Tuesday, October 19, 2021

गोदरेज इंटीरियो ने रिसाइकिल होने योग्य पैकेजिंग समाधानों का इस्तेमाल करने का वचन लिया

मुंबई, 19 अक्टूबर 2021: गोदरेज समूह की प्रमुख कंपनी गोदरेज एंड बॉयस ने प्लास्टिक प्रदूषण के बारे में बढ़ती पर्यावरणीय चिंता का मुकाबला करने की दिशा में अपनी प्रतिबद्धता को मजबूत किया है। गोदरेज एंड बॉयस के 'इंडिया प्लास्टिक पैक्ट' प्रतिबद्धता के अनुरूप, भारत के घरेलू और संस्थागत क्षेत्रों में अग्रणी फर्नीचर ब्रांड गोदरेज इंटीरियो ने खुलासा किया कि वे कंपनी-व्यापी गुड एंड ग्रीन पहल के तहत अपनी रणनीतिक पहल 'ग्रीनर इंडिया' में विशिष्ट प्लास्टिक खपत को साल-दर-साल 5% कम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

एशिया में अपनी तरह का पहला, 'इंडिया प्लास्टिक पैक्ट'  सीआईआई और डब्ल्यूडब्ल्यूएफ इंडिया के बीच एक संयुक्त पहल है और इसे ऐसी दुनिया की कल्पना करने के लक्ष्य के साथ स्थापित किया गया है जहां प्लास्टिक को महत्व दिया जाता है और यह पर्यावरण को प्रदूषित नहीं करता है। इसका उद्देश्य सार्वजनिक-निजी सहयोग के माध्यम से प्लास्टिक के लिए एक सर्कुलर इकोनॉमी को बढ़ावा देकर इसे प्राप्त करना है। यह प्लास्टिक की वैल्‍यू चेन में प्लास्टिक पैकेजिंग को खत्म करने, उसे दोबारा उपयोग में लाने या उसका पुनर्चक्रण करने के लिए नए तरीकों को सक्षम बनाता है और सामूहिक रूप से दीर्घकालिक लक्ष्यों को प्राप्त करता है।

विस्तारित निर्माता जिम्मेदारी पहल के हिस्से के तहत, गोदरेज एंड बॉयस 3 पीआरओ (प्रोड्यूसर रिस्पॉन्सिबिलिटी ऑर्गनाइज़ेशन्स) के साथ साझेदारी करके 100% प्लास्टिक पैकेजिंग मात्रा का पुनर्चक्रण करता है। गोदरेज इंटीरियो इस पहल के साथ जुड़ा हुआ है, जिसे गोदरेज कंस्ट्रक्शन के एक विभाग 'एनवायरनमेंटल इंजीनियरिंग सर्विसेज' द्वारा प्रबंधित किया जाता है।

सस्टेनिबिलिटी पहल पर अपनी बात रखते हुए, गोदरेज इंटीरियो के सीओओ, अनिल सेन माथुर ने कहा, “गोदरेज इंटीरियो में, प्लास्टिक की खपत को कम करने की हमारी प्रतिबद्धता गोदरेज एंड बॉयस की 'गुड एंड ग्रीन' पहल और 'इंडिया प्लास्टिक पैक्ट' के प्रति इसकी प्रतिबद्धता के अनुरूप है। यह हमारे इस दृढ़ विश्‍वास पर जोर देती है कि इनोवोशन और सस्‍टेनेबिलिटी को साथ-साथ चलना चाहिए। हमें एक ऐसी कंपनी का हिस्सा होने पर गर्व है जो इंडिया प्लास्टिक पैक्ट जैसी वैश्विक पहलों के लिए प्रतिबद्ध है और गोदरेज इंटीरियो के रूप में, हम इस प्रतिबद्धता को आगे बढ़ाने में मदद कर सकते हैं और इस तरह स्मार्ट प्लास्टिक के उपयोग का मार्ग प्रशस्त करने में मदद कर सकते हैं।”

अपनी पैकेजिंग में थर्मोकॉल के उपयोग को खत्‍म करने के लिए, गोदरेज इंटीरियो सुरक्षात्मक पैकेजिंग के लिए पेपर हनीकॉम्ब बोर्ड का इस्‍तेमाल करके एक रिसाइकल करने योग्‍य, पर्यावरण के अनुकूल विकल्प में स्थानांतरित हो गया है। यह पैकेजिंग सामग्री हनीकॉम्‍ब जियोमेट्री से मिलती-जुलती है और पैकेजिंग के लिए आवश्यक सामग्री की मात्रा को कम करती है, जिससे यह हल्का और टिकाऊ हो जाता है। पेपर हनीकॉम्ब बोर्ड पर्याप्त कुशनिंग प्रदान करता है जो उत्पादों को ट्रांजिट के दौरान संभावित हानिकारक झटके, वाइब्रेशन और डेंट से बचाने में मदद कर सकता है। पैकेजिंग सामग्री के लिए उपयोग किया जाने वाला कागज 70% रिसाइकल्‍ड पेपर से बना होता है और यह 100% रिसाइकल होने योग्य होता है जिससे यह एक स्पष्ट पर्यावरण हितैषी विकल्प बन जाता है। हनीकॉम्ब पैकेजिंग ने लगभग 100 टन थर्मोकॉल की जगह ले ली है जिसे पैकेजिंग में इस्तेमाल किया जाता था।

गोदरेज इंटीरियो अपनी गद्दों की पैकेजिंग के लिए बहु-स्तरीय प्लास्टिक को बदलने के लिए भी अग्रसक्रिय पहल कर रहा है। कंपनी की सस्‍टेनेबिलिटी पहल के तहत, बायोडिग्रेडेबल और रिसाइकल होने योग्य पैकेजिंग सामग्री ("मोनो-मटेरियल" के रूप में पॉलीएथलीन और 60 माइक्रोन मोटी) जैसे विकल्पों का उपयोग किया जा रहा है।

No comments:

Post a Comment

उत्कर्ष : तिरंगा थीम पर आयोजित विशाल रक्तदान शिविर का उत्साहपूर्ण समापन

जोधपुर।  उत्कर्ष क्लासेस द्वारा शिक्षाविद एवं समाजसेवी तथा संस्था के संस्थापक व निदेशक डॉ. निर्मल गहलोत के 44वें जन्मदिवस के अवसर पर शनिवार,...