Tuesday, December 28, 2021

कैंपस एक्टिववियर ने आईपीओ के लिए डीआरएचपी फाइल किया

फिस्कल 2021 में वैल्यू और वॉल्यूम के मामले में कैंपस शूज भारत में सबसे बड़ा स्पोर्ट्स और एथलीजर फुटवियर ब्रांड है। ब्रांड "कैंपस" 2005 में पेश किया गया था और कंपनी एक जीवन शैली-उन्मुख खेल और एथलेटिक फुटवियर कंपनी है जो पूरे परिवार के लिए एक विविध उत्पाद पोर्टफोलियो प्रदान करती है।

कैंपस एक्टिववियर लिमिटेड ने 5 रु. अंकित मूल्य के 51 मिलियन (5.1 करोड़) तक के इक्विटी शेयरों की प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) के लिए 100% ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) के जरिए एक प्रस्ताव  दस्तावेज दायर किया है।

कंपनी के प्रमोटर श्री हरि कृष्ण अग्रवाल और श्री निखिल अग्रवाल हैं। टीपीजी ग्रोथ III एसएफ पीटीई लिमिटेड और क्यूआरजी इंटरप्राइजेज लिमिटेड  जैसे मार्की निवेशक ऑफर फॉर सेल के जरिए कंपनी में अपनी हिस्सेदारी का कुछ हिस्सा बेचेंगे।

कंपनी के प्रमोटरों के पास वर्तमान में कुल बकाया शेयरधारिता का 78.21% हिस्सा है, जबकि टीपीजी ग्रोथ और क्यूआरजी एंटरप्राइजेज के पास कुल बकाया शेयरधारिता का क्रमशः 17.19% और 3.86% है। शेष 0.74% व्यक्तिगत शेयरधारकों और वर्तमान कर्मचारियों के पास है।

भारतीय खेलों और एथलेटिक फुटवियर परिदृश्य में कंपनी की ताकत निम्नलिखित के कारण प्रदर्शित होती है (स्रोत: टेक्नोपैक रिपोर्ट):

वित्त वर्ष 2019 से वित्त वर्ष 2021 तक भारत में "कैंपस" सबसे तेजी से बढ़ने वाला स्केल्ड स्पोर्ट्स और एथलीजर फुटवियर ब्रांड (वित्त वर्ष 2019 में ₹ 2 बिलियन से अधिक राजस्व वाले ब्रांड हैं) रहा है। इसने वित्तीय वर्ष 2019 से वित्तीय वर्ष 2021 की अवधि में 39 मिलियन से अधिक पेयर्स बेचे हैं।

भारत में ब्रांडेड स्पोर्ट्स और एथलीजर फुटवियर उद्योग में ब्रांड का लगभग 15% बाजार हिस्सा वित्तीय वर्ष 2020 के लिए है, जो कि वित्तीय वर्ष 2021 में लगभग 17% तक बढ़ गया है।

कैंपस इस सेगमेंट में सबसे प्रासंगिक ब्रांडों में से एक है, जो वित्त वर्ष 2021 तक भारत में स्पोर्ट्स और एथलीजर फुटवियर के लिए कुल एड्रेसेबल मार्केट के 85% से अधिक को कवर करता है। यह उस सेगमेंट में बहुत कम स्थापित भारतीय ब्रांडों में से एक है, जिसमें मुख्य रूप से अंतरराष्ट्रीय ब्रांडों का वर्चस्व है।

कैंपस ने सालाना 25.6 मिलियन पेयर्स (2.56 करोड़) के निर्माण की क्षमता स्थापित की है। इसका एक अखिल भारतीय व्यापार वितरण नेटवर्क है जो 400 से अधिक वितरकों को सीधे सेवा प्रदान करता है और 18,200 से अधिक भौगोलिक रूप से मैप किए गए खुदरा विक्रेताओं के ऑर्डर को पूरा करता है।

कैम्पस का विस्तृत डायरेक्ट-टू-कंज्यूमर नेटवर्क 30 सितंबर, 2021 को समाप्त छह महीने में कुल राजस्व का 38% से अधिक योगदान रहा, इसी अवधि के दौरान संचालन से प्राप्त कुल राजस्व का 30% से अधिक -कॉमर्स बिक्री से हुआ।

वित्तीय वर्ष 2020 से वित्तीय वर्ष 2025 तक भारतीय फुटवियर खुदरा बाजार 8% की सीएजीआर से बढ़ने की उम्मीद है, और वित्तीय वर्ष 2021 से वित्तीय वर्ष 2025 तक 21.6% के दर से बढ़ने का अनुमान है---यह  वित्तीय वर्ष 2021 से वित्तीय वर्ष 2025 तक सबसे तेजी से बढ़ती विवेकाधीन श्रेणियों में से एक है। (स्रोत: टेक्नोपैक रिपोर्ट)

स्पोर्ट्स और एथलीजर फुटवियर के कंपनी विशिष्ट उद्योग खंड में अभी अपार संभावना मौजूद है। यह विकसित अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में प्रति व्यक्ति बेहद कम फुटवियर पैठ का सबूत है और इसके सबसे तेजी से बढ़ने वाला खंड होने की उम्मीद है, जिसमें वित्तीय वर्ष 2020 और 2025 के बीच 14% की सीएजीआर और वित्तीय वर्ष 2021 और 2025 के बीच 25% सीएजीआर की वृद्धि का अनुमान है। (स्रोत: टेक्नोपैक रिपोर्ट)

बोफा सिक्योरिटीज इंडिया लिमिटेड, जेएम फाइनेंशियल, सीएलएसए इंडिया और कोटक महिंद्रा कैपिटल कंपनी आईपीओ के लिए निवेश बैंकर हैं।

No comments:

Post a Comment

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...