Monday, January 31, 2022

संपूर्ण फाउंडेशन द्वारा वूलन जैकेट का वितरण












संपूर्ण फाउंडेशन द्वारा प्रताप गर में जो सड़क के किनारे रह रहे लोगों को वूलन जैकेट का वितरण किया गया, जिसमें संपूर्ण फाउंडेशन के संस्थापक पुनीत शर्मा, कृपा मीणा,पवन जी उपस्थित रहे.

डीलशेयर ने फाइनेंसिंग के फ्रेश राउंड में 165 मिलियन डॉलर जुटाए, कंपनी का मूल्यांकन 1.6 बिलियन डॉलर से अधिक पर हुआ

बेंगलुरु, 31 जनवरी 2022: 3-वर्षीय सोशल ई-कॉमर्स स्टार्ट-अप, डीलशेयर ने आज घोषणा की कि इन्होंने अपनी सीरीज ई फंड रेज के पहली बार बंद होने तक 165 मिलियन डॉलर जुटा लिए हैं। कंपनी ने मौजूदा निवेशकों टाइगर ग्लोबल और अल्फा वेव ग्लोबल (फाल्कन एज) की निरंतर प्रतिबद्धताओं के साथ ड्रैगनियर इन्वेस्टमेंट्स ग्रुप, कोरा कैपिटल और यूनिलीवर वेंचर्स का स्वागत किया।

कंपनी अपने उपभोक्ता और राजस्व को मजबूती से बढ़ा रही है और उम्मीद है कि यह निकट अवधि में 1 बिलियन डॉलर के राजस्व को छू लेगी। इस राउंड में जुटाई गई धनराशि का उपयोग प्रौद्योगिकी और डेटा साइंस में निवेश करने के साथ-साथ इसके लॉजिस्टिक्स इंफ्रास्ट्रक्चर के दस गुना विस्तार एवं अपनी भौगोलिक पहुंच बढ़ाने के लिए किया जाएगा। इसके अलावा, यह एक बड़ा ऑफलाइन स्टोर फ्रैंचाइज़ी नेटवर्क स्थापित करेगी।

डीलशेयर ने बड़े पैमाने पर उपभोक्ताओं के सामर्थ्य को ध्यान में रखते हुए भारत के लिए नया परिवर्तनकारी खुदरा मॉडल बनाया है। यह रोचक, मज़ेदार एवं सोशल नेटवर्क आदि आधारित खरीदारी अनुभव के साथ कम कीमत में उच्च गुणवत्ता वाली अत्यावश्यक वस्तुएँ उपलब्ध कराती है। इस प्रकार, यह पहली बार इंटरनेट का उपयोग करने वालों के खरीदारी करना आसान बनाती है।

नवीनतम फंडिंग राउंड के बारे में बताते हुए, डीलशेयर के संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी, विनीत राव ने कहा: "डीलशेयर भारत में सबसे तेजी से बढ़ती ई-कॉमर्स कंपनियों में से एक है। लाभप्रदता में सुधार के साथ पिछले वर्ष में हमारे राजस्व और ग्राहक आधार में 13 गुना वृद्धि हुई है। 10 मिलियन से अधिक के मजबूत ग्राहक आधार के साथ, हमने 10 राज्यों के 100 से अधिक शहरों में अपनी मौजूदगी बढ़ाई है। हमारी कंपनी ने देश भर में 5,000 से अधिक लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा किए हैं।”

श्री राव ने आगे कहा, “हमने अपने प्रमुख प्रोग्राम डीलशेयर दोस्त के जरिए 1,000 से अधिक कम्युनिटी लीडर्स का नेटवर्क बनाया है और इस प्रकार, सक्षम एवं उच्च स्केलेबल आपूर्ति श्रृंखला खड़ी की है। हम इस राउंड से प्राप्त आय का उपयोग प्रौद्योगिकी में भारी निवेश, आपूर्ति श्रृंखला में सुधार और पूरे देश में अपने विस्तार के लिए करेंगे। हम व्यापक बाजार पर केंद्रित मार्की निवेशकों और सर्वोत्तम कोटि की प्रौद्योगिकियों को हासिल करने में भी निवेश करेंगे।" 

ग्रिफिन श्रोएडर, पार्टनर, टाइगर ग्लोबल ने कहा,“डीलशेयर तेजी से बढ़ रहा है और इसने अपनी अभिनव सामाजिक वाणिज्य रणनीति पर अमल करते हुए मजबूत नेतृत्व टीम के साथ प्रभावशाली ग्राहक आधार बनाया है। टियर 2 और टियर 3 शहरों में विस्तार करते हुए, डीलशेयर भारत में ई-कॉमर्स के विकास की एक नई लहर को पैदा करने के लिए अच्छी स्थिति में है।”

कंपनी के विकास पथ के लिए अपने दृष्टिकोण को साझा करते हुए, सौर्येंदु मेद्दा, संस्थापक, मुख्य व्यवसाय अधिकारी, डीलशेयरने कहा: "हमारा व्यवसाय काफी तेजी से बढ़ रहा है। इस वर्ष, हम 20 राज्यों के 200 से अधिक शहरों में अपनी उपस्थिति बढ़ायेंगे और हमने परिचालन की दृष्टि से लाभपूर्ण बने रहते हुए हमारे वार्षिक राजस्व रन रेट को बढ़ाकर 3 बिलियन डॉलर करने का साहसिक लक्ष्य रखा है। हमारा लक्ष्य अगले 12 महीनों में करीब 50 मिलियन नए उपभोक्ताओं को जोड़ने का भी है।"

सौर्येंदु मेद्दा ने आगे कहा, “हमारा मिशन व्यापक रूप से उपभोक्ताओं के लिए कम कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों खरीदने में अधिक समर्थ बनाना और उन्हें सुलभ कराना है। हमने किराना और अत्यावश्यक वस्तुओं के क्षेत्र में 1000 से अधिक छोटे और मध्यम निर्माताओं का एक अनूठा नेटवर्क बनाया है जिससे हमें अपने मिशन को हासिल करने में मदद मिलेगी। हमारे अधिकांश उपभोक्ता हमारी वजह से पहली बार ई-कॉमर्स की उपयोग कर रहे हैं। हम न केवल देश में ई-कॉमर्स अपनाने को बढ़ावा देने में अग्रणी हैं, बल्कि हम 'आत्मनिर्भर भारत' पर जोरे देते हुए भी ऐसा कर रहे हैं।" 

डीलशेयर जिन 10 राज्यों में परिचालन करता है वहाँ 100 से अधिक गोदामों का संचालन करता है, और इसकी योजना अगले 12 महीनों में अपने वेयरहाउसिंग को मौजूदा 2 मिलियन वर्ग फुट से बढ़ाकर 20 मिलियन वर्ग फुट करने की है।

नवरोज डी. उदवाडिया, सह-संस्थापक और पार्टनर, अल्फा वेव ग्लोबल, ने कहा, "हमें इस राउंड में निवेश करने और डीलशेयर को लगातार अपना समर्थन देते रहने की खुशी है। डीलशेयर अपने उन ग्राहकों के लिए आकर्षक मूल्य प्रस्ताव प्रदान करता है, जो टियर 2 और 3 शहरों में रहने वाले और कीमतों को लेकर सजग मध्यमवर्गीय हैं और जो स्थानीय/क्षेत्रीय उत्पाद चाहते हैं।"

2018 में विनीत राव, सौर्येंदु मेद्दा, शंकर बोरा और रजत शिखर द्वारा स्थापित, डीलशेयर अत्यधिक प्रतिस्पर्धी कीमतों पर विशेष रूप से तैयार किया गया एसॉर्टमेंट प्रदान करता है और सामूहिक रूप से एक अभिनव कम्युनिटी लीडर संचालित अल्ट्रा-लो-कॉस्ट डिलीवरी तंत्र का निर्माण किया है, जिसने सर्वोत्तम कोटि की यूनिट इकॉनमिक्स प्रदान किया  है। डीलशेयर ने खुदरा और उपभोक्ता प्रौद्योगिकी में गहरा अनुभव रखने वाले टॉप इंडस्ट्री लीडर्स की नियुक्ति करके अपनी सीनियर लीडरशिप को बढ़ावा दिया है।

एवेंडस, इस ट्रांजेक्शन का विशेष वित्तीय सलाहकार था।

वेदांत फैशन्स लिमिटेड का आईपीओ शुक्रवार, 04 फरवरी, 2022 को खुलेगा

31 जनवरी 2022: वेदांत फैशन्स लिमिटेड ("वीएफ़एल" या "कंपनी”) ने 04 फरवरी, 2022 को अपना आईपीओ ("ऑफर”) खोलने की योजना बनाई है। एंकर निवेशक के लिए बोली लगाने की तिथि गुरुवार, 3 फरवरी, 2022 होगी।

ऑफर का प्राइस बैंड ₹1 के फेस वैल्यू पर ₹824 से ₹866 प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय किया गया है। न्यूनतम 17 इक्विटी शेयर और उसके बाद 17 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है।

आईपीओ में कंपनी के ₹1 अंकित मूल्य के 36,364,838 इक्विटी शेयर्स ("इक्विटी शेयर्स”) ऑफर फॉर सेल ("ऑफर्ड शेयर्स”) शामिल हैं, जिसमें राइन होल्डिंग्स लिमिटेड के 17,459,392 इक्विटी शेयर, केदारा कैपिटल अल्टरनेटिव इन्वेस्टमेंट फंड-केदारा कैपिटल एआईएफ 1 के 723,014 इक्विटी शेयर और रवि मोदी फैमिली ट्रस्ट (इसके न्यासी, मोदी फिडुसिअरी सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के जरिए काम करते हुए) के 18,182,432 इक्विटी शेयर शामिल हैं (एक साथ "विक्रेता शेयरधारक”)।

इस ऑफर में पेश किए गए इक्विटी शेयरों को लिस्टिंग के बाद बीएसई लिमिटेड ("बीएसई”) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (“एनएसई”, बीएसई के साथ, “स्टॉक एक्सचेंजों”) पर सूचीबद्ध किये जाने का प्रस्ताव है।

गोटन में सालासर एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी


जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना ही एकमात्र लक्ष्य- 
सांसद दीयाकुमारी

जयपुर।  सांसद दीयाकुमारी ने गोटन रेलवे स्टेशन पर जोधपुर-दिल्ली सराय रोहिल्ला सालासर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर दिल्ली सराय रोहिल्ला के लिए रवाना किया। गाड़ी संख्या 22422 सालासर एक्सप्रेस का गोटन रेलवे स्टेशन पर प्रायोगिक ठहराव दिया गया है। सांसद दीयाकुमारी ने बतौर मुख्य अतिथि प्रातः 11 बजे गोटन रेलवे स्टेशन पर उत्तर पश्चिम रेलवे द्वारा आयोजित समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा केंद्र सरकार ने जनता की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए गोटन, सेंदड़ा, डेगाणा और ब्यावर में रेल स्टॉपेज को स्वीकृति प्रदान की है। यह रेल यात्रियों के लिए बड़ी सौगात है। एक बयान में सांसद दीया ने कहा कि अभी हमें विभिन्न क्षेत्रों में ओर भी मुकाम हसिल करने हैं। हम न रुकने वाले हैं न थकने वाले हैं। हमारा लक्ष्य जनता की अपेक्षाओं को पूरा करना है और उसके लिए कटिबद्ध है।  गाड़ी संख्या 22422 जोधपुर दिल्ली सराय रोहिल्ला सालासर एक्सप्रेस प्रतिदिन गोटन स्टेशन पर सुबह 11.50 बजे आगमन कर 11.51 बजे प्रस्थान करेगी। इसी प्रकार गाड़ी संख्या 22421 दिल्ली सराय रोहिल्ला-जोधपुर सालासर एक्सप्रेस सुपरफास्ट प्रतिदिन दिल्ली सराय रोहिल्ला से प्रस्थान कर 16.05 बजे गोटन स्टेशन पर आगमन कर 16.06 बजे जोधपुर के लिए प्रस्थान करेगी। कार्यक्रम में रेलवे डीआरएम सहित अधिकारी, जनप्रतिनिधि व गणमान्य भी उपस्थित थे।

