Wednesday, December 22, 2021

स्नैपडील ने आईपीओ के लिए सेबी के पास डीआरएचपी दाखिल किया

स्नैपडील लिमिटेड (स्नैपडील), वित्तीय वर्ष 2020 के राजस्व के मामले में भारत के सबसे बड़े प्योर-प्ले वैल्यू ईकामर्स प्लेटफॉर्म ने आईपीओ के लिए ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस दाखिल किया। ऑफर में कुल 1,250 करोड़ रु. तक का फ्रेश इश्यू और 30,769,600 इक्विटी शेयरों का ऑफर फॉर सेल शामिल है।

स्नैपडील ने 1250 करोड़ रु. की शुद्ध आय का उपयोग निम्नलिखित उद्देश्यों के लिए करने का प्रस्ताव दिया है

  1. ऑर्गेनिक ग्रोथ की फंडिंग के लिए पहलें - रु. 900 करोड़; और
  2. सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य (सामूहिक रूप से, यहां "उद्देश्यों" के रूप में संदर्भित)।
  3. अपने डीआरएचपी में, स्नैपडील का कहना है कि यह वित्तीय वर्ष 2020 के लिए राजस्व के मामले में भारत का सबसे बड़ा प्योर-प्ले वैल्यू ईकामर्स प्लेटफॉर्म है। इसके अलावा, गूगल प्ले स्टोर पर 200 मिलियन से अधिक ऐप इंस्टॉलेशन के साथ, यह 31 अगस्त, 2021 तक भारत में कुल ऐप इंस्टॉलेशन के मामले में सबसे अधिक इंस्टॉल्ड प्योर-प्ले वैल्यू ईकामर्स एप्लिकेशन और शीर्ष चार ऑनलाइन लाइफस्टाइल शॉपिंग गंतव्यों में से एक है। (स्रोत: रेडसीर रिपोर्ट, जिसे विशेष रूप से ऑफ़र के लिए हमारे द्वारा कमीशन और भुगतान किया गया है) 2007 में स्थापित, स्नैपडील ने कूपन बुकलेट व्यवसाय के रूप में अपना व्यवसाय शुरू किया, जिसे उसने 2010 में एक ऑनलाइन डील प्लेटफॉर्म और 2012 में एक ऑनलाइन ईकामर्स मार्केटप्लेस में बदल दिया। स्नैपडील का मूल्य प्रस्ताव 'भारत' के खरीदारों की विशिष्ट खरीदारी आवश्यकताओं को पूरा करता है।
  4. (स्रोत: रेडसीर रिपोर्ट, जिसे हमारे द्वारा विशेष रूप से ऑफ़र के लिए कमीशन और भुगतान किया गया है)। स्नैपडील प्लेटफॉर्म को ऐप एन्नी (एक मोबाइल मार्केट डेटा और एनालिटिक्स प्लेटफॉर्म) द्वारा 'टॉप पब्लिशर अवार्ड 2020' में वर्ष 2019 के लिए मासिक सक्रिय उपयोगकर्ताओं ("एमएयू") के मामले में भारत में शीर्ष 10 शॉपिंग ऐप के रूप में स्थान दिया गया था।
  5. रेडसीर रिसर्च के अनुसार, हमारा कुल एड्रेसेबल मार्केट - भारत का वैल्यू लाइफस्टाइल रिटेल मार्केट - के वित्तीय वर्ष 2021 के 88 बिलियन डॉलर से बढ़कर 15 प्रतिशत सीएजीआर के साथ 2026 में 175 बिलियन अमेरिकी डॉलर होने का अनुमान है।

No comments:

Post a Comment

बीते कल में आज की परछाई

बीते हुए कल में आज भी झांक कर देखता हूं तो बाबूजी की स्मृतियां और उनके साथ बीते अनेकों और अनगिनत पल आज भी मुझे अपने आस-पास घिरे जीवन से लड़ने...