Monday, February 28, 2022

मदर टेरेसा कॉलेज फॉर गर्ल्स में वार्षिकोत्सव का आयोजन

 





- रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की मनमोहक प्रस्तुति ने मन मोहा

नवीन कुमावत
किशनगढ़ रेनवाल। कस्बे के रिको एरिया में स्थित मदर टेरेसा कॉलेज फॉर गर्ल्स में शनिवार को वार्षिकोत्सव का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ थाना प्रभारी उमराव सिंह गुर्जर व पालिका अध्यक्ष अमित कुमार ओसवाल ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। 
शिक्षण संस्था के सह निदेशक बी.एल. ऐचरा ने बताया कि इस अवसर पर महाविद्यालय की छात्राओं के द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी गईं। जिनमें छात्र लक्ष्मी कुमावत द्वारा शानदार कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। छात्रा दिव्यांशी, वर्षा, संपत्ति, विशाखा, अभिलाषा, कोमल, पायल, निकिता, मेघा आदि ने कार्यक्रम में शानदार प्रस्तुति देकर चार चांद लगा दिए। महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ ज्योति डूडी द्वारा अतिथियों को स्मृति चिन्ह प्रदान किए। 
संस्था निदेशक आर. पी. ऐचरा ने बताया कि महाविद्यालय में एक नया प्रशिक्षण केंद्र भी प्रारंभ किया जा रहा है, जिसमें महिलाओं को स्वरोजगार उपलब्ध होगा। कार्यक्रम के दौरान आगंतुक अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट कर आभार प्रकट किया गया। कार्यक्रम में नगर पालिका उपाध्यक्ष, पार्षद धर्मेंद्र चौधरी, महेंद्र सुल्तानिया, मूलचंद महला, शंकर सोनी, व्यापार महासंघ अध्यक्ष, व्यापार महासंघ के खेमचंद भावरिया, भंवरलाल साम्भरिया (अध्यक्ष खादी ग्राम उद्योग प्रकोष्ठ कांग्रेस फुलेरा ), लक्ष्मी निवास यादव पंचायत समिति सदस्य व महाविद्यालय व्याख्याता लाल बहादुर, महेश धायल, वीरेंद्र शेखावत, सुभाष ऐचरा, शिवानी वर्मा, संतरा महला, सुरेंद्र वर्मा आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन व्याख्याता मुकेश वर्मा ने किया।

निशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर एवं रक्तदान शिविर संपन्न, 52 यूनिट रक्तदान

 


-- फ्रीडम ब्लड बैंक का आयोजन

द पब्लिक साइड
जयपुर ग्रामीण। शहर के सीकर रोड़ पर ढहर के बालाजी स्थित सालासर चाइल्ड हॉस्पिटल में रविवार को निशुल्क चिकित्सा परामर्श शिविर एवं रक्तदान शिविर का आयोजन किया जाएगा। शिविर में 52 यूनिट रक्तदान हुआ।
कंसल्टेंट फिजियोथेरेपिस्ट डॉक्टर कंचन जांगिड़ (एमपीटी न्यूरो सीडीएनटी) ने बताया कि चिकित्सा परामर्श शिविर में फिजियोथेरेपी के तहत गर्दन में दर्द, कंधे में दर्द, कमर में दर्द, घुटनो में दर्द, सर्वाइकल, स्लिप डिस्क, मांसपेशियों में चोट, लिगामेंट इंजरी, साइटिका एवं लकवा आदि से संबंधित परामर्श दिया गया। कॉस्मेटिक कंसलटेंट डॉक्टर कुसुम वर्मा ने बताया कि एक्ने, पिंपल, मेलाज्मा, रिंकल्स, डार्क सर्कल्स, स्किन डलनेस, स्किन पिगमेंटेशन, ओबेसिटी, मोटापा एवं बॉडी वेट मैनेजमेंट आदि से संबंधित परामर्श भी दिया गया। 
डॉक्टर कंचन जांगिड़ ने बताया कि इसी दौरान सुबह 9 बजे से 4 बजे तक फ्रीडम ब्लड बैंक विद्याधर नगर द्वारा हॉस्पिटल में रक्तदान शिविर भी आयोजित किया हुआ। शिविर में कुल 52 यूनिट रक्तदान हुआ। ब्लड बैंक द्वारा प्रत्येक रक्तदाता को जीवनरक्षा के लिए एक हेलमेट भी भेंट किया गया।

उपखंड पत्रकार संघ की साधारण सभा में कई प्रस्ताव पारित

 




-- रेनवाल के श्री शिरडी साईं बाबा कॉलेज सभागार में हुई मीटिंग

नवीन कुमावत
किशनगढ़ रेनवाल। उपखंड पत्रकार संघ सांभरलेक की साधारण सभा की मीटिंग रविवार को गढ़ बाजार स्थित श्री शिरडी साईं बाबा कॉलेज सभागार में हुई। जिसमें पत्रकारों के हित में निर्णय लेते हुए कई प्रस्ताव पारित किए गए। बैठक की अध्यक्षता संघ अध्यक्ष आनंद प्रकाश वर्मा ने की। साधारण सभा में क्षेत्र प्रतिनिधि अध्यक्ष के रूप में भवानीशंकर चोटिया एवं स्थानीय प्रभारी के रूप में संघ उपाध्यक्ष नवीन कुमार कुमावत तथा श्री शिरडी साईं बाबा कॉलेज संचालक रमेश बिडसर मंचासीन रहे।
सुबह 10.30 बजे सर्वप्रथम मां सरस्वती देवी की मूर्ति के समक्ष दिया जलाकर माला पहनाकर आशीर्वाद लिया गया। इसके बाद पत्रकार संघ की साधारण सभा की बैठक शुरू हुई। बैठक तीन सत्रों में संपन्न हुई। बैठक में फुलेरा, सांभरलेक, जोबनेर और रेनवाल क्षेत्र के पत्रकारों ने भाग लिया। साधारण सभा में उपखंड पत्रकार संघ के तहत पत्रकारों के हित को देखते हुए विभिन्न प्रस्ताव पारित किए गए। वहीं अनुशासन बनाए रखने और संगठनात्मक रूप से सुदृढ़ होने के लिए सर्वसम्मति से कई निर्णय लिए गए। बैठक में सभी आय-व्यय का ब्यौरा दिया गया, विभिन्न निर्णयों एवं प्रस्तावों के तहत प्रत्येक महीने कार्यकारिणी की बैठक करने, अनुशासन तोड़ने वालों, सोशल मीडिया पर संघ के विरुद्ध अनावश्यक गैर जिम्मेदाराना टिप्पणी करने वालों को हटाने, जल्द से जल्द संघ का संविधान बनाने (जहां तक संभव मार्च माह में), सांभर स्थित संघ के प्रधान कार्यालय को भामाशाहों के सहयोग से और सुंदर बनाने और आवश्यक मरम्मत करवाने, किसी भी सदस्य पत्रकार के साथ अनावश्यक रूप से किसी के द्वारा अभद्र व्यवहार करने और परेशान करने पर एकजुटता दिखाते हुए हरसंभव उच्चाधिकारियों के पास जाकर समाधान करवाने, नए और पुराने सदस्यों की फ़ीस निर्धारण, नए सदस्य बनाने आदि पर चर्चा की गई। इस बैठक में संघ अध्यक्ष आनंद प्रकाश वर्मा, उपाध्यक्ष नवीन कुमावत, वरिष्ठ पत्रकार भवानीशंकर चोटिया, महामंत्री सत्यनारायण कुमावत, कोषाध्यक्ष लक्ष्मीकांत शर्मा, मंत्री संजय कुमावत, मुरारीलाल शर्मा, मुकेश शर्मा, विनय शर्मा, बंशीलाल देवंदा, राजेंद्र प्रजापति, राजेश कुमावत, हेमंत शर्मा, राहुल शर्मा, जगदीश सब्बल, विष्णु जाखोटिया, द्वारका प्रसाद सरोज, मूलशंकर पारीक, डब्ल्यू गोस्वामी, कालीचरण सैनी और गौरीशंकर शर्मा मौजूद रहे।

Sunday, February 27, 2022

श्री कृष्ण बलराम मंदिर जगतपुरा जयपुर में श्रील प्रभुपाद आश्रय समारोह



जयपुर | श्री कृष्ण बलराम मंदिर जगतपुरा जयपुर में एक आश्रय समारोह आयोजित किया गया जिसमें सैकड़ों भक्त शामिल हुए | सभी भक्तों ने दैनिक जीवन में आध्यात्मिक गतिविधियों को जोड़ने का संकल्प लिया, इसी कड़ी में उन्होंने हरे कृष्ण महामंत्र की निश्चित मात्रा जप करने का भी संकल्प लिया | इस समारोह में उपस्थिति पूरे भारत के विभिन्न हिस्सों से ही नहीं बल्कि विश्व के कई भागों से देखने को मिली |  मंदिर के भक्तों के मार्गदर्शन और संस्थापक आचार्य श्रील प्रभुपादजी की प्रेरणा एवं भगवान श्री कृष्ण के आशीर्वाद यह सब संभव हो पाया |  मंदिर के अध्यक्ष  अमितासना दास  ने बताया कि हरे कृष्ण मूवमेंट ने जीवन में मूल्यों के असंतुलन के सही करने और दुनिया में वास्तविक एकता और शांति प्राप्त करने के लिए आध्यात्मिक जीवन की तकनीकों में सभी लोगों को शिक्षित एवं सकल्पित करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित किया | यह एक अवसर है जहां लोग अपने घर पर इन सिद्धांतों का अभ्यास करने का सकल्प करके अपने जीवन में मन की शांति प्राप्त करें और तनाव और चिंता से राहत पा सके |

