Wednesday, January 19, 2022

छठे डिजिटल राजस्थान कॉन्क्लेव के वर्चुअल संस्करण का आयोजन कल

जयपुर। 'छठे डिजिटल राजस्थान कॉन्क्लेव' का वर्चुअल संस्करण कल (20 जनवरी) सुबह 10.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक आयोजित किया जाएगा। इस संस्करण का विषय 'स्ट्रेन्थनिंग सेल्फ रिलायंट इंडिया थ्रू डिजिटिलाइजेशन' है। इसका आयोजन फिक्की राजस्थान स्टेट काउंसिल द्वारा किया जा रहा है। फिक्की राजस्थान स्टेट काउंसिल के हेड  अतुल शर्मा ने यह जानकारी दी। शर्मा ने कहा कि भारत ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, द इंटरनेट ऑफ थिंग्स, 5जी टेक्नोलॉजी, ऑग्मेंटेड रियेलिटी एंड वर्चुअल रियेलिटी, क्लाउड, रोबोटिक्स, डिजिटल पेमेंट्स आदि सहित नवीनतम तकनीकी नवाचारों के अनुप्रयोग में पर्याप्त सफलता हासिल की है। दुनिया किफायती और स्थिर प्रौद्योगिकी-सशक्त समाधान प्राप्त करने के लिए भारत पर उम्मीद और विश्वास लगाए बैठी है। देश का डिजिटल स्कोप व क्षमता अपार और अद्वितीय है। भारत का आईटी और डिजिटल सेक्टर इसके विकास की कहानी में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं और भारत को एक समृद्ध भविष्य की ओर ले जाने के लिए तैयार हैं। सरकार की डिजिटल इंडिया पहल न केवल 'आत्मनिर्भर भारत' के विचार के लिए महत्वपूर्ण हो गई है, बल्कि भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम को मजबूत आधार प्रदान करने में भी महत्वपूर्ण है। इसके परिणामस्वरूप स्थायी समाधान के रूप में अधिक और बेहतर नवाचार हो रहे हैं।स्वास्थ्य से लेकर राष्ट्रीय सुरक्षा तक हर चीज का समाधान पेश करने के लिए नए यूनिकॉर्न आगे आ रहे हैं। उद्घाटन सत्र के दौरान, डायरेक्टर, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया, डॉ रजनीश अग्रवाल द्वारा विशेष संबोधन दिया जाएगा। उद्घाटन सत्र के बाद 'स्ट्रेन्थनिंग सेल्फ रिलायंट इंडिया थ्रू डिजिटिलाइजेशन' और स्टार्टअप ओएसिस द्वारा 'लीवरेजिंग डिजिटल लीप फॉर सोश्यो-इकोनॉमिक ट्रांस्फॉर्मेशन' विषय पर 2 प्लेनैरी सत्र आयोजित होंगे।

No comments:

Post a Comment

वी बिज़नेस ने एमएमएसई की डिजिटल यात्रा को आसान बनाने के लिए लॉन्च किया ‘रैडी फॉर नेक्स्ट’

मुंबई, 27 जून, 2022ः महामारी के चलते कारोबार पर पड़े प्रभावों, बहुत अधिक लिक्विडिटी और अन्य बदलावों के चलते एमएसएमई संवेदनशील हो गए हैं। इन्ह...