Thursday, December 16, 2021

गोदरेज इंटेरियो द्वारा हाल ही में किए गए एक अध्ययन के अनुसार, घर पर देखभाल किये जाने वाले केवल 12.5% रोगियों के लिए उपचार में सहायक और मैन्युअल रूप से समायोज्य बेड्स का इस्तेमाल किया जाता है

मुंबई, 16 दिसंबर 2021: गोदरेज समूह की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने घोषणा की कि उनके व्यवसाय गोदरेज इंटेरियो, जो भारत का अग्रणी फर्नीचर समाधान ब्रांड है, ने इन-होम और संस्थागत सेगमेंट में आज होमकेयर बेड की एक अनूठी श्रृंखला लॉन्च की। ग्रेस होमकेयर बेड एक अनूठा कंसेप्ट है जिसमें बैक रेस्ट और लेग रेस्ट को हैंड कंट्रोल डिवाइस से इलेक्ट्रॉनिक रूप से समायोजित किया जा सकता है, जिससे मूवमेंट में आसानी होगी और इसकी मदद से आसानीपूर्वक बैठा या लेटा जा सकेगा। नई रेंज के साथ, गोदरेज इंटीरियो रोगी और देखभाल करने वाले के लिए होमकेयर को सुरक्षित और सुविधाजनक बनाने की आवश्यकता पूरी करता है।

अपने नए स्ट्रेंस के साथ इस चल रही महामारी ने घरेलू देखभाल की प्राथमिकता को अधिक बढ़ा दिया है। जब यह महामारी अपने चरम पर थी, तो अस्पताल भरे रहते थे और मरीजों को घर पर ही रहने के लिए बाध्य होना पड़ता था। अस्पतालों के लिए उन रोगियों को छुट्टी देना ज़रूरी हो गया जिनके लिए केवल अवलोकन पर्याप्त होगा, ताकि वे उन रोगियों को भर्ती कर सकें जिन्हें गंभीर देखभाल या व्यापक प्रक्रियाओं की आवश्यकता थी।

गोदरेज इंटेरियो के वर्कप्लेस एंड एर्गोनॉमिक्स रिसर्च सेल की हालिया रिपोर्ट 'दएसेंशियलगाइडफॉरप्रोवाइडिंगमेडिकलकेयरएटहोम' के अनुसार, शहरीकरण और एकल परिवार की संरचनाओंं के विकास ने अस्पतालों में निरंतर निगरानी को कठिन बना दिया है। परिचित घरेलू परिवेश में स्वस्थ होने की इच्छा के परिणामस्वरूप रोगियों और उनके परिवारों ने अस्पतालों के बजाय घरेलू देखभाल को चुना है। यह स्थिति न केवल वृद्ध लोगों में होती है, बल्कि युवाओं में भी होती है, जो अपने ठीक होने की पूरी अवधि के लिए अस्पताल में रहना न तो आर्थिक रूप से व्यवहार्य और न ही व्यावहारिक रूप से संभव पाते हैं। इसके अतिरिक्त, यह महसूस करना महत्वपूर्ण है कि उम्र बढ़ने के साथ, हमारे प्रियजनों को घर पर ही अस्पताल जैसी देखभाल की आवश्यकता होगी, हालांकि आज हमारी स्वास्थ्य सेवाएं काफी उन्नत हैं।                                           

एक समाधान के रूप में, गोदरेज इंटिरियो का फीचर-लोडेड ग्रेस होमकेयर बेड होमकेयर को न केवल रोगी बल्कि देखभाल करने वाले के लिए भी सुरक्षित और सुविधाजनक बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। रोगी की मोबिलिटी के विभिन्न स्तरों को ध्यान में रखते हुए, इस बेड को सभी स्थितियों में अत्यधिक सुरक्षा और स्थिरता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। प्रमुख सुरक्षा विशेषताओं में गिरने से बचाने के लिए पूरी लंबाई वाली टेलीस्कोपिक साइड रेलिंग, एर्गोनोमिक डिज़ाइन और डीवीटी (डीप वेन थ्रॉम्बोसिस) स्थिति शामिल है, जिसमें रोगी के पैरों की ऊंचाई बेहतर रक्त परिसंचरण में सहायता करती है, थक्कों और सूजन को रोकती है। यह बेहतर दृश्यता प्रदान करने और क्लॉस्ट्रोफोबिक भावना से बचने के लिए साइड रेल के किनारों के बीच 100 मिमी के अंतर के साथ आता है ताकि स्वस्थ होने वाला व्यक्ति अपने आसपास के परिवेश से जुड़ा रह सके। इसकी मोटर चालित विशेषताएं देखभाल करने वाले को उनकी शारीरिक देखभाल करते हुए रोगी को बेहतर देखभाल प्रदान करने में सहायता करती हैं। ग्रेस होमकेयर बेड के बिस्तर का सुरुचिपूर्ण सौंदर्य 'अस्पताल के अनुभव' को कम करता है और आधुनिक एवं क्लासिक घरेलू सजावट के साथ सहजता से मेल खाता है।

