Tuesday, November 2, 2021

एनएवी बैक ऑफिस ने “हम लायेंगे खुशियाँ” अभियान शुरू किया


 जयपुर: शहर के अग्रणी आईटीईएस सॉल्यूशन प्रोवाइडर एनएवी बैक ऑफिस ने हर तरह से कोविड-19 से  प्रभावित आम लोगों की मदद करने के लिए एक अनूठा अभियान शुरू किया है। 25 सितंबर, 2021 को 'हम लायेंगे खुशियाँ' शीर्षक से अभियान पूरे जयपुर में शुरू किया गया था और यह अभियान कंपनी के 1500 कर्मचारी की मदद से आगे बढ़ेगा। कंपनी ने इस उद्देश्य के लिए दिवाली तक खर्च करने के लिए 60 लाख रुपये की राशि निर्धारित की है।

एनएवी बैक ऑफिस प्रत्येक कर्मचारी को इस प्रयास में योगदान देने के लिए 4,000 रुपये की राशि प्रदान करेगा। पहली 24 टीमों ने गैर-सरकारी संगठनों को दैनिक प्रावधानों के साथ-साथ कोविड से पीड़ित होने के बाद कॉम्प्लिकेशन को झेलने वाले मरीजों  को मदद देने के लिए 12.4 लाख रुपये की राशि का दान दिया। कर्मचारियों ने प्रतिबंधित आवाजाही के कारण फंसे लोगों के लिए, झुग्गी-झोपड़ियों में स्कूलों को फिर से खोलने के लिए स्टेशनरी और स्टेपल की व्यवस्था की है और एक मुकोर्म्य्कोसिस से पीड़ित  माँ के इलाज के लिए भी दान दिया है।

अभियान के तहत एनएवी बैकऑफ़िस कर्मचारियों द्वारा अन्य ह्युमनटेरियन कैम्पेन  (मानवीय पहलों) में दिमागी रूप से विकलांग लोगों और कुष्ठ मरीजों की देखभाल करने वाले संगठनों को मदद प्रदान की है, इसके  अलावा ‘एनजीओ रेज, आशा की एक किरण’ को वित्तीय सहायता भी प्रदान की है, इस एनजीओ में  एचआईवी पॉजिटिव अनाथों को रखा जाता है, क्योंकि उन्हें रेगुलर अनाथालयों में नही रखा जाता है इसलिए उन्हें इस तरह के एनजीओ में शरण दी जाती है, और जयपुर शहर के दुर्गापुरा इलाके में स्थित एक एनिमल वेलफेयर एनजीओ हेल्प इन सफ़रिंग में  टीमों ने आर्थिक मदद भी दी और जयपुर के कुछ गौशालाओं की गायों के लिए चारा भी दान  किया।


एनएवी बैक ऑफिस,. जयपुर के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री अनिल अग्रवाल ने इस बारे में विस्तार से बताते हुए कहा, “पिछले डेढ़ साल स्वास्थ्य और पैसे के मामले में कई लोगों के जीवन को बर्बाद कर दिया है। जैसे-जैसे जीवन धीरे-धीरे सभी के लिए सामान्य हो रहा है, वैसे वैसे एनएवी उन लोगों के बारे में सोच रहा है जो वापस सामान्य होने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। हम दोनों संगठनों को शामिल करने और अपने कर्मचारियों के माध्यम से अधिकतम लोगों तक पहुंचने के लिए सीधे संपर्क के इस अनूठे मॉडल के साथ आए हैं। एनएवी बैक ऑफिस ने जयपुर शहर में अपनी यात्रा शुरू की और यहीं फला फूला। इसलिए हमारा मानना है कि ऐसे समय में जब यहां के लोगों को हमारी सबसे ज्यादा जरूरत है तो इस शहर के साथ खड़ा होना हमारा कर्तव्य है। हम दिवाली तक सभी उम्र के ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचने का लक्ष्य बना रहे हैं ताकि कोविड-19 के कारण महीनों के डर और अनिश्चितता के बाद उनके पास एक खुश और संतोषजनक महसूस करने का समय हो। हम जरूरतमंद लोगों के लिए इस त्यौहार को और ज्यादा स्वस्थ और समृद्ध बनाकर अपनी दिवाली मनाना चाहते हैं।"

जब से  महामारी शुरू हुई है तब से एनएवी बैक ऑफिस इंफेक्शन को रोकने के प्रसार के साथ-साथ पिछले दो कोविड लहरों के चरम समय के दौरान हॉस्पिटल्स को चिकित्सा उपकरण और  अन्य सहायता प्रदान करने के लिए जागरूकता अभियान में सबसे आगे रहा है। जयपुर शहर के हॉस्पिटल को ऑक्सीजन कंसंटेटर्स, बायपैप्स, ऑक्सीजन सिलेंडर, वेंटिलेटर, मास्क और सैनिटाइज़र के साथ मदद की गई। कंपनी ने होम आइसोलेशन और उनके परिवारों में कोविड मरीजों  के लिए भोजन की भी व्यवस्था की। जब वैक्सीनेशन शुरू हुआ तो एनएवी बैक ऑफिस शहर के पहले कुछ निगमों में से एक था, जिसने अपने कर्मचारियों के साथ-साथ आम लोगों के लिए वैक्सीनेशन अभियान शुरू करने के साथ-साथ कोविड-19 टीकाकरण के बारे में अफवाहों और भ्रांतियों को दूर करने के लिए जागरूकता अभियान चलाया। इन वैक्सीनेशन कैंप  में अब तक एक हजार लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। 

No comments:

Post a Comment

श्री कृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया

जयपुर  |  हरे कृष्ण मूवमेंट जयपुर के जगतपुरा स्थित श्रीकृष्ण बलराम मंदिर में नरसिंह चतुर्दशी महोत्सव मनाया गया। इस मौके पर मंदिर अध्यक्ष अमि...