Saturday, November 13, 2021

गो फैशन (इंडिया) लिमिटेड का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) बुधवार 17 नवंबर, 2021 को खुलेगा

ऽ गो फैशन (इंडिया) लिमिटेड के ₹10 के अंकित मूल्य के प्रत्येक इक्विटी शेयर का प्राइस बैंड ₹655 से ₹690 प्रति इक्विटी शेयर तय किया गया

ऽ आईपीओ बुधवार, 17 नवंबर, 2021 से सोमवार, 22 नवंबर, 2021 तक खुला रहेगा

ऽ न्यूनतम 21 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 21 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है

 

गो फैशन (इंडिया) लिमिटेड (‘गो फैशन’ या ‘कंपनी’) का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) बुधवार 17 नवंबर, 2021 को खुलेगा। गो फैशन भारत में महिलाओं के लिउ बॉटम-वियर का प्रसिद्ध ब्रांड है और वित्तीय वर्ष 2020 में महिलाओं के ब्रांडेड बॉटम-वियर बाजार में कंपनी की लगभग 8 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी थी।

ऑफर का प्राइस बैंड प्रति इक्विटी शेयर ₹10 के फेस वैल्यू पर ₹655 से ₹690 प्रति शेयर तय किया गया है। न्यूनतम 21 इक्विटी शेयरों के लिए और उसके बाद 21 इक्विटी शेयरों के गुणकों में बोली लगाई जा सकती है।

इस ऑफर में गो फैशन (इंडिया) लिमिटेड के प्रत्येक ₹10 के अंकित मूल्य के इक्विटी शेयर शामिल हैं, जिसमें कंपनी द्वारा ₹ 1,250 मिलियन (फ्रेश इश्यू) तक के इक्विटी शेयरों का एक नया इश्यू शामिल है और पीकेएस फैमिली ट्रस्ट द्वारा 745,676 इक्विटी शेयरों की बिक्री का एक प्रस्ताव है। साथ ही वीकेएस फैमिली ट्रस्ट (सामूहिक रूप से ‘प्रमोटर सेलिंग शेयरहोल्डर्स’ के रूप में संदर्भित) द्वारा 745,676 इक्विटी शेयरों का भी प्रस्ताव है। सिकोइया कैपिटल इंडिया इन्वेस्टमेंट्स4 द्वारा 7,498,875 इक्विटी शेयरों तक, इंडिया एडवांटेज फंड एस4 द्वारा 3,311,478 इक्विटी शेयरों का और डायनामिक इंडिया फंड एस4 यूएस वन द्वारा 576,684 इक्विटी शेयरों तक की बिक्री का प्रस्ताव है (सामूहिक रूप से ‘निवेशक बेचने वाले शेयरधारक’ के रूप में संदर्भित)।

यह प्रस्ताव प्रतिभूति अनुबंध (विनियमन) नियम, 1957 के नियम 19(2)(बी) के अनुसार संशोधित किया गया है (‘एससीआरआर’), भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (इश्यू) के विनियम 31 के साथ पठित पूंजी और प्रकटीकरण आवश्यकताओं के) विनियम, 2018, यथा संशोधित (‘सेबी आईसीडीआर रेग्युलेशंस’)।

सेबी आईसीडीआर विनियमों के विनियम 6(2) के अनुपालन में बुक बिल्डिंग प्रोसेस के माध्यम से प्रस्ताव दिया जा रहा है, जिसमें योग्य संस्थागत खरीदारों (‘क्यूआईबी’ के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए 75 प्रतिशत से कम प्रस्ताव उपलब्ध नहीं होगा) (‘क्यूआईबी पोर्शन’), बशर्ते कि कंपनी और बेचने वाले शेयरधारक बीआरएलएम के परामर्श से एंकर निवेशकों को क्यूआईबी हिस्से का 60 प्रतिशत तक बीआरएलएम (‘एंकर इन्वेस्टर पार्टिशन’) के परामर्श से कंपनी आवंटित कर सकती है और इस तरह का आवंटन विवेकाधीन आधार पर होगा। इनमें से एक तिहाई घरेलू म्यूचुअल फंड के लिए आरक्षित होगा, घरेलू म्यूचुअल फंड से उस कीमत पर या उससे ऊपर प्राप्त होने वाली वैध बोलियों के अधीन, जिस पर एंकर निवेशकों के लिए आवंटन किया गया (‘एंकर निवेशक आवंटन मूल्य’)।