पर्यटन क्षेत्र को जीवित रखने के लिए लाभों की मांग रखी

जयपुर। पर्यटन क्षेत्र की ओर से फेडरेशन ऑफ हॉस्पिटैलिटी एंड टूरिज्म ऑफ राजस्थान (एफएचटीआर) के अध्यक्ष  अपूर्व कुमार ने शुक्रवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत को विस्तृत जानकारी दी, जिसमें उद्योग को बचाए रखने के लिए कई लाभों की मांग की गई। उन्होंने मुख्यमंत्री के सामने अपनी बात रखते हुए इस बात पर जोर दिया कि महामारी हमारे जीवन का एक हिस्सा बन गया है और यह हर वर्ष कम से कम 3 से 6 महीने के लिए पर्यटन को प्रभावित करेगा। इसलिए कोई भी पर्यटन नीति इस बात को ध्यान में रखते हुए तैयार की जानी चाहिए और उद्योग पर कोई भी निश्चित राजकोषीय बोझ नहीं डाला जाना चाहिए। कुमार ने कहा कि महामारी से सबसे अधिक प्रभाव औपचारिक और अनौपचारिक दोनों क्षेत्रों में, पर्यटन क्षेत्र पर पड़ा है। उन्होंने मुख्यमंत्री से पर्यटन को बिजली और संपत्ति कर की औद्योगिक दर देने का आग्रह किया, क्योंकि पर्यटन को 1989 में पहले ही उद्योग घोषित कर दिया गया था। यह न केवल मौजूदा निवेशकों को बनाए रखने में मदद करेगा बल्कि इस क्षेत्र में नए निवेश भी लाएगा, क्योंकि जब इसकी सबसे अधिक आवश्यकता होगी, तब राजस्थान को पर्यटन को आवश्यक सहायता देने वाले पहले राज्य के रूप में पहचाना जाएगा। एफएचटीआर के अध्यक्ष  अपूर्व कुमार ने कम से कम 3 साल की अवधि के लिए शहरी विकास कर के लिए संपत्ति कर/पट्टा किराए में छूट देने का भी प्रस्ताव रखा। इसी प्रकार होटल यूनिट्स को हुए भारी नुकसान को देखते हुए बार लाइसेंस फीस 75 फीसदी कम की जाए। गौरतलब है कि 2021-22 में बार लाइसेंस फीस 25 फीसदी कम की गई थी। उद्योग बिजली के फिक्सड चार्जेस और बिजली शुल्क में भी राहत चाहता है। इसके साथ ही यह राजस्थान सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यम आर्डिनेन्स 2019 के तहत बिना किसी शुल्क के परमिशन के तीन साल के विस्तार की भी मांग करता है। इसके अलावा, उन्होंने फिल्म शूटिंग और एमआईसीई इवेंट्स के लिए पर्यटन उद्योग को इन्सेंटिव्स देने की मांग की। साथ ही, स्टेट हेरिटेज टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए हेरिटेज स्थलों पर परफॉर्मेंस, फिल्मों की शूटिंग और इवेंट्स के लिए लाइसेंस शुल्क में छूट की भी मांग की। इसी तरह, उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में हेरिटेज होटल स्थापित करने के लिए कैपिटल सब्सिडी की भी अपील की। उन्होंने 21 अक्टूबर से 29 सितंबर 22 की अवधि के लिए टूरिस्ट लक्जरी कोचों पर मोटर वाहन कर की छूट का अनुरोध किया क्योंकि वास्तविक रूप से व्यवसाय बंद हो गया है।

डेल्फिक डायलॉग्स में राजस्थान के लोक चित्रों पर हुई चर्चा


जयपुर।
 पुरातत्वविद् व संग्रहालयशास्त्री डॉ. पंकज धरेन्द्र की कला एवं विरासत विशेषज्ञ  अब्दुल लतीफ उस्ता से राजस्थान के लोक चित्रों पर संवाद किया गया। डेल्फिक काउन्सिल ऑफ राजस्थान अध्यक्ष श्रीमती श्रेया गुहा, (आई. ए. एस.) ने बताया कि वार्ता में राजस्थान की लोकचित्र परंपराओं  कावड़, फड़, तोरण, आलिये, पिछवई, मांडणा, गोदना व मेहंदी इत्यादि पर विस्तार पूर्वक चर्चा की गई।उन्होंने बताया कि राजस्थान के लोक जीवन में व्याप्त लोक कलाओं खास करके लोक चित्रों के अंतर्निहित भाव और संदेशों को प्रस्तुत करना था।राजस्थान की लोक चित्रकला के संरक्षण व प्रोत्साहन की आवश्यकता पर भी जोर दिया गया । लोक चित्रकला के प्रदर्शन व संरक्षण से राजस्थान का इतिहास संस्कृति विरासत जीवित रहेगी। इसके अतिरिक्त राजस्थानी लोक चित्रों को भारतीय लोक चित्रों व विश्व के अन्य भागों के लोक चित्रों के साथ तुलनात्मक वार्ता की गई। वार्ता आयोजन का उद्देश्य कलाओं के लोकतंत्रीकरण व कलाओं के संरक्षण व प्रोत्साहन हेतु आमजन में सजकता व जागृति उत्पन्न करना था।

क्षेत्र के विकास में कमी नहीं आएगी- सांसद दीयाकुमारी


जयपुर।
 सांसद दीयाकुमारी के जन्म दिवस पर सादगी और उत्साह पूर्वक पूरे संसदीय क्षेत्र में अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गए। हवन पूजन, पीपल पूजन, गौ पूजन, रक्तदान शिविर, सुंदरकांड पाठ, गौशालाओं और सेवा बस्ती में सेवा और सामाजिक सरोकार के कार्य किये गए जन्मदिवस के अवसर पर सांसद दीयाकुमारी ने प्रभु श्रीनाथजी, श्रीचारभुजानाथजी और श्रीद्वारिकाधीशजी मंदिर दर्शन कर क्षेत्र की प्रगति के साथ प्रदेश और राष्ट्र की खुशहाली की कामना की। चारभुजा में आयोजित सम्मान समारोह में चारभुजा से नाथद्वारा तक NH-162 E के दो लेन सड़क के लिए मिले 838.43 करोड़ रु. के लिए मोदी सरकार का आभार व्यक्त करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने कहा कि क्षेत्र के विकास में किसी भी तरह की कौताही नहीं बरती जाएगी। हरिओम-दीया फेन्स, समस्त व्यापार मंडल सोसायटी, चारभुजा मंडल, ओलादर मंडल, महिला मंडल, भाजपा कार्यकर्ता सहित अनेक सामाजिक संगठनों ने सांसद दीयाकुमारी का इकलाई, शॉल, श्रीफल, फूलमाला, ओढ़नी, रानी लक्ष्मीबाई की छविचित्र के साथ तलवार भेंट कर स्वस्थ एवं दीर्घायु होने के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की।

Saturday, January 29, 2022

अनतपुरा में एक ही परिवार के 5 घरों में चोरों ने किया हाथ साफ

 



-- करीब दस लाख रुपए से अधिक की बताई जा रही चोरी
-- सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश

द पब्लिक साइड
किशनगढ़ रेनवाल। रेनवाल थाना इलाके के अनतपुरा गांव में चोरों ने शुक्रवार की देर रात बेखौफ होकर एक ही जाति के पांच घरों को निशाना बनाकर लाखों रुपए कीमत के सामान एवं नगदी चोरी कर ली। शनिवार सुबह ग्रामीणों द्वारा चोरी की सूचना पाकर रेनवाल थाना प्रभारी उमराव सिंह गुर्जर मय टीम मौके पर पहुंचे। पुलिस स्थानीय सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश कर रही है।
पीड़ित पक्ष के ओमप्रकाश जांगिड़, हरिनारायण जांगिड़, बंसीलाल जांगिड़, मनोज कुमार जांगिड़, गोपाललाल जांगिड़ ने बताया कि बीती देर रात चोरों ने हम सभी के मकानों को निशाना बनाकर करीब 10 लाख रुपए से अधिक की कीमत का सामान, नगदी और जेवर चुराकर फरार हो गए। घटना के वक्त एक मकान में वृद्ध महिला भंवरी देवी सो रही थी, जिसके कमरे की कुंडी बाहर से चोरों ने बंद कर दी और मकान मालिक मनोज कुमार की पत्नी किसी काम से दातारामगढ़ गई हुई थी, और चोरों ने इस घटना को अंजाम दे दिया। इसके अलावा अधिकतर घरों के लोग किसी ना किसी कारण से महाराष्ट्र और दांतारामगढ किसी आयोजन में गए हुए थे।
मनोज जांगिड़,मुकेश जांगिड़, गोपाल जांगिड़ और बंशीलाल जांगिड़ का कहना है कि चोरों ने हमारे एक ही परिवार के घरों को निशाना बनाया है। हमारी जमापूंजी और मेहनत से कमाकर इकट्ठा किया सामान और जेवर चोर ले गए। जानकारी के अनुसार इनमें से अधिकतर पुरुष जयपुर एवं महाराष्ट्र में रहकर कमाते हैं। 

इनका कहना है :
घटना के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर चोरों की तलाश की जा रही है, शीघ्र ही आरोपी हिरासत में होंगे।
-- उमराव सिंह गुर्जर, पुलिस थाना प्रभारी,रेनवाल

सांसद राज्यवर्धन राठौड़ के जन्मदिवस पर मॉडर्न स्कूल में बोधि परीक्षा आयोजित

 


-- 500 परीक्षार्थियों ने लिया भाग
-- युवा टीम स्वाभिमान एवं डॉ भीमराव आंबेडकर मंच ने गौरव सप्ताह के रूप में मनाया

नवीन कुमावत
जयपुर ग्रामीण। पूर्व केंद्रीय मंत्री, जयपुर ग्रामीण एवं भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के जन्मदिवस को जयपुर ग्रामीण क्षेत्र में " गौरव सप्ताह" के रूप में मनाया गया। इसके तहत युवा स्वाभिमान टीम जयपुर ग्रामीण एवं डॉक्टर भीमराव आंबेडकर मंच पर द्वारा संयुक्त रूप से गौरव सप्ताह के अंतर्गत मॉडर्न पब्लिक स्कूल में बोध परीक्षा का आयोजन किया गया। जिसमें 500 विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। इसमें प्रथम स्थान, द्वितीय स्थान, तृतीय स्थान एवं अन्य सभी हिस्सा लेने वाले विद्यार्थियों को प्रमाण पत्र एवं मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। 
मॉडर्न स्कूल के निदेशक दौलत सिंह खंगारोत एवं परीक्षा आयोजक एडवोकेट भंवर सिंह लखावत ने बताया कि इस परीक्षा में प्रथम स्थान गिनल खंगारोत, द्वितीय स्थान पर प्रिया प्रजापत एवं तृतीय स्थान पर इशिका खांडल और गिरजा शर्मा सहित सभी विद्यार्थियों को मोमेंटो और प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर मॉडर्न स्कूल निदेशक दौलत सिंह खंगारोत, एडवोकेट भंवर सिंह लखावत, सुनील, पंकज, भगवती प्रसाद शर्मा, दिनेश, देवेंद्र कुमार, शिवराज सिंह, राजेश शर्मा, रजत शर्मा, भरत जांगिड़ एवं पंकज जांगिड़ आदि मौजूद रहे।

