Monday, December 20, 2021

ओमिक्रोन से घबराया मार्केट! सेंसेक्स ने लगाया 1,190 अंक का गोता, टाटा स्टील व एसबीआई समेत इनके शेयर टूटे

अंतरराष्ट्रीय तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड 2.45 % गिरकर 71.72 डॉलर प्रति बैरल पर आया 

अभिषेक  गुप्ता
बीएसई सेंसेक्स 20 दिसम्बर  को 1,190 अंक का गोता लगाकर बंद हुआ। दुनिया के विभिन्न देशों में कोरोना वायरस के नये स्वरूप ओमीक्रोन के मामले बढ़ने के अलावा उसके संभावित असर को लेकर फैली चिंता के बीच निवेशकों की चौतरफा बिकवाली से बाजार नीचे आया। तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 1,189.73 अंक यानी 2.90 प्रतिशत टूटकर 55,822.01 अंक पर बंद हुआ। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 371 अंक यानी 2.18 प्रतिशत का गोता लगाकर 16,614.20 अंक पर बंद हुआ।सेंसेक्स के शेयरों में पांच प्रतिशत से अधिक की गिरावट के साथ टाटा स्टील सर्वाधिक नुकसान में रही। इसके अलावा एसबीआई, इंडसइंड बैंक, बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी बैंक और एनटीपीसी में भी गिरावट रही। दूसरी तरफ एचयूएल और डा. रेड्डीज लाभ में रहने वाले शेयरों में शामिल हैं। विशेषज्ञों के अनुसार कोविड-19 के नये मामलों में तेजी आने, विदेशी संस्थागत निवेशकों की सतत बिकवाली और विकसित अर्थव्यवस्थाओं में वृद्धि की रफ्तार मंद पड़ने से दुनिया के प्रमुख बाजारों में गिरावट रही। एशिया के अन्य बाजारों में चीन में शंघाई कंपोजिट सूचकांक, हांगकांग का हैंगसेंग, जापान का निक्की और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी भारी नुकसान में रहें। यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी कारोबार में गिरावट का रुख रहा।

यूएस डॉलर के मुकाबले रुपया नौ पैसे टूटाः विदेशी निवेशकों द्वारा घरेलू शेयर बाजार में लगातार बिकवाली के चलते रुपया सोमवार को शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले नौ पैसे की गिरावट के साथ 76.15 पर आ गया। अंतरबैंक विदेशी मुद्रा विनिमय बाजार में शुरुआती सौदों के दौरान रुपया 76.13 से 76.16 के दायरे में कारोबार कर रहा था। घरेलू शेयर बाजार की तरह ही रुपये पर भी कोरोना वायरस के नए वेरिएंट ओमीक्रोन का प्रकोप बढ़ने की आशंका के चलते दबाव देखने को मिल रहा है।

शेयर बाजार के अस्थाई आंकड़ों के मुताबिक विदेशी संस्थागत निवेशकों ने गत सप्ताह को सकल आधार पर 2,069.90 करोड़ रुपये के शेयर बेचे। इसबीच छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी डॉलर की स्थिति दर्शाने वाला डॉलर सूचकांक 0.05 प्रतिशत बढ़कर 96.61 पर आ गया।

कोरोना के देश में 572 दिन में सबसे कम उपचाराधीन केसः

कोरोना के 6,563 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,47,46,838 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 82,267 हो गई है, जो 572 दिन में सबसे कम है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह आठ बजे जारी किए गए अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, 132 और संक्रमितों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 4,77,554 हो गई। आंकड़ों के अनुसार, देश में लगातार 53 दिन से कोविड-19 के दैनिक मामले 15 हजार से कम सामने आ रहे हैं। उपचाराधीन मरीजों की संख्या घटकर 82,267 हो गयी है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 0.24 प्रतिशत है। यह दर मार्च 2020 के बाद से सबसे कम है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या में 1,646 की कमी दर्ज की गयी है। मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.39 प्रतिशत है, जो मार्च 2020 के बाद से सर्वाधिक है। देश में पिछले साल सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख से अधिक हो गई थी। वहीं, संक्रमण के कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख, 29 अक्टूबर को 80 लाख और 20 नवंबर को 90 लाख के पार चले गए थे। देश में 19 दिसंबर को ये मामले एक करोड़ के पार, इस साल चार मई को दो करोड़ के पार और 23 जून को तीन करोड़ के पार चले गए थे। (भाषा पीटीआई इनपुट्स से साभार )

No comments:

Post a Comment

अपने दिल के स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें केयर हेल्थ इंश्योरेन्स के एक्सक्लुज़िव हार्ट इंश्योरेन्स प्लान के साथ

29 सितम्बर, 2022: इस विश्व हृदय दिवस के मौके पर हर दिल की सुरक्षा के लिए दिल से सोचें। अपने दिल का इस्तेमाल प्रकृति, मानवता के लिए और सबसे ज़...