Saturday, February 12, 2022

जेकेके में 'राजस्थानी रंगमंच- चुनौतियां एवं संभावनाएं' विषय पर संवाद कल

 आजादी का अमृत महोत्सव के तहत वरिष्ठ रंगकर्मी व तमाशा गुरू श्री वासुदेव भट्ट और अभिनेता व लेखक नवल किशोर व्यास करेंगे चर्चा

जयपुर। आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत जवाहर कला केंद्र (जेकेके) द्वारा 'राजस्थानी रंगमंच- चुनौतियां एवं संभावनाएं' विषय पर संवाद शृंखला का आयोजन शनिवार, 12 फरवरी को शाम 5 बजे से वर्चुअली किया जाएगा। इस संवाद में वरिष्ठ रंगकर्मी व तमाशा गुरू  वासुदेव भट्ट और अभिनेता व लेखक नवल किशोर व्यास राजस्थानी रंगमंच की चुनौतियों एवं संभावनाओं पर अपने विचार साझा करेंगे। सत्र का प्रसारण जेकेके के फेसबुक पेज पर किया जाएगा।

वरिष्ठ रंगकर्मी, निर्देशक व तमाशा गुरू  वासुदेव भट्ट, राजस्थान के एक संगीत लोक रूप 'जयपुर तमाशा' के एकमात्र तमाशा गुरु हैं। 1970 से उन्होंने इस अनोखे कला रूप पर कई नए तमाशा और कुछ किताबें भी लिखीं हैं। वे 1960 से थिएटर में भी कार्य कर रहे हैं। उन्होंने मणि कौल, इरफान, इला अरुण, सदाशिव अमरापुरकर, पिंचू कपूर, ओम-शिव पुरी जैसे कई प्रसिद्ध थिएटर/ फिल्म कलाकारों के साथ काम किया है। उन्हें रंगमंच, फिल्में, निर्देशन, लेखन और अभिनय के क्षेत्र में कई पुरस्कारों से नवाजा गया और सम्मानित किया जा चुका है। गुरू शिष्य परंपरा स्कीम के तहत उन्हें वेस्ट जोन कल्चरल सेंटर फॉर 'जयपुर तमाशा' द्वारा 1996 और 2017 में गुरु के रूप में भी नियुक्त किया गया था।

अभिनेता व लेखक नवल किशोर व्यास ने अंधेर नगरी चौपट राजा, आषाढ़ का एक दिन, रस गंधर्व, दुलारी बाई, गला काटने वाले का गला, चार कोट, ताजमहल का टेंडर, हमीदाबाई की कोठी, उधबुध राजा, उजबक राजा तीन डकैत जैसे नाटकों में अभिनय किया है। उन्होंने अमृता के साहिर और मैं तथा निर्मल वर्मा की तीन कहानियों पर आधारित धूप का टुकड़ा नाम से नाटकों का लेखन किया है। इसके साथ ही वे फिल्मों और फिल्मी गीतों पर अखबारों और वेब पोर्टल पर आलेख भी लिखते है। सिनेमागोई के नाम से सिनेमा के लोकप्रिय गीतों और किरदारों पर आधारित उनकी किताब प्रकाशित हो चुकी है। वर्तमान में वे मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना, जयपुर में सलाहकार, आईईसी के पद पर कार्यरत हैं।


No comments:

Post a Comment

डब्लयूटीपी पर स्टूडेंटस का ऊर्जावान फ्लैश मॉब

जयपुर। जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट , जयपुर का 16 वां राष्ट्रीय युवा उत्सव ‘ अभ्युदय -2022’ आगामी 9-10 दिसंबर को होगा। इस ...