इसके अलावा, क्यूआईबी भाग का 5 प्रतिशत (एंकर निवेशक भाग को छोड़कर) आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए केवल म्यूचुअल फंड के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते कि प्रस्ताव मूल्य पर या उससे अधिक वैध बोलियां प्राप्त हों, और शेष क्यूआईबी भाग म्युचुअल फंड सहित सभी क्यूआईबी (एंकर निवेशकों के अलावा) को आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध होना चाहिए, बशर्ते कि ऑफर मूल्य पर या उससे अधिक वैध बोलियां प्राप्त हों। यदि प्रस्ताव का कम से कम 75 प्रतिशत क्यूआईबी को आवंटित नहीं किया जा सकता है, तो संपूर्ण आवेदन राशि तुरंत वापस कर दी जाएगी।

इसके अलावा, आईपीओ का 15 प्रतिशत से अधिक हिस्सा गैर-संस्थागत निवेशकों (‘गैर-संस्थागत श्रेणी’) के लिए आनुपातिक आधार पर आवंटन के लिए उपलब्ध नहीं होगा और प्रस्ताव का 10 प्रतिशत से अधिक खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों को आवंटन के लिए उपलब्ध नहीं होगा। (‘खुदरा श्रेणी’), सेबी आईसीडीआर विनियमों के अनुसार, प्रस्ताव मूल्य पर या उससे अधिक की वैध बोलियों के अधीन। सभी बोलीदाता (एंकर निवेशकों को छोड़कर) अनिवार्य रूप से केवल अवरुद्ध राशि (‘एएसबीए’) प्रक्रिया द्वारा समर्थित आवेदन के माध्यम से इस प्रस्ताव में भाग लेंगे, और अपने संबंधित बैंक खाते (यूपीआई सिस्टम का उपयोग करने वाले खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों के लिए यूपीआई आईडी सहित) का विवरण प्रदान करेंगे। जिसे स्व-प्रमाणित सिंडिकेट बैंक्स (‘एससीएसबी’) या प्रायोजक बैंक द्वारा बोली राशि अवरुद्ध कर दी जाएगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के माध्यम से एंकर निवेशक पार्ट में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

फ्रेश इश्यू से प्राप्त शुद्ध राशि का उपयोग (1) 120 नए ईबीओ खोलने के लिए जरूरी फंड उपलब्ध कराने के लिए किया जाना प्रस्तावित है (2) कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को फंड उपलब्ध कराने और (3) सामान्य कॉर्पाेरेट उद्देश्य के लिए किया जाएगा।

इस ऑफर में पेश किए गए इक्विटी शेयरों को बीएसई लिमिटेड (‘बीएसई’) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड (‘एनएसई’, बीएसई, ‘स्टॉक एक्सचेंज’) के साथ लिस्टिंग के बाद सूचीबद्ध करने का प्रस्ताव है।

जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, डीएएम कैपिटल एडवाइजर्स लिमिटेड (पूर्व में आईडीएफसी सिक्योरिटीज लिमिटेड) और आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिमिटेड इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर हैं।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में महाकाव्य महाभारत पर आधारित नाटक 'उरूभंगम' का हुआ मंचन

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) के  रंगायन  में पाक्षिक नाट्य योजना के तहत रंग साधना थिएटर ग्रुप, जयपुर द्वारा शनिवार शाम को नाटक 'उरू...