Friday, January 28, 2022

सांसद ने जताया नितिन गड़करी और मोदी सरकार का आभार

जयपुर।  सांसद दीयाकुमारी के कठोर परिश्रम और अथक प्रयासों का ही नतीजा है कि राजसमन्द जिले को केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय से एक बार फिर 838.43 करोड़ रुपये का उपहार मिला है। विदित रहे कि इससे पूर्व भी केन्द्र सरकार ने गोमती से ब्यावर फोरलेन परियोजना के लिए भी 722 करोड़ रुपये स्वीकृत किये थे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी द्वारा बजट सत्र के पूर्व ही कि गई घोषणा में बताया कि  NH-162 E के चारभुजा से निचली ओड़न (नाथद्वारा) खंड को 2 लेन (पेव्ड शोल्डर के साथ) में उन्नयन के लिए 838.43 करोड़ ₹ का बजट स्वीकृत किया गया है। बजट स्वीकृति पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए सांसद दीयाकुमारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी और सड़क परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस सड़क की स्वीकृति से ऐतिहासिक कुम्भलगढ़ दुर्ग एवं हल्दीघाटी का उदयपुर से तथा धार्मिक स्थल श्रीएकलिंगनाथजी,  श्रीनाथजी, श्रीचारभुजाजी एवं श्रीद्वारिकाधीशजी मंदिर का सीधा जुड़वा होने से पर्यटन के क्षेत्र को विकास के पंख लगेंगे वहीं आम जनता के लिए यात्रा सुगम, सरल और कम खर्चीली हो सकेगी ।

शनिवार को बिहार की ऐतिहासिक लोक कला मंजूषा पेंटिंग पर होगी वर्कशॉप



जयपुर: आर्टिस्ट कम्यूनिटी ‘द सर्किल‘ के लिये शनिवार, 29 जनवरी को दोपहर 3 बजे बिहार की ऐतिहासिक लोक कला मंजूषा पेंटिंग पर वर्कशॉप का निःशुल्क आयोजन किया जायेगा। रूफटॉप ऐप द्वारा आयोजित एवं राजस्थान स्टूडियो द्वारा प्रस्तुत इस वर्कशॉप का आयोजन आजादी का अमृत महोत्सव - सेलिब्रेटिंग इंडिया एट 75 के तहत किया जा रहा है। इस वर्कशॉप का संचालन भुवनेश्वर की कलाकार रोजाली पांडा करेंगी। मंजूषा पेंटिंग को भारतीय इतिहास में एकमात्र ऐसी कला शैली के रूप में जाना जाता है जिसमें कहानी का क्रमिक प्रदर्शन होता है। सिंधु घाटी सभ्यता में भी इस कला के ऐतिहासिक प्रमाण मिले हैं। इसे स्क्रॉल पेंटिंग भी कहा जाता है। 7वीं शताब्दी की यह आर्ट अंग प्रदेश (भागलपुर, बिहार) में बेहद लोकप्रिय है।  उल्लेखनीय है कि इस कला का उद्गम बिहुला और विषहरी की लोककथा से हुआ है। यह विषहरी पूजा के धार्मिक महत्व को भी प्रदर्शित करती है। इस पेंटिंग में पाँच प्रकार की बॉर्डर होती हैं - लहरिया, बेलपत्र, सर्प की लडी, त्रिभुज और मोखा। इसमें मुख्य रूप से तीन रंगों - गुलाबी, हरे और पीले रंग का प्रयोग किया जाता है। 

महिंद्रा ने ई अल्फा कार्गो के लॉन्च के साथ ई-कार्ट सेगमेंट में प्रवेश किया

मुंबई, 28 जनवरी, 2022महिंद्रा समूह के घटक, महिंद्रा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड ने आज अपना नया इलेक्ट्रिक 3-व्हीलर, ई अल्फा कार्गो लॉन्च किया। ई अल्फा कार्गो  की कीमत आकर्षक रूप से 1.44 लाख, एक्स-शोरूम दिल्ली रखी गयी है। ई अल्फा कार्गो के मालिक डीजल कार्गो 3-व्हीलर की तुलना में ईंधन की लागत में 60 0000.00 प्रति वर्ष तक बचा सकते हैं। ई अल्फा कार्गो के लॉन्च के साथ महिंद्रा ने तेजी से बढ़ते ई-कार्ट सेगमेंट में प्रवेश कर लिया है।

महिंद्रा इलेक्ट्रिक मोबिलिटी लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सुमन मिश्रा ने कहा, “लास्ट माइल डिलीवरी सेगमेंट में इलेक्ट्रिक थ्री-व्हीलर्स को उत्कृष्ट रूप से अपनाया जा रहा है, क्योंकि जीवाश्म ईंधन से चलने वाले 3-व्हीलर की तुलना में इसमें महत्वपूर्ण रूप से परिचालन लागत लाभ मिल रहा है। हम अब इस सेगमेंट में ग्राहकों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए ई अल्फा कार्गो ई-कार्ट लॉन्च कर रहे हैं। डीजल कार्गो 3-व्हीलर  की तुलना में ₹ 60 000.00 की बचत के साथ, ई अल्फा कार्गो का उद्देश्य कार्गो सेगमेंट में एक स्थायी, प्रदूषण मुक्त समाधान प्रदान करना है।"

महिंद्रा ई अल्फा कार्गो की मुख्य विशेषताएँ:

बड़ी बचत

  • डीजल कार्गो 3-व्हीलर्स की तुलना में अल्फा कार्गो के साथ ईंधन लागत पर ₹ 60 000.00 की बचत करें (₹6/लीटर, दिल्ली में दिसंबर 2021 तक प्रचलित दर)
  • मात्र 59 पैसे प्रति किलोमीटर की निम्न परिचालन लागत(बिजली शुल्क ₹8/इकाई को ध्यान में रखते हुए)

मांग पर उच्च टॉर्क

  • एकीकृत डिफरेंशियल के साथ ड्युअल स्पीड मैनुअल ट्रांसमिशन 7 डिग्री की अच्छी ग्रेडिबिलिटी सुनिश्चित करता है
  • विशिष्ट अतिरिक्त हाई टॉर्क गियर का उपयोग करने पर5 kW . की पीक पावर

बड़े डाइमेंशंस के बावजूद ड्राइव करने में कंपैक्ट

  • 310 किग्रा.के पेलोड के साथबड़ा और चौड़ा कार्गो ट्रे जो इस सेगमेंट के ग्राहकों की मांगों को पूरा करता है

उत्कृष्ट रेंज, उच्च शक्ति और आसान चार्जिंग

  • ई अल्फा कार्गो की 80 किमी. की रेंज, 1.5 किलोवाट की सर्वाधिक शक्ति
  • 25 किमी/घंटा की टॉप स्पीड
  • ऑफ बोर्ड 48 वी/15 ए चार्जर के साथ, ई अल्फा कार्गो को चार्ज करना मोबाइल फोन चार्ज करने जितना आसान है

उन्नत प्रौद्योगिकी

  • पूरी तरह से डिजिटल इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर एक नज़र में स्टेट ऑफ़ चार्ज (SoC), रेंज, स्पीड और अन्य उपयोगी व महत्वपूर्ण रीड-आउट देता है

महिंद्रा की विश्वसनीयता

  • 3-व्हीलर्स के लिए लगभग 300 आउटलेट्स के साथ भारत का सबसे बड़ा सर्विस नेटवर्क
  • 1 साल/असीमित किलोमीटर की वारंटी देता है मन को सुकून

बैंक ऑफ़ इंडिया में धूमधाम से मनाया गया 73वां गणतन्त्र दिवस समारोह

देश के अग्रणी बैंक, बैंक ऑफ इंडिया ने अपने मुंबई स्थित प्रधान कार्यालय में 73वेंगणतन्त्र दिवस समारोह को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उत्‍साहपूर्वक मनाया। इस अवसर पर बैंक के एमडी एवं सीईओ श्री ए. के. दास ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया। समारोह में बैंक के कार्यपालक निदेशक श्री पी.आर. राजगोपाल, श्री स्वरूप दासगुप्ता, श्री एम. कार्तिकेयन तथा सुश्री मोनिका कालिया एवं सीवीओ श्री एल एन रथ एवं महाप्रबंधकगण मौजूद रहे।

ध्वजारोहण के बाद, देशभक्ति विषय पर डिजिटल माध्यम सें आयोजित एकल गायन/कविता पाठ के विजेता बच्चों के नाम की उद्घोषनाकी गयी ।

महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स और टाटा 1mg ने वेलनेस सॉल्यूशंस के लिए महत्वपूर्ण साझेदारी की

मुंबई, 28 जनवरी, 2022: महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज (महिंद्रा फाइनेंस) की सहायक कंपनी, महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स (एमआईबीएल) ने आज भारत की भरोसेमंद हेल्थकेयर कंपनी टाटा 1mg के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की। इस भागीदारी को कॉर्पोरेट भारत को एक समग्र और पूर्ण कल्याण समाधान प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसके जरिए कॉर्पोरेट कर्मचारियों और उनके परिवारों को आवश्यकानुसार स्वास्थ्य समाधान उपलब्ध कराये जायेंगे।

इस साझेदारी के माध्यम से, महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स और टाटा 1mg स्वास्थ्य और कल्याण से जुड़े कार्यक्रम तैयार करेंगे, और कॉरपोरेट्स, उनके कर्मचारियों के साथ-साथ उनके परिवारों के लिए अनुकूल पैकेज तैयार करेंगे, उनकी अनूठी स्वास्थ्य जरूरतों को पूरा करेंगे। कुछ लाभों में 24X7 टेली-डॉक्टर एक्सेस, 1-1 परामर्श सहायता, घरेलू नमूना संग्रह, फार्मेसी पर छूट, स्वास्थ्य जांच, चिकित्सा उपकरण, व्यक्तिगत देखभाल, सप्लीमेंट्स और अन्य सुविधाएं शामिल हैं। इस साझेदारी में टाटा 1mg की मोबाइल ऐप सुविधा भी शामिल होगी, जो उपयोगकर्ताओं को घर बैठे विशेष रूप से तैयार किए गये प्रोग्राम्स उपलब्ध करायेगी।

गठबंधन के बारे में बताते हुए, वेदनारायणन शेषाद्री, प्रबंध निदेशक और प्रधान अधिकारी, एमआईबीएल ने कहा, "मौजूदा समय में, कंपनियां मूल रूप से संगठन के कर्मचारियों की व्यक्तिगत जरूरतों और कल्याण आवश्यकताओं पर ध्यान दे रही हैं।हमने कई पहल की हैं और टाटा 1mg के साथ हमारा गठजोड़ वेलनेस के क्षेत्र में एक समझदार बदलाव की दिशा में एक और कदम है। हम कॉरपोरेट्स को स्वास्थ्य समाधान प्रदान करने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने पर भी विचार कर रहे हैं, कर्मचारियों के स्वास्थ्य और मानसिक कल्याण पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।"