जेकेके में दो दिवसीय 'संग कबीर म्यूजिक फेस्टिवल' का हुआ समापन


जयपुर।
जवाहर कला केंद्र (जेकेके) द्वारा बीकानेर की सांस्कृतिक संस्थान— लोकायन और राजस्थान कबीर यात्रा के सहयोग से आयोजित दो दिवसीय 'संग कबीर म्यूजिक फेस्टिवल' का रविवार को समापन हुआ। 'संग कबीर' का उद्देश्य सांप्रदायिक सद्भाव, आध्यात्मिकता को बढ़ाना और रचनात्मकता को प्रोत्साहित करना है। फेस्टिवल के अंतिम दिन, दर्शकों ने हिमांशु बाजपेयी, वेदांत भारद्वाज और नीरज आर्य कबीर कैफे जैसे प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा प्रस्तुतियों का आनंद लिया।

शाम की शुरुआत लखनऊ के साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता, हिमांशु बाजपेयी और चेन्नई के वेदांत भारद्वाज के 'कबीर की दास्तान-म्यूजिकल दास्तानगोई' से हुई। वेदांत भारद्वाज, प्रशंसित फीचर फिल्म- हिज फादर्स वॉयस 2019 सहित कई फीचर फिल्मों के संगीतकार के रूप में भी प्रसिद्ध हैं। दास्तानगोई उर्दू कहानी कहने की कला है जो कि 13वीं शताब्दी में उत्पन्न हुई और लखनऊ-दिल्ली क्षेत्र में प्रचलित थी। कुछ शताब्दियों बाद, यह फीकी पड़ गई। मॉर्डन 'दास्तानगो' (स्टोरीटेलर) ने 'दास्तानगोई' को एक ऐसा माध्यम बना दिया है, जिसके द्वारा वे महत्वपूर्ण सामाजिक मुद्दों के बारे में जागरूकता फैलाते हैं और पुरानी कहानियों को संगीत के रूप में सुनाते हैं। प्रस्तुति के दौरान उन्होंने कबीर के दोहे और उनकी सीख को गीतों और कहानी के माध्यम से प्रस्तुत किया।

यह फेस्टिवल नीरज आर्य कबीर कैफे द्वारा रोमांचक प्रस्तुति के साथ समाप्त हुआ। यह मुंबई का फोक फ्यूजन बैंड है जो कि कबीर के भजनों को फ्यूज़न शैली में प्रस्तुत करने के लिए जाने जाते हैं और युवाओं के बीच काफी प्रचलित हैं। बैंड में प्रस्तुति देने वालों में नीरज आर्य (लीड वोकल्स और रिदम गिटार), विक्रम और वीरेन सोलंकी (पर्कशंस और ड्रम), मुकुंद रामास्वामी (वायलिन), और पूबुआनपो ब्रिटो केसी (बास गिटार और बैकिंग वोकलिस्ट) और पीयूष आचार्य (हार्मोनियम) शामिल थे। . अपनी प्रस्तुति के माध्यम से, उन्होंने सुनिश्चित किया कि कबीर दास के छंद न केवल पुराने दोहो में, बल्कि पॉप, रॉक, रेगे और सामयिक कार्नेटिक संगीत के माध्यम से दुनिया के अन्य हिस्सों तक भी पहुंचें।
संग कबीर आर्ट सर्किल
संग कबीर आर्ट सर्किल के एक भाग के रूप में दर्शन सिंह द्वारा 'एक्सप्लोरिंग स्पीच एंड साउंड' पर एक सत्र आयोजित किया गया था। सत्र में, लोगों ने 'कबीर वाणी' के माध्यम से ध्वनि कंपन की यात्रा में खुद को तल्लीन करना सीखा और अपने अस्तित्व की उपस्थिति का अनुभव किया।
ड्रम सर्किल
इसी तरह, कला क्यूरेटर, कवि और कलाकार, मनु द्वारा 'ड्रम सर्किल' में दर्शकों ने एक साथ ड्रम बजाया और दिल खोलकर डांस किया। दर्शकों ने एक सर्किल में खड़े होकर रिदम पर मजेदार गेम्स खेले।

Saturday, February 26, 2022

टाटा एआईए लाइफ ने बिज़नेस में बेहतरीन प्रदर्शन की परंपरा को वित्तीय वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में भी कायम रखा

मुंबई 26 फरवरी 2022:  भारत की एक सबसे तेज़ी से आगे बढ़ती हुई जीवन बीमा कंपनी टाटा एआईए लाइफ इन्शुरन्स कंपनी लिमिटेड (टाटा एआईए लाइफ) ने वित्तीय वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में 1,193 करोड़ रुपयों का इंडिविजुअल वेटेड न्यू बिज़नेस प्रीमियम (आईडब्ल्यूएनबीपी) दर्ज किया है, वित्तीय वर्ष 2021 की अपेक्षा (831 करोड़ रूपए) इसमें 44% की वृद्धि हुई है।  दिसंबर 2021 को समाप्त हुए नौ महीनों में इस कंपनी ने 2,786 करोड़ रुपयों की आईडब्ल्यूएनबीपी आय के साथ पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में (2,110 करोड़ रूपए) 32% वृद्धि हासिल की है।

वित्तीय वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में कुल प्रीमियम आय 3,652 करोड़ रुपये दर्ज की गयी। पिछले वर्ष की तुलना में (2,766 करोड़ रूपए) इसमें 32% की वृद्धि हुई है। दिसंबर 2021 को समाप्त हुए नौ महीनों में इस कंपनी की कुल प्रीमियम आय 8,907 करोड़ रुपयों तक बढ़ी है, वित्तीय वर्ष 2021 यह आय 7,035 करोड़ रूपए थी, इसमें 27% की वृद्धि हुई है।

टाटा एआईए लाइफ ने वित्तीय वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में 89% वृद्धि के साथ रिटेल सुरक्षा उद्यम में अपनी उत्कृष्टता को मज़बूत किया है। रिटेल बीमा की रकम के संदर्भ में निजी जीवन बीमा कंपनियों में टाटा एआईए लाइफ पहले स्थान पर थी। वित्तीय वर्ष 2021-22 की तीसरी तिमाही में रिटेल बीमा की रकम पिछले वित्तीय वर्ष की तीसरी तिमाही की तुलना में 148% से बढ़ी और 102520 करोड़ रूपए हुई और कंपनी का मार्केट शेयर 13.1% से 25.4% तक बढ़ा है।

कंपनी ने भारी मात्रा में पर्सिस्टंसी वृद्धि को कायम रखा है। वित्तीय वर्ष 2022 की तीसरी तिमाही में कंपनी का तेरहवें महीने का पर्सिस्टंसी रेशो 86.68% था।  पिछले वर्ष में यह रेशो 85.38% था।

31 दिसंबर 2021 के आंकड़ों के अनुसार, प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियों में (55492 करोड़ रूपए) पिछले वर्ष की तुलना में (43033 करोड़ रूपए) 29% की वृद्धि हुई है।  अपने पॉलिसीधारकों के लिए दीर्घकालिक लाभ निर्माण के लिए स्थिर आय वृद्धि करने वाली कंपनियों पर ध्यान केंद्रित करके बॉटम-अप स्टॉक चयन करके पोर्टफोलियो बनाने के टाटा एआईए के निवेश सिद्धांतों की वजह से यह संभव हो पाया है। अग्रणी फंड रेटिंग एजेंसी मॉर्निंगस्टार* ने टाटा एआईए लाइफ के रेटेड एयूएम  सालों के रेटिंग पर 4 स्टार या 5 स्टार दिए हैं। 31 मार्च 2021 के आंकड़ों के अनुसार, टाटा एआईए लाइफ द्वारा प्रबंधित 99.93% परिसंपत्तियों को 5 सालों के रेटिंग पर 4 स्टार या 5 स्टार दिए गए थे।  मॉर्निंगस्टार* ने इसी अवधि में इनमें से 82% परिसंपत्तियों को 5 स्टार रेटिंग दिया था।

टाटा एआईए लाइफ के एमडी और सीईओ श्री नवीन तहिलयानी ने इस प्रदर्शन पर टिपण्णी करते हुए कहा, "21 साल पहले अपनी शुरूआत से ही टाटा एआईए लाइफ ने आसान, पारदर्शी उत्पाद, ग्राहककेंद्री सेवाएं और बीमा दावों के निपटान में बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए ग्राहकों के मन में भरोसेमंद जीवन बीमा आपूर्तिकर्ता कंपनी यह पहचान कायम की है। लगातार सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन का जज़्बा, ग्राहकों के प्रति अपनेपन की वजह से हम वर्तमान चुनौतियों के होते हुए भी हमारे ग्राहकों और हितधारकों के लिए सर्वोत्तम मूल्य प्रदान करने की यात्रा को लगातार आगे बढ़ा रहे हैं।"    

