Friday, October 8, 2021

डीपीआईआईटी द्वारा महिंद्रा वर्ल्ड सिटीज को 'लीडर' के रूप में मिली मान्यता

मुंबई, 08 अक्टूबर, 2021: चेन्नई और जयपुर में महिंद्रा वर्ल्ड सिटी (एमडब्ल्यूसी) के विकास को नवीनतम औद्योगिक पार्क रेटिंग सिस्टम रिपोर्ट (आईपीआरएस 2.0) में 'लीडर' और भारत के शीर्ष 13 विशेष आर्थिक क्षेत्रों (एसईजेड) के बीच स्थान दिया गया है. यह रैंकिंग उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी), वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी किया गया है.

आईपीआरएस 2.0 रिपोर्ट पूरे भारत में 449 औद्योगिक पार्कों और विशेष आर्थिक क्षेत्रों को मैप करती है, और उन्हें कई मापदंडों जैसे बाहरी बुनियादी ढांचे, आंतरिक बुनियादी ढांचे, व्यावसायिक सहायता सेवाओं; और पर्यावरण, सुरक्षा और स्थिरता के आधार पर रैंकिंग तैयार करती है. एमडब्ल्यूसीचेन्नई और एमडब्ल्यूसी जयपुर को इन मापदंडों के आधार पर अपने-अपने क्षेत्रों में और अखिल भारतीय स्तर पर शीर्ष प्रदर्शन करने वाले औद्योगिक स्थलों के रूप में स्वीकार किया गया है.

महिंद्रा लाइफस्पेस डेवलपर्स लिमिटेड के चीफ बिजनेस ऑफिसर -औद्योगिक श्री राजाराम पाई ने कहा, “हमें डीपीआईआईटी द्वारा भारत में औद्योगिक पार्कों और एसईजेड क्षेत्र में अग्रणी के रूप में मान्यता मिलने पर खुशी हो रही है. हम पहले से ही 17 देशों की 172 से अधिक वैश्विक और घरेलू कंपनियों के लिए मेक-इन-इंडिया के एक गौरवशाली समर्थक हैं. हमारा ध्यान एक उत्तरदायी और कुशल पारिस्थितिकी तंत्र की पेशकश करके ईओडीबी को सक्षम करने पर है जो उच्च गुणवत्ता वाले बुनियादी ढांचे, मजबूत शासन और ईएसजी पर मजबूत फोकस के साथ तैयार किया गया है. हमारे ग्राहकों ने हमारे प्लग-एंड-प्ले बुनियादी ढांचे, रणनीतिक स्थान पहुंच और तेजी से गो-टू-मार्केट प्राप्त करने और व्यापार वृद्धि को बढ़ाने के लिए व्यापार सहायता सेवाओं की विस्तृत श्रृंखला का लाभ उठाया है."

चेन्नई और जयपुर में महिंद्रा वर्ल्ड सिटी के विकास सार्वजनिक-निजी भागीदारी में निर्मित अग्रणी एकीकृत शहर हैं. इन परियोजनाओं में बड़े प्रारूप वाले पारिस्थितिक तंत्र शामिल हैं जो सह-स्थित औद्योगिक, आवासीय और वाणिज्यिक बुनियादी ढांचे के साथ स्वयं निहित हैं. लगभग 4500 एकड़ में फैले, एमडब्ल्यूसी चेन्नई और एमडब्ल्यूसी जयपुर एक साथ समर्पित विशेष आर्थिक क्षेत्रों, घरेलू टैरिफ क्षेत्रऔर आवासीय और सामाजिक क्षेत्र को शामिल करते हैं. दोनों ने मिलकर अब तक 69000 से अधिक लोगों के लिए प्रत्यक्ष रोजगार का सृजन किया है.

महिंद्रा वर्ल्ड सिटीज एक सुरक्षित और स्थिरता-केंद्रित कारोबारी माहौल प्रदान करता है जो कंपनियों को व्यावसायिक जोखिम को कम करने में मदद करता है. एमडब्ल्यूसी चेन्नई भारत का पहला आईजीबीसी 'गोल्ड' प्रमाणित टाउनशिप और भारत का पहला परिचालन कॉर्पोरेट विशेष आर्थिक क्षेत्र है. यह थर्ड पार्टी जीरो वेस्ट टू लैंडफिल सर्टिफिकेशन प्राप्त करने वाला भारत का पहला एकीकृत शहर भी है. महिंद्रा वर्ल्ड सिटी, जयपुर एशिया में पहली परियोजना है जिसे C40 सिटीज क्लाइमेट लीडरशिप ग्रुप से क्लाइमेट पॉजिटिव डेवलपमेंट स्टेज 2 सर्टिफिकेशन प्राप्त हुआ है. अन्य पर्यावरण के अनुकूल पहल केर तहत, महिंद्रा वर्ल्ड सिटीज में ऊर्जा कुशल 'ग्रीन' इमारतों को शामिल किया गया; इलेक्ट्रिक मोबिलिटी इंफ्रास्ट्रक्चर; सोलर पीवी रूफटॉप्स; एक ऑफ-ग्रिड सोलर पावर प्लांट; वृक्षारोपण अभियान, अपशिष्ट प्रबंधन; और जल संरक्षण के उपाय किए गए.

 

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...