Wednesday, November 3, 2021

वित्त वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के लिए वित्तीय परिणाम

बैंक ने दूसरी तिमाही में रु218 करोड़ का शुद्ध लाभ कमाया

आज, पंजाब एण्ड सिंध बैंक ने 30 सितंबर 2021 को समाप्त तिमाही के लिए बैंक के समीक्षित वित्तीय परिणामों की घोषणा की।

तिमाही-2 वित्त वर्ष : 2021-22 मुख्य विवरण (वर्ष-दर-वर्ष)

  • परिचालन लाभ 29% बढ़कर रु 249 करोड़ हो गया।
  • जमा लागत (सीओडी) 30% दर्ज हुआ, जिसमें 95 बीपीएस सुधार हुआ।
  • निवल एनपीए अनुपात 87% से घटकर 3.81% हो गया।
  • कुल व्यवसाय 89% बढ़कर रु169484 करोड़ हो गया।
  • कुल जमा में 52% की वृद्धि हुई और यह रु101910 करोड़ हो गया।
  • सकल अग्रिम में 9.53% की वृद्धि हुई।

व्यावसायिक निष्पादन का मुख्य सारांश (30 सितंबर 2021 तक)

लाभप्रदता और आय:

  • द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2021-22 में बैंक का शुद्ध लाभ रु218 रहा जबकि द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2020-21 में शुद्ध हानि रु401 करोड थी। यह तिमाही-दर-तिमाही आधार पर 29% की वृद्धि हुई।
  • वर्ष-दर-वर्ष आधार पर द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2021-22 में परिचालन लाभ में 20.29%, रु249 करोड की वृद्धि हुई जबकि द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2020-21 में रु207 करोड़ था।
  • द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2021-22 में इक्विटी रिटर्न सुधरकर कर 16.16% हो गया जो द्वितीय तिमाही, वित्त वर्ष 2020-21 में (58)% था।

आस्ति गुणवत्ता:

  • सकल गैर-निष्पादित आस्तियां (जीएनपीए) सितंबर 2021 में रु9823 करोड़ रुपए (14.54%) रही, जो कि जून 2021 में रु9055 करोड़ रुपए (13.33%) थी। वही सितंबर 2020 में यह रु8673 करोड़ रुपए (14.06%) थी।
  • सितंबर 2021, निवल गैर-निष्पादित आस्ति (एनएनपीए) अनुपात घटकर 3.81% हो गया, जो सितंबर 2020 में 5.87% था। जून 2021 को यह 3.61% था।
  • प्रावधान कवरेज अनुपात (पीसीआर) सुधरकर सितंबर 2021 को 84.44% रहा, जबकि सितंबर 2020 को 76.12% तथा जून 2021 को 84.22% था।

पूंजी पर्याप्तता:

  • बैंक का कुल पूंजी पर्याप्तता अनुपात (सीआरएआर) 62% है, जिसमें साल-दर-साल 681 बीपीएस की वृद्धि हुई है। तिमाही-दर-तिमाही आधार पर, जून 2021 के 17.62% से 30 बीपीएस बढ़ा।

प्राथमिकता क्षेत्र और वित्तीय समावेशन:

  • बैंक ने सितंबर 2021 में प्राथमिकता क्षेत्र और कृषि ऋण में एएनबीसी के क्रमशः 40% और 18% के राष्ट्रीय लक्ष्य के विरुध 47.37% और 19.43% हासिल किए हैं।
  • सितंबर 2021 में छोटे और सीमांत किसानों को ऋण रु 6996 करोड़ था जो कि एएनबीसी का 11.07% है तथा नियामक लक्ष्य 9% से ऊपर है।

आस्तिया व देयता :

  • 09.2021 को कुल व्यवसाय 15.89% बढ़कर ₹ रु169484 करोड़ हो गया, जबकि 30.09.2020 को यह ₹ रु146251 करोड़ था। तिमाही-दर-तिमाही आधार पर इसमें 1.85% की बढ़ोतरी हुई है।
  • वर्ष-दर-वर्ष आधार पर कुल जमा में 20.52% और तिमाही आधार पर 3.49% की वृद्धि हुई, 09.2020 को₹ रु84559 करोड़ की तुलना में 30.09.2021 को कुल जमा रु101910 करोड़ रहा। ₹30.06.2021 को कुल जमा रु98478 करोड़ था।
  • 09.2021 को कासा कुल जमा का 30.24% था और यह 13.09% (वर्ष-दर-वर्ष) बढ़कर रु30820 करोड़ हो गया, जो 30.09.2020 को रु27253 करोड़ था।
  • सकल अग्रिम 9.53% (वर्ष-दर-वर्ष) की वृद्धि के साथ सितंबर 2021 तक रु67574 करोड़ हो गया।
  • रैम (खुदरा, कृषि और एमएसएसई) ऋण पोर्टफोलियो में वर्ष-दर-वर्ष आधार पर 29% की वृद्धि हुई। खुदरा, कृषि और एमएसएमई ऋण पोर्टफोलियो में क्रमशः 2.45%, 11.58% और7.60% की वृद्धि हुई।

बैंक के प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री एस. कृष्णन ने बताया कि बैंक ने 30.09.2021 को रु218 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्जकर के अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा है, जबकि 30.09.2020 को रु 401 करोड़ का निवल घाटा हुआ था।

बैंक ने कुल व्यवसाय में वार्षिक आधार पर 15.89% की वृद्धि दर्ज की है। खुदरा, कृषि और एमएसएमई (रैम) ऋण ने 7.29% की वृद्धि प्रदर्शित की है। कासा जमा में 13.09% की वृद्धि दर्ज की गई है। बैंक का प्राथमिकता-प्राप्त क्षेत्र अग्रिम और कृषि अग्रिम क्रमशः 47.37% और 19.43% रहा, जो राष्ट्रीय लक्ष्य क्रमशः 40% और 18% से अधिक था।

प्रबंध निदेशक व मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री एस. कृष्णन ने यह भी बताया कि बैंक ने एनपीए वसूली पर अपना विशेष ध्यान जारी रखा है। वित्तीय वर्ष 2021-22 की दूसरी तिमाही के दौरान, बैंक ने रु893 करोड़ की वसूली की है, जिसमें तकनीकी रूप से बट्टे में डाले गए (टीडबल्यूओ) खातों में रु60 करोड़ की वसूली शामिल है।

बैंक ने हाल ही में ग्राहक को उन्नत बैंकिंग अनुभव प्रदान करने के लिए एकीकृत डिजिटल प्लेटफॉर्म 'पीएसबी यूनिक' लॉन्च किया है और हाल ही में कई आईटी पहल की हैं। बैंक ने आवश्यकता आधारित ऋण उत्पादों को भी लॉन्च किया है, अन्य समकक्ष बैंकों के समान खुदरा ऋण ब्याज दरों को रखा गया है और औद्योगिक क्षेत्र के साथ समरूप होने के लिए विद्यमान योजनाओं में से कुछ को नया रूप दिया है।

 

No comments:

Post a Comment

“वाविन-वेक्टस” की संयुक्तरूप से प्रथम चैनल पार्टनर मीट जश्न के साथ संपन्न हुई

जयपुर। बिल्डिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर इंडस्ट्री के ग्लोबल लीडर वाविन ने वॉटर स्टोरेज टैंक्स और पाइपिंग सिस्टम के क्षेत्र में देश की बहुप्रतिष्ठ...