टाटा एआईए लाइफ ने हाल ही में भारत के 18 राज्यों में डिजिटल रूप से सक्षम 100 नई शाखाएं शुरू की हैं। वितरण और प्रत्यक्ष ग्राहक संपर्क केंद्रों के विस्तार की रणनीति के तहत यह महत्वाकांक्षी कदम उठाया गया है। इन सभी शाखाओं में डिजिटल सुविधाएं और प्रक्रियाएं लागू की गई हैं, इसलिए ग्राहक सेवा बिना किसी सीधे संपर्क के प्रदान की जाती है और कामकाज बिना दस्तावेज़ों के किया जा सकता है। ग्राहक वीडियो कॉल के माध्यम से शाखा के कर्मचारियों से संपर्क कर सकते हैं या यदि वे स्वयं शाखा में जा रहे हैं तो वांछित सेवाएं प्राप्त करने के लिए या अपने प्रश्नों के समाधान के लिए स्वयंसेवी डिजिटल कियोस्क का उपयोग कर सकते हैं। भौतिक शाखाओं के इस प्रकार के डिजिटलीकरण से फिज़िकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करने में भी मदद मिलेगी।

डिजिटल संदर्भ में, कंपनी अपने ग्राहकों को एक सहज सेवा अनुभव प्रदान करने के लिए अपनी ऑनलाइन उपस्थिति को मजबूत करने सहित कई अन्य पहलों को भी लागू कर रही है। पिछली तिमाही में, कंपनी ने अपने पोर्टल में सुधार किए हैं, जिससे ग्राहकों को उनकी पॉलिसीज़ के बारे में सभी जानकारी आसानी से प्राप्त करने के लिए एक सरल, उपयोग में आसान प्लेटफॉर्म प्रदान किया गया है। ग्राहकों की सुविधा के लिए कंपनी ग्राहकों की पसंद के चैनलों पर कई अन्य सुविधाजनक डिजिटल साधन उपलब्ध कराने के लिए प्रयासशील है।  

मुथूट फाइनेंस ने लॉन्च किया ‘सुनहरी सोच सीजन -2’, ओनली ऑन रेड एफएम 93.5 पर

मुंबई, 26 फरवरी, 2022- पिछले साल ‘सुनहरी सोच’ के पहले सीज़न के सफल होने के बाद, मुथूट फाइनेंस अब प्रस्तुत करता है, ‘सुनहरी सोच सीज़न 2’ - आम लोगों की जिंदगी से जुड़ी और वास्तविक जीवन की 5 ऐसी प्रेरक कहानियों का संकलन, जिन्होंने मुथूट फाइनेंस से गोल्ड लोन लेकर अपने सपनों को साकार किया। इस वर्ष की सुनहरी सोच का विषय है ‘आत्मनिर्भरता’ और इसी थीम के आधार पर सुनहरी सोच सीजन-2 आपके लिए आम लोगों की कामयाबी की अनगिनत कहानियों में से सफलता की 5 कहानियां लेकर आया है। ये ऐसे लोग हैं, जिन्होंने मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन की मदद से आत्मनिर्भर और सफल व्यवसायी बनने का अपना सफर पूरा किया है।

लाखों अन्य भारतीयों को आत्मनिर्भर बनने और जीवन में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा देने के उद्देश्य से इन कहानियों को बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री माधुरी दीक्षित नेने पेश करने जा रही हैं, जो पहली बार एक नए अवतार में नजर आएंगी। ‘सुनहरी सोच सीजन -2’ का प्रसारण सिर्फ सुपरहिट्स रेड एफएम 93.5 पर होगा।

मुथूट ग्रुप और रेडएफएम के आधिकारिक यूट्यूब चैनलों के साथ www.sunherisoch.com पर भी कहानियों को एनिमेटेड वीडियो की एक श्रृंखला के माध्यम से दिखाया जा रहा है। रेड एफएम के टॉप आरजे की आवाज में प्रस्तुत सुनहरी सोच गान के साथ अभियान शुरू किया जा रहा है, जो ऐसे प्रेरक लोगों के साहस को सलाम करता है, जिन्होंने सबसे चुनौतीपूर्ण समय में भी सफलता हासिल की।

अभियान के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए मुथूट ग्रुप के जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर अलेक्जेंडर जॉर्ज मुथूट ने कहा-

‘‘मुथूट फाइनेंस में, हमारा उद्देश्य हमेशा समाज के सभी वर्गों, विशेष रूप से सीमित साधनों वाले लेकिन असीमित आकांक्षाओं वाले लोगों के लिए सहायता और वित्तीय समाधान प्रदान करना रहा है। आज तक, हमने करोड़ों ऐसे भारतीयों को बड़ी सफलता हासिल करते हुए देखा है, जिन्होंने मुथूट फाइनेंस से गोल्ड लोन प्राप्त करके अपने सपनों को साकार किया है। ‘सुनहरी सोच’ उनके दृढ़ निश्चय, अटूट फोकस और सरासर मेहनत को सलाम करने का एक प्रयास है। यह अभियान इन आम लोगों की जबरदस्त कहानियों को उजागर करने का हमारा प्रयास है। यह सच्चे धैर्य, संकल्प, बाधाओं से लड़ने और अपने सपनों को साकार करने के लिए गोल्ड लोन का उपयोग करने की वास्तविक जीवन की कहानियों का संकलन है। हम सुनहरी सोच के इस सीजन के लिए माधुरी दीक्षित नेने के साथ जुड़कर भी बहुत खुशी का अनुभव कर रहे हैं।’’

सुनहरी सोच सीजन 2 के बारे में आगे बात करते हुए मुथूट ग्रुप के जनरल मैनेजर-मार्केटिंग एंड स्ट्रेटेजी अभिनव अय्यर ने कहा-

‘‘सुनहरी सोच दरअसल आम लोगों की कामयाबी का एक जश्न है, यह ऐसी कामयाबी है जिसे मुथूट फाइनेंस ने संभव बनाया है। पिछले साल सीजन-1 के लिए मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया से उत्साहित होकर, हमने रेडएफएम के साथ साझेदारी करते हुए सीजन-2 को फिर से लॉन्च करने का फैसला किया। इस सीजन में, हम ऐसे आम भारतीयों की उपलब्धियों की कहानियों को प्रदर्शित कर रहे हैं, जिन्होंने मुथूट फाइनेंस की ओर से समय पर मिली मदद से आत्म-विश्वास के माध्यम से आत्म-निर्भरता की ओर कदम बढ़ाया और सफलता हासिल की। सुनहरी सोच श्रृंखला के माध्यम से, हम लाखों अन्य भारतीयों को भी आत्मनिर्भरता के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करना चाहते हैं। इन प्रेरक कहानियों को बॉलीवुड अभिनेत्री माधुरी दीक्षित नेने ने बेहद खूबसूरती के साथ पेश किया है और इस तरह दर्शक और श्रोता उन्हें एक नए अवतार में पहली बार रेडियो पर सुन रहे हैं!’’

मुथूट फाइनेंस के साथ अपने जुड़ाव का जिक्र करते हुए माधुरी दीक्षित नेने ने कहा-

‘‘मुथूट फाइनेंस और उनके सुनहरी सोच सीजन 2 अभियान से जुड़कर मुझे बेहद खुशी है। मुझे यह जानकर बहुत अच्छा लगा कि किस तरह मुथूट फाइनेंस गोल्ड लोन ने लाखों लोगों को वित्तीय सहारा देकर उन्हें अपने सपनों को साकार करने के काबिल बनाया है। मुझे यकीन है कि ग्राहकों की ये वास्तविक जीवन की कहानियां दूसरों को सफलता हासिल करने और आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित करेंगी।’’

इस प्रोग्राम के बारे में और अधिक जानकारी देते हुए निशा नारायणन, डायरेक्टर और सीओओ, रेड एफएम और मैजिक एफएम ने कहा-

‘‘रेडियो की सबसे बड़ी ताकत यह है कि इसका प्रसारण हाइपर-लोकल मार्केट तक बड़े पैमाने पर पहुंचता है और यह स्वाभाविक है कि मुथूट फाइनेंस अपने लक्षित दर्शकों तक पहुंचने और जुड़ाव बनाने के लिए इस ताकत का लाभ उठा रहा है। रेड एफएम 93.5 पर सुनहरी सोच सीजन-2 को लॉन्च करने के लिए मुथूट फाइनेंस के साथ एक बार फिर साझेदारी कर हमें बेहद खुशी हो रही है। गोल्ड लोन की ताकत दिखाने के लिए रेड एफएम के विशाल श्रोता आधार तक पहुंचने का विचार है। इस अभियान के लिए हमने डिजिटल के साथ डायनेमिक ऑडियो नेरेटिव्स पर खास तौर पर फोकस किया है।’’

घोषणा पर टिप्पणी करते हुए रुचि माथुर, सीनियर वीपी, माइंडशेयर ने कहा-

‘‘सुनहरी सोच के पहले सीजन ने ऐसे समय में उम्मीदों और प्रेरणा का उजाला फैलाया था, जब हम लोगत अपने सबसे कठिन दौर से गुजर रहे थे। हमारी कहानियाँ लाखों श्रोताओं तक पहुँचीं और उनका जीवन बदलने लगा। सुनहरी सोच 2.0 इसे एक कदम आगे ले जाती है और बड़े समाज में बदलाव लाने के लिए एक प्रोत्साहन है। मुथूट फाइनेंस के साथ साझेदारी करके हमें गर्व हो रहा है क्योंकि वे भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अपनी यात्रा पर निकल पड़े हैं।’’

