Tuesday, December 28, 2021

टीबीओ टेक लिमिटेड ने 2,100 करोड़ रुपये तक के आईपीओ के लिए डीआरएचपी फाइल किया

टीबीओ टेक, जो एक अग्रणी वैश्विक यात्रा वितरण मंच है, भारत में संपूर्ण सेवा एयरलाइनों का दूसरा सबसे बड़ा विक्रेता है (स्रोत: पीजीए लैब्स रिपोर्ट, आईएटीए)। इसकी प्रामाणिक वैश्विक प्लेबुक 100+ देशों और 56 मुद्राओं में काम कर रही है। यह प्लेटफॉर्म 11 भाषाओं में काम करता है।

टीबीओ टेक लिमिटेड (टीबीओ टेक या टीबीओ) की योजना 2,100 करोड़ रु. तक के प्रारंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) के माध्यम फ़ंड जुटाने की है जिसमें (1 रु. अंकित मूल्य) के 900 करोड़ रु. के इक्विटी शेयर्स  के फ्रेश इश्यू ; और कुल 1,200 करोड़ रु. तक का ऑफर फॉर सेल है जिनके बिक्री की पेशकश प्रवर्तक विक्रेता शेयरधारकों और निवेशक विक्रेता शेयरधारकों द्वारा की जा रही है। प्रमोटरों में अंकुश निझावां, गौरव भटनागर, लैप ट्रैवल प्राइवेट लिमिटेड और मनीष ढींगरा शामिल हैं।

टीबीओ टेक होटल, एयरलाइंस, किराए पर कार लेने, स्थानान्तरण, परिभ्रमण, बीमा, रेल और अन्य (सामूहिक रूप से, "आपूर्तिकर्ता") जैसे आपूर्तिकर्ताओं के लिए यात्रा के व्यवसाय को सरल बनाता है; और खरीदार जिनमें खुदरा खरीदार जैसे ट्रैवल एजेंसियां और स्वतंत्र यात्रा सलाहकार ("खुदरा खरीदार") शामिल हैं। इसके उद्यम खरीदारों में टूर ऑपरेटर, ट्रैवल मैनेजमेंट कंपनियां, ऑनलाइन ट्रैवल कंपनियां, सुपर-ऐप्स और लॉयल्टी ऐप्स ("एंटरप्राइज बायर्स", रिटेल बायर्स, "बायर्स") शामिल हैं। टीबीओ का दो तरफा प्रौद्योगिकी मंच आपूर्तिकर्ताओं और खरीदारों को एक दूसरे के साथ निर्बाध रूप से लेनदेन करने में सक्षम बनाता है। यह वैश्विक यात्रा और पर्यटन बाजार के केंद्र में संचालित होता है जो 2019 में यूएस $ 9.2 ट्रिलियन था, आपूर्ति और मांग को जोड़ता है और आपूर्तिकर्ताओं को खरीदारों से जोड़ता है और खरीदारों को आपूर्तिकर्ताओं से जोड़ता है।

टीबीओ टेक के पास मजबूत परिचालन लेवरेज और सक्षम प्रौद्योगिकी मंच के साथ एसेट लाइट बिजनेस मॉडल है। यह डेटा का उपयोग कॉर्पोरेट मुद्रा के रूप में करता है। यह प्लेटफॉर्म भागीदारों के लिए मूल्य प्रस्ताव को बढ़ाने के लिए इंटरलिंक्ड फ्लाईव्हील के साथ नेटवर्क प्रभाव बनाता है। टीबीओ की अनुभवी नेतृत्व टीम और इसके समर्पित संस्थापकों के पास गहरा अनुभव और विशेषज्ञता है। शानदार निदेशक मंडल के पास अनुभव का खजाना है।

टीबीओ टेक ने आईपीओ से शुद्ध आय का उपयोग अपने प्लेटफॉर्म के विकास और मजबूती के लिए नए खरीदारों और आपूर्तिकर्ताओं को जोड़ने में 570 करोड़ रु. खर्च करके करेगा। 90 करोड़ रु. की शुद्ध आय का उपयोग रणनीतिक अधिग्रहण और इनॉर्गेनिक विकास की दिशा में निवेश के लिए भी किया जाएगा। शेष राशि का उपयोग सामान्य कॉर्पोरेट उद्देश्य के लिए किया जाएगा।

बुक रनिंग लीड मैनेजर एक्सिस कैपिटल, क्रेडिट सुइस, जेफरीज और जेएम फाइनेंशियल हैं।

 

 

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...