इस नई साझेदारी के बारे में, डॉ वरुण गुप्ता, वरिष्ठ उपाध्यक्ष, टाटा 1mg, ने कहा,"हम महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स के साथ साझेदारी करके बेहद गर्व महसूस कर रहे हैं ताकि हम अपने कॉर्पोरेट ग्राहकों के कर्मचारियों को अपनी स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान कर सकें, और संगठनों को अपने कर्मचारियों को स्वस्थ, खुश और उत्पादक बनाए रखने में मदद करने के अपने प्रयासों को बढ़ा सकें। कई परिवार स्वास्थ्य देखभाल और बीमा को साथ-साथ लेकर चलते हैं, इस एकीकृत साझेदारी के साथ, महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड के कॉर्पोरेट ग्राहक अपने संबंधित कर्मचारियों को पूरे भारत में स्वास्थ्य सेवाएँ प्रदान कर सकेंगे।"

महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स पिछले 17 वर्षों में निष्पक्ष बीमा समाधानों और नवाचारों के माध्यम से अपने बेहतर ग्राहक अनुभव के आधार पर अपनी खुद की आकर्षक पहचान बनाने में सक्षम हुआ है। वेलनेस और स्वस्थ जीवन शैली के माध्यम से अपने ग्राहकों को मूल्य प्रदान करने के प्रयास के साथ, कंपनी ने वेल्थीयू पहल शुरू की है, जो एक वेलनेस प्रोग्राम है जो ग्राहकों के कार्यबल के शारीरिक और मानसिक कल्याण को प्राथमिकता देता है, और उनकी उत्पादकता व सकारात्मकता में योगदान देता है। वेल्थीयू के पास कई पेशकश और सेवाएं हैं जो कर्मचारियों की जीवन शैली को बढ़ाने के लिए ध्यानपूर्वक संरचित हैं।

टाटा 1mg ने स्वास्थ्य सेवा को सभी के लिए सुलभ, वहनीय और समझने योग्य बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कंपनी उपभोक्ताओं को अधिक किफायती विकल्प प्रदान करने के अलावा उनकी दवाओं के बारे में अधिक जानने में सक्षम बनाती है। इसके डॉक्टर प्लेटफॉर्म का उद्देश्य ऐसा बदलाव लाना है जिससेएक उपभोक्ता सही स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर ढूंढ सकें, और इसकी डायग्नोस्टिक्स सेवा प्रयोगशाला परीक्षणों में पारदर्शिता और मूल्य-प्रभावशीलता लाती है। कंपनी भारतीय उपभोक्ताओं और देखभाल करने वालों को सर्वोत्तम संभव कीमत पर सबसे उपयुक्त स्वास्थ्य सेवा का चयन करने के लिए सशक्त बनाने के दृष्टिकोण के साथ सार्वजनिक सेवा की भावना का प्रतीक है। टाटा 1mg ने डिजिटल हेल्थकेयर क्षेत्र में अग्रणी और प्रमुख होने के कारण देश भर में अपनी पहचान बनाई है।

महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स और टाटा 1mg मिलकर पूरे भारत में उपभोक्ताओं के लिए स्वास्थ्य और भलाई को बढ़ावा देंगे।

भारतपे ने अपने पीओएस कारोबार की पहुंच को 25 गुना बढ़ाया, उद्योग में अब तक की सबसे तेज गति से विस्तार

नई दिल्ली, 28 जनवरी, 2022- व्यापारियों के लिए भारत की अग्रणी फिनटेक कंपनी भारतपे ने आज घोषणा की कि उसने पिछले 12 महीनों में अपने पीओएस व्यवसाय (भारत स्वाइप) की पहुंच को 25 गुना तक बढ़ाकर इसे 250 से अधिक शहरों तक पहुंचा दिया है। 2020 की दूसरी छमाही में अपने पीओएस के लॉन्च के बाद से कंपनी ने ऑफ़लाइन दुकानों में 1.25 लाख से अधिक भारत स्वाइप मशीनों को लगा दिया है। करीब 1.5 साल की छोटी सी अवधि में इस दुर्लभ उपलब्धि को हासिल करते हुए भारतपे ने भारत में पीओएस कारोबार में अब तक के सबसे तेज पैमाने पर इतिहास रचा है।

भारत में नंबर 3 निजी पीओएस कंपनी भारतपे ने यह भी घोषणा की कि कंपनी ने पिछले 12 महीनों में अपने पीओएस बिजनेस के जरिये वार्षिक लेनदेन मूल्य में 200 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। कंपनी के समग्र ट्रांजेक्शन प्रोसेस्ड वैल्यू (टीपीवी) में अब भारतस्वाइप का योगदान लगभग 25 प्रतिशत है। गैर-मेट्रो शहरों की वजह से कंपनी के पीओएस व्यवसाय के विस्तार की दिशा में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। 2021 के बाद से कंपनी ने 50 प्रतिशत से अधिक भारत स्वाइप मशीनें टियर 2/टियर 3 कस्बों और शहरों में स्थापित की हैं। भारत स्वाइप को छोटे व्यापारियों और किराना, खाद्य और पेय, इलेक्ट्रॉनिक्स और ड्यूरेबल्स का विक्रय करने वाले खुदरा विक्रेताओं ने समान रूप से अपनाया है।

कंपनी की आक्रामक विस्तार योजनाओं के बारे मंे जानकारी देते हुए भारतपे के सीईओ श्री सुहैल समीर ने कहा, ‘‘भारत के पीओएस उद्योग में सबसे बड़ी विकास कहानी के तौर पर भारत स्वाइप का जिक्र किया जा सकता है। कंपनी ने 2020 में कोविड काल में मध्यम दर्जे के 10 शहरों के साथ शुरुआत करने से लेकर आज सालाना 4 बिलियन अमेरिकी डॉलर का ट्रांजेक्शन प्रोसेस्ड वैल्यू (टीपीवी) का आंकड़ा हासिल कर लिया है। पिछले वर्ष के दौरान, हमने टियर-2, 3 और 4 शहरों और कस्बों में अपनी आक्रामक विस्तार योजनाओं के तहत पीओएस व्यवसाय में कई गुना वृद्धि दर्ज की है। हमने महसूस किया कि छोटे शहरों में बड़ी संख्या में व्यापारियों ने पीओएस से जुड़े ऊंचे किराये के कारण कभी भी पीओएस मशीन का उपयोग नहीं किया है और इसलिए, इसे हमारी जीरो-रेंटल वाली पीओएस मशीनों को आगे बढ़ाने के अवसर के रूप में लिया। हम पीओएस को अलाप्पुझा, आजमगढ़ और चालीसगांव जैसे छोटे शहरों में दूरदराज तक छोटे कारोबारियों तक पहुंचाने में कामयाब रहे। ये ऐसे इलाके हैं जहां बहुत कम डिजिटल सुविधाएं उपलब्ध हैं। देखा जाए तो हमारे 60 फीसदी से अधिक कारोबारी ऐसे हैं, जिन्होंने पहली बार पीओएस मशीन का इस्तेमाल किया है।’’

सुहैल ने आगे कहा, ‘‘डिजिटल भुगतान में इधर जो परिवर्तन आए हैं, उनसे व्यापारियों और अर्थव्यवस्था को बड़े पैमाने पर लाभ हुआ है। इनमें महामारी के समय में ग्राहकों को होने वाली आसानी, लेनदेन का बेहतर रिकॉर्ड और सबसे महत्वपूर्ण, क्रेडिट तक पहुंच शामिल है। पीओएस के जुड़ने से हम एक व्यापारी के दैनिक लेनदेन से उसकी वित्तीय ताकत का और अधिक आकलन कर सकते हैं और इस प्रकार, एनबीएफसी के साथ साझेदारी में व्यापारी की योग्यता के अनुसार व्यावसायिक ऋण की सुविधा प्रदान कर सकते हैं।’’

भारत स्वाइप भारत की पहली ज़ीरो-रेंटल कार्ड स्वीकृति मशीन है, जो व्यापारियों को शून्य लेनदेन शुल्क का विकल्प प्रदान करती है। 2020 में कोविड के बीच में लॉन्च भारत स्वाइप को अपने परिवर्तनकारी व्यवसाय मॉडल के कारण शानदार रेस्पॉन्स मिला है। भारत स्वाइप के साथ व्यापारी भारतपे यूपीआई क्यूआर पर किए गए दोनों क्यूआर लेनदेन के लिए फिजिकल रसीदें भी उत्पन्न कर सकते हैं।

पिछले साल अगस्त में भारतपे ने एक्सिस बैंक के साथ रणनीतिक साझेदारी की घोषणा की थी। इस साझेदारी के एक हिस्से के रूप में, एक्सिस बैंक भारतपे के पॉइंट ऑफ़ सेल (पीओएस) व्यवसाय भारत स्वाइप के लिए अधिग्रहण करने वाला बैंक बन गया है। साथ ही, एक्सिस बैंक अब भारतपे से जुड़े व्यापारियों के लिए क्रेडिट और डेबिट कार्ड की स्वीकृति को भी सक्षम बनाता है। भारतपे ने अपने पीओएस उपकरणों पर ग्राहक अनुभव को और बेहतर बनाने के उद्देश्य से बैंकों, वित्तीय संस्थानों और ब्रांड्स के साथ रणनीतिक साझेदारी को जारी रखने का निर्णय भी किया है। कंपनी मार्च 2023 तक क्यूआर और स्वाइप दोनों के माध्यम से ट्रांजेक्शन प्रोसेस्ड वैल्यू को 30 बिलियन अमेरिकी डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखती है।