मुथूट फाइनेंस के बारे में

मुथूट फाइनेंस द मुथूट ग्रुप की प्रमुख कंपनी है जिसमें 20 विविध बिजनेस डिवीजन हैं। ब्रांड ट्रस्ट रिपोर्ट के अनुसार मुथूट फाइनेंस भारत की सबसे बड़ी गोल्ड लोन एनबीएफसी और भारत का नंबर 1 मोस्ट ट्रस्टेड फाइनेंशियल सर्विसेज ब्रांड है। यह एक प्रतिष्ठित ‘सिस्टेमेटिकली इम्पॉर्टेन्ट नॉन-डिपॉजिट टेकिंग एनबीएफसी’ है। मुख्य व्यवसाय के हिस्से के रूप में, मुथूट फाइनेंस अत्यधिक सस्ती दरों और अद्भुत उत्पाद सुविधाओं पर घरेलू स्वर्ण आभूषणों के आधार पर सुरक्षित ऋण प्रदान करता है। विश्व स्तर पर समूह की मौजूदगी संयुक्त राज्य अमेरिका, ब्रिटेन, यूएई, कोस्टा रिका, नेपाल और श्रीलंका जैसे देशों में है।

data.ai (पूर्व नाम ऐप एनी) के अनुसार "ब्रेकआउट्स डाउनलोड्स"के आधार पर इक्सिगो ट्रेन ऐप्प एंड कंफर्म टिकट फीचर को दुनिया भर (एएमईआर, एपीएसी और ईएमईए) के टॉप10 ट्रैवल ऐप्स के बीच जगह मिली

नई दिल्ली, 26 फरवरी 2022: data.ai (पूर्व नाम ऐप एनी) के 'स्टेट ऑफ मोबाइल 2022' की नई रिपोर्ट के अनुसार, इक्सिगो ट्रेन्स ऐप 2021  में दुनिया भर में (एएमईआर, एपीएसी और ईएमईए)'ब्रेकआउट डाउनलोड्स'के आधार पर आईओएस ऐप्प स्टोर और गूगल प्ले स्टोर पर टॉप 10 ट्रैवल ऐप्स में #7 वें स्थान पर रहा। आगे, कन्फर्म टिकट (जिसे इक्सिगो द्वारा पिछले साल अधिग्रहित किया गया) रैंकिंग में #9वें स्थान पर रहा।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2021 में वैश्विक ऐप डाउनलोड वृद्धि में उभरते बाजारों का दबदबा रहा। भारत में असाधारण डाउनलोड और उपयोग देखा गया, डाउनलोड के मामले में यह #2रे रैंक पर रहा और ऐप्स के उपयोग में बिताये घंटों के आधार पर 'टॉप 20 मोबाइल मार्केट' सूची में शामिल रहा।

रिपोर्ट यह भी संकेत देती है कि यात्रा वृद्धि दुनिया भर मेंमहामारी के पूर्व के स्तर पर पहुँच रही है, और 2021 की दूसरी छमाही में मोबाइल पर यात्रा के लिए सकारात्मक रुझान दिखे। जुलाई - दिसंबर 2021 के दौरान दूसरी छमाही में ट्रैवल ऐप्स के डाउनलोड्स में 20% की वृद्धि के साथ इसमें सकारात्मक प्रतिक्रिया देखी गयी। भारत ने महामारी-पूर्व के स्तर की तुलना में यात्रा वृद्धि में भी सकारात्मक बढ़ोत्तरी देखी, वर्ष 2019 की दूसरी छमाही की तुलना में वर्ष 2021 की दूसरी छमाही में ट्रैवल और नेविगेशन ऐप्स के डाउनलोड्स में 5% की वृद्धि हुई।

ऐप एनी के मुताबिक, इक्सिगो ट्रेन्स ऐप्प वर्ष 2021 की पहली तिमाही में दुनिया का10वां सबसे अधिक डाउनलोड किया जाने वाला यात्रा और नेविगेशन ऐप था।बीते समय में, कंपनी ने अपने 100% एआई-संचालित, व्यक्तिगत यात्रा सहायक- तारा (TARA), सिरी शॉर्टकट्स और संवर्धित रियलिटी फीचर सहित एआई (AI) और बड़े डेटा-आधारित फीचर्स लॉन्च किये हैं, जिससे देश भर के ट्रेन यात्रियों को विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर अपनी कोच की स्थिति का पता लगाना आसान हो गया है। इस ट्रैवल ऐप ने यात्रियों के लिए ऑफलाइन मोड फीचर भी लॉन्च किया है ताकि वो इंटरनेट न होने पर भी रियल-टाइम आधार पर ट्रेन की स्थिति जान सकें। इक्सिगो, अपने इक्सिगो ट्रेन्स मोबाइल ऐप  के जरिए समाचार, गेम, वीडियो और अन्य मनोरंजन पेशकशों को उपलब्ध कराता है। इक्सिगो मोबाइल ऐप्स भारत की 8 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्ध है।

कंपनी की नवीनतम उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए, इक्सिगो के सह-संस्थापक और ग्रुप सीपीटीओ, रजनीश कुमार ने कहा, "दुनिया भर में (एएमईआर, एपीएसी और ईएमईए) 'ब्रेकआउट डाउनलोड्स' के आधार पर टॉप-10 ट्रेन ऐप्स में शामिल एकमात्र प्रमुख भारतीय ओटीए होने पर हमें गर्व है। हमारे दो ऐप्स  को सूची में शामिल किया गया है। अगले अरब उपयोगकर्ताओं पर हमारे ध्यान के अनुरूप, हमने गैर-टियर I शहरों के यात्रियों को लक्षित करते हुए कई मार्केटिंग अभियान तैआर किए हैं। भारत में यात्रा और इंटरनेट के बुनियादी ढांचे के समग्र सुधार के साथ, और टियर I से टियर II यात्रा खंड भारतीय यात्रा उद्योग के विकास का वाहक है। ऐसे में, हमें नॉन-टियर शहरों के बीच और वहाँ से जाने-आने की यात्राओं में वृद्धि का अनुमान है, जिससे ट्रेन, फ्लाइट, बस और होटल बुकिंग्स में बढ़ोत्तरी होगी।"

आगे बताते हुए, कन्फर्म टिकट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, दिनेश कोठा ने कहा, "ट्रेन यात्रियों के लिए ऑनलाइन ट्रेन बुकिंग सेगमेंट में सबसे बड़ा भारतीय ओटीए होने के नाते हमें अपने उपयोगकर्ताओं और पारिस्थितिकी तंत्र के बीच विश्वास और मौखिक प्रचार-प्रसार से खुद को बढ़ाने में मदद मिली है। हमें अनुमान है कि यात्रा प्रतिबंधों में ढील और पिछले दो वर्षों में यात्रा से वंचित यात्रियों के बीच विश्वास की वापसी के साथ इस क्षेत्र को भारी अनुकूलता से लाभ होगा।

Friday, February 25, 2022

पहली बार 2 ½ डी एनिमेशन फिल्म- नंदी-द सेवियर- ने अभिनेता/फिल्म निर्माता की घोषणा की: सुनील प्रेम व्यास


मुंबई: क्या आपने पहले 2 ½ डी एनिमेशन फिल्म के बारे में सुना है? नहीं, मैं ऐसा नहीं मानता। सुनील प्रेम व्यास ने आगामी एनीमेशन फिल्म, नंदी - द सेवियर को पेश करके आपके लिए एक पावरपैक सरप्राइज दिया है, जो भारतीय पौराणिक कथाओं से प्रेरित है, लेकिन आधुनिक समय में स्थापित है और भारत की एक अभूतपूर्व सुपरहीरो फिल्म होगी। इसमें एक मनोरम कहानी है जो आपको अपनी स्क्रीन से बांधे रखेगी। सुनील एक बहु-प्रतिभाशाली अभिनेता / फिल्म निर्माता हैं, जिन्होंने कई पुरस्कार विजेता फीचर फिल्में बनाई हैं। वह एक युवा उपलब्धि है जिसने 17 साल की उम्र में दर्पण थिएटर समूह के साथ शुरुआत की थी। उनकी सबसे अच्छी रचनाओं में से एक टेक इट इज़ी है जिसे 8.2 आईएमडीबी रेटिंग के साथ दुनिया भर में सभी ने पसंद किया था।

