Thursday, February 10, 2022

आईसीआईसीआई बैंक ने ‘इंस्टाबिज’ को बनाया इंटरऑपरेबल, डिजिटल कलेक्शन सॉल्यूशंस के साथ व्यापारियों को और अधिक सशक्त बनाने की दिशा में एक अनूठी पहल

मुंबई 10 फरवरी 2022-- आईसीआईसीआई बैंक ने आज घोषणा की कि उसने ‘इंस्टाबिज’ को इंटरऑपरेबल बना दिया है, जिससे उसके बिजनेस बैंकिंग मोबाइल ऐप का लाभ अन्य बैंकों के ग्राहकों सहित सभी व्यापारियों को उपलब्ध हो सके। अपनी तरह की इस अनूठी पहल के माध्यम से व्यापारी-किराने की दुकानों के मालिक, सुपरमार्केट, रेस्तरां, स्टेशनरी स्टोर और फार्मेसियों के मालिक- और डॉक्टरों और वकीलों जैसे पेशेवर तुरंत यूपीआई आईडी और क्यूआर कोड जैसे डिजिटल कलेक्शन सॉल्यूशंस बना सकते हैं। और इसकी सहायता से वे तुरंत ही अपने ग्राहकों से पैसा प्राप्त कर सकते हैं। वे प्वाइंट ऑफ सेल (पीओएस) डिवाइस के लिए डिजिटल रूप से भी आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा, वे केवल 30 मिनट में अपनी दुकानों को एक ऑनलाइन स्टोर में बदल सकते हैं, और एक वॉयस मैसेजिंग डिवाइस के लिए आवेदन कर सकते हैं जो भुगतान की प्राप्ति की पुष्टि करता है।

कोई भी व्यापारी, चाहे उसका आईसीआईसीआई बैंक में चालू/बचत खाता हो या न हो, गूगल प्लेस्टोर या एपल ऐप स्टोर से इंस्टाबिल ऐप डाउनलोड करके यह सॉल्यूशन हासिल कर सकता है और अपने बैंक खाते को इससे लिंक कर सकता है। इस पहल में पूरी तरह से ऑनलाइन और तत्काल केवाईसी प्रक्रिया की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है। व्यापारियों को किसी भी शाखा में जाने की जरूरत नहीं है और न ही कोई दस्तावेज अपलोड करने की जरूरत होगी। यह पहल बैंक के उन्नत एपीआई का लाभ उठाती है जो केवाईसी के सत्यापन के लिए आवश्यक पैन/आधार संख्या को तुरंत और डिजिटल रूप से मान्य करता है।

इस पहल के बारे में विस्तार से जानकारी देते बोलते हुए, आईसीआईसीआई बैंक के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री अनूप बागची ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई बैंक में हम हमेशा मानते हैं कि स्वरोजगार और एमएसएमई सेक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए मेरूदंड के समान हैं। इस सेगमेंट का एक बड़ा हिस्सा खुदरा व्यापारियों का है। हमारा प्रयास है कि पूरे देश में लगभग दो करोड़ व्यापारियों को उनके व्यवसाय को आसान बनाने वाले समाधान प्रदान करके उन्हें सपोर्ट प्रदान किया जाए। इस उद्देश्य के साथ ही सर्वप्रथम हमने ही ढाई साल पहले व्यवसायों के लिए एक मोबाइल बैंकिंग ऐप ‘इंस्टाबिज’ पेश किया था।

‘‘हम मानते हैं कि हमारे उत्पादों और सेवाओं का लाभ केवल हमारे ग्राहकों तक ही सीमित नहीं होना चाहिए, बल्कि जो दूसरों के साथ बैंकिंग करते हैं, उन्हें भी इसका लाभ उठाना चाहिए। अपने डिजिटल बैंकिंग प्लेटफॉर्म के ‘ओपन आर्किटेक्चर’ की इस फिलॉस्फी के अनुरूप, हमने पिछले साल किसी भी व्यक्ति के लिए व्यक्तिगत बैंकिंग के लिए अपना मोबाइल ऐप ‘आईमोबाइलपे’ बनाया। यह उद्योग में अपनी तरह का पहला कदम था। इसी तरह, अब हम ‘इंस्टाबिज’ की सुगमता, गति और सुरक्षा को देश के किसी भी बैंक में खाता रखने वाले व्यापारियों तक पहुंचाते हुए प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं, यह उद्योग की एक और पहल है। अब, कोई भी व्यापारी इंस्टाबिज से तुरंत डिजिटल संग्रह सेवाओं का लाभ उठा सकता है और तुरंत अपने ग्राहकों से धन एकत्र करना शुरू कर सकता है। व्यापारियों को बैंक की किसी शाखा में गए बिना अपनी केवाईसी प्रक्रिया पूरी तरह से डिजिटल और पेपरलेस तरीके से पूरी करवाने का भी लाभ मिलता है। हमें यकीन है कि यह नई और अनूठी डिजिटल पेशकश देश भर के व्यापारियों के लिए बेहद सुविधाजनक साबित होगी, क्योंकि इससे उनका कामकाज का दायरा बहुत व्यापक हो जाएगा और इस तरह वे अपने मुख्य व्यवसाय को विकसित करने के लिए और अधिक समय समर्पित कर सकते हैं।’’

