क्षेत्रों की कंपनियों को स्थान दिया गया है जो अपने उद्देश्य, मूल मूल्यों और अपने लोगों के लिए मिशन को परिभाषित करते हैं। कंपनियों को अपने लिए और संगठनों के लिए सर्वश्रेष्ठ हासिल करने के लिए एक समावेशी, सक्षम वातावरण बनाने के लिए भी आंका गया था।

एलएंडटी ने डीआरडीओ के लिए रिकॉर्ड 45 दिनों में 7 मंजिला सुविधा का निर्माण किया

मुंबई, मार्च 29, 2022- लार्सन एंड टुब्रो के बिल्डिंग्स बिजनेस ने रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के लिए 7-मंजिला, अत्याधुनिक फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम (एफसीएस) इंटीग्रेशन फैसिलिटी का निर्माण कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है। लार्सन एंड टुब्रो ने इंटीग्रेटेड हाइब्रिड मॉड्यूलर कंस्ट्रक्शन टेक्नोलॉजी (आईएचएमसीटी) का उपयोग करते हुए रिकॉर्ड 45 दिन में यह निर्माण पूरा किया। इस सुविधा का उद्घाटन 17 मार्च, 2022 को माननीय कंेद्रीय रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने किया। इस अवसर पर कर्नाटक के माननीय मुख्यमंत्री श्री बसवराज बोम्मई और सचिव, रक्षा अनुसंधान एवं विकास विभाग और अध्यक्ष, डीआरडीओ डॉ जी सतीश रेड्डी की गरिमामय उपस्थिति रही।

डीआरडीओ के अध्यक्ष डॉ जी सतीश रेड्डी ने कहा, ‘‘यह सुविधा दर्शाती है कि भारत कम समय में कुछ भी बना सकता है।’’ इस प्रोजेक्ट के कॉन्सेप्ट और टैक्नीकल डिजाइन को डीआरडीओ ने विकसित किया और विस्तृत इंजीनियरिंग और इसका क्रियान्वयन एल एंड टी की टीम ने किया। आईआईटी-मद्रास और आईआईटी-रुड़की की टीमों ने डिजाइन की जांच की और तकनीकी सहायता प्रदान की।

भारतीय रक्षा की रणनीतिक क्षमताओं को आधुनिक बनाने और बढ़ाने के लिए एक महत्वपूर्ण विकास, यह सुविधा एलएंडटी के अद्वितीय एकीकृत ऑफसाइट और ऑनसाइट निर्माण दृष्टिकोण का परिणाम है। होलटाइम डायरेक्टर और सीनियर एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसीडेंट एम वी सतीश ने कहा, ‘‘हमने भारतीय निर्माण उद्योग में पहली बार उपयोग किए जाने वाली टैक्नोलॉजी आईएचएमसीटी को अपनाया और इसमें इंजीनियरों, आर्किटेक्ट्स और डिजाइनरों की एक समर्पित टीम को भी साथ लिया ताकि प्रोजेक्ट को पूरा करने में लगने वाले समय को कम किया जा सके। इसी टीम ने यह मुश्किल लगने वाला टास्क समय से पूर्व पूरा कर दिखाया। हमने 1 फरवरी, 2022 को परियोजना शुरू की, और मॉड्यूलर इंटीरियर, अग्रभाग और एमईपी सहित अधिरचना को 17 मार्च, 2022 को निर्धारित समय पर पूरा किया। इस तरह डिजाइन से डिलीवरी तक केवल 45 दिन लगे।’’

130,000 वर्ग फुट के कुल निर्मित क्षेत्र पर निर्मित, साइट टीम को डिजाइन, संरचना, वास्तुकला और एमईपी सेवाओं को एकीकृत करने के लिए 21 ऑफ-साइट स्थानों के साथ समन्वय करना पड़ा। आगे जाकर, एलएंडटी द्वारा विकसित यह हाइब्रिड निर्माण प्रणाली उत्पादकता बढ़ाने, संसाधन उपयोग को अनुकूलित करने, अपव्यय के कारण होने वाले नुकसान को कम करने और निर्माण की गति को तेज करने में मदद करेगी।

पृष्ठभूमि- लार्सन एंड टुब्रो एक भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी है जो ईपीसी प्रोजेक्ट्स, हाई-टेक मैन्युफैक्चरिंग और सर्विसेज में जुटी हुई है। यह दुनिया भर के 50 से अधिक देशों में काम करती है। एक मजबूत, ग्राहक-केंद्रित दृष्टिकोण और उच्च श्रेणी की गुणवत्ता के लिए निरंतर खोज ने एलएंडटी को पिछले आठ दशक से अपने कार्य क्षेत्र में अग्रणी भूमिका में कायम रखा है।

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...