हरियाणा के एक छोटे से शहर के रहने वाले सुनील प्रेम व्यास ने जॉर्ज बर्नार्ड शॉ, विजय तेंदुलकर, रत्नाकर, मटकारी, मोलिरे, महेश एलकुंचवार और सुनील प्रेम व्यास सहित प्रमुख लेखकों के लगभग 17 नाटकों का मंचन किया है। दर्पण थिएटर ग्रुप अंततः दर्पण थिएटर सिने आर्ट्स (डीटीसीए) बन गया, एक फिल्म निर्माण फर्म जिसे द आर्टिस्ट इन (कान्स फेम), गलती से गलती हो गई, और गांधी की जमीन पर सहित फिल्मों के लिए जाना जाता है। उन्होंने 45 मिनट की एक लघु फिल्म में भी अभिनय किया और लिखा, जिसे भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ ए.पी.जे. अब्दुल कलाम।
जैसा कि ऊपर बताया गया है कि इस एनिमेशन फिल्म नंदी-द सेवियर पौराणिक कथाओं से प्रेरित है लेकिन इसका आधार समकालीन समय में स्थापित है। लेखक-निर्देशक सुनील प्रेम व्यास कहते हैं कि आज के समय में पृथ्वी पर नंदी जैसे पौराणिक पात्रों के इर्द-गिर्द एक काल्पनिक सुपरहीरो फिल्म बनाना एक आकर्षक अनुभव है।
तकनीकी पहलुओं और 2½डी एनिमेशन की इस नई शैली के बारे में बात करते हुए सुनील आत्मविश्वास से भरी मुस्कान के साथ बोलते हैं कि “मैं हमेशा कहानी कहने के नए विचारों को बनाने का इरादा रखता हूं। इस बार ऐसा हुआ कि मैंने इस एनीमेशन फिल्म को बनाने के लिए अपने थिएटर समूह के अभिनेताओं के कौशल का उपयोग करने का फैसला किया, मूल चुनौती उन्हें एनिमेटेड पात्रों की तरह दिखने और व्यवहार करने की थी और लगातार बढ़ती तकनीक की मदद से, ए। रचनात्मक बॉडी लैंग्वेज वर्कशॉप के माध्यम से हम फीचर फिल्म बनाने और एनीमेशन के इस अपरंपरागत तरीके को पूरा करने और अग्रणी बनाने में सक्षम थे। थिएटर में मेरी पृष्ठभूमि के लिए धन्यवाद। हम चलती छवियों के साथ एक 2डी ग्राफिक उपन्यास रूप बनाने में सक्षम थे, जबकि कहानी कहने का उपचार 3 डी में बना रहा क्योंकि हमने अपनी इच्छित अपेक्षाओं से मेल खाने के लिए विशेष मेकअप और वेशभूषा के साथ लाइव अभिनेताओं के साथ शूटिंग की और फिर पूरी प्रक्रिया में हमने एक नई शैली बनाई 2½D एनिमेशन मूवी जिसमें लुक 2D है लेकिन ट्रीटमेंट 3D है और ऐसे ही 2 ½D” ओटीटी और सैटेलाइट रिलीज के बाद यह फिल्म इस साल जल्द ही सिनेमाघरों में दस्तक देने के लिए तैयार है।

यूटीआई वैल्यू अपॉर्च्युनिटीज़ फंड – पूरे मार्केट कैप में अवसरों का लाभ उठाने वाला फंड

वित्तीय विशेषज्ञ अक्सर सलाह देते हैं कि, निवेशकों को ऐसे फंड्स में निवेश करना चाहिए जो मार्केट्स के लगभग पूरे स्पेक्ट्रम में निवेश करते हैं, दूसरे शब्दों में कहा जाएं तो वे डाइवर्सिफाइड फंड्स में निवेश करने की सलाह देते हैं। लार्ज कैप फंड्स बाज़ार पूंजीकरण के 80-85% को कवर करते हैं, इसकी वजह से किसी भी निवेशक का उनकी ओर आकर्षित होना स्वाभाविक है। भले ही लार्ज कैप फंड्स व्यापक बाज़ारों/सूचकांकों का प्रतिनिधित्व करते हैं, लेकिन निवेशकों को यह बात समझनी होगी कि, ये फंड्स पूरे स्पेक्ट्रम में उपलब्ध अवसरों को हमेशा प्रतिबिंबित या कैप्चर नहीं करते हैं। इस स्पेक्ट्रम में विभिन्न बाजार पूंजीकरण, विभिन्न निवेश दृष्टिकोण (वृद्धि बनाम मूल्य) या यहां तक कि, समग्र बाजारों के कुछ क्षेत्रों में चक्रीयता के अवसर भी शामिल हो सकते हैं। यह विसंगति या विभिन्न मार्केट डायनामिक्स फंड मैनेजरों को बाजार पूंजीकरण स्पेक्ट्रम और निवेश शैलियों में अनोखे अवसरों का लाभ उठाने के लिए व्यापक क्षेत्र प्रदान करते है और साथ ही यह भी सुनिश्चित करते है कि, सापेक्ष पोर्टफोलियो जोखिम कम हो।

यूटीआई वैल्यू अपॉर्च्युनिटीज़ फंड एक ऐसा फंड है, जो ऐसे अवसरों की खोज करता है जिन्हें संबंधित स्टॉक के सापेक्ष आंतरिक मूल्य के संदर्भ में व्यक्त किया जाता है, इसका अर्थ है निवेश के "मूल्य" स्टाइल का अनुसरण करना और पूरे बाज़ार पूंजीकरण स्पेक्ट्रम में निवेश करना। इसमें "मूल्य" का मतलब चीज़ों को उनके आतंरिक मूल्य से कम में खरीदना होता है। आंतरिक मूल्य केवल नकदी प्रवाह का वर्तमान मूल्य है, जो कंपनी अपने शेयरधारकों के लिए समय की अवधि में उत्पन्न करती है। अंडरवैल्यूड व्यवसाय स्पेक्ट्रम के दोनों सिरों पर पाए जा सकते हैं। एक तरफ, बाजार प्रतिस्पर्धी लाभों की स्थिरता और/या कंपनी के लिए विकास पथ की लंबाई को कम समझ सकता है। ये कंपनियां चक्रीयता के मानदंड का उल्लंघन करती हैं। स्पेक्ट्रम के दूसरे सिरे पर ऐसी कंपनियां हैं जो चक्रीय कारकों, पर्यावरण में बदलाव या अपने ही पिछले कामों के कारण चुनौतियों का सामना कर रही हैं। लेकिन अगर मुख्य व्यवसाय मज़बूत है और बेहतर भविष्य (नकदी प्रवाह, रिटर्न अनुपात) का मार्ग दिखाई दे रहा है, तो उनका घटाया हुआ मूल्यांकन एक आकर्षक प्रवेश बिंदु प्रदान करता है। दोनों ही मामलों में उम्मीदों के सापेक्ष सस्ते में खरीदारी का अवसर है।

यूटीआई वैल्यू अपॉर्चुनिटीज फंड को वर्ष 2005 में शुरू किया गया था। फंड का एयूएम 6700 रुपयों से अधिक और यूनिट होल्डर खातों की संख्या 4.68 लाख से ज़्यादा है। पोर्टफोलियो में लार्ज कैप बायस होगा; मूल्यांकन के अंतर के आधार पर मिडकैप एक्सपोजर अधिक व्यापक रूप से अलग-अलग हो सकता है। 31 जनवरी, 2022 तक फंड ने लार्ज कैप में लगभग 64% निवेश किया है और शेष निवेश मिड और स्मॉल कैप में किया है। इस योजना की शीर्ष होल्डिंग में आईसीआईसीआई बैंक लिमिटेड, इन्फोसिस लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक लिमिटेड, एक्सिस बैंक लिमिटेड, भारती एयरटेल लिमिटेड, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया लिमिटेड, आईटीसी लिमिटेड, टेक महिंद्रा लिमिटेड, आयशर मोटर्स लिमिटेड और एस्कॉर्ट्स लिमिटेड शामिल हैं, जिनकी पोर्टफोलियो में हिस्सेदारी 46% है।

यूटीआई वैल्यू अपॉर्चुनिटीज फंड उन इक्विटी निवेशकों के लिए उपयुक्त हो सकता है जो अपना इक्विटी पोर्टफोलियो बनाना चाहते हैं और लंबी अवधि में पूंजी वृद्धि चाहते हैं। यह मध्यम जोखिम-प्रोफाइल वाले निवेशकों के लिए भी उपयुक्त है, जो मध्यम से लंबी अवधि में उचित लाभ चाहते हैं। यह लाभ प्राप्त होना, न होना बाज़ार जोखिमों के अधीन है।

 

वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन के ‘जादू गिन्नी का’ वित्तीय साक्षरता प्रोग्राम ने सीएससी ग्रामीण स्तर के उद्यमी गोकुल चंद सैनी को सक्षम बनाया, सैनी ने राजस्थान के अलवर ज़िले में 1.25 लाख से अधिक ग्रामीणों को शिक्षित किया

अलवर 25 फरवरी 2022 . 36 वर्षीय गोकुल चंद सैनी राजस्थान के अलवर ज़िले से हैं। वे पॉलिटिकल साइंस और ज्योग्राफी में पोस्ट-ग्रेजुएट डिप्लोमा हैं और उन्होंने सोशल वर्क में मास्टर्स किया है। सैनी ने सरकारी नौकरी के साथ अपना करियर शुरू किया। हालांकि जल्द ही उन्होंने इस नौकरी से इस्तीफ़ा दे दिया क्योंकि वे समाज सेवा करना चाहते थे।

सीएससी एकेडमी के साथ एसोसिएशन
सैनी 2015 में इलेक्ट्रोनिक्स एवं आईटी मंत्रालय के तहत सीएससी एकेडमी में शामिल हो गए, जहां उन्हें डिजिटल एवं वित्तीय साक्षरता पर आधारित विभिन्न प्रोग्रामों के बारे में पता चला। उन्हें लगा कि यह उनके जुनून को पूरा करने के लिए सही मंच है और उन्होंने ग्रामीण स्तरीय उद्यमियों के सीएससी नेटवर्क में अपना पंजीकरण करवा लिया। उचित प्रशिक्षण पाने के बाद सैनी ने अलवर के बंसूर के आस-पास महिला स्वयं-सहायता समूहों के लिए ने डिजिटल वित्तीय साक्षरता प्रोग्राम में अपना पहला प्रोजेक्ट किया।

