Wednesday, October 27, 2021

FedEx Express अध्ययन ने दर्शाया भारत है भविष्य के तैयार

भारत, 27 अक्टूबर, 2021 - FedEx Corp. (NYSE: FDX) की सहायक कंपनी और दुनिया की सबसे बड़ी एक्सप्रेस परिवहन कंपनी, FedEx Express ने आज अपने 'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन के निष्कर्षों की घोषणा की, जिनमें भविष्य को अपनाने की भारत की तत्परता की पूरी पहचान करायी गयी है।

भारत परिवर्तन की दहलीज़ पर खड़ा है, महामारी ने देश में डिजिटल परिवर्तन की रफ़्तार को तेज़ किया है। स्वास्थ्य सेवा से लेकर शिक्षा तक, बैंकिंग से लेकर विनिर्माण तक, प्रौद्योगिकी हर क्षेत्र को बदल रही है, संभावनाओं से भरे भविष्य की ओर लेकर जा रही है। इस अध्ययन में 18 शहरों में 4,000 से अधिक लोगों का सर्वेक्षण किया गया, उनमें से 79% ने कहा कि भारत भविष्य के लिए तैयार विश्व के निर्माण के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ थिंग्स और ब्लॉकचेन जैसी प्रौद्योगिकियों को प्राथमिकता दे रहा है। लगभग 83% लोगों का मानना ​​था कि साइंस फिक्शन फिल्मों में दिखाई जाने वाली तकनीक या तो पहले से ही उनकी ज़िन्दगी का हिस्सा है, या अगले कुछ वर्षों में होने की संभावना है।

प्रौद्योगिकी पर आधारित बदलाव का रुझान जारी रहने की संभावना के साथ, भविष्य के शहरों को आकार देने में प्रमुख भूमिका निभा सकते हैं ऐसे  विशिष्ट उद्योगों को पहचाना गया, जिनमें स्वास्थ्य सेवा को 35%, बुनियादी ढांचे और लॉजिस्टिक्स को 21%, और बैंकिंग और वित्त को 18% लोगों ने परिवर्तन का नेतृत्व करने वाला माना है।

FedEx Express के इंडिया ऑपरेशंस के उपाध्यक्ष मोहम्मद सईघ ने कहा, "FedEx में हम नवाचार की कई दशकों से चली आ रही विरासत को लेकर आगे बढ़ रहे है, दुनिया के लिए जिम्मेदार और संसाधनपूर्ण तरीकों से समाधान बनाने के लिए हम लगातार नवाचार करते हैं।

नवाचार, आधुनिक प्रौद्योगिकियों और डिजिटल परिवर्तन की ओर तेजी से हो रहे बदलाव के साथ, स्थिरता पर ध्यान केंद्रित करते हुए हम उद्यम के भविष्य को प्रेरित करने के लिए तैयार हैं। ब्लॉकचेन, आईओटी, ऑटोमेशन और रोबोटिक्स में प्रगति केवल लॉजिस्टिक्स उद्योग के लिए नहीं, बल्कि भविष्य में सभी उद्योगों के लिए मार्ग प्रशस्त करेगी।”  

'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन तीन मुख्य विचारों पर केंद्रित था: गतिशील होना, भारत कैसे प्रयोग और नवाचार के लिए खुला है, और देश स्थिरता के प्रति किस हद तक जागरूक है। निष्कर्षों से संकेत मिला है कि भविष्य की सफलता इन तीन प्रमुख विचारों के आधार पर अपने दृष्टिकोण को बनाने वाले व्यवसायों पर निर्भर करेगी।

भविष्य गतिशील है

उद्योग कोई भी हो, कंपनियों को अपने उपभोक्ताओं की नब्ज पर नज़र रखनी चाहिए, उनकी ज़रूरतों का अनुमान लगाना चाहिए और उनकी तेज़ी से बढ़ती हुई अपेक्षाओं से एक कदम आगे रहना चाहिए। महामारी की वजह से जीवन के लगभग हर पहलू में तेज़ी से बदलाव आया है, हम रहते कैसे हैं और काम कैसे करते हैं, व्यवसाय अपने ग्राहकों के साथ बातचीत किस तरह से करते हैं, और ग्राहक उत्पादों और सेवाओं को कैसे खरीदते हैं इन सभी में बदलाव हुए हैं।

FedEx के अध्ययन से पता चलता है कि व्यवसायों ने इस बदलाव के साथ तालमेल बिठाने के लिए काम करना पहले से ही शुरू कर दिया है, लगभग 87% उत्तरदाताओं ने कहा कि पिछले एक साल में, कंपनियों ने 'आगे क्या है?' को समझने और संभावित समाधान प्रस्तुत करने की अपनी क्षमताओं को प्रदर्शित किया।