भारतपे के बारे में

भारतपे की स्थापना भारतीय व्यापारियों के लिए फाइनेंशियल इनक्लूजन को एक वास्तविकता बनाने के उद्देश्य के साथ 2018 में अशनीर ग्रोवर और शाश्वत नकर्णी ने की थी। वर्ष 2018 में भारतपे ने देश का पहला यूपीआई इंटरऑपरेबल क्यूआर कोड, पहली जीरो एमडीआर भुगतान स्वीकृति सेवा को लॉन्च किया। 2020 में कोविड के बाद भारतपे ने भारत का एकमात्र जीरो एमडीआर कार्ड स्वीकृति टर्मिनल - भारत स्वाइप भी लॉन्च किया। वर्तमान में 140 से अधिक शहरों में 75 लाख से ज्यादा व्यापारियों को सेवा देने वाली यह कंपनी यूपीआई ऑफलाइन लेनदेन में अग्रणी है, जिसके पास प्रति माह 11 करोड़ से अधिक यूपीआई लेनदेन प्रोसेस होते हैं (वार्षिक लेन-देन प्रोसेस्ड वैल्यू 11 बिलियन अमेरिकी डॉलर)। लॉन्च के बाद से कंपनी पहले ही 300,000 मर्चेन्ट्स को 2800 करोड़ रुपए से अधिक के डिस्बर्समेंट की सुविधा प्रदान कर चुकी है। भारतपे का पीओएस कारोबार बढ़कर प्रतिमाह 1400 करोड़ रुपए से अधिक हो गया। भारतपे ने अब तक इक्विटी और ऋण के जरिये 650 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। कंपनी के मार्की निवेशकों की सूची में टाइगर ग्लोबल, ड्रेगोनीर इनवेस्टमेंट ग्रुप, स्टीडफास्ट केपिटल, कोएट्यू मैनेजमेंट, रिबबिट कैपिटल, इनसाइट पार्टनर्स, स्टीडव्यू कैपिटल, बीनेक्स्ट, एम्प्लो और सेक्विया कैपिटल शामिल हैं। जून 2021 में, कंपनी ने 100 मिलियन से अधिक सदस्यों के साथ देश की सबसे बड़ी मल्टी-ब्रांड लॉयल्टी प्रोग्राम कंपनी, पेबैक इंडिया के अधिग्रहण की घोषणा की। अगस्त 2021 में भारतपे ने अपनी तरह के पहले कंज्यूमर इनवेस्टमेंट प्लस लेंडिंग प्रोडक्ट 12 प्रतिशत क्लब के लॉन्च के साथ उपभोक्ता क्षेत्र में प्रवेश किया। सेंट्रम फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (सेंट्रम) और भारतपे के कंसोर्टियम को स्मॉल फाइनैंस बैंक (एसएफबी) स्थापित करने के लिए अक्टूबर, 2021 में भारतीय रिजर्व बैंक ने लाइसेंस प्रदान किया। भारतपे ने अक्टूबर में पोस्टपे के लॉन्च के साथ बाय नाउ पे लेटर सेगमेंट में भी अपनी शानदार एंट्री की।

जेकेके में 'फोटोग्राफी- एक कला के रूप में' विषय पर हुआ संवाद


जयपुर।
 जवाहर कला केंद्र (जेकेके) द्वारा आज़ादी का अमृत महोत्सव के तहत गुरुवार को 'फोटोग्राफी- एक कला के रूप में' विषय पर ऑनलाइन संवाद श्रृंखला का आयोजन किया गया। इस वार्ता में प्रसिद्ध फोटोग्राफर, शिरेश करराले और हिमांशु व्यास ने संवाद किया। इसके साथ ही उन्होंने अपनी यात्रा, अनुभव और फोटोग्राफी के विभिन्न शैलियों पर ज्ञान साझा किया। सत्र का प्रसारण जेकेके के फेसबुक पेज लाइव किया गया। मुंबई के एक विज्ञापन फोटोग्राफर और सेलिब्रिटी पोट्रेटिस्ट, शिरेश करराले ने बताया कि फोटोग्राफी का शौक उन्हें कॉलेज से था, वे किताबों और मेग्जींस से रेफरेंस लेकर फोटोग्राफी करते थे। उन्होंने कहा कि वे फोटोग्राफी में डिजाइन एलिमेंट को बहुत महत्व देते हैं। वे कमर्शियल के साथ-साथ ग्राफिक्स, एब्स्ट्रैक्ट, फाईन आर्ट में बेहद रूचि रखते हैं। किसी भी शैली में फोटोग्राफी में सब्जेक्ट के पैरामीटर्स, डिजाइन, थॉट प्रोसेस, कलर स्कीमिंग, लाईट को समझना बेहद जरूरी है। कैमरा एक शक्तिशाली हथियार है और यह किसी भी व्यक्ति में आत्म विश्वास भर देता है। डिजिटलाइजेशन के बाद फोटोग्राफी को काफी बढ़ावा मिला है। उन्होंने फोटोग्राफी में रूचि रखने वाले बच्चों को सलाह देते हुए कहा कि अच्छी फोटोग्राफी के लिए विजुअलाइजेशन और थॉट प्रोसेस पर ध्यान देना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि फोटोग्राफर को फोटो के बारे में समझ होनी चाहिए ताकि वे अपनी फोटो को लोगों को समझा पाएं। प्रतिष्ठित फोटोग्राफर हिमांशु व्यास ने कहा कि फोटोग्राफी एक गतिशील कला है। इसे उसी क्षण में करना होता है। इसमें स्थान का महत्व इतना अधिक नहीं होता, आप जहां खड़े हैं वही आपका स्टूडियो है। एक फोटोग्राफर को अपने आस-पास के लोगों, वातावरण और उपलब्धता के प्रति अवेयर होना चाहिए। उन्होंने बताया कि पहले के समय में फोटोग्राफी मुश्किल हुआ करती थी, पर आज के समय में फोटोग्राफी आसान कला है। उन्होंने आगे कहा कि फोटोग्राफी एक यंग आर्ट है। इस पर चर्चा और चिंतन करना बेहद जरूरी है।

Thursday, January 27, 2022

टाटा पावर ने अपने 'ट्री मित्र' ऐप के ज़रिए नागरिकों को जलवायु के लिए सक्रियता के समर्थक बनने का आमंत्रण

राष्ट्रीय, 27 जनवरी 2022: टाटा पावर ने #DoGreen की अपनी प्रतिबद्धता को निभाते हुए और पृथ्वी के कल्याण के लिए सामूहिक प्रयासों में अपने योगदान के रूप में, अंतरराष्ट्रीय शिक्षा दिवस पर अपना 'ट्री मित्र' ऐप शुरू किया है। दुनिया भर में शांति बनाए रखने और सतत विकास लाने में शिक्षा द्वारा निभायी जा रही भूमिका का महत्त्व सभी तक पहुंचाने के लिए 2018 में संयुक्त राष्ट्र द्वारा इस दिन की घोषणा की गई थी। इस दिवस पर टाटा पावर द्वारा शुरू की गयी अनूठी पहल का लक्ष्य पर्यावरण के अनुकूल कार्यों के ज़रिए पृथ्वी की रक्षा करने में व्यक्तिगत क्षमता की शक्ति का सम्मान करना और हरित भविष्य का निर्माण करने के लिए जैव विविधता के समर्थकों को बढ़ावा देना है।

इस ऐप को कंपनी ने लाभ के लिए नहीं बनाया है, यह निःशुल्क ऐप है, जिसे भारत की जैव विविधता के महत्त्व के बारे में जागरूकता को बढ़ाने के उद्देश्य से बनाया गया है। इसमें लोगों को एक 52 इमेज वॉलपेपर कैलेंडर मिलता है, हर इमेज एक अनोखे भारतीय पेड़ की कहानी बताती है। ऐप के हर डाउनलोड के साथ भारत में अपने कार्यस्थलों के आसपास एक पौधा लगाने की प्रतिज्ञा कंपनी ने ली है।  इस तरह से अपने स्मार्टफोन्स पर कुछ क्लिक्स के साथ सच्चा ट्री मित्र बनने की शक्ति यह ऐप लोगों को प्रदान करेगा।

भारत की सबसे बड़ी एकीकृत बिजली कंपनी होने के नाते, एक हरित और शुद्ध ऊर्जा ब्रांड बनने की दिशा में कार्य नेतृत्व पर ध्यान केंद्रित करते हुए, टाटा पावर अपने कर्मचारियों, ग्राहकों और हितधारकों को प्रेरित करने और शामिल करने के लिए कई पहल और पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं का समर्थन करती है।

वनीकरण के अभियान में महत्वपूर्ण योगदान देने के अलावा, यह ऐप पेड़ों के बारे में अनूठी जानकारी तक पहुंच प्रदान करता है और पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं को अपनाने के महत्व को सभी तक पहुंचाता है, इस ऐप के आकर्षक वॉलपेपर्स बहुत ही प्रभावकारी ढंग से पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देते हैं। मोबाइल स्क्रीन्स के बैकग्राउंड पर इन वॉलपेपर्स को हर हफ्ते अपडेट किया जाएगा। 

जैव विविधता की सुरक्षा और बहाली के लिए टाटा पावर द्वारा किए जा रहे प्रयासों में 'ट्री मित्र' ऐप एक और महत्वपूर्ण पहल है। 'ट्री मित्र' पहल के तहत, टाटा पावर पिछले 40 वर्षों से एक अनूठा वृक्षारोपण अभियान चला रहा है, जिसमें कर्मचारियों और उनके परिवारों को एक पेड़ लगाने, उसे अपनाने और उसकी देखभाल करके बड़ा करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है। इस दौरान पूरे महाराष्ट्र, झारखंड, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, गुजरात और कर्नाटक में समूह के कई कार्यस्थलों पर 100 लाख से अधिक पौधे लगाए गए हैं।

पश्चिमी घाटों और भारत भर के अन्य स्थानों में अपनी ऑपरेटिंग साइट्स के आसपास की वनस्पतियों और जीवों की व्यापक विविधता के संरक्षण के लिए कंपनी ने पिछले कुछ वर्षों में कई कदम उठाए हैं। कंपनी का कई पुरस्कारों से नवाज़ा गया वालवन गार्डन और महाराष्ट्र के लोनावला में 50 सालों से चलाया जा रहा, 'एक्ट फॉर माहसीर' कार्यक्रम कंपनी की पर्यावरण सुरक्षा के प्रति निष्ठा प्रमाण हैं।

पर्यावरण के अनुकूल और जिम्मेदारियों को पूरी तरह से निभाने वाली व्यावसायिक रणनीतियों को अपनाकर पर्यावरण संरक्षण एजेंडा में योगदान देने के लिए टाटा पावर प्रतिबद्ध है। 2045 से पहले कार्बन तटस्थता हासिल करने के लिए प्रतिबद्ध होने वाली यह देश की पहली बिजली कंपनी है और डब्ल्यूबीसीएसडी और दुनिया की अन्य 10 कंपनियों के साथ बिजली कंपनियों के लिए पहला एसडीजी रोडमैप बनाने वाली एकमात्र भारतीय कंपनी है। 2030 तक वाटर न्यूट्रलिटी और जीरो वेस्ट टू लैंडफिल हासिल करने के लिए एक स्पष्ट रोडमैप भी टाटा पावर ने विकसित किया है।

ट्री मित्र ऐप को निःशुल्क डाउनलोड के लिए उपलब्ध कराकर इस पहल को ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुंचाने का टाटा पावर कंपनी का उद्देश्य है। अधिक जागरूकता के साथ-साथ व्यापक उद्देश्य के लिए आगे आने के लिए ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को क्लाइमेट-एक्शन चैम्पियन्स बनने के लिए प्रोत्साहित करना भी कंपनी का लक्ष्य है। 

Wednesday, January 26, 2022

एक्सिस बैंक के वित्त वर्ष'22 की तीसरी तिमाही और नौ महीने के परिणाम: 3,614 करोड़ रु. का कर-पश्चात मुनाफा दर्ज कराया

 