उनके सामने आई चुनौतियां
गांवों में अपने दौरे के दौरान उन्होंने पाया कि ग्रामीणों, खासतौर पर महिलाओं को कई वित्तीय चुनौतियों का सामना करना पड़ता है और वे धन प्रबन्धन के बारे में नहीं जानती हैं। उन्होंने ऐसी महिलाओं की कहानियां सुनी थी जिन्होंनें अपने बच्चों को पढ़ाने और अन्य ज़रूरतों के लिए ऋण लिए थे। लेकिन समय पर पैसा नहीं चुकाने के कारण उन्हें धमकाया जा रहा था। हालांकि सैनी इन चुनौतियों से घबराए नहीं और मजबूत इरादे के साथ उन्होंने ग्रामीण इलाकों में वित्तीय समावेशन को बढ़ावा दिया।

‘जादू गिन्नी का’ के साथ वित्तीय साक्षरता
पिछले सात सालों में वीएलई के रूप में अपनी यात्रा के दौरान सैनी ने वोडाफोन आइडिया के ‘जादू गिन्नी का’ प्रोग्राम के ज़रिए वित्तीय साक्षरता पर ध्यान केन्द्रित किया और वित्तीय प्रबन्धन की आवश्यकता के बारे में जागरुकता फैलाई। ‘जादू गिन्नी का’ का संचालन लर्निंग लिंक्स फाउन्डेशन के साथ साझेदारी में किया जाता है। यह प्रोग्राम लोगों को वित्तीय अवधारणाओं जैसे निवेश, वित्तीय नियोजन, डिजिटल फाइनैंसिंग टूल्स आदि के बारे में शिक्षित बनाता है। यह प्रतियोगिता साधारण स्टोरीटैलिंग प्रारूप पर आधारित होती है और इसमें रोचक गेम्स और क्विज़ भी शामिल होते हैं।

सैनी के अनुसार ‘जादू गिन्नी का’ प्रोग्राम ने महिलाओं को सशक्त बनाया है।आज आस-पास के गांवों की 5220 से अधिक महिलाओं ने आगे बढ़कर स्वयं -सहायता समूह बनाए हैं। एक साथ मिलकर वे लगभग चार करोड़ की बचत कर चुकी हैं।

सैनी की डिजिटल फाइनैंशियल लिटरेसी परियोजना बेहद कारगर साबित हुई, उन्होंने हाल ही में वोडाफ़ोन आइडिया फाउन्डेशन के ‘जादू गिन्नी का’ प्रोग्राम द्वारा लॉन्च की गई टेक्नोलॉजी से लैस मोबाइल वैन को संचालित करने के लिए चुना गया।

इस मोबाइल वैन में लैपटॉप, एलसीडी स्क्रीन, स्पीकर और जनरेटर हैं। इसके ज़रिए अंसारी ऑडियो एवं विजु़अल कंटेंट के माध्यम से डिजिटल वित्तीय साक्षरता का संदेश देते हैं। मोबाइल वैन क्लासरूम ऑन व्हील्स की भूमिका भी निभाती है, जिसके माध्यम से ग्रामीणों को लैपटॉप के द्वारा वित्तीय साक्षरता पर आधारित रोचक क्विज़ में हिस्सा लेने का मौका भी मिलता है।

मूलभूत प्रभाव
‘जादू गिन्नी का’ प्रोग्राम के तहत सैनी और उनकी टीम ने 148 से अधिक गांवों का दौरा किया और 1.25 लाख युवाओं को वित्तीय साक्षरता पर शिक्षित किया है।

वे दूर-दराज के गांवों में 140 से अधिक महिलाओं को प्रशिक्षित किया है और उन्हें वित्तीय रूप से साक्षर बनाया है। आज ये महिलाएं खुद वीएलई हैं। उन्होंने बहुत से ग्रामीणों को ज़ीरो बैलेंस बैंक खाते खोलने, निवेश एवं बीमा के आवेदन के लिए मदद की। उन्होंने ग्रामीणों को नकदरहित लेनदेन में भी सहयोग प्रदान किया है।

कोविड-19 के बारे में जागरुकता बढ़ाना
सैनी ने कोविड महामारी के दौरान मोबाइल वैन के माध्यम से कोविड जागरुकता अभियानों का आयोजन भी किया, मास्क और सैनिटाइज़र बांटे। मोबाइल वैन का उपयोग कर उन्होंने ज़रूरतमंद परिवारों तक सूखा राशन भी पहुंचाया।

भविष्य के लिए संभावनाएं
जब उनसे पूछा गया कि भविष्य में वीएलई के रूप में वे क्या करेंगे, उन्होंने उत्साहित होकर कहा ‘‘मैं भारत में बुनियादी स्तर पर बड़ा बदलाव लाना चाहता हूं।’’

VI ने इंडस्ट्री 4.0, स्मार्ट सिटीज़ और स्मार्ट मोबाइल ऐज कम्प्युटिंग को बढ़ावा देने के लिए A5G Networks के साथ की साझेदारी

मुंबई, 25 फरवरी, 2022ः भारत के अग्रणी दूरसंचार सेवा प्रदाता वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड ने भारत में इंडस्ट्री 4.0 और स्मार्ट मोबाइल ऐज कम्प्युटिंग को बढ़ावा देने के लिए A5G Networks, Inc.  के साथ साझेदारी की घोषणा की है। VI और 5G ने एक साथ मिलकर मौजूदा 4G स्पैक्ट्रम का उपयोग करते हुए मुंबई में पायलट प्राइवेट नेटवर्क की स्थापना की है। 

वी ने A5G Networks के दृष्टिकोण के अनुरूप वितरित नेटवर्क के लिए विभेदित एवं अनूठे 4G ,5Gऔर वाय-फाय ऑटोनोमस सॉफ्टवेयर के साथ डिजिटल भारत के सपने को साकार करने की प्रतिबद्धता के तहत यह साझेदारी की है। A5G Networks  सॉफ्टवेयर पूरी तरह से क्लाउड-नेटिव सॉफ्टवेयर है जिसे हाइब्रिड और मल्टी-क्लाउड इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए तैयार किया गया है। 

इस साझेदारी के माध्यम से वी पहले से A5G Networks  के ऑटोनोमस कोर सॉफ्टवेयर और व्हाईट बॉक्स RAN एलीमेंट्स का उपयोग करते हुए मुंबई में आध्ुानिक प्राइवेट नेटवर्क की स्थापना कर चुका है। जिसमें ऑपरेटर नेटवर्क के साथ इंटरकनेक्ट करते हुए ओद्यौगिक ऑटोमेशन यूज़ केसेज़, एंटरप्राइज़ ऐप्लीकेशन्स और लो लेटेंसी सेनारियो का उपयोग किया गया है। 

‘‘वी अपने डिजिटल उद्यमों और उभोक्ताओं को उत्कृष्ट सेवाओं का अनुभव प्रदान कर उन्हें ऑटोनोमस नेटवर्क के साथ सशक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।’’ जगबीर सिंह, चीफ़ टेक्नोलॉजी ऑफिसर, वोडाफ़ोन आइडिया लिमिटेड ने कहा। ‘‘5G  रोडमैप पर अपनी डिजिटल रूपान्तरण की यात्रा के तहत, हमें खुशी है कि हम आज के डिजिटल दौर में इंडस्ट्री 4.0 और स्मार्ट सिटीज़ को सक्षम बनाने के लिए नई सेवाएं पेश करने हेतु A5G Networks  के साथ साझेदारी का अवसर मिला है।’’

‘‘हमें खुशी है कि वी के साथ हम डिजिटल भारत की महत्वपूर्ण यात्रा में शामिल हो गए हैं।’’ राजेश मिश्रा, संस्थापक एवं सीईओ,  ने कहा। ‘‘वी अपने सब्सक्राइबरों को सर्वश्रेष्ठ सेवाओं का अनुभव प्रदान करने और डिजिटल भारत आंदोलन में योगदान देने के लिए प्रतिबद्ध है। सफलता बेहद प्रत्यास्थ, सुरक्षित नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर पर निर्भर करती है। 

वी कई लो लेटेन्सी ऐप्लीकेशन्स, प्राइवेट नेटवर्क, स्मार्ट सिटीज़ और कनेक्टेड कार्स को सक्षम बनाने के लिए डिजिटल नेटवर्क की स्थापना हेतु कई टेक्नोलॉजी लीडर्स एवं इनोवेटर्स के साथ साझेदारियां कर रहा है। 

  


Thursday, February 24, 2022

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत नाट्य लेखक व निर्देशक अशोक राही और डॉ लईक हुसैन करेंगे चर्चा

