Wednesday, October 20, 2021

ग्राहकों की निजता की सुरक्षा में ’साझा भूमिका’ को उजागर करता है यस बैंक का सोशल मीडिया साइबर सुरक्षा अभियान, ‘ऐसे सवाल हम नहीं पूछते’

मुंबई, 20 अक्टूबर, 2021- अक्टूबर माह को दुनिया भर में साइबर सुरक्षा जागरूकता माह के रूप में मनाया जा रहा है। यस बैंक ने सोशल मीडिया पर अपने साइबर सुरक्षा अभियान की शुरुआत की है, जिसमें हैकर्स और साइबर अपराधियों से डिजिटल लेनदेन की सुरक्षा में बैंक और ग्राहक की भूमिका पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

अभियान की थीम ऐसे सवाल हम नहीं पूछतेहैं। यह सोशल मीडिया अभियान छह एनिमेटेड शॉर्ट फिल्मों की एक शृंखला है। इसमें मजाकिया अंदाज में ऐसी स्थितियों को पेश किया गया है, जिसमें हैकर्स यूजर्स से पासवर्ड और ओटीपी जैसे व्यक्तिगत बैंकिंग विवरण जानने की कोशिश करते हैं। संदिग्ध कॉल, एसएमएस और ई-मेल जैसी हैकर्स की हरकतों में फंसने की बजाय ग्राहकों को उनकी ऑनलाइन सुरक्षा के लिए खतरे के इन रूपों के प्रति जागरूक और सतर्क रहने के बारे में समझाया गया है। अभियान के हिस्से के रूप में ग्राहकों का ध्यान डिजिटल सुरक्षा की ओर आकर्षित करने के लिए दिलचस्प, उपयोगी तथ्यों की एक शृंखला भी शुरू की गई है।

उपभोक्ताओं को लगातार सतर्क रहने और दुर्भावनापूर्ण साइबर गतिविधि के प्रति सतर्क रहने के लिए पारंपरिक डराने वाले संचार से अलग हटकर, बैंक जागरूक ग्राहक को चित्रित करने के लिए एक नया और सकारात्मक दृष्टिकोण अपना रहा है। जिसमें इस तथ्य को रेखांकित किया गया है कि बैंक ग्राहकों को अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा करने के लिए कभी नहीं कहता।

यह अभियान साइबर सुरक्षा पर बैंक के फोकस का एक विस्तार है। बैंक के ग्राहक तेजी से डिजिटल हो रहे हैं। भले ही ग्राहक अभी अपनी सभी बैंकिंग आवश्यकताएं ऑनलाइन पूरी नहीं कर रहे लेकिन इसका अनुपात तेजी से बढ़ रहा है।

अभियान पर टिप्पणी करते हुए यस बैंक के चीफ मार्केटिंग ऑफिसर जसनीत बाचल ने कहा, ‘डिजिटलीकरण के इस युग में बैंक लगातार साइबर सुरक्षा के महत्व को उजागर कर रहे हैं। इस अभियान के साथ चुनौती सुरक्षा के इर्द-गिर्द बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए एक नई अवधारणा की खोज करना थी और संदेश कुछ तरह देना था जो कि उपदेश की तरह न लगते हुए उपभोक्ता को वास्तविक रूप से सशक्त करें। अभियान के माध्यम से यह संदेश दिया गया है कि उपभोक्ता बैंक को बता सकता है कि उनकी जानकारी कब खतरे में है। ऐसे में ग्राहकों को उचित प्रतिक्रिया देने में आसानी होगी। बैंक उपभोक्ताओं को उनकी जानकारी और लेनदेन की सुरक्षा की महत्वपूर्ण भूमिका निभाने में आगे आने की उम्मीद करता है।

मैक्फी-2021 कंज्यूमर सिक्योरिटी माइंडसेट सर्वेके अनुसार, जैसे-जैसे भारतीय डिजिटल रूपांतरण को अपना रहे हैं वे तेजी से जागरूक भी हो रहे हैं कि उनके डिजिटल फुटपिं्रट में क्या शामिल है। यस बैंक का अभियान रोजमर्रा के परिदृश्यों के माध्यम से प्रचलित सुरक्षा जोखिमों को कम करने के तरीकों के साथ उपभोक्ता जागरूकता पर केंद्रित है। इस अक्टूबर माह के दौरान बैंक अपने ग्राहकों तक सूचना युक्त संचार की एक शृंखला के माध्यम से संपर्क कर रहा है ताकि उन्हें सुरक्षा खतरों को प्रभावी ढंग से दूर करने में मदद मिल सके।

इस अभियान ने 40 लाख से अधिक की संचयी पहुंच हासिल की। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर इसे 20 लाख से अधिक बार देखा गया और उपभोक्ताओं ने इस अभियान की सरलता और नजरिए के नएपन की सराहना की है।

No comments:

Post a Comment

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के स्कूलों ने किया शानदार प्रदर्शन

मुंबई, 19 अगस्त, 2022- सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में अंबुजा के संयंत्रों के आसपास स्थित पांच अंबुजा स्कूलों के 739 छात्रो...