Saturday, February 12, 2022

शनिवार को मथुरा की पारम्परिक सांझी पेपर कटिंग आर्ट पर होगी वर्कशॉप



-- सेलिब्रेटिंग इंडिया एट 75 के तहत आयोजित

-- आर्टिस्ट कम्यूनिटी ‘द सर्किल‘ के लिये निःशुल्क
-- रूफटॉप ऐप पर जुडेंगे देश भर से कलाकार
-- कोलकाता के डॉ. मंथन कुमार दास करेंगे वर्कशॉप का संचालन
जयपुर, 11 फरवरीः आर्टिस्ट कम्यूनिटी ‘द सर्किल‘ के लिये शनिवार, 12 फरवरी को शाम 5 बजे मथुरा की पारम्परिक सांझी पेपर कटिंग आर्ट पर वर्कशॉप का निःशुल्क आयोजन किया जायेगा। रूफटॉप ऐप द्वारा आयोजित एवं राजस्थान स्टूडियो द्वारा प्रस्तुत इस वर्कशॉप का आयोजन आजादी का अमृत महोत्सव - सेलिब्रेटिंग इंडिया एट 75 के तहत किया जा रहा है। इस वर्कशॉप का संचालन कोलकाता के डॉ. मंथन कुमार दास करेंगे। डॉ. मंथन कुमार दास ने बताया कि मथुरा की सांझी पेपर कटिंग आर्ट एक ऐसा अनूठा शिल्प है जिसमें कागज की कटिंग करके आकर्षक डिजाइन और मॉटिफ पैटर्न्स बनाये जाते हैं। इस प्रक्रिया में क्राफ्ट्समैन विशेष रूप से डिज़ाइन की गई कैंची का उपयोग करते हैं। लोककथाओं के अनुसार इस कला की उत्पत्ति राधाजी ने की थी। उन्होंने भगवान श्रीकृष्ण को लुभाने के लिए फूल, पत्तियों और प्राकृतिक रंगों का उपयोग करके सांझी रंगोली बनाई थी। डॉ. मंथन कुमार दास ने आगे बताया कि राधाजी का अनुसरण करके अन्य गोपियों ने भी श्रीकृष्ण को प्रभावित करने के लिए आकर्षक डिजाइन भी बनाईं थी। सांझी कला तब से ही लोकप्रिय है। मुगल काल के दौरान इस आर्ट में समसामयिक तत्वों को जोड़ा गया। हाल ही में सांझी आर्ट का उपयोग दिल्ली मेट्रो स्टेशन्स और कॉमनवेल्थ गेम्स के दौरान पिक्टोग्राम के रूप में किया गया था। उल्लेखनीय है कि डॉ. मंथन कुमार दास एक पेशेवर चिकित्सक है जो वर्तमान में मैक्सिलोफेशियल सर्जरी में एमडीएस कर रहे हैं।

No comments:

Post a Comment

इस्कान मंदिर में गीता जयंती हर्षोल्लास से मनाई गई

जयपुर। इस्कॉन, श्री श्री गिरिधारी दाऊजी मन्दिर, मानसरोवर, जयपुर में 3 दिसंबर को गीता जयंती का कार्यक्रम बड़े हर्सोल्लास से मनाया गया। ओम प्र...