किसी भी व्यापारी के लिए ‘इंस्टाबिज’ के डिजिटल कलेक्शन सॉल्यूशंस के लाभ इस प्रकार हैं--

मुख्य लाभ

ऽ तुरंत यूपीआई बनाएं- किसी भी बैंक में खाता रखने वाले व्यापारी ऐप डाउनलोड कर सकते हैं, तुरंत अपने बैंक खाते को इससे लिंक कर सकते हैं और आसानी से यूपीआई आईडी बना सकते हैं। इससे उन्हें स्टोर, होम डिलीवरी और ऑनलाइन भुगतान पर भौतिक रूप से भुगतान एकत्र करने में मदद मिलती है। यह सुविधा व्यापारी के खाते में भुगतान का तत्काल निपटान प्रदान करती है, जबकि आम तौर पर इंडस्ट्री में अगले दिन इसे क्रेडिट करने की प्रथा है।

ऽ तुरंत क्यूआर कोड बनाएं- व्यापारी तुरंत क्यूआर कोड बनाकर इसे सक्रिय कर सकते हैं और इसे किसी अन्य बैंक में अपने खाते से जोड़ सकते हैं। फिर वे विशिष्ट मात्रा में डिजिटल क्यूआर कोड उत्पन्न कर सकते हैं और इसे ग्राहकों के साथ ईमेल या मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर डिजिटल रूप से साझा कर सकते हैं। वे प्रिंट आउट भी ले सकते हैं, इसे अपने स्टोर पर रख सकते हैं और तुरंत भुगतान एकत्र करना शुरू कर सकते हैं।

ऽ पीओएस लागू करें और प्रबंधित करें- व्यापारी पीओएस के लिए ऐप के माध्यम से ही आवेदन कर सकते हैं और इसे एक दिन में प्राप्त कर सकते हैं, यदि वे प्रमुख शहरों में स्थित हैं। वे इंस्टाबिज के माध्यम से डिजिटल रूप से सेवा अनुरोध जैसे पेपर रोल के लिए इंडेंट, टर्मिनल इश्यू, ईएमआई को सक्रिय करना, अंतरराष्ट्रीय कार्ड स्वीकृति, स्टेटमेंट अनुरोध, लेनदेन की स्थिति, जीएसटी चालान आदि को डिजिटल रूप से रख सकते हैं। वे अपने पीओएस डिवाइस के सभी एप्लिकेशन की स्थिति को भी ट्रैक कर सकते हैं।

वैल्यू एडेड सेवाएं

ऽ डिजिटल स्टोर बनाएं- यह सुविधा किसी भी बैंक के व्यापारियों को ‘ईज़ीस्टोर’ मोबाइल ऐप पर डिजिटल स्टोर बनाने में सक्षम बनाती है। वे अपने डिजिटल स्टोर को डिजाइन करने के लिए 500 से अधिक आकर्षक टेम्प्लेट और कैटलॉग में से चुन सकते हैं। यह सुविधा व्यापारियों को प्रचार अभियान बनाने, चालान-प्रक्रिया, सूची और संग्रह का प्रबंधन करने में भी सक्षम बनाती है। डिजिटल स्टोर केवल चार क्लिक में सिर्फ 30 मिनट में बनाए जा सकते हैं।

ऽ यूपीआई संपर्क रहित समाधान के लिए आवेदन करें- व्यापारी त्वरित और आसान चरणों में ऐप से ही यूपीआई भुगतान के लिए काउंटर स्टैंडी/प्लाक ऑर्डर कर सकते हैं। वे सफल और असफल लेनदेन दोनों के लिए रीयल टाइम तत्काल भुगतान की पुष्टि प्राप्त करने के लिए वॉयस मैसेजिंग डिवाइस ‘ईज़ीसाउंड’ के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

ऽ लॉयल्टी प्रोग्राम- व्यापारियों को ईज़ी रिवार्ड्स प्रोग्राम भी ऑफर किया जाता है, इंडस्ट्री में एक और पहला कदम। इसके साथ, व्यापारी पीओएस/क्यूआर समाधान के माध्यम से ग्राहकों से तत्काल कैशलेस भुगतान स्वीकार करते हैं, लेनदेन के लिए पॉइंट्स प्राप्त करते हैं जिन्हें खरीदारी, वाउचर, छुट्टियों के लिए भुनाया जा सकता है।

No comments:

Post a Comment

डब्लयूटीपी पर स्टूडेंटस का ऊर्जावान फ्लैश मॉब

जयपुर। जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट , जयपुर का 16 वां राष्ट्रीय युवा उत्सव ‘ अभ्युदय -2022’ आगामी 9-10 दिसंबर को होगा। इस ...