जेकेके में राजस्थान की लोक नाट्य परंपरा और प्रासंगिकता पर होगी चर्चा

जयपुर। आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत जवाहर कला केंद्र (जेकेके) द्वारा 'राजस्थान की लोक नाट्य परंपरा और प्रासंगिकता' विषय पर संवाद शृंखला का आयोजन शनिवार, 26 फरवरी को शाम 5 बजे से वर्चुअली किया जाएगा। इस संवाद कार्यक्रम में नाट्य लेखक व निर्देशक  अशोक राही और डॉ लईक हुसैन राजस्थान के लोक नाट्य पर अपने विचार और ज्ञान साझा करेंगे। सत्र का प्रसारण जेकेके के फेसबुक पेज https://www.facebook.com/jawaharkalakendra.jaipur/ पर किया जाएगा। जाने-माने नाट्य लेखक, निर्देशक व समीक्षक  अशोक राही ने रावण मिल गया, चम्पाकली का रामरूपैय्या, रंगीली भागमती, जुआ-दा गेम्बल, आसमान में उड़ती गुलाबी चिड़िया, सूरज चमक उठा, द क्रिकेट, हड़ताल हरिकथा जैसे नाटकों पर कार्य किया है। उनके द्वारा लिखे रंग समीक्षा व नाट्यालेख निरन्तर प्रकाशित होते रहे हैं। इसके अतिरिक्त उन्होंन कई नाट्कों का निर्देशन व अभिनय भी किया है। द्वारका साहित्य सम्मान सहित कई पुरस्कारों से सम्मानित  राही ने पिछले उन्नीस वर्षों से बहुचर्चित दैनिक हास्य व्यंग्य कॉलम 'बात करामात' का निरन्तर लेखन किया है। वे सुप्रसिद्ध नाट्य संस्था पीपुल्स मीडिया थियेटर(पीएमटी) के अध्यक्ष भी हैं। वरिष्ठ नाट्य लेखक व निर्देशक डॉ लईक हुसैन ने 25 नाटकों में अभिनय, लगभग 75 नाटकों की परिकल्पना और 60 नाटकों का निर्देशन करने के साथ-साथ 25 नाटक लिखे हैं। उन्होंने गवरी शैली, कुचामणी ख्याल शैली तथा तुर्रा-कलंगी शैलियों पर कई नाटक तैयार किए हैं, जिनका सभी राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय नाट्य समारोहों में मंचन भी हुआ है। डॉ हुसैन को डॉ. लक्ष्मी नारायण दूबे सम्मान, पाटलीपुत्र सम्मान, अमन सम्मान, प्रेमचंद सम्मान, डॉ चतुर्भुज सम्मान के साथ-साथ 14 अगस्त 2015 को तत्कालीन मुख्यमन्त्री द्वारा ‘’एट होम’’ कार्यक्रम में राजकीय सम्मान से सम्मानित भी किया जा चुका है।

महिंद्रा फाइनेंस ने डिजिटल रूप से संपन्न ग्राहकों के लिए विशेष जमा योजनाएं शुरू की

मुंबई, 24 फरवरी, 2022: महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (महिंद्रा फाइनेंस), जो महिंद्रा समूह का हिस्सा है, और ग्रामीण व अर्ध-शहरी क्षेत्र पर केंद्रित भारत की अग्रणी गैर-बैंकिंग वित्त कंपनियों में से एक है, ने आज एक विशेष जमा योजना (स्पेशल डिपॉजिट स्कीम) शुरू की। विशेष रूप से डिजिटल रूप से संपन्न ग्राहकों पर लक्षित यह योजना कंपनी के डिजिटलीकरण अभियान का हिस्सा है।

आज की डिजिटल दुनिया को ध्यान में रखते हुए, जमाकर्ताओं के पास जमाराशियों को रखने के लिए जमा लेने वाली कंपनियों के साथ सीधे बातचीत करने का अवसर होता है। इस अवसर का लाभ उठाने के लिए, महिंद्रा फाइनेंस एक अभिनव योजना की घोषणा कर रहा है जो सीधे जमा पर प्रति वर्ष 20 बीपीएस उच्च ब्याज दरें प्रदान करेगी। यह योजना कंपनी द्वारा अपने ग्राहकों के लिए पहले से ही उपलब्ध कराई जा रही जमा योजनाओं के अतिरिक्त है।

विवेक कर्वे, मुख्य वित्तीय अधिकारी, महिंद्रा फाइनेंस ने कहा: “इन विशेष जमा योजनाओं का शुभारंभ डिजिटल मोड के माध्यम से कई वित्तीय / निवेश साधनों की पेशकश करने के हमारे बड़े दृष्टिकोण के अनुसार है। महिंद्रा फाइनेंस की सावधि जमा योजनाओं को क्रिसिल द्वारा FAAA रेटिंग दी गई है। यह क्रेडिट रेटिंग उच्चतम सुरक्षा को बताती है।"

कंपनी इस विशेष जमा योजना को डिजिटल मोड के माध्यम से जमाकर्ताओं को कंपनी की वेबसाइट https://www.mahindrafinance.com/ के माध्यम से  निवेश की सुविधा प्रदान करेगी। विभिन्न डिजीटल और ऑटोमेशन बैकएंड प्रक्रियाओं के साथ, महिंद्रा फाइनेंस अपने जमा धारकों को सहज अनुभव प्रदान करने के लिए आश्वस्त है। इन योजनाओं के तहत, जमाकर्ता अपनी जमा राशि 30 और 42 महीने की अवधि के लिए रख सकते हैं, जिस पर क्रमशः 6.20% और 6.50% ब्याज दरें मिलेंगी। जमाकर्ताओं के लिए संचयी और गैर-संचयी दोनों विकल्प उपलब्ध हैं।

इसके अलावा, वरिष्ठ नागरिकों को अलग से 20 बीपीएस अधिक की दरें मिलेंगी।

 

फिशिंग से कैसे बचें - एसबीआई की ओर से दिशानिर्देश

फिशिंग क्या है?

फिशिंग दरअसल ई-मेल और टेक्स्ट संदेशों के साथ-साथ अपराधियों द्वारा ग्राहकों को भेजी जाने वाली फर्जी वेबसाइटों के लिए एक सामान्य शब्द है। इन वेबसाइटों को इस तरह से डिज़ाइन किया जाता है कि ग्राहक आसानी से इस नकल को समझ ही नहीं पाता और उसे ऐसा लगता है कि वे प्रसिद्ध और विश्वसनीय व्यवसायों, वित्तीय संस्थानों और सरकारी एजेंसियों की ओर से ही आए हैं। ऐसे फिशिंग मेल व्यक्तिगत, वित्तीय और अन्य महत्वपूर्ण जानकारी एकत्र करने के इरादे से लोगों को भेजे जाते हैं। इसे ब्रांड स्पूफिंग के रूप में भी जाना जाता है। यदि आपको कभी भी कोई ऐसा ईमेल प्राप्त होता है जो संदेहास्पद प्रतीत होता है, तो उसका उत्तर न दें या उस मेल में दिए गए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। बस, इसे डिलीट कर दें। एसबीआई के नाम का उपयोग करने वाले किसी संदिग्ध ईमेल की रिपोर्ट करने के लिए, आप हमें इस आईडी तुरंत रिपोर्ट कर सकते हैं-

report.phishing@sbi.co.in

फिशिंग के बारे में और अधिक जानकारी आप यहाँ पढ़ सकते हैं- here

फिशिंग हमलों के तौर-तरीकों से अवगत रहें

- फिशिंग हमले ग्राहकों के व्यक्तिगत पहचान डेटा और वित्तीय खाता क्रेडेंशियल्स को चुराने के लिए सोशल इंजीनियरिंग और तकनीकी छल दोनों का उपयोग करते हैं

- ग्राहक को एक कपटपूर्ण ई-मेल प्राप्त होता है, जो ऐसा प्रतीत होता है मानो एक वैध इंटरनेट पते से ही आया है

- ईमेल में ग्राहक को मेल में दिए गए हाइपरलिंक पर क्लिक करने के लिए कहा जाता है

- हाइपरलिंक पर क्लिक करने से ग्राहक एक नकली वेब साइट पर पहुंच जाता है जो वास्तविक साइट के समान ही नजर आती है

- आम तौर पर ईमेल या तो अनुपालन पर इनाम देने का वादा करता है या गैर-अनुपालन पर पेनल्टी लगाने की चेतावनी देता है

- ग्राहक को अपनी व्यक्तिगत जानकारी, जैसे पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड और बैंक खाता संख्या आदि को अपडेट करने के लिए कहा जाता है।

- ग्राहक सद्भावपूर्वक व्यक्तिगत विवरण प्रदान करता है। वह सबमिटबटन पर क्लिक करता है

- उसे एक एरर पेज मिलता है

- ग्राहक फिशिंग के प्रयास का शिकार हो जाता है

 

फिशिंग हमलों से बचने का सर्वाेत्तम तरीका - व्यक्तिगत जानकारी साझा करने में क्या करें और क्या न करें

क्या नहीं करें

- किसी अनपेक्षित स्रोत से ई-मेल के माध्यम से आए किसी भी लिंक पर क्लिक न करें। इसमें दुर्भावनापूर्ण कोड हो सकता है या आपको बहकाने का प्रयास हो सकता है।

- किसी ऐसे पेज पर कोई जानकारी न दें जो पॉप-अप विंडो के रूप में आ सकता है

- कभी भी टेक्स्ट संदेश के माध्यम से किसी भी व्यक्तिगत जानकारी का खुलासा न करें, जिसमें खाता संख्या, पासवर्ड, या महत्वपूर्ण जानकारी का कोई संयोजन शामिल है, जिसका उपयोग धोखाधड़ी से किया जा सकता है

- फोन पर या ई-मेल पर किसी अवांछित अनुरोध के जवाब में कभी भी अपना पासवर्ड प्रदान न करें