भारत के तीसरे सबसे बड़े प्राइवेट बैंक, एक्सिस बैंक ने वित्त वर्ष'22 की तीसरी तिमाहीए और नौ महीने के अपने परिणामों की आज घोषणा की। इसने अभी तक का सबसे अधिक तिमाही शुद्ध मुनाफा 3,614 करोड़ रु. दर्ज कराये, जिसमेंवित्त वर्ष'21 की तीसरी तिमाही के 1,117 करोड़ रु. के मुनाफे की तुलना में 224 प्रतिशत की वर्ष-दर-वर्ष और 15 प्रतिशत की तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि हुई है। बैंक की शुद्ध ब्याजीय आय वित्त वर्ष'22 की दूसरी तिमाही के 7,900 करोड़ रु. और वित्त वर्ष'21 की तीसरी तिमाही के 7,373 करोड़ रु. से 17 प्रतिशत की वर्ष-दर-वर्ष की वृद्धि के साथ वित्त वर्ष'22 की तीसरी तिमाही में 8,653 करोड़ रु. हो गयी। वित्त वर्ष'22 की तीसरी तिमाही का इसका शुद्ध ब्याजीय मार्जिन (एनआईएम) 14 आधार अंक तिमाही-दर-तिमाही बढ़कर 3.35 प्रतिशत हो गया। कासा जमा में 25 प्रतिशत वर्ष-दर-वर्ष और 7 प्रतिशत की तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि हुई, जबकि कासा अनुपात 189 आधार अंक बढ़कर 44 प्रतिशत हो गया। बैंक के परिचालन राजस्व में 21 प्रतिशत की वृद्धि हुई और यह वित्त वर्ष'21 की तीसरी तिमाही के 10,302 करोड़ रु. से बढ़कर वित्त वर्ष'22 की तीसरी तिमाही में 12,493 करोड़ हो गया। 31 दिसंबर, 2021 तक, बैंक ने क्रमशः 3.17 प्रतिशत और 0.91 प्रतिशत का सकल एनपीए और शुद्ध एनपीए दर्ज कराया, जो 30 सितंबर, 2021 को क्रमशः 3.53 प्रतिशत और 1.08 प्रतिशत था। बैंक की शुल्क आय 15 प्रतिशत की वर्ष-दर-वर्ष वृद्धि और 3 प्रतिशत की तिमाही-दर-तिमाही वृद्धि के साथ 3,344 करोड़ रु. हो गया। खुदरा शुल्क में 16 प्रतिशत की वर्ष-दर-वर्ष और 6 प्रतिशत की तिमाही-दर-तिमाही की वृद्धि हुई; और यह बैंक की कुल शुल्क आय का 65 प्रतिशत रहा। वित्त वर्ष'22 के 9 महीने के लाभ सहित बैंक का कुल पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीएआर) 18.72 प्रतिशत रहा और सीईटी 1 अनुपात 15.33 प्रतिशत रहा। बैंक की घरेलू सहायक कंपनियों ने दमदार प्रदर्शन किया और कुल 872 करोड़ रु. का कर-पश्चात मुनाफा दर्ज कराया, जो वित्त वर्ष'21 के 9 महीने के कुल 541 करोड़ रु. के मुनाफे की तुलना में 61 प्रतिशत वर्ष-दर-वर्ष अधिक है।

 

 

बीवीजी इंडिया ने जम्मू और कश्मीर की जेकेईएमएस 108/102 आपातकालीन चिकित्सा सेवाओं के लिए 34 और एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट डायल-108 एम्बुलेंस शामिल किए

राष्ट्रीय, 26 जनवरी 2022: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर, बीवीजी इंडिया लिमिटेड जो आपातकालीन प्रतिक्रिया सेवाओं की पेशकश करने वाली एक प्रमुख कंपनी है, ने जम्मू और कश्मीर के जेकेईएमएस 108/102 आपातकालीन चिकित्सा सेवा बेड़े में 34 और एडवांस्ड लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस शामिल किए हैं। इन एम्बुलेंसेज के शामिल किए जाने के साथ, बीवीजी जम्मू और कश्मीर एवं लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 511-मजबूत एम्बुलेंस बेड़े के साथ सेवा कर रहा है, इस बेड़े में डायल -108 के लिए 211 एम्बुलेंस और डायल -102 सेवा के लिए 300 एम्बुलेंस शामिल हैं। जम्मू-कश्मीर के माननीय उपराज्यपाल, श्री मनोज सिन्हा जी ने इन अतिरिक्त 34 एम्बुलेंसों को झंडी दिखाकर रवाना किया। श्री एच.आर. गायकवाड़, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, बीवीजी इंडिया ने बीवीजी टीम के साथ श्री मनोज सिन्हा के इस भाव के लिए उनके प्रति आभार व्यक्त किया।

जम्मू और कश्मीर इमर्जेंसी मेडिकल सर्विसेज 108/102, जम्मू-कश्मीर और लद्दाख सरकार और बीवीजी इंडिया लिमिटेड के बीच एक सार्वजनिक निजी भागीदारी उद्यम है। इस पहल की शुरुआत 24 मार्च 2020 को 416 एंबुलेंस से की गई थी। 2 साल से भी कम समय में, बीवीजी ने 95 और एम्बुलेंस शामिल किए और यह 15 जनवरी 2022 तक 1.23 लाख से अधिक रोगियों (108 - 98,397 और 102 - 24,960) की सेवा प्रदान कर चुकी है। जम्मू-कश्मीर 108 के अंतर्गत, बीवीजी इंडिया टीम 6.96 लाख कॉल्स को हैंडल कर चुकी है और जम्मू-कश्मीर 102 के अंतर्गत 10.73 लाख कॉल्स को हैंडल कर चुकी है।

बीवीजी इंडिया, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जम्मू और कश्मीर की सेवा करता रहा है, और जेके इमरजेंसी मेडिकल सर्विसेज (जेकेईएमएस) की महत्वाकांक्षी पहल ने आज घोषणा की है कि इसकी विश्व स्तरीय आपातकालीन प्रतिक्रिया सेवाओं और जेकेईएमएस एम्बुलेंस सेवाओं ने अब तक जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के एक करोड़ से अधिक लोगों को लाभ पहुँचाया है।

बीवीजी एम्बुलेंस सेवा भारत की पहली परियोजना है जहां एक योग्य डॉक्टर दवाओं और आपातकालीन जीवन रक्षक उपकरणों के साथ एम्बुलेंस में रोगी की देखभाल करता है, जबकि पूरे भारत में गैर-बीवीजी एम्बुलेंस में सिर्फ एक पैरामेडिक होता है। एम्बुलेंस में डॉक्टर्स द्वारा मरीजों की देखभाल के महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 24 मार्च 2020 से 15 जनवरी 2022 तक बीवीजी जेकेईएमएस कुल 1.23 लाख आपातकालीन मामलों में सेवा प्रदान कर चुका है। इसमें एम्बुलेंस में लगभग 400 बच्चों का जन्म, लगभग 12,000 कोविड रोगियों और 750 वेंटिलेटेड रोगियों की देखभाल शामिल है। इस प्रतिबद्ध और गुणवत्तापूर्ण सेवा के कारण, जम्मू और कश्मीर राज्य सरकार ने बीवीजी को 'सहुलियत कश्मीर' पुरस्कार से भी सम्मानित किया है जो राज्य में कोविड-19 राहत प्रयासों में उनके योगदान के लिए दिया गया है।

लोकप्रिय 102-108 एम्बुलेंस सेवाओं के जरिए अनंतनाग, बांदीपोरा, बारामूला, बडगाम, डोडा, गांदरबल, लेह, जम्मू, कारगिल, कठुआ, किश्तवाड़, कुलगाम, कुपवाड़ा, फुलवामा, पुंछ, राजौरी, रामबन, रियासी, सांबा, शोपियां, श्रीनगर और उधमपुर सहित 22 जिलों में फैले 1.25 करोड़ से अधिक की आबादी को सेवा प्रदान की जाती है। जम्मू और कश्मीर ईएमएस 24 मार्च 2020 को शुरू होने के बाद से, ग्रामीण, पहाड़ी और आदिवासी क्षेत्रों में स्वास्थ्य देखभाल सुविधा प्रदान करने में जबरदस्त वृद्धि हुई है।

चौधरी मोहम्मद यासीन, आईएएस; मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जम्मू-कश्मीर, ने भारत विकास समूह, इंडिया, लिमिटेड जेकेईएमएस टीम को जम्मू-कश्मीर केंद्रशासित राज्य में सभी चिकित्सा आपात स्थितियों / कोविड संदिग्धों / पॉजिटिव रोगियों की स्वास्थ्य प्रणाली की तैयारी और प्रतिक्रिया के लिए आभार प्रकट किया।

यासीन ने विशेष रूप से स्वास्थ्य और चिकित्सा शिक्षा विभाग जम्मू-कश्मीर और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जम्मू-कश्मीर की ओर से जेके इमर्जेंसी मेडिकल सर्विसेज के सफल कार्यान्वयन और संचालन के लिए भारत विकास समूह, जेकेईएमएस पेशेवरों की पूरी टीम द्वारा पहुँचाई गयी त्वरित सेवाओं की भी सराहना की।

प्रतिक्रिया की गई आपात स्थितियों में शामिल हैं: प्रसव / गर्भावस्था - 35%, चिकित्सा - 38%, कोविड -19 - 16%, आघात (वाहन) - 3%, आघात (गैर वाहन) - 3%। संस्थागत प्रसव में वृद्धि और शिशु और मातृ मृत्यु दर में कमी के संदर्भ में उच्च गुणवत्ता वाली पूर्व-अस्पताल देखभाल प्रदान की गई।

बीवीजी इंडिया लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (सीएमडी), श्री हनमंतराव रामदास गायकवाड़ ने कहा, “नए परिवर्धन के साथ, बीवीजी इंडिया के पास अब जम्मू-कश्मीर और लद्दाख केंद्र शासित प्रदेशों में 511 एम्बुलेंस का एक मजबूत बेड़ा है। इसमें डायल 108 के तहत 145 एडवांस लाइफ सपोर्ट और 66 बेसिक लाइफ सपोर्ट एम्बुलेंस और डायल -102 सेवा के तहत 300 एम्बुलेंस शामिल हैं।" उन्होंने आगे कहा, "बीवीजी की अग्रणी पहल जैसे डिफाइब्रिलेटर, वेंटिलेटर, ब्लड प्रेशर मॉनिटरिंग उपकरण, पल्स ऑक्सीमेट्री और सभी जीवन रक्षक दवाओं के साथ मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन डिलीवरी सिस्टम से लैस एम्बुलेंस और भारत में डॉक्टरों को एम्बुलेंस उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, जब करोड़ लोगों को गंभीर चिकित्सा सहायता की आवश्यकता थी।”

इसके अलावा, एम्बुलेंसों को 108 केंद्रीकृत कॉल सेंटर के साथ एकीकृत किया गया है। इसके अलावा कई परिवहन एम्बुलेंसों को वाहन ट्रैकिंग मैनेजमेंट सिस्टम (वीटीएमएस) के साथ जेएसएसके योजना के तहत मुफ्त परिवहन प्रदान करने के लिए 102 कॉल सेंटर के साथ एकीकृत किया गया है जिसमें स्वास्थ्य संस्थानों से घर तक और घर से स्वास्थ्य संस्थाओं तक का आवागमन शामिल है।

जम्मू-कश्मीर ईएमएस टीम द्वारा लगभग हर 10 मिनट में 1 आपातकालीन केस संभाला जाता है। यह प्रणाली 24X7 आपातकालीन प्रतिक्रिया केंद्र के साथ एकीकृत है।

इस परियोजना में सेवा देने के लिए 1,200 से अधिक पेशेवरों को प्रशिक्षित किया गया है जिसमें ईएमटी (आपातकालीन चिकित्सा तकनीशियन), पायलट (एम्बुलेंस चालक) और ईआरओ (आपातकालीन प्रतिक्रिया कार्यालय) शामिल हैं।

800 से अधिक चिकित्सा आपातकालीन पेशेवर जैसे डॉक्टर पैरा मेडिकोज और फाइल्ड प्रशासनिक कर्मचारी, ड्राइवर, भारत विकास समूह (बीवीजी इंडिया) के तहत जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में एंबुलेंस सेवाएं प्रदान करने के लिए सेवा कर रहे हैं।