नएउत्पादलॉन्चपर, अनिलमाथुर, मुख्यपरिचालनअधिकारीगोदरेजइंटेरिओने कहा, गोदरेजइंटेरियोमें, हरजगहहरदिनजीवनकीगुणवत्ताकोसमृद्धकरनाहमारामिशनरहाहै।जबकिमहामारीनेदूरस्थघरेलूस्वास्थ्यसमाधानोंकीआवश्यकताकोजन्मदिया, निजीक्षेत्रकेसाथ-साथसरकारेंघरेलूदेखभालकीभूमिकाकायमकरनेकीआवश्यकताकीदिशामेंतेजीसेकामकररहीहैं।भारतकेघरेलूस्वास्थ्यदेखभालबाजारकेलाभोंऔरसंभावनाओंकोध्यानमेंरखतेहुए, प्रमुखस्वास्थ्यदेखभालसंगठनइसक्षेत्रमेंअपनीपहुंचबढ़ानेकेलिएआगेआरहेहैं।हालांकि, पर्याप्तचिकित्सासुविधाओंकीकमीएकप्रमुखकारकहैजोइसप्रवृत्तिकेविकासकाकारणबनीहै।आईसीएमआरकेअनुसार, भारतमेंलगभग 6% अस्पतालसंसाधनोंऔर 8% पेशेवरचिकित्साकर्मचारियोंकेसाथवैश्विकरोगभारलगभग 20% है।गोदरेजइंटेरियोमें, हमउननवाचारोंपरकामकरनाजारीरखतेहैंजोहोमहेल्थकेयरउद्योगकेसामनेआनेवालीअनूठीचुनौतियोंकासमाधानकरतेहैंऔरग्रेसहोमकेयरबेडइसकाप्रमाणहै।इसबिस्तरकोउपचारकेलिएजगहबनानेकेलिएडिज़ाइनकियागयाहैक्योंकियहदेखभालकरनेवालोंकेइंटरेक्शनकेदौरानरोगीकोसुरक्षितरखताहैऔरनिर्बाधरूपसेरोगीकोआरामऔरशांतिपहुँचाताहै।हमभारतभरमेंस्वास्थ्यसेवामेंअनुभवकीगुणवत्ताकोबढ़ानेकेलिएनिरंतरनवाचारकरनेमेंबहुतगर्वमहसूसकरतेहैं।"

समीर जोशी, एसोसिएट वाइस प्रेसिडेंट, गोदरेज इंटेरिओ कहा, भारत में स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं अक्सर बदलती जरूरतों के साथ असंगत हैं और यहाँ जागरूकता की कमी हमारे अध्ययन में प्रमुखता से सामने आयी है जिससे यह पता चलता है कि केवल 18% रोगियों को होमकेयर का विकल्प चुनने के लिए अस्पतालों द्वारा निर्देशित किया जा रहा है। गोदरेज इंटेरियो का हेल्थकेयर व्यवसाय ऐसे वातावरण का निर्माण करने पर केंद्रित है जो उपचार की प्रक्रिया में रोगियों और परिवारों का समर्थन करता है। ये एर्गोनॉमिक रूप से डिज़ाइन किए गए उपचार वातावरण रोगियों और देखभाल करने वालों सहित सभी हितधारकों की दक्षता, सहानुभूति और उनके हित पर केंद्रित हैं। नया लॉन्च किया गया ग्रेस होमकेयर बेड हमारे डिजाइन दर्शन पर प्रकाश डालता है जो मानव-केंद्रित दृष्टिकोण अपनाने और बेहतर रोगी-डॉक्टर बातचीत के लिए अनुकूल समाधानों का उपयोग करने पर आधारित है।

भारतमें, घरेलूस्वास्थ्यदेखभालअपेक्षाकृतनईहैऔरउद्योगकेसूत्रोंकेअनुसार, 2025 तकइसके 19.2% कीसीएजीआरसेबढ़नेकीउम्मीदहै।शहरीकरण, एकलपरिवारोंकीप्रवृत्ति, उन्नतप्रौद्योगिकीऔरबढ़ीहुईजागरूकताकेसाथ-साथमृत्युदरमेंकमीऔरबुजुर्गोंकीजीवनप्रत्याशामें 49.7 वर्ष (1975) सेलगभग 68.7 वर्ष (2012-2016) कीवृद्धिनेइसक्षेत्रकेविस्तारकोप्रेरितकियाहै।

No comments:

Post a Comment

श्री कृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया

जयपुर  |  हरे कृष्ण मूवमेंट जयपुर के जगतपुरा स्थित श्रीकृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया। इस मौके पर मंदिर अध्यक्ष अमि...