- हमेशा याद रखें कि पासवर्ड, पिन, टिन आदि जैसी जानकारी पूरी तरह से गोपनीय होती है और बैंक के कर्मचारियों/सेवा कर्मियों को भी इसकी जानकारी नहीं होती है। इसलिए, मांगे जाने पर भी आपको कभी भी ऐसी जानकारी का खुलासा नहीं करना चाहिए।

ध्यान रखने योग्य बातें

- एड्रेस बार में हमेशा उचित यूआरएल लिखकर साइट पर लॉगऑन करें

- अपना यूजर आईडी और पासवर्ड केवल प्रमाणित लॉगिन पेज पर दें।

- अपना यूजर आईडी और पासवर्ड प्रदान करने से पहले कृपया सुनिश्चित करें कि लॉगिन पेज का यूआरएल ‘https://’ टेक्स्ट से शुरू होता है और http:// नहीं है। एसका मतलब सुरक्षितहै और यह इंगित करता है कि वेब पेज एन्क्रिप्शन का उपयोग करता है।

- कृपया ब्राउजर के दायीं ओर लॉक साइन और वेरीसाइन सर्टिफिकेट भी देखें

- फोन/इंटरनेट पर अपना व्यक्तिगत विवरण केवल तभी दें जब आपने कॉल या सत्र शुरू किया हो और समकक्ष को आपके द्वारा विधिवत प्रमाणित किया गया हो

-एंटी-वायरस सॉफ़्टवेयर, स्पाईवेयर फ़िल्टर, ई-मेल फ़िल्टर और फ़ायरवॉल प्रोग्राम के साथ अपने कंप्यूटर सुरक्षा को नियमित रूप से अपडेट करें

-यह सुनिश्चित करने के लिए कि सभी लेनदेन वैध हैं, नियमित रूप से अपने बैंक, क्रेडिट और डेबिट कार्ड स्टेटमेंट की जांच करें

- कृपया याद रखें कि बैंक आपसे कभी भी ई-मेल के माध्यम से आपके खाते की जानकारी सत्यापित करने के लिए नहीं कहेगा

 

एक सामान्य नियम के रूप में, किसी भी अवांछित आने वाली संचार / फोन कॉल प्राप्त करते समय आपकी व्यक्तिगत या वित्तीय जानकारी पूछने या साइट पर उन्हें अपडेट करने के लिए कहने पर संदेहास्पद रहें। उन कॉलों की प्रामाणिकता को सत्यापित करने के लिए उपलब्ध आधिकारिक चौनलों के माध्यम से सीधे अपने बैंक से संपर्क करें।

यदि ग्राहकों ने गलती से पासवर्ड/पिन प्रकट कर दिया है तो क्या करें--

यदि किसी ग्राहक को लगता है कि उसे फिश किया गया है या उसने ऐसी जगह पर व्यक्तिगत जानकारी प्रदान की है जहां उसे नहीं करनी चाहिए, तो वह क्षति को कम करने के उपाय के रूप में तुरंत निम्नलिखित कदम उठा सकता है-

- कृपया यहां क्लिक करके अपनी उपयोगकर्ता पहुंच को तुरंत लॉक करें- Here

- अपने बैंक/वित्तीय संस्थान या क्रेडिट कार्ड कंपनी से संपर्क करें

- अपनी स्थानीय पुलिस से संपर्क करें

- हमेशा फ़िशिंग की रिपोर्ट report.phishing@sbi.co.in  पर करें

- अपना खाता विवरण जांचें और सुनिश्चित करें कि यह हर दृष्टि से सही है

- किसी भी गलत प्रविष्टि की सूचना तुरंत बैंक को दें

- जोखिम को कम करने के लिए बैंक द्वारा प्रदान किए गए अन्य प्रतिपूरक नियंत्रणों का उपयोग करें जैसे डिमांड ड्राफ्ट और विश्वसनीय तृतीय पक्षों के लिए सीमा निर्धारित करना, उच्च सुरक्षा को सक्षम करना आदि।

अधिक जानकारी के लिए वेबसाइट लिंक-

·         https://www.onlinesbi.com/personal/aboutphishing.html

https://www.onlinesbi.com/personal/safe_online_banking.html

टाटा एआईए लाइफ को द वन बिलियन अभियान में एआईए का समर्थन करने पर गर्व है

मुंबई, भारत, 24 फरवरी 2022: भारत की एक सबसे तेज़ी से बढ़ती हुई जीवन बीमा कंपनी टाटा एआईए लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (टाटा एआईए लाइफ) ने एआईए ग्रुप लिमिटेड ("एआईए" या “कंपनी") द्वारा शुरू किए गए ‘एआईए वन बिलियन’ अभियान को समर्थन देने की घोषणा की है। 2030 तक दुनिया भर के एक बिलियन लोगों को अधिक स्वस्थ, लंबा, बेहतर जीवन जीने के लिए जोड़ने का साहसिक और अभिनव अभियान एआईए ने शुरू किया है। लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण में सुधार करना और अपने भविष्य को अधिक टिकाऊ बनाने में उनकी मदद करना इस अभियान का उद्देश्य है।

टाटा एआईए लाइफ के एमडी और सीईओ श्री. नवीन तहिलयानी ने बताया, "समूह का एक हिस्सा होने के नाते इस वैश्विक अभियान में एआईए का साथ देते हुए हमें गर्व महसूस हो रहा है। लोगों को उनके सपनों को पूरा करने के लिए सक्षम बनाना, अधिक स्वस्थ, ज़्यादा खुशहाल जीवन जीने के लिए प्रेरित करना हमेशा से ही हमारा एक उद्देश्य रहा है और इसीलिए हम मानते हैं कि इस अभियान में हम महत्वपूर्ण योगदान दे पाएंगे। एक भुगतानकर्ता से लेकर उपभोक्ताओं की बदलती ज़रूरतों के अनुसार व्यापक उत्पादों और सेवाओं के साथ उपभोक्ताओं की जीवन, स्वास्थ्य और कल्याण यात्रा में साथ देने वाले सहयोगी बनने तक के हमारे परिवर्तन में यह ज़रूरी है कि हम उपभोक्ताओं के साथ ऐसे वार्तालाप करें जिनसे समग्र स्वास्थ्य और कल्याण के बारे में जागरूकता निर्माण हो सकें।"

एआईए वन बिलियन अभियान टाटा एआईए लाइफ और एआईए की भारत भर के समुदायों को जोड़कर, शिक्षित और प्रेरित करके वित्तीय समावेशन का समर्थन करते हुए शारीरिक, मानसिक और पर्यावरणात्मक कल्याण में सुधार लाने की संयुक्त प्रतिबद्धता को बल प्रदान करता है।

महामारी की वजह से स्वास्थ्य और कल्याण के महत्व के बारे में आम जागरूकता को बढ़ाया है लेकिन फिर भी जीवनशैली से जुड़ी बीमारियां बढ़ रही है। कुल मौतों में से 70% से भी ज़्यादा मौतें इन बिमारियों की वजह से होती हैं। इस समस्या के निपटान में हमारे समुदायों की मदद के लिए आगे आना और एक जिम्मेदार, सकारात्मक भूमिका निभाना हम जैसी बीमा कंपनी के लिए महत्वपूर्ण है। आज उद्यम क्षेत्र में पारंपरिक "आकलन और सेवा" उत्पादों से भी ज़्यादा ग्राहक केन्द्री "निर्देश और रोकथाम" उत्पाद बनाए जा रहे हैं, इस स्थिति में बीमा कंपनी को उत्पाद रचना और सेवा उत्कृष्टता में ज़रूरी नवाचार करना होगा।

इस अभियान में एक सर्वसमावेशक संचार मॉड्यूल को अपनाया जाएगा जिसमें एआईए वन बिलियन अभियान को शुरू करने के लिए सभी आंतरिक, बाहरी और सोशल चैनल्स में कई टचपॉइंट्स को शामिल किया जाएगा।  जीवन में बहुत ही सहज और आसान क्रियाओं के ज़रिए स्वास्थ्य और कल्याण उन्मुख गतिविधियों में जुड़ने के लिए उपभोक्ताओं को प्रेरित करना इस अभियान का प्रस्ताव है।

कई प्रमुख बाज़ारों में फैला हुआ यह एक वैश्विक अभियान होगा, इसमें टाटा एआईए लाइफ की सहभागिता का उद्देश्य भारत में इस अभियान के लिए जागरूकता और सुस्पष्टता निर्माण करना होगा।  देश के ज़्यादा से ज़्यादा क्षेत्रों के उपभोक्ताओं तक जानकारी और प्रमुख प्रस्तावों को पहुंचाने के लिए चलाए जा सकें ऐसी कई पहलों को विकसित करने पर टाटा एआईए लाइफ काम करेगी।  टाटा एआईए लाइफ की इस अभियान में सहभागिता से जीवन बीमा, पर्याप्त बीमा सुरक्षा और वित्तीय समावेशन के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए उनके द्वारा किए जा रहे प्रयासों का प्रभाव भी बढ़ेगा। 

गल्फ ऑयल इंडिया ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी को सपोर्ट करने के लिए लॉन्च किए ‘ईवी फ्लुइड्स’

मुंबई ,  , 04  अक्टूबर , 2022 -  हिंदुजा समूह की कंपनी गल्फ ऑयल लुब्रिकेंट्स ने  ‘ ईवी फ्लुइड्स ’  की विशेष श्रेणी के लिए स्विच मोबिलिटी और ...