इस गणतंत्र दिवस पर सैदपुर गांव और इसके लोगों को अंबुजा सीमेंट्स का सलाम - #IndiaSalutesSaidpur

 

मुंबई, 26 जनवरी, 2022- इस गणतंत्र दिवस पर अंबुजा सीमेंट्स लिमिटेड उत्तरप्रदेश के गांव सैदपुर की प्रेरक कहानी लोगों के सामने लेकर आया है। यह एक ऐसा गांव है, जहां लगभग हर घर से किसी एक सदस्य को देश की सरहदों की रक्षा करने के लिए फौज में भेजा जाता है। गांव में यह एक ऐसी परंपरा है, जिसका पालन लगातार किया जा रहा है।

#IndiaSalutesSaidpur शीर्षक वाली 2 मिनट लंबी एक डिजिटल फिल्म में इस गांव और इसके वाशिंदों की जिंदगी को दर्शाया गया है, जिसमें वे सरहदों की रक्षा के अपने वचन को निभाते नजर आते हैं।

सैदपुर यूपी का एक छोटा-सा गांव है। इस गांव में लगभग 3,500 पूर्व सैनिक हैं और 1,500 से अधिक सैनिक ड्यूटी निभा रहे हैं। गांव में एक इंटर कॉलेज है, जिसके माध्यम से, यह गांव स्वतंत्रता से पहले से ही भारत की रक्षा करने की गौरवपूर्ण परंपरा को बनाए रखते हुए, गांवों और जिले के युवाओं को फौज के लिए तैयार करता है।

अंबुजा सीमेंट्स के एमडी और सीईओ श्री नीरज अखौरी ने कहा, ‘‘सैदपुर की कहानी वास्तव में बहुत प्रेरणादायक है। इसने एक मेजर जनरल और भारतीय वायु सेना के लिए महिला पायलट तैयार किए हैं और देश को 95 शहीद दिए हैं। फिर भी प्रत्येक नई पीढ़ी गौरवशाली परंपरा को आगे बढ़ाने के लिए उत्सुक है। प्रत्येक व्यक्ति राष्ट्र के लिए एक रक्षक, एक अटूट दीवार बनने के लिए तैयार है। गणतंत्र दिवस पर, जैसा कि राष्ट्र मनाता है, हम उन लोगों को उजागर करना और सलाम करना चाहते हैं जो अपने जीवन की कीमत पर भी भारत की अखंडता की रक्षा करने के लिए तत्पर रहते हैं।’’

यह फिल्म ताकत, जोश, चरित्र और बलिदान की कहानी है। अंबुजा सीमेंट हमारे देश के सैदपुर और ऐसे ही कई अन्य गांवों की ताकत और समर्पण को सलाम करता है। दरअसल इस तरह अटूट जोश और दृढ़ रहने की इच्छाशक्ति को सलाम करने की चाहत है। यह एक वास्तविक कहानी है और यही इसे शक्तिशाली बनाती है। एक ऐसी कहानी जो बताती है कि कैसे गाँव का प्रत्येक व्यक्ति दुश्मन के सामने एक अटूट दीवार बनकर खड़ा है।

#IndiaSalutesSaidpur के साथ और यूट्यूब, फेसबुक और अन्य चैनलों पर कहानी का प्रचार करने के लिए प्रभावशाली लोगों को लाकर, अंबुजा सीमेंट एक ऐसे राष्ट्र की भावनाओं को सलाम करता है जो अपनी ताकत का जश्न मना रहा है। सैदपुर के नायकों ऐसे ही अन्य जांबाज वीरों को सैल्यूट!

होण्डा ने भारत में लॉन्च की 2022 सीबीआर650आर बुकिंग शुरू हुई!

नई दिल्ली, 26 जनवरी, 2022ः मिडलवेट स्पोर्ट्स बाईक कैटेगरी में भारतीय राइडिंग कम्युनिटी के जोश को और बढ़ाते हुए होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने नई 2022 सीबीआर650आर का लॉन्च किया है। यह नया मॉडल सीकेडी’ (’कम्पलीटली नॉक्ड डाउन) रूट के ज़रिए भारतीय बाज़ार में उपलब्ध कराया जाएगा, जिसे होण्डा के एक्सक्लुज़िव बिगविंग टॉपलाईन शोरूमों के माध्यम से बुक किया जा सकता है।

बेजोड़ परफोर्मेन्स और स्टाइल से युक्त 2022 सीबीआर650आर अपने क्लासिक फास्ट ‘पिक-अप’ और हार्ड हिटिंग एवं शानदार टॉप एंड रेंज के साथ युवा राइडरों को लुभाने का वादा करती है।

इस अवसर पर श्री अत्सुशी ओगाता, मैनेजिंग डायरेक्टर, प्रेज़ीडेन्ट एवं सीईओ, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘सीबीआर650आर का पावरफुल इंजन आरआर मशीन की तरह ज़बरदस्त जोश और स्पोर्टी परफोर्मेन्स देता है। 2022 सीबीआर650आर के साथ, उपभोक्ता मिडलवेट मोटरसाइकल पर राइडिंग के वास्तविक रोमांच का अनुभव पा सकेंगे।

नए 2022 मॉडल के लॉन्च पर विचार व्यक्त करते हुए श्री यदविंदर सिंह गुलेरिया, डायरेक्टर- सेल्स एण्ड मार्केटिंग, होण्डा मोटरसाइकल एण्ड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड ने कहा, ‘‘सीबीआर650आर हमेशा से नए एवं अनुभवी राइडरों को राइडिंग का जोशीला अनुभव प्रदान करती रही है। स्ट्राइप्स कलर में किए गए दिलचस्प बदलाव नई सीबीआर650आर के एरोडायनामिक्स को शानदार बनाते हैं और इसे अल्ट्रा-शार्प अपील देते हैं।

डिज़ाइन और स्टाइलिंग
आराम और शानदार लुक के बीच बेहतरीन तालमेल बनाते हुए 2022 सीबीआर650आर नए ओरेंज हाईलाईट्स (मैट गनपाउडर ब्लैक मैटेलिक कलर) और नए स्पोर्टी ग्राफिक्स (ग्राण्ड प्रिक्स रैड कलर के साथ) आती है। नए अपर एवं लोवर फेयरिंग्स, मस्कुलेरिटी के साथ स्लिम लाईनों का बेहतरीन संयोजन प्रतीत होते हैं, वहीं सीट युनिट रियर एंड को कॉम्पैक्ट और छोटा लुक देती है।

पावर और परफोर्मेन्स
649 सीसी, डीओएचसी 16-वॉल्व का इंजन, आनंददायी फोर सिलिंडर परफोर्मेन्स के साथ 12000rpm पर 64 kw की अधिकतम नेट पावर और 8500 rpm  पर 57.5 Nm का अधिकतम नेट टोर्क देता है।


कलर, कीमत और उपलब्धता
आज से होण्डा ने अपने एक्सक्लुज़िव प्रीमियम डीलरशिप्स- गुरूग्राम (हरियाणा), मुंबई (महाराष्ट्र), बैंगलुरू (कर्नाटक), इंदौर (मध्य प्रदेश), कोची (केरल), हैदराबाद (तेलंगाना) और चेन्नई (तमिलनाडु) में बिगविंग टॉपलाईन पर 2022 सीबीआर650आर की बुकिंग शुरू कर दी है।

2022 सीबीआर650आर
कलर ग्राण्ड प्रिक्स रैड
मैट गनपाउडर ब्लैक मैटेलिक
कीमत
एक्स-शोरूम गुरूग्राम (हरियाणा) रु 9,35,427

आईआईएम उदयपुर ने डिजिटल एंटरप्राइज मैनेजमेंट में अपने एक वर्षीय पूर्णकालिक एमबीए प्रोग्राम (बैच 2021-22) के लिए हासिल किया 100 प्रतिशत प्लेसमेंट

उदयपुर, 26 जनवरी, 2022- भारतीय प्रबंधन संस्थान उदयपुर ने अपने डिजिटल एंटरप्राइज मैनेजमेंट के एक वर्षीय पूर्णकालिक एमबीए बैच में लगातार दूसरे वर्ष भी 100 प्रतिशत प्लेसमेंट  दर्ज किया है। यह प्रोग्राम 2020 में शुरू किया गया था और डिजिटल डोमेन में देश का एकमात्र एक वर्षीय पूर्णकालिक एमबीए प्रोग्राम है और इस तरह कारोबार की नई डिजिटल दुनिया में विद्यार्थियों के सामने एक अनूठी पेशकश को संभव बनाता है। प्लेसमेंट सीज़न में कुल 47 कंपनियों ने भाग लिया और छात्रों को कुल 128 पदों का दायित्व सौंपा गया। संस्थान ने प्लेसमेंट सीजन के प्रमुख निष्कर्षों को साझा करते हुए यह जानकारी दी। आईआईएम उदयपुर चैथा ऐसा आईआईएम है, जो आईपीआरएस का हिस्सा है और ऑडिट का काम पूरा होने के बाद बाहरी रूप से ऑडिटेड प्लेसमेंट रिपोर्ट साझा करेगा।


भारतीय प्रबंधन संस्थान उदयपुर ने यह भी जानकारी दी कि पिछले साल के शुरुआती बैच की तुलना में इस साल के बैच के आकार में काफी वृद्धि हुई है। इसमें 3-5 साल के कार्य अनुभव वाले 26 छात्र और 5 वर्ष से अधिक के कार्य अनुभव वाले 11 छात्र शामिल हैं। इस ग्रुप का औसत कार्य अनुभव 55 महीने है। कोर्स करने के लिए अनिवार्य न्यूनतम कार्य अनुभव 3 वर्ष है।

संस्थान के विद्यार्थियों की इस उपलब्धि पर टिप्पणी करते हुए आईआईएम उदयपुर के निदेशक प्रो जनत शाह ने कहा, ‘‘मैं एक वर्षीय डिजिटल एंटरप्राइज मैनेजमेंट (डीईएम) में एमबीए बैच के विद्यार्थियों को उनकी इस शानदार उपलब्धि और 100 प्रतिशत प्लेसमेंट के लिए बधाई देता हूं। डिजिटल एंटरप्राइज मैनेजमेंट बैच के आकार में वृद्धि और नियोक्ताओं की ओर से मिले बेहतर रेस्पाॅन्स से यह साबित होता है कि वर्तमान दौर में कारोबारी प्रतिमानों मंे तेजी से बदलाव हो रहा है और इस दौर में डिजिटल लर्निंग के तौर-तरीकों का महत्व भी लोग समझने लगे हैं।’’

छात्रों ने वर्तमान दौर मंे महत्वपूर्ण और अत्यधिक प्रासंगिक डोमेन में कुछ सबसे अधिक मांग वाली भूमिकाएं हासिल कीं। इनमें डिजिटल रणनीति, डिजिटल परिवर्तन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग, डिजिटल अनुभव और क्लाउड जैसे डोमेन शामिल हैं।