भविष्य के लिए तैयार मानसिकता के लिए प्रयोग के लिए खुला रहना अनिवार्य है:

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत का रैंक आगे बढ़ा है और आज यह संपन्न स्टार्ट-अप इकोसिस्टम का घर है जो नए विचारों और समाधानों के साथ परिवर्तन को प्रेरित करता है।

तेज़ी से गतिशील वातावरण में, व्यवसायों की सफलता उनकी अपनी सीमाओं को फ़ैलाने और प्रयोग-आधारित नवाचार की संस्कृति को बढ़ावा देने की क्षमताओं पर निर्भर करती है। FedEx सर्वेक्षण में हिस्सा लेने वालों में से अधिकांश 91% का मानना ​​है कि संगठन, समुदाय या यहां तक ​​कि ऐसे व्यक्ति जो प्रयोग करते हैं और परिवर्तन को अपनाते हैं, वे भविष्य की चुनौतियों से निपटने के लिए बेहतर ढंग से तैयार होते हैं।

स्थायी मानसिकता कोई विकल्प नहीं है, बल्कि व्यवसाय में सफलता के लिए अनिवार्य है:

आज के दौर में उपभोक्ता उनकी पसंद का आसपास की दुनिया पर क्या प्रभाव पड़ता है उसके बारे में अधिक जागरूक हो रहे हैं - चाहे वह पर्यावरण से संबंधित हो या उनके समुदायों से। यहां तक ​​​​कि उनके खरीदारी के निर्णय भी संगठन के टिकाऊ और जिम्मेदार होने के बारे में उनकी धारणा से प्रभावित होते हैं। FedEx के अध्ययन के अनुसार, 75% ने सहमति व्यक्त की है कि 'भविष्यवादी' दृष्टिकोण रखने वाले व्यक्ति, समुदाय आदि पर्यावरण के प्रति अधिक जागरूक हैं। वास्तव में, 71% उत्तरदाताओं ने दावा किया है कि, भविष्य के व्यवसाय में निर्णय लेने वाले होने के नाते, उनके लिए स्थिरता महत्वपूर्ण होगी और यही उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता होगी।

अध्ययन में प्रतिभागियों द्वारा व्यक्त की गयी प्रतिक्रिया स्पष्ट है: अपने ग्राहकों के लिए प्रासंगिकता और दीर्घकालिक के लिए लचीलापन सुनिश्चित करने में मदद करने के लिए संगठनों को अपनी स्थिरता रणनीतियों का पुनर्मूल्यांकन और उनमें सुधार करना जारी रखना चाहिए।

जैसे-जैसे दुनिया विकसित हो रही है, प्रौद्योगिकी  और रुझान जीवन शैली, व्यवहार और दृष्टिकोण में बदलाव लाएंगे। जो अनंत संभावनाएं प्रदान करता हो ऐसे भविष्य को अपनाना, जो गतिशील, प्रयोगात्मक और टिकाऊ हो, ऐसी मानसिकता रखना व्यवसायों और व्यक्तियों दोनों के लिए, सदैव एक कदम आगे रहने के लिए अनिवार्य होगा।

###

FedEx 'फ्यूचर इज़ नाउ' अध्ययन* की कार्यप्रणाली

उपरोक्त निष्कर्ष इनोवेटिव रिसर्च सर्विसेज़ (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, मुंबई द्वारा किए गए शोध फील्डवर्क पर आधारित हैं, जिसमें प्रथम और द्वितीय श्रेणी के 18 शहरों में 4,210 लोगों  के साथ आमने-सामने और टेलीफोनिक साक्षात्कार के माध्यम से इंटरव्यूज किए गए। इन 18 शहरों में से 9 प्रथम श्रेणी के शहर हैं जिनमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई, पुणे और सिकंदराबाद शामिल हैं, जबकि अन्य 9 द्वितीय श्रेणी के शहर हैं जिनमें कोईम्ब्तूर, देहरादून, गुड़गांव, जयपुर, कोची, लखनऊ, सूरत, उदयपुर और वाराणसी हैं। उत्तरदाता उपरोक्त शहरों के 18-60 वर्ष के बीच आयु वर्ग के लोगों का एक रेप्रेज़ेंटेटिव सैंपल था।

No comments:

Post a Comment

जेकेके में दर्शकों ने शास्त्रीय व लोक संगीत की फ्यूजन प्रस्तुति का आनंद उठाया

जयपुर।  जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में शुक्रवार शाम को मध्यवर्ती में अंतर्राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त फ़्यूज़न ‘कहरवा’ की प्रस्तुति ने दर्शकों क...