Friday, December 24, 2021

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और यू ग्रो कैपिटल ने को-लेंडिंग एग्रीमेंट पर हस्ताक्षर किए; अगले 12 महीनों में 1000 करोड़ रुपए के एमएसएमई ऋण वितरित करने का लक्ष्य

एमएसएमई को उधार देने वाले एनएसीई और बीसीएल लिस्टेड फिनटेक प्लेटफॉर्म यू ग्रो कैपिटल ने सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के साथ मिलकर ऋण देने वाले एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इस साझेदारी के तहत, दोनों संस्थाओं का लक्ष्य अगले 12 महीनों में प्रथम, संजीवनी, साथी, ग्रो एमएसएमई और मशीनरी फाइनेंसिंग जैसे कार्यक्रमों के तहत यू ग्रो कैपिटल के विभिन्न एमएसएमई सेगमेंट को 1000 करोड़ रुपए तक का वितरण करना है।

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के साथ सह-ऋण व्यवस्था यूजीआरओ कैपिटल के सभी उत्पाद श्रेणियों में अब तक वंचित रहे एमएसएमई को सस्ती दरों पर औपचारिक ऋण प्रदान करने की दिशा में काम करेगी। उसी के लिए, बैंक कंपनी की गहरी क्षेत्रीय समझ और मल्टी-चैनल वितरण पहुंच के अलावा, डेटा ट्राइपोड ऑफ जीएसटी, बैंकिंग एंड ब्यूरो द्वारा संचालित यू ग्रो के डिजिटल प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म का लाभ उठाएगा।

यह आपसी सहयोग यू ग्रो कैपिटल के ग्रो-एक्सस्ट्रीम प्लेटफॉर्म के जरिए एपीआई के माध्यम से जहां एक तरफ बैंकों के साथ वहीं दूसरी तरफ कई फिनटेक, पेमेंट्स प्लेटफॉर्म, एनबीएफसी, नियोबैंक, मार्केट प्लेस और अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म के साथ इंटीग्रेट होता है। ग्रो-एक्सस्ट्रीम बैंकों और अन्य बड़े वित्तीय संस्थानों को लेन-देन की एक विस्तृत श्रृंखला के माध्यम से भारत भर में अपनी वितरण पहुंच और सेवा डैडम्े को गहरा करने के लिए सशक्त बनाता है। ग्रो-एक्सस्ट्रीम ने अपस्ट्रीम के साथ-साथ डाउनस्ट्रीम एमएसएमई भागीदारों के साथ मार्की साझेदारी बनाई है जिन्हें गो-एक्सस्ट्रीम पर एकीकृत किया जाना है। प्रारंभिक चरण में, बैंक इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से यू ग्रो कैपिटल के वितरण नेटवर्क द्वारा उत्पन्न ऋणों के साथ सह-ऋण देंगे, हालांकि भविष्य में प्लेटफॉर्म पर अन्य प्रतिभागियों को भी इस प्लेटफॉर्म के माध्यम से पूंजी तक पहुंच प्राप्त होगी।

एक बार पूरी तरह से चालू हो जाने पर ग्रो-एक्सस्ट्रीम प्लेटफॉर्म के पास देयता पक्ष के मामले में बैंकों के कौशल और यूजीआरओ कैपिटल के साथ-साथ इसके मूल भागीदारों के साथ-साथ संपत्ति पक्ष पर इसके अंडरराइटिंग इंजन के पक्ष का लाभ उठाकर भारत में एमएसएमई क्रेडिट के प्रवाह को और अधिक मुक्त और लोकतांत्रिक बनाने की शक्ति आ जाएगी।

इस साझेदारी पर बोलते हुए सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर श्री राजीव पुरी ने कहा, ‘हमें विश्वास है कियह पहल एमएसएमई उधारकर्ताओं के बड़े वर्ग को वित्तीय रूप से सशक्त बनाएगी। हमारा मानना है कि एक अवधारणा के रूप में सह-ऋण गति पकड़ रहा है और यह भारत में एमएसएमई के लिए ऋण तक पहुंच के परिदृश्य को बदल देगा। यह समझौता सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के भारत में एमएसएमई को ऋण में तेजी लाने के उद्देश्य के अनुरूप है और एमएसएमई को किफायती दर पर ऋण उपलब्ध कराकर आत्मनिर्भर भारत के मिशन में योगदान देता है।

इस गठबंधन पर बोलते हुए यू ग्रो कैपिटल के एक्जीक्यूटिव चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर श्री शचींद्र नाथ ने कहा, ‘हमें सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के साथ सह-ऋण व्यवस्था के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने की खुशी है। हम डेटा ट्राइपॉड - यानी जीएसटी, बैंकिंग और ब्यूरो की बढ़ी हुई उपयोगिता के साथ एमएसएमई ऋण देने में बड़ा बदलाव देख रहे हैं। पहली बार यूजीआरओ कैपिटल सभी कार्यक्रमों के लिए सह-ऋण व्यवस्था पर हस्ताक्षर कर रहा है जिसमें प्रथम, संजीवनी, साथी, ग्रो एमएसएमई और मशीनरी फाइनेंसिंग शामिल है। उम्मीद है कि यू ग्रो लगभग अगले बारह महीनों में इस गठजोड़ के माध्यम से 1000 करोड़ रुपए का संवितरण करेगा। साथ ही, इस साझेदारी के साथ यू ग्रो अब विभिन्न ब्याज दर बकेट में हर तरह के एमएसएमई उधारकर्ताओं की सेवा करने में सक्षम है। इस तरह के सहयोग भारतीय एमएसएमई के लिए वित्तीय समावेशन के प्रयासों को और अधिक प्रेरित करेंगे। यह व्यवस्था हमारी हामीदारी पद्धति और उस विश्वास की पुष्टि है जो बैंक ने एमएसएमई की ऋण जरूरतों को हल करने के लिए क्षेत्रीय विशेषज्ञता और प्रौद्योगिकी के उपयोग में हासिल की है। इस साझेदारी से न केवल यू ग्रो को लाभ होगा बल्कि अन्य सभी फिनटेक और एनबीएफसी को लाभ होगा जो हमारे ग्रो-एक्सस्ट्रीम प्लेटफॉर्म के साथ इंटीग्रेट हैं। हम अधिक से अधिक एमएसएमई को उनके उदय और विकास में समर्थन करने के लिए तत्पर हैं।’

No comments:

Post a Comment

अपने दिल के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें केयर हेल्थ इंश्योरेन्स के एक्सक्लुज़िव हार्ट इंश्योरेन्स प्लान के साथ

29 सितम्बर, 2022: इस विश्व हृदय दिवस के मौके पर हर दिल की सुरक्षा के लिए दिल से सोचें। अपने दिल का इस्तेमाल प्रकृति, मानवता के लिए और सबसे ज़...