प्रमुख टेक कंपनियां जैसे एक्सेंचर टेक्नोलॉजी, कॉग्निजेंट, ईएक्सएल, इनोवर डिजिटल, कांेगा, और आईटी सेवाओं और आईटी परामर्श डोमेन में अन्य कंपनियों ने सेक्टर स्पेसिफिक रोल प्रदान किए। ट्रांसवल्र्ड ग्रुप ऑफ़ कंपनीज़ ने डिजिटल मार्केटिंग, एनालिटिक्स और कॉर्पाेरेट स्ट्रैटेजी के क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय दायित्व सौंपा।

Accenture Strategy, IBM, Cognizant, Thoucentric, TheMathCompany, and Lumiq जैसी कंपनियों ने टैक्नोलाॅजी और मैनेजमेंट कंसल्टेंसी रोल दोनों की पेशकश की। रिलायंस डिजिटल और फ्लिपकार्ट जैसी रिटेल और ईकॉमर्स कंपनियों और लैटेंटव्यू एनालिटिक्स जैसी एंटरप्राइज एनालिटिक्स कंपनियों ने एनालिटिक्स भूमिकाएं पेश कीं। पब्लिसिस सैपिएंट, डिजिट, एकोलाइट डिजिटल और डेसीमल टेक्नोलॉजीज सहित दूसरी कंपनियों ने प्रोडक्ट संबंधी रोल आॅफर किए। थॉटवक्र्स, एम्फैसिस, इंफोसिस कंसल्टिंग सहित आईटी सर्विसेज और आईटी कंसल्टिंग की बड़ी कंपनियों ने भी प्लेसमेंट अभियान में भाग लिया।

डीईएम कोर्स के बारे में
आईआईएम उदयपुर का डिजिटल एंटरप्राइज मैनेजमेंट (डीईएम) डिजिटल डोमेन में अब तक का पहला एक साल का पूर्णकालिक एमबीए प्रोग्राम है और कार्य अनुभव वाले उम्मीदवारों को उभरते डिजिटल बिजनेस उद्यमों में प्रबंधन संबंधी अवधारणाओं और नेतृत्व भूमिकाओं के लिए तैयार करता है।

78% भारतीयों को लगता है कि बीमा समग्र वित्तीय योजना का एक अत्यंत महत्वपूर्ण हिस्सा है, एसबीआई लाइफ के फाइनेंशियल इम्यूनिटी सर्वे2.0 का खुलासा

जयपुर, 26 जनवरी, 2022: एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस, जो देश के सबसे भरोसेमंद निजी जीवन बीमा कंपनियों में से एक है, ने एक और व्यापक उपभोक्ता अध्ययन, द फाइनेंशियल इम्यूनिटी सर्वे 2.0 का अनावरण किया, जो देश में कोविड के बाद वित्तीय तैयारियों के प्रति उपभोक्ता के बदलते व्यवहार में गहरी अंतर्दृष्टि प्रदान करता है। एसबीआई लाइफ ने नीलसनआईक्यू (इंडिया)कंपनी के साथमिलकर यह सर्वेक्षण कराया, जिसमें भारत के कोने-कोने को शामिल करते हुए 28 प्रमुख शहरों के 5,000 प्रतिक्रियादाताओं को शामिल किया गया।

चल रही महामारी की पृष्ठभूमि में, अधिकांश भारतीयों को विश्वास है कि देश इस स्थिति या संभावित तीसरी लहर से पार पा लेगा । स्थिति का सामना करने में सक्षम होने का विश्वास आश्चर्यजनक नहीं है जब 80% भारतीय टीकाकरण की एकल या दोहरी खुराक लेने के कारण शारीरिक प्रतिरक्षा के लिए दृढ़ता से तैयार महसूस करते हैं। लेकिन 38% भारतीयों को लगता है कि अगले तीन महीनों में स्थिति और खराब हो सकती है और उन्हें (1) बढ़ती चिकित्सा/उपचार लागत (2) नौकरियों की अस्थिरता (3) परिवार/स्वयं के स्वास्थ्य को लेकर सबसे अधिक चिंता है।

सर्वेक्षण के निष्कर्ष आगे महामारी के कारण आय के प्रभाव के कारण उपभोक्ताओं द्वारा बताई गई शीर्ष चिंताओं के प्रति व्यवहार को डिकोड करने का प्रयास करते हैं, जहां 79% भारतीयों को आय में कमी का सामना करना पड़ा और 1/3 अभी भी कम आय का सामना कर रहे हैं। 64% भारतीयों को लगता है कि उनके जीवन के महत्वपूर्ण पड़ाव जैसे बचत जमा करना, अवकाश यात्रा, बाल शिक्षा प्रदान करना प्रभावित हुआ।

कोविड-19 और चारों ओर अनिश्चितता के साथ, वित्तीय प्रतिरक्षा का महत्व बढ़ गया है और 57% भारतीय इसे 'स्वयं/परिवार की वित्तीय सुरक्षा और स्थिरता' बनाए रखने में सक्षम होने से संबंधित हैं। 78% भारतीयों का मानना ​​है कि समग्र वित्तीय नियोजन प्रक्रिया में जीवन बीमा अत्यंत महत्वपूर्ण है। बीमा के इस महत्व को समझते हुए, 46% ने स्वास्थ्य बीमा खरीदा और 44% ने कोविड-19 के दौरान पहली बार जीवन बीमा खरीदा। लेकिन हालांकि भारतीयों को लगता है कि बीमा महत्वपूर्ण है, फिर भी वे अभी भी कम बीमित प्रतीत होते हैं क्योंकि उनका बीमा कवर उनकी वार्षिक आय का ~3.8 गुना है जो उनकी वार्षिक आय के अनुशंसित 10X या 25X के करीब भी नहीं है। 

ग्राहक नीचे दिये गये लिंक पर क्लिक करके अपने फाइनेंशियल इम्यूनिटी स्कोर का स्व-मूल्यांकन कर सकते हैं: https://www.sbilife.co.in/financialimmunity

सर्वेक्षण के लॉन्च पर बोलते हुए, श्री एम. आनंद, अध्यक्ष -जोन 1, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस ने, कहा, महामारी का उपभोक्ता व्यवहार पर गहरा प्रभाव पड़ा है, वित्तीय प्रतिरक्षा के प्रति भारतीयों के रवैये में काफी सकारात्मक बदलाव देखा गया है। एसबीआई लाइफ का फाइनेंशियल इम्युनिटी सर्वे 2.0 एक मजबूत वित्तीय प्रतिरक्षा के निर्माण के प्रति बदल रहे उपभोक्ता व्यवहार और उनके बढ़ते झुकाव को समझने का एक और प्रयास है। महामारी की दूसरी लहर देखने के बाद सबसे महत्वपूर्ण चिंता आर्थिक तैयारी और प्रतिरक्षा है, ताकि प्रियजनों के वित्तीय भविष्य की रक्षा की जा सके और अधिकांश भारतीयों का मानना है कि बीमा इस चिंता से निपटने में उनकी मदद करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।"

उन्होंने आगे कहा, "एसबीआई लाइफ में, हम जीवन को सुरक्षित करने के महत्व को समझते हैं और यह उपभोक्ता अध्ययन हमें इस बारे में अमूल्य अंतर्दृष्टि प्रदान करता है कि भारतीय कैसे कोविड 19 की पृष्ठभूमि में शारीरिक और वित्तीय प्रतिरक्षा के बारे में सोचते हैं।"

 

31 दिसंबर 2021 को समाप्त अवधि के लिए एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस का नव व्यवसाय प्रीमियम 18,791 करोड़ रुपये पर दर्ज हुआ

31 दिसंबर 2021 को समाप्त हुई अवधि के दौरान देश की अग्रणी जीवन बीमा कंपनियों में से एक, एसबीआई लाइफ इंश्योरेंस को 18,791 करोड़ रुपये का न्यू बिजनस प्रीमियम (नई बीमा पॉलिसी पर हासिल होने वाला प्रीमियम) हासिल हुआ है। पिछले साल की समान अवधि में कंपनी को 14,437 करोड़ रुपये की प्रीमियम राशि मिली थी। वहीं 31 दिसंबर 2020 को समाप्त अवधि के मुकाबले इस बार नियमित प्रीमियम में 36% का इजाफा हुआ है।

सुरक्षा पर स्पष्ट रूप से ध्यान केंद्रित करते हुए 31 दिसंबर 2021 को समाप्त अवधि के लिए एसबीआई लाइफ का प्रोटेक्शन न्यू बिजनस प्रीमियम 2,042 करोड़ रुपये रहा, जो 26% की वृद्धि दर्शाता है। वहीं सुरक्षा व्यक्तिगत न्यू बिजनस प्रीमियम में 27% का इजाफा हुआ और यह 31 दिसंबर 2021 को समाप्त अवधि के दौरान 620 करोड़ रुपये रहा। निजी न्यू बिजनस प्रीमियम 11,611 करोड़ रुपये रहा, जो 31 दिसंबर 2020 को समाप्त इसी अवधि में 43% की वृद्धि है।

31 दिसंबर 2021 को समाप्त अवधि के लिए एसबीआई लाइफ का कर पश्चात लाभार्जन  834 करोड़ रुपये रहा।

कंपनी का सॉल्वेंसी अनुपात 1.50 की नियामक आवश्यकता के मुकाबले 31 दिसंबर, 2021 को 2.09 के मजबूत स्तर पर बना हुआ है।

एसबीआई लाइफ का एयूएम भी 71:29 के डेट-इक्विटी मिश्रण के साथ 31 दिसंबर, 2021 को 2,09,495 करोड़ रुपये से बढ़कर 31 दिसंबर 2021 को 23% की वृद्धि के साथ 2,56,871 करोड़ रुपये हो गया। 96% से अधिक डेट निवेश एएए और सॉवरेन उपकरणों में किया गया हैं।

कंपनी के पास 1,94,177 प्रशिक्षित बीमा पेशेवरों का एक विविधतापूर्ण वितरण नेटवर्क है और 947 कार्यालयों के साथ देश भर में व्यापक उपस्थिति है, जिसमें कॉरपोरेट एजेंट, ब्रोकर, माइक्रो एजेंट, सामान्य सेवा केंद्र, बीमा विपणन कंपनियाँ, वेब एग्रीगेटर्स और डायरेक्ट बिजनस से बना मजबूत बैंक बीमा चैनल, एजेंसी चैनल और अन्य शामिल है।

31 दिसंबर 2021 को समाप्ति अवधि के दौरान प्रदर्शन

·  66% के इजाफे के साथ न्यू बिजनस का वैल्यू (वीओएनबी)* बढ़कर 2,589 करोड़ रुपये हुआ

·  वीओएनबी मार्जिन*  470 आधार अंकों के साथ सुधर कर  25.5%  हुआ

·  24.8% हिस्सेदारी के साथ 9,072 करोड़ के निजी रेटेड प्रीमियम (आईआरपी) में निजी बाजार नेतृत्व।

·  प्रोटेक्शन न्यू बिजनस प्रीमियम 26% की मजबूत वृद्धि के साथ बढ़कर 2,042 करोड़ रुपये।

·  निजी न्यू बिजनस प्रीमियम 43% के इजाफे के साथ 11,611 करोड़ रुपये।

·  निजी न्यू बिजनस बीमा राशि में 22% की वृद्धि।

·  13वें महीने का निरंतरता अनुपात** 49 बीपीएस बढ़कर 83.87% हुआ।

·  2.09 का मजबूत सॉल्वेंसी अनुपात।

·  23% के इजाफे के साथ प्रबंधनाधीन परिसंपत्तियाँ (एयूएम) 2,56,871 करोड़ रुपये हुईं।

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...